Tuesday, 30 May 2017

फिर अपराध की दुनिया में स्टीवन सोडरबर्ग

अपराध की पृष्ठभूमि पर एक्शन, ड्रामा और कॉमेडी फ़िल्में बनाने के लिए मशहूर (ओसियन सीरीज के) निर्देशक स्टीवन सोडरबर्ग पांच साल बाद अपराध की दुनिया में अपने दर्शकों को ले जा रहे है । फिल्म लोगन लकी तीन भाइयों की कहानी है, जो अपने परिवार को दुश्वारियों से उबारने के लिए मेमोरियल डे वीकेंड के दौरान उत्तरी कैरोलिना में कांकोर्ड में शेर्लोट मोटर स्पीडवे पर होने वाली कोका-कोला ६०० रेस के दौरान बड़ी डकैती डालने की योजना बनाते हैं । रेबेका ब्लंट की लिखी इस फिल्म में बड़े सनसनीखेज तरीके से दिखाया गया है कि कैसे लोगन भाई जिमी, मेली और क्लाइड डकैती डालने के लिए स्पीडवे ट्रैक के नीचे हाइड्रोलिक ट्यूब सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं । जो बैंग वॉल्ट्स उड़ाने में एक्सपर्ट है । फिल्म में लोगन भाइयों जिमी, क्लाइड और मेली की भूमिका क्रमशः चैनिंग टाटम, एडम ड्राईवर और राइली केओफ ने की है । दुनिया में जेम्स बांड से मशहूर अभिनेता डेनियल ने जो बैंग का किरदार किया है । फिल्म में हिलेरी स्वांक, कैथरीन वाटरस्टन, केटी होम्स, सेबेस्टियन स्टेन, आदि की भूमिका भी सनसनीखेज है । यह फिल्म १८ अगस्त को रिलीज़ हो रही है ।

आज (३१ मई को) होगा रॉजर मूर की दो बांड फिल्मों का पुनर्प्रदर्शन

दुनिया में सबसे ज्यादा मशहूर फ्रैंचाइज़ी फिल्मों में एक जेम्स बांड सीरीज की फिल्मों के दूसरे बांड अभिनेता सर रॉजर मूर (निधन २३ मई २०१७) को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके द्वारा अभिनीत दो बांड फिल्मों द स्पाई हु लव्ड मी और फॉर योर आईज ओनली का ३१ मई को प्रदर्शन किया जायेगा । द सेंट जैसे टेलीविज़न शो के मशहूर अभिनेता रॉजर मूर ने सीरीज के निर्माता अल्बर्ट ब्रोक्कोली के बहुत कहने पर बांड का सूट पहनना मजूर किया था । वह १९७३ में रिलीज़ फिल्म लिव एंड लेट डाई से पहली बार बांड बने । इस फिल्म के बाद उन्होंने छह बांड फिल्मों में अभिनय किया । ३१ मई को श्रद्धांजलि स्वरुप दिखाई जा रही बांड फिल्म द स्पाई हु लव्ड मी रॉजर मूर की तीसरी बांड फिल्म थी । जबकि, फॉर योर आईज ओनली (१९८१) उनकी पांचवी बांड फिल्म थी । द स्पाई हु लव्ड मी का टाइटल लेखक इयान फ्लेमिंग की दसवी जेम्स बांड पुस्तक पर रखा गया था । लेकिन दिलचस्प तथ्य यह था कि फिल्म के कथानक का इयान फ्लेमिंग के उपन्यास से कोई सरोकार नहीं था । यह फिल्म तीन अकादमी अवार्ड्स श्रेणी में नामित हुई थी । यह ऐसी बांड फिल्म थी, जिसे समीक्षकों ने भी सराहा और बॉक्स ऑफिस पर दर्शकों ने भी देखा । इसी फिल्म में स्टील के दांतों वाला खलनायक भी था । इस फिल्म के निर्माण में १४ मिलियन डॉलर खर्च हुए थे । फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर १८५.४ मिलियन डॉलर का ग्रॉस किया था । दूसरी फिल्म फॉर योर आईज ओनली की कहानी इयान फ्लेमिंग की दो लघु कथाओं को मिला कर लिखी गई थी । इस फिल्म से बांड फिल्मों के एडिटर जॉन ग्लेन का डायरेक्टोरियल डेब्यू हुआ था । इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर १९५ मिलियन डॉलर का ग्रॉस किया । इन दोनों फिल्मों को '4-के' वर्शन में ढाल कर ३१ मई को रिलीज़ किया जा रहा है । इन फिल्मों को यूनिसेफ के सहायतार्थ रिलीज़ किया जा रहा है । ध्यान रहे कि सर रॉजर मूर यूनिसेफ के गुडविल एम्बेसडर रह चुके है । इस सम्बन्ध में फिल्म सीरीज के दो निर्माताओं माइकल जी विल्सन और बारबरा ब्रोकोली ने एक बयान जारी कर कहा, “सर रॉजर मूर के सम्मान में यूनिसेफ के सहायतार्थ इन फिल्मों का प्रदर्शन किया जा रहा है । सर रॉजर मूर बच्चों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते थे ।“  

