Thursday, 28 February 2019

म्यूजिक विडियो लोगों की जली - गायक राहुल साठे

सनी सिंह और सोनाली सेगल की जय मम्मी दी


सोनू के टीटू की स्वीटी के टीटू यानि सनी सिंह, अब सोलो हीरो फिल्म करने जा रहे हैं। प्यार का पंचनामा सीरीज और सोनू के टीटू की स्वीटी के निर्माता लव रंजन की इस फिल्म का टाइटल जय मम्मी दी है।

यह हलकी फुलकी कॉमेडी फिल्म दो माओं की कहानी है, जो अपने बच्चों के लिए आपस में हमेशा भिड़ी रहती है । इस फिल्म में दो माताओं की भूमिका सुप्रिया पाठक और पूनम ढिल्लों कर रही हैं। 


फिल्म की रोमांटिक जोड़ी सनी सिंह के साथ, फिल्म प्यार का पंचनामा २ में उनकी बेमेल जोड़ीदार सोनाली सेगल बना रही है। इस पारिवारिक हास्य फिल्म से, नवजोत गुलाटी की बतौर निर्देशक डेब्यू हो रहा है। जवजोत ने, दो शॉर्ट फ़िल्में बेस्ट गर्लफ्रेंड और जय माता दी का निर्देशन किया है।

सोनाली सेगल ने, प्यार का पंचनामा, वेडिंग पुलाव और हाई जैक जैसी फिल्मों में अभिनय किया है। सोनाली की एक थ्रिलर फिल्म सेटर्स, १५ मार्च को रिलीज़ हो रही है। इस फिल्म का निर्देशन अश्विनी चौधरी ने किया है।


फिल्म जय मम्मी दी के बारे में लव रंजन कहते हैं, "जय मम्मी दी हास परिहास से भरपूर पारिवारिक मनोरंजन फिल्म है।  आजकल का दर्शक पारिवारिक गतिशीलता पर केंद्रित कहानियों वाली फिल्मों को पसंद कर रहा है। पिछले साल रिलीज़, सोनू के टीटू की स्वीटी और बधाई हो इसका उदाहरण हैं। हम लोग, जुलाई में दर्शकों के सामने जय मम्मी दी पेश करते हुए काफी उत्साहित हैं।" 

जय मम्मी दी १२ जुलाई को प्रदर्शित हो रही है।


गली बॉय का शेर बनेगा सोलो हीरो ! -  क्लिक करें 

गली बॉय का शेर बनेगा सोलो हीरो !


रणवीर सिंह की फिल्म में उभर कर आना बड़ी बात कही जायेगी।  यही कारण है कि फिल्म गली बॉय में रैपर एमसी शेर की भूमिका करने वाले एक्टर सिद्धांत चतुर्वेदी आजकल सुर्ख़ियों में हैं।

गली बॉयरणवीर सिंह के किरदार मुराद पर केंद्रित है। फिल्म मेंसिद्धांत का शेरमुराद को प्रोत्साहित करने वाला है। शेररैप प्रतियोगिता में आगे नहीं बढ़ पाता। लेकिनवह मुराद का उत्साह बढ़ाने के लिए हर जगह मौजूद होता है।


सिद्धांत अपने इस किरदार को इतने स्वाभाविक तरीके से करते हैं कि बिलकुल रैपर शेर की तरह लगते हैं।  सिद्धांत की अभिनय प्रतिभा का तकाज़ा है कि सिद्धांत चतुर्वेदी बड़ी तेज़ी से आगे बढ़ते जा रहे हैं।

सिद्धांत की तरक्की की रफ़्तार का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सिद्धांत को गली बॉय की निर्देशक ज़ोया अख्तर नेवेब सीरीज इनसाइड एज की सक्सेस पार्टी में देखा था। इनसाइड एज भीगली बॉय की निर्माता कंपनी एक्सेल एंटरटेनमेंट की सीरीज थी।

ज़ोया नेसिद्धांत से एमसी शेर के ऑडिशन के लिए बुलाया। ऑडिशन के बादसिद्धांत को गली बॉय के रैपर एमसी शेर की भूमिका के लिए चुन लिया गया।


अब खबर है कि सिद्धांत की प्रतिभा और सफलता से प्रभावित हो कर एक्सेल एंटरटेनमेंट ने अपनी अगली फिल्म के हीरो के रूप में सिद्धांत चतुर्वेदी का चयन कर लिया है। वह इस फिल्म के सोलो हीरो होंगे।

