Sunday, 22 October 2017

खलनायकों में कभी न हारने वाले लायन थे अजित

सारा शहर मुझे लायन के नाम से जानता है ( फिल्म कालीचरण) 
कुत्ता जब पागल हो जाता है तो उसे गोली मार दी जाती है (ज़ंजीर) 
जिस तरह से कुछ आदमियों की कमज़ोरी बेईमानी होती है... इस ही तरह कुछ आदमियों की कमज़ोरी ईमानदारी होती है (फिल्म ज़ंजीर) 
आओ विजय, बैठो और हमारे साथ एक स्कॉच पियो... हम तुम्हे खा थोड़ी ही जायेंगे....वैसे भी हम वेजीटेरियन हैं (फिल्म ज़ंजीर) 
मेरा जिस्म ज़रूर ज़ख्मी है, लेकिन मेरी हिम्मत ज़ख़्मी नहीं (फिल्म मुगले आज़म) 
राजपूत जान हारता है, वचन नहीं हारता (फिल्म मुगले आज़म) 
लम्हो का भंवर चीर के इंसान बना हूँ...एहसास हूँ मैं वक़्त है के सीने में गड़ा हूँ (फिल्म बेताज बादशाह) 
देख सकता है भला कौन ये प्यारे आंसूं...मेरी आँखों में न आ जाये तुम्हारे आंसूं (फिल्म बेताज बादशाह) 
शाकाल जब बाज़ी खेलता है..तो जितने पत्ते उसके हाथ में होते हैं...उतने ही उसकी आस्तीन में (फिल्म  यादों की बारात) 
मुग़ले आज़म १९६० में रिलीज़ हुई थी। यादों की बरात १९७३ में और बेताज बादशाह १९९४ में रिलीज़ हुई थी ।  इन  फिल्मों के उपरोक्त सभी संवाद अजित खान पर फिल्माए गए थे। प्राण के बाद कोई खान ही इतने दमदार संवाद बोल सकता है, वह भी पूरे तीन दशक तक।  हर दशक में अजित अपनी भारी आवाज़ में खुद के लायन होने का इज़हार करते, दर्शक अमिताभ बच्चन के संवादों से ज़्यादा सीटियां बजाता। यही अजित के अभिनय और दमदार संवाद अदायगी का तक़ाज़ा था कि अजित फिल्म मुगले आज़म में दिलीप कुमार पर, कालीचरण में शत्रुघ्न सिन्हा और यादों की बरात में धर्मेंद्र पर भारी पड़े।  यहाँ तक कि फिल्म बेताज बादशाह में संवादों के महाराजा राजकुमार के सामने अजित टिके रह सके।  

२७ जनवरी १९२२ को जन्मे हामिद अली खान को हिंदी फिल्मों में शोहरत मिली अपने स्टेज के नाम अजित से। उन्होने अपने पांच  दशक लम्बे फिल्म करियर में २०० से ज़्यादा फ़िल्में की।  नास्तिक, बड़ा भाई, बारादरी और मिलान के नायक अजित ने मुगले आज़म और नया दौर से सह भूमिकाएं करनी शुरू कर दी।  अपने संवादों से पूरी फिल्म पर छा जाने वाले अजित को आज भी उनकी दमदार संवाद अदायगी के कारण याद किया जाता है।  २२ अक्टूबर १९९८ को हिंदी फिल्मों के इस लायन ने संसार से  विदा ली।  उन्हें श्रद्धांजलि। 

नहीं रहे हम हिंदुस्तानी के 'राम'

फिल्म निर्माता, निर्देशक और लेखक राम मुख़र्जी का निधन हो गया।   मशहूर मुख़र्जी परिवार के  वारिस राम मुख़र्जी को आज रानी मुख़र्जी के पिता के बतौर जाना जाता है। ,जबकि,  वह फिल्मालय स्टूडियो, जिसने लव इन शिमला, एक मुसाफिर एक हसीना, लीडर, आदि फिल्मों का निर्माण किया था, के एक संस्थापक शशधर मुख़र्जी के भतीजे थे।  उनका फिल्म डेब्यू १९६० में फिल्म हम हिंदुस्तानी के निर्देशक के बतौर हुआ था।  इस फिल्म में सुनील दत्त, जॉय मुख़र्जी, आशा पारेख, हेलेन, आदि की मुख्य भूमिका थी।  यह इकलौती फिल्म थी, जिसमे हेलेन जॉय मुख़र्जी की नायिका बनी थी।  राम मुख़र्जी ने दिलीप कुमार, वैजयंतीमाला और मोतीलाल को लेकर लीडर का निर्देशन  किया था।  इस फिल्म का स्क्रीनप्ले भी राम मुख़र्जी का लिखा हुआ था।  लीडर की रिलीज़ के कोई आठ साल बाद राम मुख़र्जी ने फिल्म एक बार मुस्कुरा दो का निर्देशन किया था।  इस फिल्म में जॉय मुख़र्जी, देब मुख़र्जी और तनूजा मुख्य भूमिका में थे।  एक बार मुस्कुरा दो के दौरान तनूजा का फिल्म के एक प्रोडूसर शोमू मुख़र्जी से रोमान्स हुआ, जो शादी में तब्दील हो गया।  इन दोनों की बेटी काजोल है।  राम मुख़र्जी ने अपनी बेटी को नायिका बनाने के लिए बांगला फिल्म बिएर फूल और हिंदी फिल्म राजा की आएगी बारात का निर्माण किया था।  राम मुख़र्जी की निर्देशित और निर्मित तमाम फ़िल्में असफल हुई थी।  इसलिए, आज राम मुख़र्जी की पहचान रानी मुख़र्जी के पिता की तरह होती है। राम ने दो दिन पहले ही दिवाली सेलिब्रेशन में हिस्सा लिया था। उन्हें श्रद्धांजलि।  

Saturday, 21 October 2017

जब सचिन से मिला केबीसी का प्रतिभागी

गेम शो कौन बनेगा करोड़पति प्रतिभागियों को मालामाल तो कर ही रहा है, उनकी इच्छा पूरी कर उन्हें चकित करने का काम भी कर रहा है।  कोई पंद्रह दिन पहले कौन बनेगा करोड़पति सीजन ९ में बीड के राजुलदास राठौर ने हिस्सा लिया था।  शो के होस्ट अमिताभ बच्चन के साथ बातों ही बातों में राजुल ने किस्सा बयान किया कि कैसे उन्होंने सचिन तेंदुलकर का मैच देखने के लिए टीवी का रिमोट तोड़ दिया था।  राजुल  ने अपने जीवन की इच्छा सचिन से मिलना भी बताई थी।  इस एपिसोड को सचिन तेंदुलकर ने भी देखा और सुना था । सचिन ने ट्विटर पर राजुल से मिलने का वादा भी किया था।  उनकी इस इच्छा को पूरा किया कौन बनेगा करोड़पति ने।  इसी १८ अक्टूबर को राजुलदास को सचिन तेंदुलकर से मिलने का मौक़ा मिला।  राजुल के लिए सचिन तेंदुलकर से मिलने से बड़ा उपहार दूसरा क्या हो सकता था।  सचिन ने राजुल से उनके एपिसोड को लेकर बातचीत की।  राजुल सचिन का जन्मदिन केक काट कर मनाते हैं।  सचिन ने बदले में राजुल के साथ केक काटा।  उन्होंने राजुल को अपना हस्ताक्षरित बैट भी भेंट स्वरुप दिया।  सचमुच ऐसी दिवाली तो राजुल ने कभी सोची तक नहीं होगी।    

आलिया ने क्यों चूमा जैक्विलिन को ?