बदलापुर में दीपिका पादुकोण तो हैप्पी होगी सोनाक्षी सिन्हा

कहने को तो बॉलीवुड में सीक्वल फिल्मों का सिलसिला चल निकला है । लेकिन, यह कथित सीक्वल मूल फिल्म की कहानी के आसपास तक नहीं।  इनमे न केवल कथानक बदला है, बल्कि, मुख्य सितारे भी बदल दिए जाते हैं। जॉली एलएलबी २ की ज़बरदस्त सफलता के बाद निर्माताओं में अपेक्षाकृत बड़े एक्टरों के साथ सीक्वल बनाने का सिलसिला कुछ ज्यादा तेज़ हो गया है । उल्लेखनीय है कि सुभाष कपूर की २०१३ में रिलीज़ फिल्म जॉली एलएलबी में वकील जॉली का किरदार अरशद वारसी ने किया था।  लेकिन, सीक्वल की कहानी न केवल लखनऊ आई, बल्कि जॉली अक्षय कुमार बन गए, वकील के चोले में अनु कपूर थे।  सिर्फ जज साहब सौरभ शुक्ल ही बने थे।  एक दिलचस्प बात यह भी कि यह सीक्वल बड़े अभिनेताओं के साथ ही नहीं बड़ी अभिनेत्रियों के साथ भी बनाए जा रहे हैं । यही कारण है कि कहने को मज़बूर होना पड़ता है कि बदलापुर में दीपिका है तो हैप्पी है सोनाक्षी ।
दर्शकों को याद होगी २०१५ में रिलीज़ वरुण धवन की रिवेंज ड्रामा थ्रिलर फिल्म बदलापुर की । निर्माता दिनेश विजन और सुनील लूल्ला की इस फिल्म का निर्देशन श्रीराम राघवन ने किया था । एक लूट के दौरान नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और विनय पाठक की कार से हुए एक्सीडेंट में वरुण धवन की बीवी और बच्चा मारे जाते हैं । वरुण धवन अपनी बीवी और बच्चे की मौत का बदला इन लोगों से लेता है । फिल्म को अच्छी सफलता मिली थी । २५ करोड़ के बजट वाली इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ७७ करोड़ का बिज़नस किया । दूसरी फिल्म २०१६ में रिलीज़ हैप्पी भाग जाएगी थी । आनंद एल राज की इस फिल्म का निर्देशन मुदस्सर अज़ीज़ ने किया था । हैप्पी एक बिंदास लड़की है, जो शादी की रात घर से भाग निकलती है और इस प्रयास में पाकिस्तान को जा रहे एक ट्रक में बैठ जाती है । यह रोमांस कॉमेडी फिल्म सरप्राइजिंग हिट मानी गई । हैप्पी भाग जाएगी का बजट १८ करोड़ था और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ४६.५२ करोड़ का बिज़नस किया । इन दोनों ही फिल्मों की कास्ट छोटी थी । बदलापुर में वरुण धवन और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के अलावा हुमा कुरैशी, यमी गौतम, दिव्या दत्ता, राधिका आप्टे, अश्विनी कलसेकर, प्रतिमा काज़मी, जाकिर हुसैन, आदि, माध्यम दर्जे के कलाकार थे । हैप्पी भाग जाएगी में हैप्पी का रोल डायना पेंटी ने किया था । उनके साथ सह भूमिका में अभय देओल, अली फज़ल, जिमी शेरगिल, जावेद शेख, पियूष मिश्र आदि थे । यह कास्ट उस समय किसी भी लिहाज़ से बॉक्स ऑफिस पर विश्वसनीय नहीं समझी जाती थी। अब इन्ही दोनों फिल्मों की सीक्वल फ़िल्में बनाये जाने की खबर है । निर्माता दिनेश विजन आजकल बतौर डायरेक्टर अपनी पहली फिल्म राब्ता की रिलीज़ में व्यस्त है । एक इंटरव्यू के दौरान उन्होने खुलासा किया कि वह फिल्म बदलापुर का सीक्वल बनाना चाहते हैं । बदलापुर की सीक्वल फिल्म रोमांटिक फिल्म होगी । मगर इसमे कांसेप्ट बदलापुर वाला ही होगा । ख़ास बात यह होगी कि फिल्म के हीरो वरुण धवन नहीं होंगे । बकौल दिनेश विजन, “इस फिल्म के केंद्र में एक लड़की होगी । इस कहानी को पढ़ने के बाद इसे करने वाली अभिनेत्री को किरदार करते समय थोडा डर लगेगा ।“ इस किरदार को कौन अभिनेत्री करेगी, यह तो दिनेश विजन ने नहीं बताया । लेकिन, सूत्र संकेत देते हैं कि दिनेश विजन ने इस रोल को दीपिका पादुकोण को ऑफर किया है । दीपिका पादुकोण आजकल पद्मावती में बिजी हैं । हो सकता है कि फुर्सत मिलने पर वह फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़े और हाँ कर दे । वैसे बॉलीवुड गलियारे की खबर है कि दीपिका पादुकोण इस फिल्म को करने जा रही है । इस फिल्म की बाकी कास्ट २०१५ वाली फिल्म की ही होगी । फिल्म का निर्देशन श्रीराम राघवन ही करेंगे ।
पिछले साल १८ अगस्त को रिलीज़ फिल्म हैप्पी भाग जाएगी को बेहद मामूली प्रचार के साथ रिलीज़ किया गया था । इसके बावजूद फिल्म बड़ी हिट हुई तो इसलिए कि इसके किरदारों में ताज़गी थी । शादी करने जा रही औरत का घर से भागना और भागते हुए पाकिस्तान पहुँच जाना, दर्शकों के लिए रोचक स्वप्न देखने जैसा था । डायना पेंटी ने अपने हैप्पी के किरदार में काफी मेहनत की थी । कहा जा सकता है कि ऎसी सफल फिल्म के सीक्वल में नायिका का किरदार करने का अधिकार डायना पेंटी का ही बनता है । लेकिन, वास्ताव् में ऐसा है नहीं । हैप्पी भाग जाएगी की सीक्वल फिल्म में अभय देओल, जिमी शेरगिल, अली फज़ल, आदि अपने अपने किरदार कर रहे होंगे । लेकिन, दर्शकों को हैप्पी बदली हुई नज़र आयेगी । हैप्पी भाग जाएगी के सीक्वल के लिए सोनाक्षी सिन्हा से संपर्क किया गया है । सोनाक्षी सिन्हा की पिछली तीन फ़िल्में अकीरा, फ़ोर्स २ और नूर ने औसत बिज़नस ही किया है । हालाँकि, इन फिल्मों में सोनाक्षी केन्द्रीय चरित्र कर रही थी । इन फिल्मों को सफलता न मिलने के बावजूद सोनाक्षी सिन्हा को महत्वपूर्ण किरदार वाली फ़िल्में मिल रही हैं । सिद्धार्थ मल्होत्रा के साथ इत्तेफाक के रीमेक में सोनाक्षी सिन्हा केंद्रीय भूमिका कर रही हैं । सोनाक्षी सिन्हा को हैप्पी भाग जाएगी की स्क्रिप्ट बहुत पसंद आई है । खबर यहाँ तक है कि सोनाक्षी सिन्हा हैप्पी बनेंगी ।
सीक्वल फिल्मों की भगदड़ में अजब दौड़ लग रही है । जहाँ सोनाक्षी सिन्हा को बदलापुर २ में वरुण धवन के जूते पहनाये जा रहे हैं, वहीँ वह दबंग सीरीज की तीसरी फिल्म से सोनाक्षी बाहर कर दी गई है । खबर है कि अरबाज़ खान की अगले साल शुरू होने जा रही फिल्म दबंग ३ में दबंग और दबंग २ में सलमान खान की नायिका सोनाक्षी सिन्हा नहीं होंगी । सोनाक्षी सिन्हा द्वारा डॉली की डोली को इनकार कर दिए जाने के बाद से अरबाज़ खान सोनाक्षी सिन्हा से नाराज़ हैं । इसलिए, खान भाइयों ने नई हीरोइन की तलाश तेज़ कर दी है । यह भी खबर थी कि फरहान अख्तर की फिल्म डॉन ३ में प्रियंका चोपड़ा को साइन कर लिया गया है । लेकिन, बेवाच गर्ल ने इस खबर का तुरंत खंडन करने में देरी नहीं की । कम बजट वाली लेकिन, सफल दो अन्य फिल्मों के सीक्वल भी बनाए जाने की खबर है । नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और अरबाज़ खान की सोहेल खान निर्देशित फिल्म फ्रीकी अली का सीक्वल बनाया जायेगा । टाइगर श्रॉफ की हिट बागी का सीक्वल भी इसी साल शुरू हो जायेगा । इन दोनों सीक्वल फिल्मों की ख़ास बात यह है कि दोनों ही फिल्मों की मूल स्टार कास्ट में कोई ख़ास फेरबदल नहीं किया गया है । जहां, फ्रीकी अली में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और अरबाज़ खान की जोड़ी होगी, वहीँ बागी २ में टाइगर श्रॉफ से रोमांस श्रद्धा कपूर के बजाय दिशा पाटनी कर रही होंगी ।



Saturday, 27 May 2017

थ्रिलर फिल्म का म्यूजिकल प्रमोशन

अज्हा ग्लोबल एंटरटेनमेंट की अपकमिंग थ्रिलर हिंदी फिल्म फ्लैट 211  का ट्रेलर चर्चा में है। अब इस फिल्म का प्रमोशन जोर शोर से शुरू हो चूका है । हाल ही में मुंबई में इस फिल्म के एक म्यूजिकल प्रमोशन में फिल्म के मुख्य गायक मोहम्मद इरफ़ान, दिव्या कुमार, म्यूजिक कंपोजर प्रकाश प्रभाकर और निर्माता-निर्देशक सुनील संजन एक साथ मीडिया से रूबरू हुए।  फिल्म के सभी पॉपुलर गीतों मे एक गीत सुरों के सरताज मीका सिंह का 'क्रिमिनल अंखियां'  भी है। इसके अलावा 'दर्द दिलों के कम हो जाते' से अपनी पहचान बना चुके सिंगर मोहम्मद इरफ़ान ने 'तेरे लम्स ने' गाना गाया है, लम्स का मतलब होता है स्पर्श। गायक दिव्य कुमार ने भी एक गाना गाया है जिसका नाम है 'एक दिन चलेगी साली'। फिल्म के सभी गानों को प्रकाश प्रभाकर ने कंपोज़ किया है। २ जून को रिलीज़ होने जा रही यह फिल्म एक मर्डर मिस्ट्री है । फिल्म के निर्माता और निर्देशक सुनील संजन है ।  फिल्म में राज और सोनल सिंह के साथ समोनिका श्रीवास्तव और दिग्विजय सिंह प्रमुख भूमिकाओं में हैं।

‘मशीन’ की ‘मस्त मस्त गर्ल’ कियारा अडवानी

फिल्म फगली (२०१४) से फिल्म इंडस्ट्री में आयी,  अभिनेत्री कियारा अडवानी को क्रिकेटर एमएस धोनी पर बनी फिल्म में साक्षी धोनी के किरदार से पहचान मिली। पिछले दिनों उनकी अब्बास-मुस्तान की जोड़ी द्वारा निर्देशित फिल्म मशीन रिलीज़ हुई थी । इस फिल्म का एक रीमिक्स गीत तू चीज बडी हैं मस्त मस्त’ को अच्छी खासी फैनफॉलोविंग मिली । इस गीत से फिल्म में हीरो मुस्तफा के साथ डांस कर रही कियारा आडवाणी को मस्त मस्त गर्ल के नाम से पुकारा जाने लगा । इस बारे में कियारा कहती हैं, “जब भी कोई मुझे मस्त मस्त गर्ल नाम से पुकारता हैं,  मेरे चेहरे पर मुस्कान खिल जाती हैं।“  अब तक  तीन फिल्में कर चुकीं कियारा अडवानी का मानना है कि हर फिल्म से उन्हें कुछ ना कुछ सीखने को  मिला हैं। वह कहती हैं, “ अब तक का मेरा सफर काफी अच्छा रहा हैं। मैं भाग्यशाली हूं कि जिनकी फिल्में देखकर मैं बडी हुई हूँ उनके साथ काम करने का मुझे मौका मिल रहा हैं। हर फिल्म के साथ मैं अपने आपको साबित करने की कोशीश कर रहीं हूँ।“ अपनी फिल्म मशीन के लिए कियारा ने काफी मेहनत की थी । लेकिन यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से असफल हुई । कियारा कहती हैं, “आप कभी अपनी फिल्म के नतीजे का अनुमान नहीं लगा सकते । मेरी पिछली फिल्म (मशीन) ने अच्छा प्रदर्शन नहीं कियालेकिन यह अभी भी मेरे दिल के करीब है । "