यह भी खबर है कि कुछ दूसरे फिल्म निर्माता भी इस युवा प्रतिभा को अपनी फिल्म में मौक़ा देना चाहते हैं। इसका मतलब यह हुआ कि गली बॉय के मुराद के लिएबॉलीवुड में एमसी शेर चुनौती बन कर उभर रहा है।

जयाप्रदा कहती हैं, "अच्छे पति बनाने में नाकामयाब है समाज"


,aM Vhoh ij çlkfjr gks jgk t;k çnk dk MsC;w Vsyhfotu 'kks ^ijQsDV ifr* n'kZdksa ls dqN rh[ks loky djrk gSA D;k ,d vkn'kZ csVk ,d vkn'kZ ifr gks ldrk gS\ D;k gksrk gS tc ,d uofookfgr  yM+dh dks irk pyrk gS fd mldk ifr oks balku ugha gS ftldh oks mEehn dj jgh FkhA fiNys dqN eghus ls ;g 'kks bUgha lokyksa dk tokc cM+s fnypLi vankt esa ns jgk gSA ;g 'kks u flQZ n'kZdksa dks lkl&cgw ds fj'rksa ds u, igyw ls :c: djk jgk gS cfYd ;g Hkh fn[kk jgk gS fd ,d vkSjr dks viuh fcxM+h gqbZ 'kknh vkSj vius thou lkFkh dk lkeuk fdl rjg djuk gSA


bl 'kks esa vk, ,d ukVdh; eksM+ esa jktJh jkBkSM+ ¼t;k çnk½ lPpkbZ dk lkFk nsus vkSj viuh cgw fof/krk ¼luk vehu 'ks[k½ ds lkFk U;k; djus ds fy, vius [kqn ds csVs iq"dj ¼vk;q"k vkuan½ dh gR;k dj nsrh gSaA jktJh dks yacs le; ls irk gksrk gS fd mlds csVs vkSj cgw dh 'kknh esa dqN Hkh Bhd ugha gks jgk gSA gkykafd ckn esa ;g ckr mtkxj gksrh gS fd mudk csVk viuh lud esa fof/krk dks tku ls ekjus dh dksf'k'k djrk gS ftlls oks I;kj djus dk nkok djrk FkkA var esa tc jktJh vius gh csVs dks ekj nsrh gS rks blls gypy ep tkrh gSA ysfdu blesa lekt dks vkSj lHkh ekavksa dks cPpksa dh ijofj'k ds eqís ij ,d etcwr lans'k fn;k x;k gSA


bl pkSadkus okys eksM+ dks ysdj t;k çnk dgrh gSa] ^^eq>s bl ckr dh [kq'kh gS fd eSaus ijQsDV ifr tSls 'kks esa viuk MsC;w fd;k] tks ,d eka dh dgkuh gS vkSj ftlesa lkl dks ,d ldkjkRed jks'kuh esa fn[kk;k x;k gSA  ;g t:jh gS fd eka,a vius cPpksa dk crkZo le>sa vkSj mudh xyr ckrksa dk leFkZu u djsaA Hkkjrh; lekt esa lfn;ksa ls yM+fd;ksa dks laLdkjh cgw cuus ds rkSj rjhds fl[kk, tkrs jgs gSa ysfdu yM+dksa dks vPNs ifr cukus esa gekjk lekt vDlj ukdke jgrk gSA yM+fd;ksa dks ;g fl[kk;k tkrk gS fd oks gj gky esa vius ifr ds lkFk fuHkk,a vkSj ;gka rd fd mudh T;knfr;ksa dks Hkh utjvankt djsaA gj eka ds fy, ;g t:jh gS fd oks vius csVksa dks cpiu ls gh ,sls ewY; fl[kk,a fd os vkSjrksa vkSj muds pquko dk lEeku djsaA eq>s bl ckr dh [kq'kh gS fd ,aM Vhoh us ;g etcwr dne mBk;k vkSj esjs 'kks ds tfj;s ;g lans'k fn;k gSA**


bl ukVdh; eksM+ ij t;k çnk dgrh gSa] ^^jktJh vius csVs ls I;kj djrh gS ysfdu mUgsa mldk fof{kIr O;ogkj vkSj viuh cgw fof/krk ds çfr vU;k; eatwj ugha gSA ;g ,d vuisf{kr eksM+ gksxk tgka oks xyr ds ctk; lgh dk lkFk nsrh gS vkSj n'kZd Hkh muds bl dne ds ihNs dh otg ls lger gksaxsA**

cgjgky] ;g ,d ns[kus yk;d DykbeSDl gksxkA T;knk tkuus ds fy, nsf[k, ^ijQsDV ifr*] lkseokj ls 'kqØokj] jkr 9 cts] ,aM Vhoh ijA