जैक्विलिन फर्नॅंडेज़ को गालों पर चूमती आलिया भट्ट की इस फोटो के बारे में आपको क्या कहना है ? सोशल साइट्स पर कमैंट्स करने वालों की बात करें तो वह इसे लेस्बियन रिलेशन जैसा कुछ बता रहे हैं।  कुछ इसे हॉट फोटो बता रहे हैं।  लेकिन, इस फोटो और उसके पीछे की कहानी कुछ दूसरी है।  आइये बताते हैं।  पिछले दिनों खबरें सुर्ख थी कि अभिनेत्री जैक्विलिन फर्नॅंडेज़ ने सिद्धार्थ मल्होत्रा की गर्लफ्रेंड आलिया  भट्ट को, अपने इंस्टाग्राम पर अनफॉलो कर दिया है।  आम तौर पर ठीकठाक सम्बन्ध रखने वाली अभिनेत्रियां एक दूसरे को सोशल साइट्स पर फॉलो करती हैं और उनकी ट्वीट पर कमैंट्स भी करती हैं। जैक्विलिन के आलिया को अनफ्रेंड करने की खबर का मतलब था कि दोनों में सब कुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है।  दरअसल, सभी जानते हैं कि आलिया भट्ट और सिद्धार्थ मल्होत्रा ने स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर से फिल्म डेब्यू किया था।  इस फिल्म के बाद दोनों के रोमांस और डेटिंग की खबरें गर्म होने लगी थी।  इन दोनों ने कपूर एंड संस भी एक साथ की थी।  दोनों के   बीच दरार की खबरें तब सुर्ख हुई, जब कोई एक साल पहले सिद्धार्थ मल्होत्रा अ जेंटलमैन  की शूटिंग के लिए मियामी गए हुए थे।  इस फिल्म की नायिका जैक्विलिन फर्नॅंडेज़ हैं।  इसके साथ ही सिद्धार्थ और जैक्विलिन के रोमांस की खबरें  अख़बारों में छपने लगी।  जैक्विलिन अपनी फोटोज अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर डालने की शौक़ीन हैं।  बताते हैं कि चूंकि आलिया भट्ट सोशल साइट्स पर सिद्धार्थ और जैक्विलिन के फोटोज देखा करती थी, तो सिद्धार्थ और आलिया भट्ट में झगड़ा हुआ करता था।  इसे देख कर जैक्विलिन ने आलिया भट्ट को अनफॉलो कर दिया।  इससे सिद्धार्थ  मल्होत्रा के कारण इन दो युवा एक्ट्रेस के बीच मनमुटाव की खबरों की पुष्टि होती थी।  लेकिन, अब सोशल साइट्स पर सक्रिय जैक्विलिन ने अनिल कपूर के घर दिवाली पार्टी की अपनी फोटोज डाली हैं, जिनमे वह दूसरी अभिनेत्रीयों और अभिनेताओं के साथ नज़र आती हैं।  ऎसी ही एक फोटो में आलिया भट्ट जैक्विलिन फर्नॅंडेज़ को गालों पर चूमती  नज़र आ रही है।  इस फोटो से दोनों अभिनेत्रियों के बीच मनमुटाव की खबरों पर विराम लग जाना चाहिए।  बड़े धोखे हैं इस बॉलीवुड में ! 

आमिर खान की फिल्म के स्क्रीन घटे

दीवाली वीकेंड रिलीज़ के दौरान, आमिर खान ने अपनी स्टार पॉवर का इस्तेमाल करते हुए, अजय देवगन की फिल्म गोलमाल अगेन के अपोजिट रिलीज़ हो रही अपनी फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार के लिए हर मल्टीप्लेक्स में बराबर- बराबर स्क्रीन पा लिए थे ।  लेकिन, वह भूल गए कि दीवाली अजय देवगन की होती है या फिर अजय देवगन की फिल्म जैसी कॉमेडी हो तो फिल्म दिवाली में हिट कर जाती है।  ऐसा ही कुछ सीक्रेट सुपरस्टार और गोलमाल अगेन के मामले में हुआ।  बराबर स्क्रीन शेयर के बावजूद सीक्रेट सुपरस्टार ने गोलमाल अगेन के ग्रॉस का आधे से भी कम का  ग्रॉस किया।  इसे देखते हुए मल्टीप्लेक्स ओनर्स ने निर्णय लिया कि अब हर मल्टीप्लेक्स से सीक्रेट सुपरस्टार के दो-दो स्क्रीन कम कर गोलमाल अगेन को दे दिए जाए।  इस फैसले से अजय देवगन की फिल्म को कितना  फायदा होता है, इसका पता बाद में चलेगा। लेकिन, इतना तय है कि सीक्रेट सुपरस्टार  के स्क्रीन कम होने से  फिल्म के कलेक्शन क़म नहीं होंगे।  क्योंकि, फिल्म पहले ही क्षमता से काफी कम कलेक्शन कर पा रही थी।  