हिमेश रेशमिया का डुप्लीकेट रिमेश राजा

रिमेश राजा को हिमेश रेशमिया के डुप्लीकेट के बतौर पहचाना जाता है । हिमेश रेशमिया की शैली में गीत गाने वाले रिमेश अपनी पहली एल्बम धोका लेकर आ रहे हैं । इस एल्बम के विडियो मे रिमेश के साथ डांस मास्टर गणेश आचार्य और एक्ट्रेस मदालसा शर्मा नज़र आएंगे। पिछले १५ सालों से कोलकाता के रह रहे रिमेश राजा पूरी दुनिया में शो करते आ रहे हैं। लेकिनपहचान मिली २००६ में जब इन्हे जानेमाने सिंगर कंपोजर हिमेश रेशमिया के डुप्लीकेट के रूप में । मीडिया ने रिमेश राजा को रिमेश रेशमिया कहकर मशहूर बना दिया ।

मोनिका बेदी की ‘मासूम’ नहीं है वापसी

२०१३ में संजयलीला भंसाली के शो सरस्वती चन्द्र से ज़बरदस्त वापसी करने वाली हैं | मोनिका बेदी शो मासूम से एक बार फिर दर्शकों को अपने टेढ़े तेवरों से सताने आ रही है | हालाँकि, उन्हें इस शो के लिए इस वजह से लिया गया कि उनके लुक मे दर्शकों को स्तब्ध कर देने की क्षमता है | लेकिन, इसके बावजूद वह एक मासूम को सताती नाराज़ आयेंगी | यह सीरियल लाइफ ओके पर ज़ल्द रिलीज़ होने जा रहा है | मासूम एक बदला कथा है | एक छोटे बच्चे की भूमिका ख़ास है | लेकिन, मोनिका बेदी का किरदार इस बच्चे के लिए दर्शकों की सहानुभूति बटोरने वाला साबित होगा | इस सीरियल में मनीष गोयल, रिकी पटेल और अमृता मुख़र्जी मुख्य भूमिका में हैं | तो तैयार हो जाइये मोनिका बेदी के तीखे तेवर देखने को !

वरुण सोबती की फिल्म तू है मेरा सन्डे

टेलीविजन सीरियल इस प्यार को क्या नाम दू से सनसनी फैलाने वाले वरुण सोबती अब फिल्म के हीरो बन गया हैं | उनकी अभिनीत फिल्म तू है मेरा सन्डे ने तो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सनसनी फैला दी है इस फिल्म को मुंबई अकादमी ऑफ मूविंग इमेज (MAMI) फेस्टिवल २०१६ में दर्शकों की भारी भीड़ ने सराहा था | अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यह फिल्म बेस्ट नैरेटिव फीचर (दर्शकों का चुनाव)’ का पुरस्कार जीत चुकी हैमार्च में आयोजित सिनेक्वेस्ट फिल्म फेस्टीवल में दिखाए जाने के अलावा इसे ऑस्कर के लिए क्वालीफाई कराने वाले नैशविले फिल्म फेस्टीवल के लिए भी चुना गया थाफिल्म में वरुण पाँच युवाओं के एक दल का नेतृत्व कर रहे हैं खबर है कि वह टेलीविजन पर इस प्यार को क्या नाम दूँ सीजन-२ के साथ नज़र आ सकते हैंउम्मीद है कि वरुण के प्रशंसक उनके एक बॉलीवुड एक्टर के रूप का भी मजा लेंगे जो टेलीविजन पर पहले ही सफलतापूर्वक अपना झंडा गाड़ चुके हैं|

Friday, 26 May 2017

अक्षय कुमार बने टेलीविज़न रेटिंग के सुलतान

हिंदी फिल्मों के टेलीविज़न प्रीमियर की रेटिंग में जॉन अब्राहम की फिल्म के मुकाबले अक्षय कुमार की फिल्म को ज्यादा रेटिंग मिलना तो समझ में आता है. लेकिन, अगर अक्षय कुमार की फिल्म सलमान खान की फिल्म को भी पछाड़ देती है तो किसे इडियट बॉक्स का सुलतान कहेंगे ? जी हाँ, जॉन अब्राहम और वरुण धवन की फिल्म डिशूम का पिछले साल २५ सितम्बर को स्टार गोल्ड पर वर्ल्ड प्रीमियर हुआ था . इस फिल्म को २.७९ की टेलीविज़न रेटिंग मिली थी. सलमान खान की फिल्म सुल्तान का वर्ल्ड प्रीमियर सोनी मैक्स पर पिछले साल ही १५ अक्टूबर को हुआ . इस फिल्म को ३.३२ की रेटिंग दी गई थी . लेकिन अक्षय कुमार की सोशल कॉमेडी फिल्म जॉली एलएलबी २ ने इन दोनों फिल्म को पछाड़ कर ३.८३ की रेटिंग हासिल की है. जॉली एलएलबी २ का वर्ल्ड प्रीमियर इसी साल १४ मई को स्टार गोल्ड पर हुआ था. हैं न अक्षय कुमार इडियट बॉक्स के जॉली सुलतान !




टीम इंडिया ​के समर्थन में मुन्ना माइकल

टाइगर श्रॉफ ​ने ​कल मुंबई ​के एक उपनगरीय स्टूडियो में​ ​​आगामी आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी​ और टीम इंडिया के लिए एक विशेष प्रमोशनल वीडियो शूट किया । यह विडियो ​४ जून को स्टार स्पोर्ट्स ​पर ​प्रसारित किया जाएगा । टाइगर श्रॉफ ने टीम इंडिया की जर्सी ​पहनकर, अपनी आने वाली ​डांस एक्शन फिल्म मुन्ना माइकल ​का प्रमोशन इस स्पेशल परफॉर्मन्स से शुरू कर दिया है। टाइगर श्रॉफ कहते हैं, "मुझे क्रिकेट से बहुत प्यार हैं । इस विशेष परफॉर्मन्स से मैं आगामी चैंपियंस ट्रॉफी में टीम इंडिया को प्रोत्साहित करना चाहता हूँ । ​गीत मैं हूं ​​को कुमार ने लिखा है, सिद्धार्थ महादेवन ने गाया है और ​तनिष्क बागची ​ने ​कंपोज किया है । इस सॉन्ग को फिल्म के प्रोमो में भी शामिल किया गया है​ ।  गणेश आचार्य की कोरियोग्राफी पर टाइगर श्रॉफ ने गजब के मूव्स किये है । ​

बॉलीवुड की ‘डिअर माया’ मनीषा कोइराला !