एंड टीवी के शो डायन में टूटी हितेन तेजवानी की इमेज - क्लिक करें 

एंड टीवी के शो डायन में टूटी हितेन तेजवानी की इमेज



,d p‚dysV c‚; ds jksy esa viuk dfj;j 'kq: djus ls ysdj gj ?kj esa ,d tkuk&igpkuk uke cuus rd] ea>s gq, Vsyhfotu dykdkj fgrsu rstokuh ,d ,slk uke gSa tks Msyh lksIl esa vius 'kkunkj dke ls e'kgwj gks x,A vius LoHkko vkSj O;fDrRo dh rjg bl ,DVj us vius I;kjs fdjnkjksa us ges'kk n'kZdksa ds chp viuk vkd"kZ.k cuk, j[kk] vkSj mUgsa vius fdjnkjksa ds fy, [kwc rkjhQsa feyhaA vc ;g ,DVj viuh xqM ckW; dh best rksM+us ds fy, rS;kj gSaA fgrsu yacs le; ckn ckykth VsyhfQYEl ds 'kks esa okil vkdj n'kZdksa dks pkSadkus tk jgs gSaA

ckykth VsfyfQYEl ;kuh vius nwljs ?kj esa ,d u, jksy ds lkFk okilh djrs gq, fgrsu rstokuh ,aM Vhoh ds 'kks ^Mk;u^ esa ,d usxsfVo fdjnkj fuHkkrs utj vk,axs] tks oks yacs le; ls djuk pkgrs FksA bl dgkuh esa tkºuoh ekS;Z ¼Vhuk nÙkk½ Mk;u ds 'kSrkuh bjkns ukdke djus ds fy, viuh ge'kDy ,DVªsl dqaMyh j‚; dk vorkj ys ysrh gSaA ysfdu mls D;k irk Fkk blls mldh ftanxh esa ,d uà vkQr vk tk,xhA vc tkºuoh dh 'kknh'kqnk ftanxh esa eqf'dysa iSnk djsaxs dqaMyh jkW; ds ifr fojkt ¼fgrsu rstokuh½ tks viuh iRuh ls nksckjk tqM+us ds ç;kl esa tkºuoh ij viuk nkok djrs gSaA tgka vkd’kZ ¼eksfgr eYgks=k½ vius I;kj dks cpkus ds fy, yM+rk gS] ogha tkºuoh ,d vyx var+}a} esa Qal tkrh gS tgka mls vius jkt cjdjkj j[kus ds lkFk&lkFk viuh 'kknh dh ifo=rk Hkh cuk, j[kuk gSA


Vsyhfotu ij vyx&vyx rjg ds jksy fuHkkus dh bPNk j[kus okys fgrsu rstokuh dgrs gSa] ^^,d dykdkj ds rkSj ij eSa ges'kk pkgrk gwa fd vius dke esa fofo/krk ykÅa vkSj vyx&vyx jksy fuHkkÅa tks esjs fiNys jksYl ls vyx gksaA Vsyhfotu ij vius lQj ds nkSjku eSaus T;knkrj le; ,d fVfidy xqM c‚; dk jksy fuHkk;k gSA eSaus brus i‚ftfVo fdjnkj fuHkk, gSa fd eSa blh esa gh ca/k x;k gwaA esjh ,d xqM c‚; dh best cu xbZ gS ftlls eSa vc Åc x;k gwaA eq>s eglwl gqvk fd vc bl best dks rksM+us dh t:jr gS vkSj vc eq>s usxsfVo fdjnkj fuHkkus ds ckjs esa viuh jk; Li"V djuh pkfg, rkfd eSa [kqn dks ysdj ç;ksx dj ldwa vkSj vius dke esa fofo/krk yk ldwaA ,sls esa tc Mk;u ds fy, eq>s fojkt dk jksy v‚Qj fd;k x;k rks fQj eSaus bls gka dgus ds fy, nksckjk ugha lkspkA^^