सफल नहीं हो रहा दक्षिण का ग्लैमर

सैफ अली खान की ६ अक्टूबर को रिलीज़ फिल्म शेफ में सैफ की नायिका पद्मप्रिया जानकीरामन मलयालम फिल्मों की बड़ी अभिनेत्री हैं।  २०१० में वह फिल्म स्ट्राइकर से हिंदी दर्शकों को अपना परिचय दे चुकी हैं।  पद्मप्रिया की स्ट्राइकर से शेफ के बीच का सात साल का फैसला असल कहानी बयान कर देता है।  क्या दक्षिण की अभिनेत्रियों में साठ के दशक  की बात नहीं रही ? इसके बावजूद दक्षिण से अभिनेत्रियों का आने का सिलसिला जारी है।  इसी साल दक्षिण की कुछ अभिनेत्रियां हिंदी फिल्मों के नायकों के साथ रोमांस करती नज़र आएँगी।  दक्षिण की फिल्मों की स्थापित अभिनेत्री लक्ष्मी राय दीपक शिवदासानी की फिल्म जूली २ से दर्शकों को अपनी सेक्स अपील का दीवाना बनाने की कोशिश में होंगी।  तमिल और मलयालम फिल्मों की अभिनेत्री एंड्रिया जेरेमिया की हॉरर फिल्म  द  हाउस नेक्स्ट डोर ३ नवंबर को रिलीज़ होगी।  राजकुमार राव की फिल्म शादी   में ज़रूर आना की कृति खरबंदा से  दर्शकों का परिचय राज़ रिबूट से हो चूका है।  इनके अलावा दक्षिण से हिंदी फिल्मों में आने वाली अभिनेत्रियों में पार्वती, प्रिया आनंद, आदि के नाम उल्लेखनीय हैं।
दक्षिण की डब फिल्मों से
दक्षिण की हिंदी में डब फिल्मों से भी काफी हिंदी दर्शक वहाँ के पत्रकारों से परिचित हो रहे हैं।  यह अभिनेत्रियां हिंदी फिल्मों में नज़र नहीं आती।  तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस अनुष्का शेट्टी को हिंदी दर्शक देवसेना के रूप में पहचानते हैं।  हिंदी में डब एसएस राजामौली की फिल्म बाहुबली और बाहुबली २ की देवसेना अनुष्का शेट्टी को हिंदी दर्शक ने बाहुबली द बिगिनिंग के बाद २०१५ में ही तेलुगु फिल्म  रुद्रमादेवी की शीर्षक भूमिका में देखा था।  हिंदी दर्शकों के इतने जाने पहचाने चहरे ने एक भी हिंदी फिल्म नहीं की है।  अनुष्का शेट्टी तो इसकी ज़रुरत तक नहीं समझती।
बॉलीवुड से दक्षिण जाने वाली काजल और तमन्ना की फ्लॉप वापसी
काजल अग्रवाल ने फ्लॉप हिंदी फिल्म क्यों हो गया न (२००४) करने के बाद दक्षिण की ओर रुख किया था।  दक्षिण की तेलुगु और तमिल फिल्मों में काजल को अच्छी सफलता मिली।  सात साल बाद रोहित शेट्टी की एक्शन फिल्म सिंघम (२०११) में काजल अग्रवाल अजय देवगन के साथ नज़र आई।  फिल्म सुपर हिट हुई।  इसके बाद वह स्पेशल २६ (२०१३) में अक्षय कुमार की नायिका बानी।  यह फिल्म भी बड़ी हिट साबित हुई।  अलबत्ता, उनकी रणवीर हूडा के साथ रोमांस फिल्म दो लफ़्ज़ों की कहानी बॉक्स ऑफिस पर टे ज़रूर बोल गई।  हालाँकि, फिल्म में काजल के अभिनय की सराहना हुई।  अब यह बात दीगर है कि तमिल और तेलुगु फिल्मों की मुख्य नायिकाओं में से एक और हिंदी में हिट फिल्मों और अभिनय में प्रशंसा के बावजूद काजल अग्रवाल को हिंदी फिल्में नहीं मिली।  काजल अग्रवाल की तरह तमन्ना भाटिया का करियर भी नज़र आता है।  उन्होंने चाँद सा रोशन चेहरा (२००५) से हिंदी फिल्म डेब्यू किया था।  फिल्म बुरी तरह से असफल हुई।  तमन्ना की बड़ी स्टार बनने की तमन्ना साउथ में  पूरी हुई।  आठ साल बाद,   अजय देवगन की एक्शन कॉमेडी फिल्म हिम्मतवाला से तमन्ना की हिंदी फिल्मों में वापसी हुई।  इस फिल्म के बाद, तमन्ना की हमशकल्स और एंटरटेनमेंट रिलीज़ हुई।  तीनों ही फ़िल्में फ्लॉप हुई।  तमन्ना को भी दक्षिण का रुख करना पड़ा।
सफल इलीना डिक्रूज़
इलीना डिक्रूज़ ने जब हिंदी फिल्म डेब्यू किया, उस समय वह दक्षिण में बड़ा नाम बन चुकी थी।  उनकी पहली हिंदी फिल्म अनुराग बासु की  रणबीर कपूर और प्रियंका चोपड़ा के साथ फिल्म बर्फी थी।  यह फिल्म हिट हुई।  लेकिन, श्रेय मिला रणबीर कपूर और प्रियंका चोपड़ा को।  हालाँकि, इलीना के  अभिनय को सराहना मिली।  इसके बावजूद इलीना का हिंदी फिल्म करियर ख़त्म नहीं हुआ।  उन्हें दक्षिण की तमाम दूसरी अभिनेत्रियों की तरह दक्षिण की फिल्मों की शरण में नहीं जाना पड़ा।  वह बॉलीवुड के तमाम अभिनेताओं के साथ फ़िल्में कर चुकी हैं।  उन्होंने शाहिद कपूर  के साथ फिल्म फटा पोस्टर निकला हीरो, वरुण धवन के साथ मैं तेरा हीरो, सैफ अली खान के साथ हैप्पी एंडिंग, अक्षय कुमार के साथ रुस्तम, अर्जुन कपूर के साथ मुबारकां और अजय देवगन के साथ बादशाओ जैसी फ़िल्में की हैं।  उनकी अजय देवगन के साथ फिल्म रेड की शूटिंग जारी है। इस लिहाज़ से तापसी पन्नू का करियर बढ़िया चल रहा है।  चश्मे बद्दूर (२०१३) से हिंदी फिल्म डेब्यू करने वाली तापसी पन्नू ने पिंक से खुद को स्थापित कर लिया है।  वह बेबी, नाम शबाना और रनिंग शादी डॉट कॉम और जुड़वा २ जैसी फ़िल्में दे चुकी हैं।  फ्लॉप फिल्म एक दीवाना था से हिंदी फिल्म डेब्यू करने वाली एमी जैक्सन सिंह इज ब्लिंग और  फ्रीकी अली के बाद रजनीकांत की फ़न्तासी फिल्म २.० से उम्मीद लगा सकती है।
हासन बहनें
कमल हासन और सारिका की दो पुत्रियां श्रुति हासन और अक्षरा हासन का बॉलीवुड में प्रवेश हो चुका है।  श्रुति हासन अब तक लक, दिल तो बच्चा है जी, रमैया वस्तावैया, डी- डे, तेवर, गब्बर इज बैक, रॉकी हैंडसम, वेलकम बैक और बहन होगी तेरी जैसी हिंदी फ़िल्में कर चुकी हैं।  उनकी हिंदी फिल्मों को ज़्यादा सफलता नहीं मिली।  लेकिन, वह  खुद को सक्षम अभिनेत्री साबित कर पाने में सफल हुई हैं।  उनकी बहन अक्षरा हासन ने २०१५ में अमिताभ बच्चन और धनुष के साथ फिल्म षमिताभ से हिंदी फिल्म  डेब्यू किया था।  अभी उनकी दूसरी फिल्म लाली की शादी में लड्डू दीवाना ही रिलीज़ हुई है।  अपनी कम  उम्र  के लिहाज़ से हासन बहनों से बॉलीवुड उम्मीद रखता है।