सुनैना भटनागर निर्देशित फिल्म डिअर माया शिमला के एक गाँव में अकेली रहने वाली और गुडिया बना कर गुजर बसर करने वाली महिला माया देवी की कहानी है। माया को कोई लव लैटर लिख रहा है। कौन लिख रहा है, यह पता तो नहीं चलता। लेकिन माया के सपनों को पंख लग जाते हैं।  वह खुली आँखों से सात रंग के सपने देखने लगती है।  एक अकेली औरत के मनोविज्ञान को समझने वाली बेहद उलझी हुई फिल्म है डिअर माया।  इस जटिल चरित्र को सामान्य ढंग से करने के लिए किसी सक्षम अभिनेत्री की ज़रुरत होती है।  सुनैना भटनागर की फिल्म डिअर माया की इस ज़रुरत को पूरा करती हैं अभिनेत्री मनीषा कोइराला। मनीषा कोइराला कोई पांच साल बाद रुपहले परदे पर वापसी कर रही हैं। ज़ाहिर है कि हिंदी फिल्म दर्शक मनीषा कोइराला के अभिनय का दीवाना है तभी तो डिअर माया का ट्रेलर सोशल साइट्स पर वायरल हो गया है। 
२६ साल पुराना परिचय
हिंदी फिल्म दर्शकों से मनीषा कोइराला का परिचय २६ साल पुराना है।   निर्माता निर्देशक सुभाष घई ने कोई ३२ साल बाद राजकुमार और दिलीप कुमार को एक साथ ला कर धमाका कर दिया था।  इन दो ज़बरदस्त एक्टरों के बीच दो नए चेहरे विवेक मुश्रान और नेपाली ब्यूटी मनीषा कोइराला का रोमांटिक डेब्यू हो रहा था। फिल्म देखने जाने वाले तमाम दर्शकों में दिलीप कुमार-राजकुमार टकराव देखने की उत्तेजना थी।  लेकिन, जब दर्शक फिल्म देख कर बाहर निकलता तो उसकी जुबां पर फिल्म का गीत इलू इलू होता और दिमाग पर मनीषा कोइराला के पर्वतीय सौन्दर्य का कब्ज़ा । इसका नतीजा था कि मनीषा कोइराला को लेकर तथा विवेक मुश्रान के साथ जोड़ी बना कर फ़िल्में बनाने की होड़ लग गई। यह सभी बेहद कमज़ोर थी। लिहाजा बॉक्स ऑफिस पर धडाम हो गई। 
सौदागर के बाद असफलता
सौदागर में मनीषा कोइराला के रोमांस विवेक मुश्रान अपनी फिल्मों की असफलता के बाद बिलकुल नदारद हो गए।  लेकिन मनीषा कोइराला फ्लॉप फिल्मों के बावजूद जमी रही।  उन्होंने फ़िल्में हिट हो या फ्लॉप, अपने अभिनय का लोहा मनवाया।  १९४२ अ लव स्टोरी (१९९४), बॉम्बे और अकेले हम अकेले तुम (दोनों १९९५), अग्नि साक्षी (१९९६), ख़ामोशी द म्यूजिकल (१९९६), आदि फिल्मों में अपने अभिनय से सबको प्रभावित किया। १९९० के दशक में वह उस समय की माधुरी दीक्षित, काजोल, रानी मुख़र्जी, आदि को चुनौती देती लगती थी। लेकिन, इस सब के बावजूद मनीषा कोइराला के फिल्म करियर को उनके निजी जीवन ने बेहद प्रभावित किया।  वह फिल्मों से ज्यादा देर रात पार्टियों, बॉय फ्रेंड्स और शराब के नशे को लेकर सुर्ख होने लगी। इसके बावजूद राजीव राय की फिल्म गुप्त : द हिडन ट्रुथ, मणि रत्नम की फिल्म दिल से, मिलन लुथरिया की फिल्म कच्चे धागे, इन्द्र कुमार की फिल्म मन, राजकुमार संतोषी की फिल्म  लज्जा और उज्जवल चट्टोपाध्याय की फिल्म एस्केप फ्रॉम तालिबान ने मनीषा कोइराला की अभिनेत्री की प्रतिष्ठा को बरकरार रखा था। 
मनीषा कोइराला की मार्केट को धक्का !
मनीषा कोइराला की इस प्रतिष्ठा को धक्का पहुंचा जय प्रकाश की फिल्म मार्केट के बाद।  मार्केट बॉक्स ऑफिस पर सफल हो गई। लेकिन, मनीषा कोइराला की ऎसी घटिया फिल्म करने के लिए आलोचना की गई। रही सही कसर पूरी कर दी चाहत एक नशा, अनजाने द अननोन, लाइफ लुक्स ग्रीनर ऑन द आदर साइड, आदि नायिका के खुले अंगों का प्रदर्शन करने वाली फिल्मों ने।  दर्शकों को उस समय बड़ा धक्का लगा, जब उनकी प्रिय अभिनेत्री शशिलाल नायर की फिल्म एक छोटी सी लव स्टोरी में एक किशोर युवक के साथ सेक्स कर रही थी।  यह फिल्म देखने के बाद कोई भी यह कह सकता था कि मनीषा कोइराला का करियर किस फेज से गुजर रहा था | हालाँकि, इस दौरान मनीषा कोइराला ने अग्निसाक्षी वाले पार्थो घोष की फिल्म एक सेकंड....जो ज़िन्दगी बदल दे और दीप्ति नवल की फिल्म दो पैसे की धूप और चार आने की बारिश से वापसी करने की कोशिश की।  लेकिन, रामगोपाल वर्मा की गैंगस्टर वॉर फिल्म कंपनी और हॉरर फिल्म भूत रिटर्न्स के बाद अभिनेत्री मनीषा कोइराला की फिल्मों में वापसी नहीं हुई। 
घरेलू परेशानियां और कैंसर
२०१० से मनीषा कोइराला घरेलू परेशानियों से जूझ रही थी। उनकी २०१० में एक नेपाली व्यवसाई सम्राट दहल से शादी हुई थी।  लेकिन, यह शादी सफल नहीं हो सकी। २०१२ में दोनों में तलाक़ हो गया। इसी साल उनके गर्भाशय में कैंसर का पता चला। यह किसी भी औरत की बड़ी त्रासदी थी कि एक तरफ वह अपनी उथल पुथल भरे वैवाहिक ज़िंदगी से जूझ रही थी, दूसरी ओर उसे अब कैंसर से भी लड़ना था।  इसके बाद मनीषा कोइराला फिल्मों से बिलकुल दूर चंद शब्दों के समाचारों में खो गई।  कभी कभार यह खबर आती कि मनीषा कोइराला कहीं विदेश में अपना कैंसर का ईलाज करा रही है। फिर एक दिन खबर आई कि वह अब बिलकुल ठीक है।  इसी के साथ दर्शक इंतज़ार करने लगे कि कब उनकी प्रिय अभिनेत्री मनीषा कोइराला अभिनय की दुनिया में लौटती है !
अब डिअर माया और नर्गिस
अब तीन साल तक कैंसर के ईलाज के बाद पूरी तरह से ठीक हो गई मनीषा कोइराला हिंदी फिल्मों में वापसी कर रही है। सुनैना भटनागर की फिल्म डिअर माया उनकी वापसी के लिए श्रेष्ठ फिल्म साबित हो सकती है।  डिअर माया २ जून को रिलीज़ हो रही है। मनीषा कोइराला अपनी इस वापसी फिल्म के लिए खूब प्रचार कर रही हैं और इंटरव्यू दे रही हैं। उनके चेहरे पर थकान साफ़ नज़र आती हैं। लेकिन, वापसी फिल्म का उत्साह इसे दूर भगा देता है। डिअर माया कितनों को लुभा पाती है, पता नहीं।  लेकिन मनीषा का सफ़र अब चलते रहने वाला है।  वह राजकुमार हिरानी की संजय दत्त के जीवन पर अनाम फिल्म में संजय दत्त की माँ नर्गिस का किरदार कर रही हैं।  मनीषा कोइराला ने संजय दत्त के साथ यलगार, सनम, अचानक, कारतूस, खौफ, बागी और महबूबा जैसी फ़िल्में की हैं। कुछ फिल्मों में वह संजय दत्त का प्यार बनी थी।  ऐसे में अपने रील लाइफ प्रेमी की रील लाइफ माँ का किरदार किसी अभिनेत्री को अटपटा सा लग सकता है।  लेकिन, अभिनेत्री मनीषा कोइराला को ऐसी फिल्मों की दरकार है।  वह जानती है कि वह संजय दत्त की बायोपिक से नर्गिस के उस दर्द को बयान कर सकेगी, जो कैंसर से जूझती नर्गिस ने नशीली दवाओं के चपेट में रहने वाले बेटे को देख देख कर भोगा था। यह संयोग की बात है कि नर्गिस दत्त की मौत भी कैंसर से हुई थी। 


Thursday, 25 May 2017

'काला' के ज़रिये रजनीकांत की राजनीति !

ऐसा लगता है कि सुपरस्टार रजनीकांत राजनीति में आने को लेकर गंभीर है।  उनकी अगली फिल्म के ऐलान के बाद यह पुख्ता खबर लगती है।  रजनीकांत की अगली फिल्म का निर्माण रजनीकांत के दामाद धनुष राजा कर रहे हैं। इस फिल्म का टाइटल काला रखा गया है ।  वंडर फिल्म्स के बैनर तले बनाई जा रही इस फिल्म का निर्देशन पीए रंजित कर रहे हैं। पीए रंजित ने २०१२ में रिलीज़ पॉलिटिकल ड्रामा  फिल्म 'मद्रास' से माध्यम पर अपनी पकड़ साबित की थी।  रजनीकांत की पिछली हिट फिल्म कबाली का निर्देशन भी रंजित ने ही किया था।  नई फिल्म का टाइटल 'काला' उत्तर भारतीयों द्वारा दक्षिण भारतीयों को उनके रंग के आधार पर अपमानित करने के लिए काला कह कर बुलाने से प्रेरित है।  ख़ास बात यह है कि इस टाइटल के साथ कारिकालन शब्द भी जुड़ा है।  कारिकालन एक चोल राजा था, जो अपने साहस और बुद्धिमानी के लिए मशहूर था।  इससे साफ़ है कि फिल्म में रजनीकांत काले रंग के बावजूद अपनी श्रेष्ठता साबित करने जा रहे हैं।  इस फिल्म की कहानी मुंबई की पृष्ठभूमि पर एक तमिल गैंगस्टर की है।  मुंबई में रंग के आधार पर भेदभाव की इस कहानी में रजनीकांत तमाम बाधाओं और अपमान के बावजूद खुद के लिए सम्मान हासिल करते हैं।  उल्लेखनीय है कि रजनीकांत ने कबाली फिल्म में भी मलेशिया के एक गैंगस्टर का किरदार किया था। रजनीकांत की २०१० की हिट फिल्म एंधिरन (हिंदी में रोबोट) की सीक्वल फिल्म २.० अगले साल रिलीज़ होगी। फिल्म काला का निर्माण तमिल और हिंदी में किया जायेगा।  इस फिल्म को अन्य भारतीय भाषाओं में डब कर भी रिलीज़ किया जायेगा।  दक्षिण के मशहूर फिल्म एडिटर श्रीकर प्रसाद पहली बार रजनीकांत की किसी फिल्म का संपादन करेंगे।    आज इस फिल्म के हिंदी, इंग्लिश, तमिल, आदि भाषाओँ में पोस्टर रिलीज़ किये गए। क्या दक्षिण के लोगों के साथ उत्तर के भेदभाव को उजागर कर रजनीकांत तमिल राजनीति में अपनी पैंठ जमा पाएंगे ?