bl “kks esa vius fdjnkj ds ckjs esa crkrs gq, fgrsu dgrs gSa] ^^tgka eSaus blls igys Hkh xzs “ksM okyk fdjnkj fuHkk;k gS] ysfdu esjk ;g fdjnkj fn[kus esa T;knk usxsfVo yxrk gS vkSj bldk O;fDrRo Hkh oSlk gh gSA blfy, ;g ftruk pqukSrhiw.kZ yx jgk gS] bls djus esa Hkh mruh gh esgur yxsxhA ;g esjs fy, fcYdqy u;k vuqHko gksxk ftldk eSa yacs le; ls bartkj dj jgk FkkA ;fn n'kZd tkºuoh vkSj vkd’kZ dh ftanxh ls tqM+s gSa rks mUgsa ;g u;k fV~oLV ns[kus esa cgqr vPNk yxsxk tks esjk fdjnkj yk,xkA eSa Mk;u esa fojkt dk jksy fuHkkus dks ysdj csgn mRlkfgr gwa vkSj lkFk gh eq>s ;g ns[kus dh Hkh mRlqdrk gS fd n'kZd esjs bl vankt ij D;k çfrfØ;k nsrs gSaA^^

D;k vius I;kj vkSj viuh 'kknh dks cpkus ds fy, tkºuoh ,d vkSj yM+kbZ yM+ ik,xh\ ;k fQj oks vius xgjs jkt vkSj Mk;u dh nq"Vrk ds vkxs gkj tk,xh\

tkuus ds fy, nsf[k, ^Mk;u^] gj 'kfuokj vkSj jfookj jkr 9 cts] flQZ ,aM Vhoh ijA


गर्ल ऑन द ट्रेन के रीमेक में परिणीती चोपड़ा  - क्लिक करें

गर्ल ऑन द ट्रेन के रीमेक में परिणीती चोपड़ा ।


प्रियंका चोपड़ा की बहन परिणीती चोपड़ा के फिल्म करियर पर नज़र डालें तो उनकी हिट फिल्मों से काफी ज्यादा फ्लॉप फ़िल्में दर्ज नज़र आती हैं । उनकी जो फिल्मे हिट भी हुई हैं तो वह नायक प्रधान हैं ।



इसके बावजूद कि उन्होंने अभी अभी ही नमस्ते इंग्लैंड जैसी फ्लॉप फिल्म दी हैउनके पास फिल्मों की कतार लगी हुई है ।



उनकी तीन फ़िल्में संदीप और पिंकी फरारकेसरी और जबरिया जोडी इसी साल रिलीज़ होंगी ।



संदीप और पिंकी फरार ब्लैक कॉमेडी फिल्म है । केसरी पीरियड ड्रामा एक्शन फिल्म है । जबरिया जोड़ी रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है ।



अब उन्होंने एक बिलकुल अलग जॉनर की नई फिल्म भी साइन कर ली है । यह फिल्म मिस्ट्री थ्रिलर ड्रामा फिल्म है । हॉलीवुड की हिट फिल्म द गर्ल ऑन द ट्रेन की हिंदी रीमेक में परिणीती चोपड़ा को एमिली ब्लंट वाली भूमिका करनी है ।



फिल्म का कथानक एक तलाकशुदा शराबिन महिला के इर्दगिर्द घूमता हैजिस पर एक व्यक्ति के गायब होने के पीछे हाथ होने का संदेह किया जा रहा है । हॉलीवुड फिल्म पाउला हॉकिंस के बेस्ट सेलर उपन्यास पर आधारित थी ।



आम तौर पर थ्रिलर फ़िल्में सफल होती है । इस रीमेक फिल्म का निर्देशन तीन फिल्म के निर्देशक रिभु दासगुप्ता को सौंपा गया है । इसलिएपरिणीति चोपड़ा को रीमेक फिल्म के हिट होने की पूरी उम्मीद है।

एक्शन हीरोइन बनी कृति सेनन - क्लिक करें 

एक्शन हीरोइन बनी कृति सेनन


कृति सेनन इस समय बेहद व्यस्त हैं । उनकी फिल्म लुका छुपी १ मार्च को रिलीज़ हो जायेगी । वह इस समय कलंकअर्जुन पटियालाहाउसफुल ४ और पानीपत में काम कर रही हैं । यह सभी फ़िल्में इस साल रिलीज़ हो जायेंगी । इस प्रकार से कृति सेनन एक साल में पांच फ़िल्में देने वाली अभिनेत्री बन जायेंगी ।


अब उनकी एक रीमेक फिल्म का ऐलान हुआ है । फ्रेंच फिल्म पॉइंट ब्लेंक की इस हिंदी रिमेक का निर्देशन शशांक घोष करेंगे । शशांक ने पिछले साल वीरे दी वेडिंग जैसी हिट फिल्म दी है ।