सिर्फ एक फिल्म !
तमिल फिल्म एक्ट्रेस तृषा ने अक्षय कुमार के साथ फिल्म खट्टा मीठा (२०१०) से हिंदी फिल्म डेब्यू किया था।  यह वह दौर था, जब अक्षय कुमार की फ़िल्में एक के बाद एक फ्लॉप हो रही थी।  प्रियदर्शन के साथ भूल भुलैया, भागम  भाग, हेरा फेरी और गरम मसाला जैसी हिट कॉमेडी फ़िल्में देने वाले अक्षय कुमार की यह फिल्म असफल हुई।  इसके साथ ही तृषा कृष्णन का हिंदी फिल्म करियर ख़त्म हो गया। राकुल प्रीत सिंह का हिंदी फिल्म डेब्यू यारियां (२०१४) से हुआ।  लेकिन, वह दक्षिण की ख़ास तौर पर तेलुगु फिल्मों की शीर्ष अभिनेत्रियों में शुमार हैं।  इसलिए, उन्हें मनोज बाजपेई और सिद्धार्थ  मल्होत्रा के साथ फिल्म ऐयारी की सफलता की ख़ास ज़रुरत महसूस नहीं हो रही होगी।  राशि खन्ना मद्रास कैफ़े दक्षिण की फिल्मों की पार्वती की पहली हिंदी फिल्म इरफ़ान खान के साथ करीब करीब सिंगल १० नवंबर को रिलीज़ हो रही है। प्रियदर्शन  निर्देशित फिल्म डोली सजा के रखना ज्योतिका सडाना  की पहली और आखिरी फिल्म साबित हुई।  कन्नड़ फिल्म एक्ट्रेस भावना की इकलौती हिंदी फिल्म फॅमिली २००६ में रिलीज़ हुई थी। एक अन्य तमिल और तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस अंजलि की इकलौती फिल्म दुश्मन २०१३ में रिलीज़ हुई थी।  तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस लक्ष्मी मांचू की इकलौती फिल्म डिपार्टमेंट (२०१२) है। कन्नड़ फिल्म एक्ट्रेस रागिनी खन्ना का शाहिद कपूर की फिल्म रेम्बो राजकुमार के एक डांस में डेब्यू  उन्हें  दूसरी फिल्म नहीं दिला सका है।  ऐन्द्रिता रे की इकलौती हिंदी फिल्म अ फ्लैट (२०१०) ही रिलीज़ हुई है।  लव के चक्कर में (२००६) एक्ट्रेस नमिता की इकलौती हिंदी फिल्म थी।
दो फ़िल्में ही
तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस दीक्षा सेठ की दो हिंदी फ़िल्में लेकर हम दीवाना दिल (२०१४) और सात कदम (२०१६)  रिलीज़ हुई हैं।  तमिल और तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस प्रियमणि ने रावण में सह भूमिका करने के बाद चेन्नई एक्सप्रेस में एक आइटम सांग में डेब्यू किया। तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस  कृति खरबंदा का हिंदी फिल्म डेब्यू राज़ रिबूट (२०१६) से हुआ था।  उनकी इसी साल रिलीज़ फिल्म गेस्ट इन लंदन भी फ्लॉप हो चुकी थी। शादी में ज़रूर आना १० नवंबर को  रिलीज़ हो रही है।  हिंदी फिल्म मुझसे दोस्ती करोगे से कैमिया डेब्यू करने वाली चार्मी कौर की बतौर नायिका अब तक फिल्म बुद्धा होगा तेरा बाप और गाज़ियाबाद ही रिलीज़ हुई है।
असफलता हाथ लगी
तमिल और तेलुगु फिल्म एक्ट्रेस सदा की लव खिचड़ी, क्लिक, दिल तो दीवाना है और सात उचक्के जैसी चार फ़िल्में रिलीज़ होने के बावजूद हिंदी फिल्म दर्शकों को प्रभावित नहीं कर सकी हैं।  २०१२ में फिल्म इंग्लिश विंग्लिश से डेब्यू करने वाली अभिनेत्री प्रिया आनंद रंगरेज़, फुकरे जैसी फिल्मों के बावजूद हिंदी फिल्मों में अपना मुकाम बना पाने में नाकामयाब हैं। उनकी फिल्म फुकरे रिटर्न्स रिलीज़ होने वाली है।  हंसिका मोटवानी के फिल्म करियर में हवा, कोई मिल गया, आबरा का डबरा, जागो और हम कौन है जैसी हिंदी फिल्मो की बाल भूमिकाएं  दर्ज़ हैं।  वह संगीतकार और गायक हिमेश रेशमिया की पहली हिंदी डेब्यू फिल्म आपका सुरूर की नायिका बनी। फिल्म सफल हुई।  पर हंसिका असफल हुई।  हंसिका दक्षिण की फिल्मों के सेक्स बम के   बतौर स्थापित हो गई।  मनी है तो हनी है की असफलता के बाद हंसिका ने हिंदी फिल्मों को अलविदा कह दी।
तुझे मेरी कसम (२००३) में रितेश देशमुख की जेनेलिआ डिसूज़ा के साथ दूसरी नायिका श्रिया सरन भी थी।  फिल्म की सफलता का फायदा श्रिया को नहीं मिला।  उनकी अगली फ़िल्में थोड़ा तुम बदलो थोड़ा हम, शुक्रिया, आवारापन, मिशन इस्ताम्बुल, एक द पॉवर ऑफ़ वन, न घर के न घाट के, गली गली में चोर है और जिला ग़ाज़ियाबाद उन्हें स्थापित कर पाने में नाकामयाब रही।  उनकी २०१५ में रिलीज़  अजय देवगन के साथ फिल्म दृश्यम को सफलता मिली ज़रूर।  लेकिन,  तब  तक काफी देर हो चुकी थी।  तुझे मेरी कसम की जेनेलिया डिसूज़ा को हिंदी फिल्मों के काम करने का यह फायदा ज़रूर हुआ कि वह मिसेज देशमुख बन पाने में कामयाब हो गई। सबसे सफल असिन
एक  प्रकार से असिन को  दक्षिण की बॉलीवुड में सबसे सफल अभिनेत्री कहा जा सकता है।  असिन की पहली   फिल्म गजिनी (२००८) ने ही बॉलीवुड को सौ करोड़  क्लब का पहला स्वाद चखाया।  वह दक्षिण की पहली ऐसी अभिनेत्री हैं, जिन्होंने दो खान एक्टरों  आमिर खान (गजिनी) और सलमान खान (लंदन ड्रीम्स, रेडी) के अलावा अजय देवगन (लंदन ड्रीम्स, बोल बच्चन) तथा अक्षय कुमार (हॉउसफुल २, खिलाडी ७८६) की।  विडम्बना यही रही कि सफल गजिनी, रेडी, बोल बच्चन और हॉउसफुल २ जैसी हिट फिल्मों के बावजूद फ्लॉप फ़िल्में उनके करियर पर भारी पड़ी।  आजकल असिन  शादी कर गृहस्थ जीवन बिता रही हैं।