जब सोनम कपूर को बता दिया गया दीपिका पादुकोण

इक्का दुक्का बाहुबली फ़िल्में चाहे दुनिया फतह कर लें, लेकिन विदेशी मीडिया के लिए बॉलीवुड अभी भी अनजाना है।  फिल्म तो फिल्म, विदेशी मीडिया के लोग चेहरो को तक नहीं पहचानते।  अभी पिछले दिनों, दीपिका पादुकोण विदेशी मीडिया पर झल्लाती हुई नज़र आई कि मुझे प्रियंका चोपड़ा कह कर आवाज़ दी गई। अभी विदेशी जर्नो इस हादसे से उबरे नहीं थे कि दूसरा हादसा घट गया।  ७०वे कांस इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल को कवर कर रही एक अमेरिकन फोटो स्टॉक एजेंसी ने सोनम कपूर का फोटो लगा कर कैप्शन दिया कि ७०वे कांस इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की प्रतियोगी श्रेणी में अपनी फिल्म मेएरोवित्ज़ स्टोरी के लिए हिस्सा लेने आई भारतीय अभिनेत्री दीपिका पादुकोण। सोनम कपूर फ्रांस में नियमित आती रहती है। जबकि, दीपिका पादुकोण का कांस फेस्टिवल में पहली एंट्री थी। इसलिए, सोनम कपूर के लिए यह ट्वीट शॉकिंग थी। उधर  इतनी प्रतिष्ठित एजेंसी की यह त्रुटि सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई।  लेकिन, सोनम कपूर ने इसे ख़ास तवज्जो नहीं दी। जब सोनम कपूर की प्रतिक्रिया मांगी गई तो सोनम कपूर ने कहा, "सही टैग्ड हजारों फोटोज में से किसी एक फोटो का मिस टैग्ड गलती मानी जानी चाहिए, न कि इसे  गलत पहचान माना जाना चाहिए । आप सही कर लीजिये, पीआर पर इतना भरोसा क्यों।" सोनम कपूर की यह प्रतिक्रिया सुन कर सहसा याद आ जाती हैं दीपिका पादुकोण।  एक बार अमेरिका में विदेशी मीडिया ने दीपिका पादुकोण को क्वांटिको की प्रियंका चोपड़ा समझ कर, प्रियंका नाम से बुला लिया था।  इससे दीपिका पादुकोण बिफर गई।  उन्होंने विदेशी मीडिया को चेहरों की पहचान उसके रंग से करने वाला रंग भेदी मीडिया करार दिया था।

Wednesday, 24 May 2017

वॉर मशीन के प्रमोशन और प्रीमियर पर ब्रैड पिट

आज (२४ मई को) हॉलीवुड अभियंता ब्रैड पिट अपनी फिल्म वॉर मशीन के प्रमोशन के लिए मुंबई में थे।  बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारे उनके स्वागत में पालक पांवड़े बिछाए हुए थे।  इस प्रचार के दौरान शाहरुख़ खान उनके साथ बने रहे।  वॉर मशीन, लेखक माइकल हेस्टिंग्स की नोटिफिकेशन बुक द ऑपरेटर्स का फिल्म रूपांतरण है।  इस फिल्म को, एनिमल किंगडम फिल्म के लेखक निर्देशक डेविड मिचोड ने निर्देशित किया है।  फिल्म में ब्रैड पिट एक अमेरिकन जनरल ग्लेन मैक्महोन का  किरदार कर रहे हैं, जो युद्ध के मैदान में अपनी  रॉक स्टार युद्ध-शैली के कारण मशहूर है।  उसका पतन उस समय शुरू होता है, जब एक पत्रकार उसकी बखिया उधेड़ने लगता है।  इस फिल्म के निर्माण में ६० मिलियन डॉलर खर्च हुए है।  यह फिल्म थिएटरों में रिलीज़ नहीं हो रही है।  इस फिल्म को २६ मई से नेटफ्लिक्स पर दिखाया जायेगा।  आज रात इस फिल्म के प्रीमियर में ब्रैड पिट ने भी हिस्सा लिया।  

Tuesday, 23 May 2017

डार्क फ़ीनिक्स यानि एक्स-मेन ७

पिछले कुछ महीनों की अफवाहों के गर्म बाज़ार के बाद यह तय हो गया है कि एक्स-मेन सरिस की अगली फिल्म डार्क फ़ीनिक्स टाइटल के साथ रिलीज़ की जाएगी | इस फिल्म को एक्स-मेन सीरीज की दो फिल्मों एक्स २: एक्स मेन यूनाइटेड और एक्स-मेन : द लास्ट स्टैंड को रिबूट कर बनाया  जा रहा है | इस फिल्म की पृष्ठभूमि १९९० के दशक वाली होगी | फिल्म में सोफी टर्नर अपने जीन ग्रे के किरदार में नज़र आएँगी | फिल्म की पूरी कास्ट क्या होगी, इसका ऐलान होना बाकी है | मगर टुकड़ों टुकड़ों में खबरें ज़रूर छान कर आ रही है | इन खबरों के अनुसार फिल्म से दो दूसरे आइकोनिक चरित्र जोड़े जा रहे हैं | हालिया रिलीज़ फिल्म एलियन: कोवेनेंट के माइकल फस्बेंदर की मैग्नेटो के बतौर वापसी होगी | फिल्म के एक प्रोडूसर हच पार्कर ने सिनेमाब्लैंड को संकेत दिया कि जेनिफर लॉरेंस का मिस्टिक करैक्टर भी फिल्म में होगा | सीरीज के निर्माताओं के बयानों पर भरोसा करें तो प्रोफेसर एक्स, बीस्ट, मोइरा मकटागेर्ट, क्विकसिल्वर, स्टॉर्म और नाईटक्रॉलर जैसे चरित्र फिर वापसी करेंगे | कुछ बुरे चरित्रों को शामिल किये जाने पर भी काम चल रहा है | ख़ास बात यह है कि डार्क फ़ीनिक्स से लेखक-निर्माता सिमोन किन्बर्ग बतौर निर्देशक डेब्यू करेंगे | यह भी तय हो गया है कि एक्स-मेन: डार्क फ़ीनिक्स २ नवम्बर २०१८ को रिलीज़ होगी |

क्या विश्व युद्ध में फंसेगा वाकांडा !