पॉइंट ब्लेंक के हिंदी रीमेक की स्क्रिप्ट पर काम किया जा रहा है । इस फिल्म के निर्माता  अजुरे एंटरटेनमेंट है । कृति सेनन इकलौती एक्टर हैं जिनके नाम का ऐलान हुआ है ।


२०१० में रिलीज़, एक्शन थ्रिलर फिल्म पॉइंट ब्लेंक कहानी एक व्यक्ति की हैजो अपनी पत्नी को अपहरण होने से बचाने के लिए भाग रहा है और उसके पीछे पुलिस और हत्यारे लगे हुए हैं। 


परन्तुहिंदी रीमेक को महिला केन्द्रित बना कर लिखा जा रहा है । इस लिहाज़ से यह फिल्म कृति सेनन के किरदार पर पूरी तरह से केन्द्रित होगी । यह कृति के लिए अपना स्टारडम साबित करने का बढ़िया मौक़ा है । फिल्म में उनके लिए इमोशनल देने के मौके भी हैं और धुआंधार एक्शन के भी ।


इस लिहाज़ सेपॉइंट ब्लेंक की रीमेक फिल्म उनकी पहली एक्शन फिल्म बन जाती है ।

सोन चिड़िया और लुका छुपी में आयुष्मान खुराना की नायिकाएं- क्लिक करें 

सोन चिड़िया और लुका छुपी में आयुष्मान खुराना की नायिकाएं


आज रिलीज़ हो रही दो फिल्मों सोन चिड़िया और लुका छुपी की खास बात यह है कि इन दोनों फिल्मों की नायिका अभिनेत्रियाँ आयुष्मान खुराना की फिल्मों की नायिकाएं रह चुकी हैं।

सोन चिड़िया की भूमि
एक्शन फिल्म सोन चिड़िया में सुशांत सिंह राजपूत और मनोज बाजपेयी डाकू किरदार में है। फिल्म की नायिका भूमि पेडनेकर किसी की दिलजोई करने वाली नायिका नहीं। बल्कि उनके हाथ में भी बन्दूक नज़र आती है।



आयुष्मान खुराना की बीवी
यह वही भूमि पेडनेकर हैं, जो फिल्म दम लगा के हईशा में मोटी होने के कारण आयुष्मान खुराना की उपेक्षा झेलती हैं। भूमि पेडनेकर ने, आयुष्मान खुराना के साथ दो फ़िल्में की हैं।  उनकी दूसरी फिल्म शुभ मंगल सावधान थी। इस फिल्म में भी वह आयुष्मान खुराना की पत्नी की भूमिका में थी, लेकिन वह आयुष्मान के किरदार की मरदाना कमज़ोरी का मज़ाक नहीं बनाती थी, बल्कि उनकी सामान्य ज़िन्दगी के लिए सहयोग करती थी।


आयुष्मान खुराना का रोमांस
रोमकॉम फिल्म लुका छुपी में कार्तिक आर्यन की नायिका कृति सैनन भी, सोन चिड़िया की भूमि पेडनेकर की तरह, आयुष्मान खुराना की पूर्व नायिका हैं। उन्होंने आयुष्मान खुराना के साथ फिल्म बरेली की बर्फी में वह दो दोस्तों आयुष्मान खुराना और राजकुमार राव की प्रेमिका और मंगेतर बनी थी। यह फिल्म भी कृति सैनन की रोमकॉम फिल्म थी।



एक साल के अंतराल से फिल्म करियर
आयुष्मान खुराना की इन दो नायिकाओं का फिल्म करियर एक साल के अंतराल से शुरू हुआ।  कृति सैनन ने, टाइगर श्रॉफ के साथ फिल्म हीरोपंथी से हिंदी फिल्म डेब्यू किया। उन्होंने अब तक पांच हिंदी फ़िल्में की हैं।  भूमि पेडनेकर का फिल्म करियर २०१५ में आयुष्मान खुराना के साथ फिल्म दम लगा के हईशा से शुरू हुआ।  भूमि ने अब तक चार हिंदी फ़िल्में और एक वेब सीरीज की है।



आगामी फ़िल्में
कृति सैनन की आगामी फिल्मों में लुका छुपी के अलावा कलंक, अर्जुन पटियाला, हॉउसफुल ४ और पानीपत है।  भूमि पेडनेकर के पास सोन चिड़िया के अलावा डॉली किट्टी और वह चमकते सितारे, पति पत्नी और वह तथा सांड की आँख हैं।