बॉलीवुड न्यूज़ २२ सितम्बर

कथानक पर भारी स्टारडम !
बॉलीवुड के सितारों का जलवा दर्शकों के सर चढ़ कर ही नहीं बोलता, फिल्म प्रदर्शक भी स्टारडम के कायल हैं।  बॉलीवुड के बड़े सितारे छोटी फिल्मों को किस तरह से नुकसान पहुंचाते हैं, इसका उदाहरण शेफ और तू है मेरा संडे है।  बरुण सोबती की फिल्म तू है मेरा संडे कुछ लोगों के द्वारा फुटबॉल खेलने के लिए जगह की तलाश की कहानी है।  इस फिल्म में बड़ी स्टार कास्ट नहीं, लेकिन कथानक प्रभावशाली है।  वहीँ, शेफ सैफ अली खान की हॉलीवुड की रीमेक फिल्म है। ढीली पटकथा और कल्पनाहीन निर्देशन के कारण यह फिल्म पहले वीकेंड में ही दर्शकों द्वारा नकार दी गई है।  इसके बावजूद कि सैफ अली खान की फिल्म शेफ भीड़ खींच पाने में नाकामयाब हो रही है और वरुण सोबती और शहाणा गोस्वामी की फिल्म तू है मेरा संडे क्लास दर्शकों द्वारा पसंद की जा रही है, प्रदर्शक फिल्म तू है मेरा संडे को सुबह के शो से बाहर निकालने को नहीं, क्योंकि, सैफ का स्टारडम भारी पड़ रहा है।  
आमिर खान के साथ सल्यूट  करेंगी प्रियंका चोपड़ा
प्रियंका चोपड़ा और आमिर खान एक साथ फिल्म करने जा रहे हैं।  यह फिल्म एस्ट्रोनॉट राकेश शर्मा की बायोपिक फिल्म होगी।  इस फिल्म का अस्थाई टाइटल सलूट है।  फिल्म में आमिर खान ने राकेश शर्मा की भूमिका की है।  प्रियंका चोपड़ा फिल्म में राकेश शर्मा की पत्नी का किरदार करेंगी ।  क्वांटिको के तीसरे सीजन की शूटिंग शुरू करने जा रही प्रियंका चोपड़ा पहली बार आमिर खान के साथ फिल्म करेंगी ।  ३२ साल की प्रियंका चोपड़ा ने अपने १७ साल लम्बे फिल्म  करियर में पचास से ज़्यादा फ़िल्में की हैं।  वह अब तक सलमान खान के साथ गॉड तुस्सी ग्रेट हो, मुझसे शादी करोगी और सलाम ए इश्क़ : अ ट्रिब्यूट टू लव, शाहरुख़ खान के साथ डॉन और डॉन २ जैसी फिल्में कर चुकी हैं। आमिर  खान के साथ उन्होंने अब तक एक भी फिल्म नहीं की थी।  अब सैल्यूट के साथ प्रियंका चोपड़ा भी तीनों खान अभिनेताओं के साथ फ़िल्में करने वाली करीना कपूर खान, कैटरीना कैफ और अनुष्का शर्मा की श्रेणी की अभिनेत्रियों में शामिल हो जाएँगी।  यह फिल्म अगले साल के आखिर तक फ्लोर पर जाएगी।  फिल्म का निर्देशन महेश मथाई करेंगे।
जिगरठंडा के हिंदी रीमेक में संजय दत्त
संजय दत्त की वापसी फिल्म भूमि की असफलता का असर उनके करियर पर नहीं पड़ा लगता है।  अब संजय दत्त एक्शन थ्रिलर फिल्म के बजाय हास्य-अपराध फिल्म करने जा रहे हैं।  यह फिल्म २०१४ में रिलीज़ तमिल भाषा की कॉमेडी फिल्म जिगरठण्डा का हिंदी रीमेक है।   अपेक्षाकृत छोटी स्टार कास्ट के बावजूद १० करोड़ में बनी फिल्म जिगरठण्डा ने बॉक्स ऑफिस पर  ३५ करोड़ का ग्रॉस किया था।  फिल्म की मुख्य भूमिका में सिद्धार्थ, बॉबी सिम्हा और लक्ष्मी मेनन थे।  जिगरठण्डा शार्ट फिल्म एक रियलिटी शो में बतौर सह निर्देशक  काम करने वाले कार्तिक की  कहानी है, जो आख़िरकार एक फीचर फिल्म का निर्देशक बन ही जाता है।  इस फिल्म में मुख्य भूमिका सिद्धार्थ की थी।   सिद्धार्थ को हिंदी फिल्म दर्शक आमिर खान के साथ फिल्म रंग दे बसंती में करण सिंघानिया की भूमिका में देख चुके हैं।  बाद में सिद्धार्थ को कैरम के खेल पर आधारित फिल्म स्ट्राइकर और चश्मेंबद्दूर में देखा गया।  यह फिल्म दक्षिण कोरियाई फिल्म अ डर्टी कार्निवाल पर आधारित थी।  फिल्म का कन्नड़ रीमेक भी किया गया।  अब इस फिल्म को हिंदी में निशिकांत कामथ द्वारा बनाया जा रहा है।  खबर है कि फिल्म से बॉलीवुड के कई बड़े नाम जोड़े गए हैं।  जिगरठण्डा में एक खौफनाक हत्यारे असॉल्ट सेतु का किरदार था, जिसे बॉबी सिम्हा ने किया था। इस रोल के लिए बॉबी को बेस्ट सह अभिनेता का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला था।  संजय दत्त को हिंदी  में इसी किरदार के लिए लिया गया है।  फिल्म में फरहान अख्तर सिद्धार्थ की सह-निर्देशक  वाली भूमिका करेंगे।  फ़िल्म की शूटिंग अगले साल  जनवरी से शुरू होगी।  फिलहाल तो निशिकांत कामत फिल्म की स्क्रिप्ट को अंतिम रूप दे रहे हैं।
२०१९ बुक
बड़ी फिल्मों की रिलीज़ के लिए अच्छी तारीखों के लिए बड़ो सितारों की दौड़ शुरू हो गई है।  २०१८ में क्रिसमस तक रिलीज़ के लिए फ़िल्में तय हो चुकी हैं या उनके पारम्परिक रूप से रिलीज़ होने की उम्मीद की जा रही है।  अब २०१९ भी बुक हो रहा है।  बॉलीवुड के बड़े सितारों में सिर्फ अजय देवगन ही हैं, जो एडवांस में तारीखे  ब्लॉक करने में विश्वास नहीं करते।  बाकी सभी बड़े बॉलीवुड एक्टर्स अपनी फिल्मों की तारीखे एक साल एडवांस ब्लॉक करते रहते हैं।  इस समय २०१९ के तमाम त्योहारों-राष्ट्रीय त्योहारों पर फिल्मों की रिलीज़ तय की जा चुकी है।  पिछले दिनों ही, यशराज फिल्म्स ने हृथिक रोशन और टाइगर श्रॉफ की अनटाइटल्ड एक्शन फिल्म को गणतंत्र दिवस २०१९ वीकेंड पर रिलीज़ किये जाने का ऐलान कर दिया था।  करण जौहर ने अक्षय कुमार के साथ बैटल ऑफ़ सरगढ़ी पर अपनी फिल्म केसरी की रिलीज़ होली २०१९ तय कर दी।   अब करण जौहर ब्रह्मास्त्र ट्राइलॉजी की पहली फिल्म को स्वतंत्रता दिवस २०१९ वीकेंड पर रिलीज़ करेंगे।  इस फिल्म में रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की जोड़ी पहली बार बन रही है।  आमिर खान की ऑस्ट्रोनॉट  राकेश शर्मा पर बायोपिक फिल्म सैल्यूट क्रिसमस २०१९ के लिए ही बुक है।  यह आमिर खान का परंपरागत वीकेंड है।  पिछले दिनों फिल्म में प्रियंका चोपड़ा को राकेश शर्मा की पत्नी के किरदार में लिए जाने की खबर थी । सलमान खान की फिल्म दबंग ३ उनके पसंदीदा ईद २०१९ वीकेंड पर रिलीज़ होगी।  शाहरुख़ खान की आनंद एल राज के साथ अनाम फिल्म की रिलीज़  की  तारीख अभी तय नहीं हुई है।  लेकिन, यह फिल्म जब भी रिलीज़ होगी दीवाली वीकेंड पर ही रिलीज़ होगी।  अब रही बात अजय देवगन की।  अजय के हाथ में इस समय कई फ़िल्में हैं। उनकी  २०१९ तक कौन सी फ़िल्म पूर्णता तक पहुंचेगी साफ़ नहीं हुआ है। इसलिए, अगर अजय देवगन की किसी फिल्म को २०१९ में रिलीज़ होना है तो किसी अक्षय कुमार, हृथिक रोशन, रणबीर कपूर, आमिर खान या सलमान खान से टकराव होना लाजिमी है।  देखें किसका होता है टकराव ! 