हॉलीवुड फिल्मों के राइटर-डायरेक्टर रयान कुग्लर मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स के लिए पहली बार किसी फिल्म का निर्देशन कर रहे हैं | उन्हें मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की सुपर हीरो फिल्म ब्लैक पैंथर का निर्देशन सौंपा गया हैं | रयान ने २०१५ में रॉकी फिल्म सीरीज की स्पिन-ऑफ सीक्वल फिल्म क्रीड का निर्देशन किया था | अब वह मार्वल कॉमिक्स के सुपर हीरो ब्लैक पैंथर को सोलो हीरो बना कर पेश करने जा रहे हैं | इस फिल्म का ख़ास विवरण अभी नहीं मिल पा रहा है | लेकिन, जैसे जैसे ब्लैक पैंथर की रिलीज़ की तारिख १६ फरवरी २०१८ नज़दीक आती जा रही है, ब्लैक पैंथर की कहानी से पर्दा उठता जा रहा है | एक मैगज़ीन में फिल्म की जो कहानी छपी है, उससे यह संकेत मिलता है कि ब्लैक पैंथर की कहानी कैप्टेन अमेरिका: सिविल वार के बाद की है, जब किंग टीछल्ला वाकांडा वापस आकर एकांत में समय बिताने लगता है | वह वाकांडा जैसे तकनीकी रूप से उत्कृष्ट राज्य का शासक है | ज़ल्द ही उसे मालूम हो जाता है कि वाकांडा के दुश्मन वाकांडा को विश्व युद्ध की आग में  झोंकने का प्रयास कर रहे हैं | टीछल्ला सीआईए एजेंट एवेरेट के० रॉस और वकंदन स्पेशल फाॅर्स के सदस्य डोरा मिलाजे के साथ मिल कर दुश्मनों को ख़त्म करता है | फिल्म में किंग का किरदार चाडविक बोस कर रहे हैं | वाकांडा के दो दुश्मन एरिक किलमोंजर और उलीसेस हैं | दर्शकों ने उलीसेस को द एवेंजरस : एज ऑफ़ उल्ट्रोन में देखा था | इस किरदार को एंडी सेर्किस कर रहे थे | सीआईए एजेंट एवेरेट के० रॉस का किरदार मार्टिन फ्रीमैन करेंगे | सुपर हीरो की दुनिया में ब्लैक पैंथर क्रांतिकारी घटना होगी | क्योंकि, यह पहला मौका होगा, जब किसी अश्वेत सुपर हीरो किरदार पर सोलो फिल्म बनाई गई है | फिल्म के ज़्यादातर एक्टर अफ्रीकन-अमेरिकन हैं | फिल्म से जुड़े कलाकारों में  माइकल बी जॉर्डन, एंजेला बेसेट, फारेस्ट व्हिटकर , लुपिता न्योंग’ओ और दानाई गुरीरा के नाम उल्लेखनीय हैं | सबसे दिलचस्प तथ्य यह कि मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की फिल्मों में पहली बार कोई समलैंगिक किरदार शामिल किया गया है |

टाइगर श्रॉफ बने बॉलीवुड के रेम्बो

भारत से ७ हजार किलोमीटर दूर कांस इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में इस बात का ऐलान कर दिया गया है कि बॉलीवुड, हॉलीवुड की हिट रेम्बो सीरीज पर अधिकारिक फिल्म का निर्माण करेगा । फ्रांस का कांस अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल इस बात का गवाह बना कि बॉलीवुड के युवा सितारे टाइगर श्रॉफ हॉलीवुड के सिल्वेस्टर स्टैलोन को बॉलीवुड का जवाब होंगे । हॉलीवुड की मशहूर रेम्बो सीरीज की पहली फिल्म रेम्बो के ऑफिसियल बॉलीवुड रीमेक में टाइगर श्रॉफ रेम्बो का किरदार करेंगे। फिल्म का जो पहला पोस्टर जारी किया गया है, उससे साफ़ लगता है कि बॉलीवुड की रेम्बो फिल्म का टाइटल भी रेम्बो ही होगा । इस फिल्म का निर्देशन सिद्धार्थ आनंद करेंगे।  सिद्धार्थ आनंद ने २०१४ में रिलीज़ हृथिक रोशन और कैटरीना कैफ की  एक्शन फिल्म बैंग बैंग का निर्देशन किया था।  बताते चलें कि सिद्धार्थ आनंद की फिल्म बैंग बैंग टॉम क्रूज और कैमेरॉन डियाज़ अभिनीत फिल्म नाइट एंड डे का ऑफिसियल रीमेक थी ।
हॉलीवुड को मालामाल किया रेम्बो ने 
हॉलीवुड फिल्मों के हिन्दुस्तानी दर्शक जानते हैं कि सिल्वेस्टर स्टैलॉन को हॉलीवुड का एक्शन स्टार बनाने वाली फिल्म रेम्बो १९८२ में रिलीज़ हुई थी।  इस फिल्म ने सिल्वेस्टर स्टैलॉन को एक्शन स्टार तो बनाया ही, इसके निर्माताओं को भी मालामाल कर दिया।  फिल्म के निर्माण में केवल १५ मिलियन डॉलर खर्च हुए थे। लेकिन,  धुंआधार एक्शन और खून खराबे वाली फिल्म रेम्बो ने बॉक्स ऑफिस पर १२५ मिलियन डॉलर बटोर लिए ।  इतनी बड़ी सफलता के बाद, स्वाभाविक था कि रेम्बो के सीक्वल बनाये जाते।  इस फिल्म के तीन सीक्वल और बनाये गए।  सिल्वेस्टर स्टेलॉन इन सभी फिल्मों में थे।  उन्होंने इन रेम्बो फिल्मों को लिखा भी। चौथी रेम्बो फिल्म का निर्देशन भी किया। रेम्बो एक अमेरिकन सिपाही की शक्ति और जांबाज़ी का प्रतीक था । वह हैंड टू हैंड कॉम्बैट भी कर सकता था और गुरिल्ला युद्ध में भी दक्ष था। सिल्वेस्टर स्टैलॉन के मज़बूत और संतुलित शरीर ने रेम्बो को सजीव कर दिया।  
भारतीय रेम्बो नहीं बन सका !
ज़ाहिर है कि रेम्बो को पसंद करने वाले चाहेंगे कि भारत में रेम्बो का हिंदी रीमेक बनाया जाये या कोई प्रेरित किरदार के साथ फिल्म बनाई जाये।  परन्तु दिलचस्प तथ्य यह था कि बॉलीवुड ने ऐसा कोई प्रयास नहीं किया। अनिल शर्मा ने अपनी फिल्म हुकूमत में धर्मेंद्र से रेम्बो स्टाइल में खून खराबा ज़रूर करवाया।  लेकिन धर्मेंद्र को इंडियन रेम्बो बनाने की कोई कोशिश नहीं की। पिछले साल यह खबर थी कि सिद्धार्थ आनंद की फिल्म में रेम्बो का किरदार हृथिक रोशन करेंगे । हृथिक रोशन अपने शारीरिक गठन से रेम्बो का हिंदुस्तानी संस्करण बनने की पूरी योग्यता रखते थे।  लेकिन, शायद बात नहीं बन सकी। इस रोल के लिए जॉन अब्राहम, विद्युत् जम्वाल और सिद्धार्थ मल्होत्रा के नामों पर भी विचार किया गया था।  विद्युत् जामवाल ने कमांडो (२०१३) में एक कमांडो के किरदार में खुद के गठीले शरीर, हैरतंगेज़ एक्शन दृश्यों से दर्शकों को प्रभावित किया था । २०१७ में इस फिल्म का सीक्वल कमांडो २ भी रिलीज़ हुआ । विद्युत् जामवाल को भी उनके शारीरिक गठन और एक्शन में महारत के कारण रेम्बो के काबिल समझा गया । कुछ ऎसी ही खासियतों के कारण फ़ोर्स सीरीज के नायक जॉन अब्राहम भी इंडियन रेम्बो के काबिल समझे जा रहे थे । ब्रदर्स में एक बॉक्सर का किरदार करने वाले सिद्धार्थ मल्होत्रा के नाम पर भी विचार किया गया । लेकिन, आखिरी फैसला टाइगर श्रॉफ पर हुआ ।
इंडियन रेम्बो टाइगर श्रॉफ 
टाइगर श्रॉफ ने अपने फिल्म करियर की शुरुआत तीन साल पहले फिल्म हीरोपंथी से की थी । यह रोमांस की कहानी के साथ ज़बरदस्त एक्शन वाली फिल्म थी । टाइगर श्रॉफ हरफनमौला साबित होते थे । क्योंकि वह जितना अच्छा एक्शन कर लेते थे, वह उतने ही अच्छे डांसर भी साबित होते थे । वह मार्शल आर्ट्स जानते हैं। उनकी अगली दो फिल्मों बागी और अ फ्लाइंग जट से इसकी पुष्टि होती थी । टाइगर श्रॉफ अपने शारीरिक गठन से काफी रफ़टफ लगते हैं । अपनी हर फिल्म में कमीज़ उतार कर उन्होंने इसका प्रदर्शन भी किया है । उनकी इसी खासियत ने उन्हें विद्युत् जामवाल, जॉन अब्राहम और सिद्धार्थ मल्होत्रा के ऊपर कर दिया । दिलचस्प तथ्य यह है कि सिल्वेस्टर स्टैलॉन ने जब रेम्बो का किरदार किया, उस समय वह ३६ साल के थे, जबकि टाइगर श्रॉफ २७ साल के हैं ।
रेम्बो पर ऐतराज़ था  
चूंकि, सिद्धार्थ आनंद की फिल्म रेम्बो हॉलीवुड फिल्म का हिंदी रीमेक है, इसलिए वह अपनी फिल्म के टाइटल में रेम्बो का उपयोग कर सकते हैं । अन्यथा, बॉलीवुड को अपनी फिल्मों के टाइटल में रेम्बो शब्द का उपयोग करने की मनाही थी । इसीलिए, निर्देशक प्रभुदेवा को शाहिद कपूर और सोनाक्षी सिन्हा के साथ अपनी एक्शन फिल्म का टाइटल रेम्बो राजकुमार से बदल कर थोडा मिलता जुलता आर...राजकुमार रखना पडा था । हालाँकि, खुद सिल्वेस्टर स्टैलॉन एक हिंदी फिल्म कमबख्त इश्क (२००९) में अक्षय कुमार के साथ कैमिया कर चुके हैं । इतना ही नहीं, उन्हें भारतीय रेम्बो में दिलचस्पी भी थी । रोहित शेट्टी निर्देशित फिल्म सिंघम रिटर्न्स (२०१४) के हीरो सिंघम को सिल्वेस्टर स्टैलॉन ने इंडियन रेम्बो बताया था। यहाँ उल्लेखनीय है कि रेम्बो के दूसरे पार्ट ‘रेम्बो फर्स्ट ब्लड पार्ट २’ को १९८५ में इस बिना पर रिलीज़ होने से रोक दिया गया था कि फिल्म में ज़बरदस्त खून-खराबा था, फिल्म का नायक सोवियत रूस का दुश्मन था और इस फिल्म के कारण भारत और रूस के संबंधों में तनाव पैदा हो सकता था । बाद में यह फिल्म कुछ कट के साथ रिलीज़ हुई ।
तीन हिस्सों में रेम्बो
सिद्धार्थ आनंद भारतीय रेम्बो तीन फिल्मों में पेश कर सकते हैं। हालाँकि, सिद्धार्थ आनंद की फिल्म रेम्बो, हॉलीवुड फिल्म रेम्बो का ऑफिसियल रीमेक है। इसके बावजूद तीनों फिल्मों की कहानी में बहुत फर्क होगा। बॉलीवुड का रेम्बो अमेरिकी रेम्बो की तरह वियतनाम रूस अफगानिस्तान, आदि में घुस कर दुश्मनों का सफाया नहीं कर सकता।  इसलिए, बॉलीवुड रेम्बो की कहानियां आतंरिक उथलपुथल पर केंद्रित होंगी । कहानी के अनुसार भारतीय रेम्बो इंडियन आर्मी की श्रेष्ठ गुप्त इकाई का आखिरी जीवित सदस्य है । जब वह देश वापस आता है तो पाता है कि देश में आतंरिक दुश्मन सक्रिय हैं, जो हिंसक गतिविधियाँ चला रहे है । उसे इनका सफाया करना है । इससे साफ है कि इंडियन रेम्बो देश में ही सक्रिय होगा । अलबत्ता, किसी फिल्म में वह पाकिस्तान,  अफगानिस्तान या चीन में घुस कर दुश्मन आतंकियों का सफाया कर सकता है।  