तमिल फिल्म मुनि और मुनि २ का रीमेक होगी अक्षय कुमार की फिल्म- क्लिक करें 

तमिल फिल्म मुनि और मुनि २ का रीमेक होगी अक्षय कुमार की फिल्म


कुछ समय पहले, अक्षय कुमार के १२ साल बाद, हॉरर जॉनर में वापसी करने की खबर थी। अब यह साफ़ हो गया है कि अक्षय कुमार की अनाम हॉरर फिल्म दो तमिल फिल्मों मुनि और मुनि २: कंचना का रीमेक होगी। अक्षय कुमार की फिल्म की कहानी, इन दोनों फिल्मों की कहानी की मिली जुली होगी।



मुनि की कहानी
निर्देशक राघव लॉरेंस की हॉरर फिल्म मुनि (२००७) को बड़ी सफलता मिली थी। इस फिल्म की कहानी एक ऐसे व्यक्ति की है, जिसे भूतों का भय सताता है। इसी भय के कारण वह ६ बजे के बाद बाहर नहीं निकलता। रात में भी वह माँ के पास ही सोता है। एक दिन जब वह अपने माता पिता के साथ नए घर जाता है तो वहां एक आत्मा उसे दबोच लेती है। वह आत्मा उसे अन्याय के खिलाफ मदद करने के लिए कहती है।

हिट हो गई मुनि सीरीज
तमिल फिल्म मुनि में इस भूमिका को निर्देशक राघव लॉरेंस ने किया था। इस फिल्म को बड़ी सफलता मिली थी। इस के बाद, मुनि के दो और सीक्वल मुनि २ : कंचना और कंचना २ बनाए गए। यह दोनों हिस्से भी सफल रहे। अब इस सीरीज की चौथी फिल्म कंचना ३, १८ अप्रैल को रिलीज़ होने जा रही है।



राघव लॉरेंस का हिंदी फिल्म डेब्यू
इसके साथ ही, राघव लॉरेंस का भी बॉलीवुड फिल्म डेब्यू होने जा रहा है। वह जिस हॉरर फिल्म का निर्माण करने जा रहे हैं, उसी के नायक अक्षय कुमार हैं। अक्षय कुमार, फिल्म में डरपोक गणेश की भूमिका करेंगे।

ट्रांसजेंडर ख़ास होगा
फिल्म में एक ट्रांसजेंडर करैक्टर कंचना का भी है, जिसे तमिल फिल्म में आर शरतकुमार ने किया था। इस रोल के लिए मशहूर एक्टर की तलाश की जा रही है। इसी फिल्म में, अक्षय कुमार के अपोजिट कैटरीना कैफ को लेने की चर्चा थी।



सुपरहिट अक्षय-कैटरीना जोड़ी
अक्षय कुमार और कैटरीना कैफ की जोड़ी सुपरहिट जोड़ियों में शामिल है। इन दोनों की पिछली फिल्म तीस मार खान थी। खबर यह भी है कि रोहित शेट्टी अपनी कॉप फिल्म वीर सूर्यवंशी में कैटरीना कैफ को लेना चाहते हैं। लेकिन, कैटरीना कैफ उसी फिल्म में काम करेगी, जिसमे उनकी भूमिका अक्षय कुमार के मुकाबले कमज़ोर न हो। संभव है कि रोहित शेट्टी वीर सूर्यवंशी की स्क्रिप्ट में कुछ फेरबदल कर, कैटरीना कैफ के फिल्म में आने की गुंजाईश निकाले।

कभी ‘सोन चिड़िया’ साबित होती थी डाकू फ़िल्में - क्लिक करें 

कभी ‘सोन चिड़िया’ साबित होती थी डाकू फ़िल्में


सोन चिड़िया, चम्बल के डाकुओं पर फिल्म है।  इन डकैतों के बीच का टकराव है। डकैतों के इस टकराव और खूनी जंग ने कभी, चम्बल घाटी को दहला दिया था। १९६० और १९७० के दशक में इन डाकू फिल्मों को दर्शकों की कमी नहीं थी।  बड़े बड़े सितारे भी डाकू चरित्र करने को बेकरार हुआ करते थे।  आज, अभिषेक चौबे की फिल्म सोन चिड़िया में, बॉक्स ऑफिस के सुपरस्टार नहीं जुटे हैं। लेकिन, सुशांत सिंह राजपूत, मनोज बाजपेयी, रणवीर शोरे, आशुतोष राणा और भूमि पेडनेकर जैसे सशक्त एक्टर इस डाकू फिल्म के आकर्षण हैं। चम्बल के डाकू कभी चम्बल का आतंक हुआ करते थे। उनके नाम पर बनी हिंदी फ़िल्में हिट हुआ करती थी। क्या चम्बल के डाकुओं के नाम पर बनी सोन चिड़िया उसी तरह हिट होगी ?