ऑस्कर की दौड़ में जिनी केट विंसलेट
वुडी एलन की फिल्म वंडर व्हील १९५० के दशक में, कौनी आइलैंड पार्क में एम्यूजमेंट पार्क की पृष्ठभूमि पर चार लोगों के इर्दगिर्द घूमती है। जिनी एक पूर्व फिल्म एक्ट्रेस है, जो वेट्रेस का काम कर रही है।  उसका पति हम्प्टी एम्यूजमेंट पार्क में हिंडोला चलाता है।  एक सजीला लाईफगार्ड मिकी भी है, जो नाट्यकार बनना चाहता है।  कैरोलिना, हम्प्टी की बेटी है, जो एक गैंगस्टर से भाग कर अपने पिता के अपार्टमेंट में छुपी हुई है। लेखक-निर्देशक वुडी एलन की इस फिल्म में जिनी का किरदार केट विंस्लेट ने किया है।  इस फिल्म के लिए वह ऑस्कर में श्रेष्ठ अभिनेत्री  की दौड़ में शामिल हैं।  हम्प्टी का किरदार जिम बेलुसी कर रहे हैं।  जस्टिन टिम्बरलेक ने मिकी का और जूनो टेम्पल ने कैरोलिना का किरदार किया है।  यह फिल्म ३० नवंबर को रिलीज़ होगी। 
तीन हिस्सों में ब्रह्मास्त्र
रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की जोड़ी के साथ बनाई जा रही अयान मुख़र्जी की फिल्म ड्रैगन का नाम बदल कर ब्रह्मास्त्र कर दिया गया था।  इस रोमांटिक-फैंटसी फिल्म के हीरो में विशेष शक्ति है।  उसकी यह शक्ति आग के रूप में है।  इस लिहाज़ से, रणबीर कपूर के करैक्टर को देखते हुए, फिल्म का टाइटल ड्रैगन उपयुक्त लगता था। लेकिन, इस टाइटल को रोमांस से हटकर एक्शन जताने वाला मान कर बदल दिया गया। अब खबर है कि ड्रैगन से ब्रह्मास्त्र बनी इस फिल्म को ट्राइलॉजी के रूप में विकसित किया गया है। इस ब्रह्मास्त्र ट्राइलॉजी के निर्माता करण जौहर का बैनर धर्मा प्रोडक्शंस है।  इस फिल्म में अमिताभ बच्चन को भी शामिल किया गया है। रणबीर कपूर फिल्म में अपने किरदार के लिए घुड़सवारी और जिमनास्टिक्स सीख रहे हैं। यह ट्राइलॉजी अगले साल के शुरू में फ्लोर पर जाएगी और ट्राइलॉजी की पहली कड़ी १५ अगस्त २०१९ को रिलीज़ होगी।    
रेस ३ की रेस में बॉबी देओल भी
सलमान खान को रेस ३ के लिए फाइनल किये जाने के बाद रेस ३ की रेस में दूसरे अभिनेता अभिनेत्रियों को शामिल करने का सिलसिला तेज़ हो चला है।  सलमान खान, जैक्विलिन फर्नांडिस और आदित्य पंचोली के बाद रेस ३ की रेस में बॉबी देओल  भी शामिल कर लिए गए हैं।  बॉबी देओल यमला पगला दीवाना २ की रिलीज़ के चार साल बाद इसी साल कॉमेडी फिल्म पोस्टर बॉयज में अपने बड़े भाई सनी देओल और श्रेयस तलपड़े के साथ नज़र आये थे। इस लिहाज़ से बॉबी देओल के लिए रेस फ्रैंचाइज़ी में शामिल होने गौरव की बात है।  बॉबी देओल ने इस खबर को देते हुए ट्वीट किया, "रमेश तौरानी के साथ रेस..... रेस ३ की टीम का हिस्सा बन कर बहुत बढ़िया महसूस हो रहा है।   इससे पहले रमेश तौरानी रेस ३ परिवार में शामिल होने के लिए बॉबी देओल का स्वागत कर चुके थे।  पिछले दिनों खबर थी कि सिध्दार्थ  मल्होत्रा को रेस ३ की स्क्रिप्ट पसंद नहीं आयी थी और उन्होंने फिल्म में काम करने से इंकार कर दिया था। अब्बास-मुस्तान निर्देशित रेस फ्रैंचाइज़ी की तीसरी फिल्म का निर्देशन  रेमो डिसूज़ा कर रहे हैं।  फिल्म ईद २०१८ को रिलीज़ होगी।
सलमान खान के साथ किक २ लगाएंगे वरुण धवन ?
जुड़वा २  की सफलता के बाद वरुण धवन के लिए खुशियों की ही खबर है।  जुड़वा २ के निर्माता साजिद नाडियाडवाला थे।  इस फिल्म की सफलता से उत्साहित साजिद ने वरुण धवन को अपनी सफल फिल्म किक के सीक्वल में सलमान खान के साथ वरुण धवन को लेने का मन बना लिया है। खबरची बताते हैं कि किक २ में वरुण धवन को लिए जाने की सिफारिश खुद सलमान खान ने की थी। हालफिलहाल किक २ की स्क्रिप्ट पर अभी काम चल रहा है।  स्क्रिप्ट पूरी होने के बाद यह दोनों अभिनेता उसे पढ़ेंगे।  इसके बाद ही तय होगा कि फिल्म में सलमान खान के साथ वरुण धवन की जोड़ी बनेगी या नहीं यहाँ बताते चलें कि जुड़वा २ सलमान खान की १९९७ में रिलीज़ कॉमेडी फिल्म  जुड़वा का ही रीमेक है।  सलमान खान ने जुड़वाँ २ में भी प्रेम और राजा का दोहरा कैमिया किया था।  वरुण धवन के प्रेम और राजा के साथ सलमान खान के प्रेम और राजा का दृश्य दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया गया था।  हर फ्रेम में वरुण धवन और सलमान खान की केमिस्ट्री साफ़ नज़र आती थी।  वरुण धवन सलमान खान के प्रशंसक हैं।  फिल्म इंडस्ट्री द्वारा भी वरुण धवन को सलमान खान का फ़िल्मी वारिस बताया जाता है।  अब चूंकि, वह सलमान खान की फिल्म के रीमेक को हिट बना चुके हैं, वरुण धवन खुद को सलमान खान का वारसी घोषित कर सकते हैं। 
द ग्रेटेस्ट शोमैन बने हैं ह्यु जैकमैन
सर्कस की दुनिया में अपनी म्यूजिकल कल्पनाशीलता की बदौलत कीर्तिमान स्थापित करने वाले ट्रेंडसेटर पी टी बरनम के जीवन पर माइकल ग्रेसी निर्देशित फिल्म द ग्रेटेस्ट शोमैन क्रिसमस वीकेंड (२५ दिसंबर) रिलीज़ होने जा रही है।  इस फिल्म में बरनम का किरदार ह्यु जैकमैन कर रहे हैं।  उनके अलावा फिल्म में ज़ेन्डया, रेबेका फर्गूसन, ज़क एफ्रोन, मिशेल विलियम्स, आदि की खास भूमिका है।  फिल्म को जेनी बिक्स और बिल कन्डोन ने लिखा है।  यह फिल्म २९ साल के अभिनेता ज़क एफ्रोन की पांचवी म्यूजिकल फिल्म है।  उन्होंने हाई स्कूल म्यूजिकल ट्राइलॉजी के अलावा म्यूजिकल फिल्म हेअरस्प्रे में भी काम किया है।  ह्यु जैकमैन का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है।  वह २००९ से इस फिल्म की तैयारी कर रहे थे।  फिल्म  की निर्देशक माइकल ग्रेसी की यह पहली फिल्म है।  