कांन्स में ऐलान के साथ ही टाइगर श्रॉफ पूरी दुनिया में सिल्वेस्टर स्टैलॉन को भारतीय जवाब के तौर पर मशहूर हो गए है । दुनिया के तमाम अख़बारों में उन पर तथा उनकी फिल्म को लेकर खबरें सुर्ख हो रही है । खुद सिल्वेस्टर स्टैलॉन ने ट्वीट कर बॉलीवुड फिल्म पर कमेंट किया है। टाइगर श्रॉफ को इतनी छोटी उम्र और छोटे करियर में जैसी शोहरत मिली है, उस शोहरत के लिए बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारे तरसते हैं । फिलहाल तो तमाम दर्शकों की निगाहें फरवरी २०१८ पर लगी होंगी, जब इंडियन रेम्बो की शूटिंग शुरू होगी।  इसका क्लाइमेक्स २०१८ के आखिरी में नज़र आएगा, जब फिल्म रिलीज़ होगी। 

'जीनियस' है अनिल 'ग़दर' शर्मा का बेटा उत्कर्ष

सोमवार को हर ओर चर्चा थी सनी देओल के बेटे करण देओल के हीरो बन जाने की । फिल्म पल पल दिल के पास में पिता सनी देओल ही उसे डायरेक्ट कर रहे थे । सोशल मीडिया पर करण के लिए बधाइयों का तांता लगा हुआ था । इस फिल्म को जी स्टूडियो को-प्रोडूस कर रहा था । याद दिलाया जा रहा था कि जी सिनेमा की ही फिल्म ग़दर एक प्रेम कथा ने सनी देओल को बड़ा हीरो बना दिया । लेकिन, इस बात को याद दिलाने वाले भूल गए थे कि ठीक उसी समय ग़दर एक प्रेम
कथा के निर्देशक अनिल शर्मा भी अपने बेटे उत्कर्ष को उसके जन्मदिन पर जीनियस फिल्म से लांच कर रहे हैं । अलबत्ता देओल परिवार इसे नहीं भूला था । जीनियस के भव्य महूर्त पर करण के दादा जी  धर्मेंद्र ने फर्स्ट क्लैप दिया और सौतेली दादी हेमा मालिनी ने कैमरा ऑन करके सीन को शूट करने के लिए तैयार किया । शुभ महूरत का नारियल जावेद अख्तर ने तोड़ कर इस फिल्म का शुभारम्भ किया। जीनियस के महूरत पर राजकुमार संतोषी,  अनीस बज्मी,  अब्बास मस्तान, विपुल शाह,  जयंतीलाल गाडा,  रमेश तौराणी,  कुमार तौरानी, चंपक जैन,  शान,  परीक्षित साहनी, मुकेश छाबरा,  सोनू वालिया,  उर्वशी रौतेला,  भरत दाभोलकर, आदि अनिल शर्मा और उत्कर्ष शर्मा को शुभकामनाये देने पहुंचे।  उत्कर्ष ने ग़दर एक प्रेम कथा में सनी देओल और अमीषा पटेल के बेटे जीते का किरदार किया था । आज जीते जवान हो गया । इसलिए पिता अनिल शर्मा उसे जीनियस बना कर पेश कर रहे है । करण की फिल्म, जहाँ खालिस रोमांस फिल्म है, वहीँ उत्कर्ष की फिल्म यह खुलासा करती है कि दिल की लड़ाई भी दिमाग से लड़ी जाती है ।  फिल्म का निर्देशन अनिल शर्मा ही कर रहे हैं । 

Monday, 22 May 2017

शाहरुख़ खान को नहीं मिल रही लीडिंग लेडी !

सुन कर अजीब नहीं लगता कि शाहरुख़ खान को अपनी अनाम फिल्म में नायिका के किरदार के लिए कोई अभिनेत्री नहीं मिल रही | दीपिका  पादुकोण से लेकर कटरीना कैफ तक बात हो चुकी है | लेकिन सबने न कर दी है | यहाँ तक कि डिअर ज़िन्दगी में शाहरुख़ खान के साथ काम कर चुकी अलिया भट्ट ने भी आनंद एल राज की अनाम फिल्म को अपनी डेट डायरी में झोंक दिया  | आनंद एल राज की इस फिल्म में शाहरुख़ खान एक बौने का किरदार कर रहे हैं | लेकिन आज भी इंडस्ट्री में उनका कद इतना बौना नहीं हो गया है कि अलिया भट्ट तक उन्हें न कर दे | दरअसल, इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि अभी इस अनाम फिल्म की स्क्रिप्ट ही तैयार नहीं है | इसलिए कटरीना कैफ ने इसे अभी अफवाह ही बताया है | दीपिका पादुकोण को पद्मावती की शूटिंग नॉन स्टॉप करनी है | इसलिए दूसरे असाइनमेंट के साथ शाहरुख़ खान की फिल्म को नहीं किया जा सकता था | ऐसे में दीपिका को अपने पहली फिल्म के हीरो की फिल्म को न  कह देना मज़बूरी थी  लेकिन, अलिया भट्ट ने शाहरुख़ खान को क्यों मना कर दिया ? अलिया भट्ट खान का क़द जानती है | उसने खान के साथ डिअर ज़िन्दगी जैसी सफल फिल्म भी की है | इसलिए वह इस पोजीशन में नहीं थीं कि खान को सीधे न कह पाती | वह अपनी मेनेजर के साथ अपनी डेट बुक ले कर शाहरुख़ खान के पास पहुँच गई | उन्होंने खान को डेट बुक पकडाते हुए कहा, ‘लो भर लो अपनी फिल्म के लिए डेट’ | शाहरुख़ खान ने पूरी बुक छान मारी | आखिरकार खुद ही हाथ खड़े कर दिए और अलिया भट्ट को न कह दी | इस प्रकार से शाहरुख़ खान अभी तक बिना नायिका के फिल्म साइन किये हुए हैं |

अल्पना कांडपाल  

सनी देओल ने लांच किया बेटे को !