बदला लेने के लिए डाकू
रियल लाइफ डाकुओं की कहानी पर विश्वास करें तो ज़्यादातर बदला लेने के लिए डाकू बने।  किसी के परिवार के किसी सदस्य को मार डाला गया।  किसी की ज़मीन जायदाद छीन ली गई।  ऐसे सब लोग डाकू बन गए।  कुछ ही ऐसे थे, जिनको खून बहाने का शौक था, इलाके में आतंक फ़ैलाने का इरादा था। शोले का गब्बर सिंह आतंक फैलाने के लिए डाकू बनने का उदहारण है।  अलबत्ता बाकी ज़्यादातर फ़िल्मी डाकू भी, बदला लेने के लिये डाकू बने। अब चाहे वह मदर इंडिया का बिरजू हो या गंगा जमुना का गंगा या फिर पान सिंह तोमर का पान सिंह, सभी को अपना बदला चुकाना था।  यहाँ तक कि महिला डकैत भी बदला लेने के लिए बनी। 
 

सुपरस्टार बने डाकू
हिंदी फिल्मों के कोई ऐसा बड़ा सितारा नहीं बचा, जिसने फिल्म में डाकू का चोला न पहना हो। दिलीप कुमार (गंगा जमुना), अमिताभ बच्चन (गंगा की सौगंध), धर्मेंद्र (पत्थर और पायल), विनोद खन्ना (मेरा गांव मेरा देश, पत्थर और पायल), सुनील दत्त (मुझे जीने दो), इरफ़ान खान (पान सिंह तोमर), सीमा बिस्वास (बैंडिट क्वीन), डाकू हसीना (ज़ीनत अमान), हेमा मालिनी (रामकली), मिथुन चक्रवर्ती (बदला), अजय देवगन (लज्जा) डाकू किरदार कर चुके हैं। अमजद खान को तो शोले के डाकू गब्बर सिंह ने सुपरस्टार बना दिया। 


डाकू फिल्मों में विविधता
डाकू फिल्मों में जीतनी विविधता दिखाई देती है, उतनी किसी दूसरे विषय पर बनी फिल्मों में दिखाई नहीं देती।  मुझे जीने दो का खतरनाक डाकू जरनैल सिंह एक नर्तकी के प्यार में आ कर सुधर जाता था।  राजकपूर की फिल्म जिस देश में गंगा बहती है डाकुओं के समर्पण पर बनी उत्कृष्ट फिल्म थी। मदर इंडिया और गंगा जमुना ऐसी फ़िल्में थी, जिनमे खुद माँ और भाई अपने डकैत पुत्र और भाई को गोली मार देते थे। रमेश सिप्पी की फिल्म शोले का जेलर डाकू गब्बर सिंह से बदला लेने के लिए दो चोरों को किराए में लेता है। पान सिंह तोमर बीहड़ में उतरने से पहले सेना में था और उत्कृष्ट एथेलीट था।



आज की डाकू फिल्मों की सफलता ?
सोन चिड़िया की सफलता को, ६० और ७० के दशक की डाकू फिल्मों के आईने में देखे तो इसे सफल होना ही है। लेकिन, पिछले कुछ सालों में, हिंदी फिल्म दर्शकों को चम्बल रास नहीं आता।  चम्बल की पृष्ठभूमि पर फिल्म फेमस असफल हुई थी। यशराज फिल्म्स की अंग्रेज़ों के जमाने के डाकुओं पर अमिताभ बच्चन और आमिर खान की फिल्म ठग्स ऑफ़ हिंदुस्तान भी असफल हुई थी।  रामगोपाल वर्मा की फिल्म डाकू वीरप्पन पर फिल्म वीरप्पन भी फ्लॉप हुई थी। ज़ाहिर है कि कुछ सालों में डाकू फ़िल्में बनी ही कम हैं।  जो बनी भी, उन्हें असफलता ही हासिल हुई।

एक्स-मेन सीरीज की फिल्म डार्क फ़ीनिक्स का ट्रेलर

Wednesday, 27 February 2019

नवोदय टाइम्स २७ फरवरी २०१९

सारे जहाँ से अच्छा में विक्की कौशल


काफी समय से यह चर्चा थी कि शाहरुख़ खान के अंतरिक्ष यात्रा पर फिल्म सारे जहाँ से अच्छा से निकल जाने के बादउनकी जगह कौन लेगा?