फिल्मफेयर (८ नवंबर २०१७) की कवर हीरोइन विद्या बालन

 
बॉलीवुड फिल्म अभिनेत्री फिल्मफेयर के ८ नवंबर अंक की कवर हीरोइन हैं।  पारम्परिक भारतीय पोशाक में विद्या बालन अनुपम सौंदर्य की मूर्ती लगती हैं।  उनकी मौजूदगी में फिल्मफेयर कवर कुछ ज़्यादा ग्लैमरस और शानदार लग रहा है।  विद्या बालन की फिल्म तुम्हारी सुलु  १७ नवंबर को रिलीज़ होने जा रही है।  इस फिल्म में विद्या बालन ने एक रेडियो जॉकी की भूमिका की है।  फिल्म के ट्रेलर से विद्या बालन का यह किरदार शरारती किस्म का लग रहा है।  

गोलमाल अगेन की ३०+ की ओपनिंग

गोलमाल अगेन ३०.१४ करोड़ की ओपनिंग के साथ इस साल की सबसे बड़ी ओपनिंग लेने वाली फिल्म बन गई है।  इस फिल्म ने ट्यूबलाइट के २१.१५ करोड़ और रईस के २०.४५ करोड़ के ग्रॉस को काफी पीछे छोड़ दिया है।  फिल्म के साथ रिलीज़ आमिर खान की एक्सटेंडेड कैमिया वाली फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार सिर्फ ९.३५ करोड़ का ग्रॉस ही कर सकी है।  सीक्रेट सुपरस्टार का दो दिन का ग्रॉस १४.१० करोड़ अजय देवगन की फिल्म गोलमाल अगेन के पहले दिन के ग्रॉस से आधे से भी कम है।  गोलमाल अगेन फिल्म डायरेक्टर रोहित शेट्टी की तीसरी सबसे ज्यादा ग्रॉस करने वाली फिल्म है।  चेन्नई एक्सप्रेस ३३.१० करोड़ और सिंघम रिटर्न्स ३२ करोड़ के ग्रॉस के साथ पहले और दूसरे स्थान पर हैं।  अब अजय देवगन ३० करोड़ से ज्यादा ग्रॉस करने वाली दो फिल्मों के हीरो बन गए हैं।  गोलमाल अगेन, पहली ऎसी फिल्म है, जिसने बॉक्स ऑफिस पर बड़े टकराव के बावजूद ३० करोड़ से ज्यादा का ग्रॉस किया है।  इससे पहले टकराने वाली दो फिल्मों में से कोई भी ३० करोड़ से ज्यादा की ओपनिंग नहीं ले सकी थी।  