चौंतीस साल पहले अभिनेता धर्मेंद्र ने विजेयता फिल्म्स की स्थापना कर अपने बेटे सनी देओल को हीरो बनाने के लिए फिल्म बेताब का निर्माण किया था। आज धर्मेंद्र फिर अपने बैनर विजेयता फिल्म्स के अंतर्गत अपने पोते के लिए निर्माता की भूमिका में थे। इसके साथ ही देओल खानदान की तीसरी पीढ़ी यानि अभिनेता सनी देओल के बड़े बेटे करण देओल भी हीरो बन गए। आज करण ने पहली बार रोमांटिक फिल्म पल पल दिल के पास के लिए कैमरा फेस किया। करण की फिल्म का शीर्षक, धर्मेंद्र की १९७३ में रिलीज़ फिल्म ब्लैकमेल के धर्मेंद्र और राखी पर फिल्माए गए गीत 'पल पल दे के पास तुम रहती हो' से प्रेरित है। इस फिल्म का निर्देशन खुद सनी देओल कर रहे हैं। सनी देओल अब तक दो फिल्मों दिल्लगी (१९९९) और घायल वन्स अगेन (२०१६) का निर्देशन कर चुके हैं। पल पल दिल के पास उनकी तीसरी फिल्म होगी। पहले यह खबरें यह आ रही थी कि यशराज बैनर करण देओल को लांच करना चाहता है। लेकिन, सनी देओल को इस बैनर पर पूरा भरोसा नहीं था। यश चोपड़ा, फिल्म आदमी और इंसान में धर्मेन्द्र और फिल्म डर में सनी देओल को गच्चा दे चुके थे। यश चोपड़ा ने अपनी फिल्मों के विलेन फ़िरोज़ खान और शाहरुख़ खान को हीरो (धर्मेन्द्र और सनी देओल) पर तरजीह दी थी। इसलिए खुद सनी देओल चाहते थे कि वह अपने बेटे की लौन्चिंग फिल्म खुद बनाए। पल पल दिल के पास का प्रोडक्शन धर्मेन्द्र के बैनर विजयेता फिल्म्स के साथ जी स्टूडियो कर रहा है। कोई १७ साल पहले जी सिनेमा ने सनी देओल की फिल्म ग़दर एक प्रेम कथा का निर्माण किया था। यह फिल्म हिंदी सिनेमा के इतिहास की बड़ी हिट फिल्म साबित हुई थी। शायद सनी देओल इस प्रकार अपने बेटे को एक बड़ी हिट फिल्म से शुरुआत का मौका देना चाह रहे होंगे। बेटे को डायरेक्ट कर इमोशनल हो गए सनी देओल ने अपने बेटे के साथ तस्वीर खिंचा कर सोशल साइट्स पर डाली, जो देखते ही देखते वायरल हो गई। करण को बधाई का तांता लग गया।रितेश देशमुख ने करण को शुभकामनाये भेजी। 

Saturday, 20 May 2017

'मिरर गेम' में ध्रुव बाली

ध्रुव बाली को अपनी फिल्मों, टीवी सीरीज और वेब सीरीज के कारण अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त है। खास तौर पर क्रिमिनल्स माइंडस जैसी टीवी सीरीज और डिसेप्शन जैसी वेब सीरीज ने ध्रुव को दुनिया में पहचाना जाता है। वह किंगफ़िशर और सैमसंग के लिए मॉडलिंग कर चुके हैं। अब वह विजित शर्मा की फलम मिरर गेम में लीड रोल कर रहे हैं।  यह एक साइकोलॉजिकल थ्रिलर मर्डर मिस्ट्री फिल्म है।  फिल्म में मानसून वेडिंग और जलपरी के परवीन डबास की भी ख़ास भूमिका है। इस फिल्म की तमाम शूटिंग न्यू जर्सी और न्यू यॉर्क में हुई है। फिल्म में फीमेल लीड में पूजा बत्रा है, जो पूर्व मिस इंडिया हैं और विरासत, भाई,  हसीना मान जाएगी, कहीं प्यार न हो जाये, आदि हिंदी फ़िल्में कर चुकी है।  ध्रुव बाली मिरर गेम के बारे में बताते है, "फिल्म की निर्माता एकता शर्मा मुझे सोलो परफॉरमेंस पेन इज टेम्पररी में नोटिस किया था।  उसी समय उन्हें लगा कि मैं मिरर गेम के रॉनी भनोट के किरदार में परफेक्ट लगूंगा।" यह फिल्म ७ जून को रिलीज़ हो रही है। 

शमिता शेट्टी से प्रभावित सुपर्ण वर्मा

शिल्पा शेट्टी की छोटी बहन से मशहूर और आदित्य चोपड़ा की फिल्म मोहब्बतें से फिल्म डेब्यू करने वाली अभिनेत्री शमिता शेट्टी अब वेब दुनिया में तहलका मचाने जा रही हैं।  वह डायरेक्टर सुपर्ण वर्मा (एक खिलाडी एक हसीना और एसिड फैक्ट्री) की वेब सीरीज में अभिनय कर रही हैं।  इस वेब सीरीज में शमिता शेट्टी की भूमिका क्या है तथा वेब सीरीज का विषय क्या है, रहस्य के घेरे में हैं। लेकिन, सुपर्ण वर्मा जैसी फिल्म बनाते रहे हैं, उससे उनकी वेब सीरीज भी थ्रिलर लगती है। इस सीरीज  में अभिनय करने के दौरान शमिता शेट्टी ने अपनी अभिनय प्रतिभा से सुपर्ण वर्मा को काफी प्रभावित किया।  सुपर्ण वर्मा कहते हैं, "मेरा विचार है कि हमें एक्टरों के बीच की रुकावटों को दूर करते हुए, उन्हें उनकी स्टाइल से खोलना है।  इस फिल्म की रिहर्सल के दौरान कमरे में पहले के कुछ मिनटों में अटपटा सा माहौल था।  किन्तु थोड़ी देर बाद ही कमरा एक्टरों की चीखों और चुनी हुई गालियों से गूजने लगा।  अब एक्टर खुलने लगे थे।  शमिता खुलने के साथ ही अपने करैक्टर में बह चली। उसने अपने अंदर छुपे हुए को बाहर निकाला होगा।" 

मदर्स डे पर 'माई री'

मदर डे (१४ मई) गायिका- कंपोजर शिवरानी सोमई के लिए ख़ास था।  इस दिन उनका पहला सिंगल 'माई री' रिलीज़ हुआ।  इस सिंगल की ख़ास बात यह है कि इसकी धुन शिवरानी और उनकी माँ वंदना ने मिल कर तैयार की है।  वंदना खुद भी अच्छी गायिका हैं।  शिवरानी ने इस एल्बम को दुनिया की सभी माताओं को अपनी बेटी के करियर में योगदान के लिए समर्पित किया है।  शिवरानी का जन्म लंदन में एक संगीतज्ञ परिवार में हुआ था।  वह चार साल से संगीत की हर विधा सीख रही हैं।  उन्हें लंदन में पली-बढ़ी होने के कारण पाश्चात्य और प्राच्य संगीत का भी अच्छा ज्ञान है।  उन्होंने पियानो पर सघन प्रशिक्षण लिया है।  पाश्चात्य गायिका में भी वह प्रशिक्षित हैं।  

पाकिस्तान में परफॉर्म करेंगे वीर दास ?

वीर दास अपना मनचाहा कर पाते हैं। वह अविश्वसनीय आत्मविश्वास के साथ मंच पर आते हैं। वह भारत में सबसे मशहूर और सफल कॉमेडियन के रूप में जाने जाते हैं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर नेटफ्लिक्स पर उनकी हालिया प्रस्तुति ने उन्हें पहला ऐसा भारतीय कलाकार बना दिया है जिसका इस प्लेटफार्म पर अपना कोई स्पेशल है। वह सुपीरियर लीग में अपना रास्ता खुद बनाने में सक्षम है। आजकल वीर दास अपने वर्ल्ड टूर में व्यस्त हैं। इसमें उन्हें २६ देशों की यात्रा करनी है। अपने नेटफ्लिक्स स्पेशल अब्रॉड अंडरस्टैंडिंगके कारण उनकी फैन की संख्या में भारी बढ़ोत्तरी हुई है। अगले सप्ताह वे ऑस्ट्रेलिया में एक अतिरिक्त शो का आयोजन करने जा रहे हैं। पाकिस्तान से भी सैकड़ों लोगों ने वीर को पत्र लिख कर उनसे पाकिस्तान में भी एकबार स्पेशल शो आयोजित करने का अनुरोध किया है। इसलिए उन की टीम अपने वर्ल्ड टूर के दरम्यान पाकिस्तान में भी एक शो रखने का मार्ग तलाश रही है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो सीमापार के उनके प्रशंसक भी जल्द ही उनके लाइव स्टैंड-अप अभिनय का साक्षी बनेंगे।