Friday, 22 May 2015

'बजरंगी भाईजान' बन कर 'प्रेम' पाएंगे सलमान खान !

तेरह साल के पहले के हिट एंड रन केस में पांच साल की सज़ा पाना सलमान खान के लिए वरदान साबित हुआ।  इस साल उनकी ईद से दीवाली सचमुच मन गई।  सलमान खान की ईद २०१५ में कबीर खान निर्देशित  करीना कपूर के साथ फिल्म 'बजरंगी भाईजान' रिलीज़ होनी थी।  दीवाली पर सूरज बड़जात्या की सोनम कपूर के साथ फिल्म 'प्रेम रतन धन पायो' की रिलीज़ तय थी।  'हिट एंड रन' केस में सज़ा पाने के बाद लगा कि सलमान खान की ईद और दिवाली मोहर्रम हो जाएंगी।  लेकिन, सलमान खान के वकीलों ने चमत्कार कर दिखाया।  वह एक  सेकंड को भी जेल जाये बिना बॉम्बे हाई कोर्ट से ज़मानत पा गए।
हालाँकि, सलमान खान को जोधपुर में काले हिरन के शिकार मामले में झटका लगा है।  उनके वकीलों द्वारा गवाहों से फिर जिरह करने की अपील कोर्ट  द्वारा रद्द कर दी गई है।  उनके वकीलों द्वारा इस बार भी केस लम्बा खींच कर सलमान खान की सज़ा टलवाने की कोशिश नाकाम हो गई है।  इस मामले में सलमान खान पहले ही पांच साल की सज़ा पा चुके हैं।  अब अगर आगे उन्हें कोई राहत नहीं मिली तो उनकी राह मुश्किल हो सकती है।  लेकिन, फिलहाल यह सब दूर की कौड़ी है।
अगर. सलमान खान बॉम्बे हाई कोर्ट से राहत न पाये होते तो उनकी अपील पर फैसला होने तक वह सलाखों के पीछे होते।  'बजरंगी भाईजान' और 'प्रेम रतन धन पायो' की राह मुश्किल हो जाती।  सलमान खान आगे किसी फिल्म के बारे में सोच तक नहीं पाते।  लेकिन, अब सलमान खान किस्मत के सिकंदर बन गए हैं।  उनकी इस साल दो फ़िल्में रिलीज़ होनी है।  इन दोनों फिल्मों को सुपर हिट माना जा रहा है।  ईद रिलीज़ 'बजरंगी भाईजान' के चार सौ करोड़ का बिज़नेस करने की उम्मीद की जा रही है।  क्योंकि, तीन सौ करोड़ का बिज़नेस तो उनके मुक़ाबिल अभिनेता आमिर खान की फिल्म 'पीके' पहले ही कर चुकी है।  ईद के वीकेंड में रिलीज़ फिल्म 'बजरंगी भाईजान' पर उनके सहधर्मी दर्शकों का  प्यार बॉक्स ऑफिस पर तूफ़ान बन कर बरसेगा। चार दिन लम्बा ईद वीकेंड सोना चांदी की बारिश कर देगा। सलमान खान सज़ायाफ्ता खान से सुपर हीरो खान बन कर उभरेंगे।  इसके बाद दीवाली पर 'प्रेम रतन धन पायो' रिलीज़ होगी।  इस फिल्म में सलमान खान की दोहरी भूमिका है।  सूरज बड़जात्या और सलमान खान की दीवाली पर रिलीज़ फ़िल्में चांदी काटती है।  सलमान खान का लम्बे समय बाद परदे पर आया किरदार प्रेम भी दर्शकों का प्रेम पायेगा।
 सलमान खान मुंबई के बांद्रा बॉय माने जाते हैं।  यह बड़े फिल्म स्टार्स की बिगड़ैल औलादों का टैग है। अपनी  किशोरावस्था में सलमान खान ने अपने पिता सलीम खान को सुपर स्टार पैदा करने वाले लेखक का सम्मान पाते देखा था।  इसी सलीम खान ने सलमान को पैदा किया था। तो सलमान खान खुद को सुपर स्टार जैसा क्यों नहीं समझते।  इसी गुमान ने उन्हें बद गुमान, बद दिमाग और बैड बिहेवियर वाला सलमान खान बना दिया।  शराब पीकर मारपीट करना और तेज़ रफ़्तार से गाड़ियां चलाना ऎसी बिगड़ैल औलादों का शगल होता है।  सलमान खान के इसी शगल ने उन्हें अपराध पर अपराध करने के लिए प्रेरित किया।  इसी कारण से वह सज़ायाफ्ता मुज़रिम साबित हो गए।
फिल्म सितारों का मानना है कि  बदनाम हुए तो क्या हुआ नाम तो हुआ।  सलमान खान भी फिल्म स्टार हैं।  वह केवल स्टार नहीं सुपर स्टार हैं।  इसलिए उन्हें सज़ा भी पांच साल हुई है।  इस सज़ा ने उनकी स्टार अपील में इज़ाफ़ा ही किया है।  सलमान खान की इस साल की दोनों फ़िल्में सुपर हिट होने जा रही हैं।  लेकिन, क्या सलमान खान दूसरे संजय दत्त बनने नहीं जा रहे ?  नब्बे के दशक के बॉम्बे सीरियल ब्लास्ट में  संजय दत्त सुप्रीम कोर्ट तक गए, अपनी सज़ा टलवाने के लिए।  क्या संजय दत्त इसमे कामयाब हुए ? नहीं।  आज ५५ साल की उम्र में वह येरवडा सेंट्रल जेल में सज़ा काट रहे हैं।  क्या ४९ साल के सलमान खान भी कुछ उसी राह पर नहीं चल रहे ?



राजेंद्र कांडपाल