लग रहा था कि बॉलीवुड के दो सुपरस्टारों आमिर खान और फिर शाहरुख़ खान के जाने के बाद फिल्म का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा। लेकिनवास्तव में इस भूमिका के लिए सुशांत सिंह राजपूतराजकुमार राव और विक्की कौशल के बीच टक्कर थी ।



पहले यह खबर थी कि सारे जहाँ से अच्छा के राकेश शर्मा की भूमिका के लिए सुशांत सिंह राजपूत को ले लिया गया है । क्योंकिसुशांत सिंह राजपूत ने फिल्म चंदा मामा दूर के के लिए अंतरिक्ष के बारे में काफी तैयारियां की थी । लेकिनफिल्म बंद हो गई । इस लिहाज़ से सुशांत का पलड़ा भारी लग रहा था ।



मगरबात बनी सफलता के आधार पर । फिल्म उरी द सर्जिकल स्ट्राइक के निर्माता रॉनी  स्क्रूवाला ही आदित्य रॉय कपूर के साथ फिल्म सारे जहाँ से अच्छा के निर्माता हैं । उन्होंने उरी द सर्जिकल स्ट्राइक की सफलता में विक्की कौशल के योगदान को देखते हुएसारे जहां से अच्छा में शाहरुख़ खान के बदल के तौर पर विक्की को ही उपयुक्त पाया ।

अब विक्की कौशल निर्देशक महेश मथाई के निर्देशन में रील लाइफ के स्पेसक्राफ्ट सोयुज़ टी ११ में बैठे नज़र आयेंगे ।


रोमांटिक नील समंदर गीत में मिसफिट हथिनी जैसे शरीर वाली ऋचा चड्डा - क्लिक करें 

रोमांटिक नील समंदर गीत में मिसफिट हथिनी जैसे शरीर वाली ऋचा चड्डा

म्यूजिक विडियो जाने न तू - रोनित वोहरा

म्यूजिक विडियो डांसिंग डॉल- गायिका ज्योतिका तांगड़ी

सानु केहंदी - फिल्म केसरी

बनेगी तीसरी शूटआउट फिल्म, होंगे सैफ अली खान



एकता कपूर, अपनी शूटआउट सीरीज फिर शुरू करने की तैयारी कर रही हैं।

पहली शूटआउट फिल्म ११ साल पहले रिलीज़ फिल्म शूटआउट एट लोखंडवाला (२००७) थी। १९९१ मेंगैंगस्टर माया डोलास के गिरोह और पुलिस के बीच लोखंडवाला में हुई मुठभेड़ की सच्ची घटना पर, अपूर्व लखिया की इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, संजय दत्त, सुनील शेट्टी, विवेक ओबेरॉय, अभिषेक बच्चन, अरबाज़ खान और तुषार कपूर, पुलिस और गैंगस्टर भूमिका में थे।


इस सीरीज की दूसरी फिल्म शूटआउट एट वडाला (२०१३) थी। इस बार, संजय गुप्ता निर्देशित यह गैंगस्टर मान्या सुर्वे के एनकाउंटर पर बनी इस फिल्म में जॉन अब्राहम, अनिल कपूर, कंगना रनौत, तुषार कपूर, रोनित रॉय, महेश मांजरेकर, आदि भिन्न भूमिकाओं में थे। जॉन अब्राहम ने मान्या सुर्वे की भूमिका की थी। यह दोनों ही फिल्मे सफल रही थी।

अब पांच साल बाद, शूटआउट सीरीज की तीसरी फिल्म के निर्देशन की कमान संजय गुप्ता को ही सौंपी गई है। अभी इस फिल्म की स्टारकास्ट और दूसरे विवरण का इंतज़ार है। मगर, सैफ अली खान को चुने जाने की खबर है।


सैफ अली खान और संजय गुप्ता हमेशा (१९९७) के २१ साल बाद फिर साथ होंगे। अभी यह नहीं मालूम कि सैफ की भूमिका क्या होगी, लेकिन अधकचरी फिल्मों की असफलता से त्रस्त सैफ अली खान को बढ़िया स्क्रिप्ट का इंतज़ार रहता है। इसी इंतज़ार का नतीज़ा बाजार थी। इस फिल्म में सैफ के अभिनय की सराहना भी हुई थी।

अब यह तो शूटआउट सीरीज की तीसरी फिल्म रिलीज़ होने के बाद ही पता चलेगा कि सैफ अली खान और संजय गुप्ता की जोड़ी क्या गुल खिलाती है!