ये रिश्ता क्या कहलाता है की कीर्ति है मोहेना

रेवा के राज परिवार से मोहेना कुमार सिंह का एक्टिंग और नृत्य में दिलचस्पी लेना दिलचस्प लगता है।  उन्होंने छह साल अपनी दादी राजमाता प्रवीण कुमार सिंह से कत्थक सीखा है।  वह टीवी दर्शकों की नज़रों में डांस इंडिया डांस ३ से आई।  उन्होंने फिल्म एबीसीडी में अभिनय भी किया।  डांस इंडिया डांस के बाद मोहेना ने झलक दिखला जा के कई सीजन में कोरियोग्राफी की।  आजकल वह टीवी सीरियल ये रिश्ता क्या कहलाता है में कीर्ति मनीष गोयनका के किरदार में दर्शकों को प्रभावित कर रही हैं।   

दीपिका पादुकोण: रानी पद्मावती का भक्त और योद्धा रूप

फिलहाल, संजयलीला भंसाली की फिल्म पद्मावती का प्रचार पद्मावती यानि दीपिका पादुकोण के इर्दगिर्द घूम रहा है।  महारानी की वेशभूषा में दीपिका पादुकोण के चित्र जारी होते रहते हैं।  वह पद्मावती को लेकर हुई किसी भी छोटी घटना को अपने सोशल पेज पर साझा करने और तीखी टिप्पणियां करने से बाज नहीं आती।  पद्मावती  का फर्स्ट लुक नवरात्र के पहले दिन जारी हुआ था।  इस बार दीपावली के मौके पर दीपिका पादुकोण के चरित्र पद्मावती के चार चित्र जारी किये गए।  इन चित्रों में रानी की पोशाक में दीपिका पादुकोण भव्य तो लग ही रही है, वह भक्त और योद्धा भी नज़र आ रहे हैं।  दो चित्रों में उनके हाथ की तलवार और त्रिशूल इसकी पुष्टि करते हैं। 


दिशा पटनी बनेगी संघमित्रा

दिशा पाटनी का तो जैसे जैकपॉट लग गया है।  एमएस धोनी द अनटोल्ड स्टोरी जैसी सफल फिल्म के बावजूद दिशा पाटनी का बॉलीवुड में करियर कोई दिशा नहीं पकड़ सका है।  जबकि, फिल्म में उनके नायक सुशांत सिंह राजपूत सीढ़ी दर सीढ़ी ऊंचाइयां छूते चले जा रहे हैं।  दिशा पाटनी के पास सिर्फ एक फिल्म बागी २ ही उल्लेखनीय है।  ऐसे में दिशा को साउथ से संघमित्रा का मिलना उनके लिए किसी जैकपॉट  कम नहीं।  संघमित्रा, कहानी  ८वी शताब्दी की रानी संघमित्रा की है, जो अपने राज्य को छिन्न भिन्न होने से बचाने की कोशिश में है।  निर्देशक सुन्दर सी की इस महँगी ऐतिहासिक फिल्म में संघमित्रा की भूमिका के लिए पहले श्रुति हासन को लिया गया था।  कांन्स फिल्म फेस्टिवल में फिल्म का फर्स्ट लुक पोस्टर भी रिलीज़ किया गया था।  लेकिन, बाद में श्रुति हासन क्रिएटिव डिफरेंस के हवाले से फिल्म से अलग हो गई।  संघमित्रा की इसी भूमिका के लिए दिशा पाटनी को लिया गया है।  इस बात का ऐलान सुन्दर सी की पत्नी और फिल्म  अभिनेत्री खुशबू ने ट्विटर पर किया।  खुशबू को हिंदी दर्शक दर्द का रिश्ता, तन बदन और मेरी जंग जैसी फिल्मों से पहचानते हैं।  फिल्म के दूसरे पुरुष किरदार जयम रवि और आर्य कर रहे हैं।  फिल्म का संगीत एआर रहमान दे रहे हैं।  यह फिल्म २५० करोड़ के भारी-भरकम बजट से बनाई जा रही है। अगर. सब ठीकठाक हुआ तो तमिल और तेलुगु के अलावा संघमित्रा हिंदी में भी रिलीज़ होगी।  इस फिल्म को अगले साल के आखिर में रिलीज़ किया जाना है।

दिलजीत दोसांझ एल सुएनो

विजय की मेरसाल का जीएसटी पर हमला

एक्टर विजय की तिहरी भूमिका वाली तमिल फिल्म  मेरसाल ने ४३.५० करोड़ की ओपनिंग ली है।  यह फिल्म तीन दिनों में ही १०० करोड़ क्लब के करीब पहुँच चुकी थी।  इसके साथ ही फिल्म विवादों में घिर गई है ।  तमिलनाडु की बीजेपी इकाई फिल्म का विरोध कर रही है।   मेरसाल एक रिवेंज ड्रामा फिल्म है।  एक जादूगर भारत आता है और अमेरिका में बिछुड़ गए अपने डॉक्टर भाई से मिलता है।  उसे भाई से मालूम होता है कि उसके माता-पिता की हत्या की गई थी।  वह इसका बदला लेने का निश्चय करता है।  इस बदला से भरपूर एक्शन फिल्म से बीजेपी का विरोध क्यों? दरअसल, फिल्म का विरोध डॉक्टर भी कर रहे हैं और कुछ दूसरे लोग भी।  बीजेपी का विरोध उस संवाद पर हैं, जिसमे नायक भाषण देते हुए जीएसटी की आलोचना करते हुए कहता है कि चिकित्सा पर १८ प्रतिशत का टैक्स है, लेकिन दारू पर नहीं। नायक यह भी कहता है कि  सिंगापुर में आम आदमी को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है, मगर जीएसटी कम है।  जबकि, भारत में जीएसटी ज़्यादा है, चिकित्सा सुविधा नहीं।  बीजेपी को लगता है कि बिना समझे हुए जीएसटी की आलोचना की जा रही है।  बीजेपी की मांग थी कि यह संवाद हटाया जाये।  वैसे बीजेपी की मांग बहुत जायज़ नहीं।  क्योंकि, यह काल्पनिक ड्रामा फिल्म है।  सेंसर  द्वारा  पारित की गई है।  इसके अलावा भी फिल्म में गोरखपुर के हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलिंडर  की कमी और कर्णाटक में बिजली की समस्या का भी ज़िक्र किया गया है।  तथ्य चाहे जो हो।  राजनीती ज़ोर पकड़ती जा रही है।  कमल हासन ने फिल्म का समर्थन किया है।  वह राज्य सरकार पर भ्रष्टाचार को लेकर पहले ही हमलावर हैं।   उनकी राजनीतिक आकांक्षायें जग  जाहिर है।  इसलिए, तमिलनाडु में  तमिल को लेकर वाक्युद्ध छिड़ जाना स्वाभाविक है। यहाँ बताते चलें की हिंदी फिल्म दर्शक विजय को टीवी पर डब फिल्मों मे  देख चुके हैं ।  उनकी फिल्म पुलि (२०१५) हिंदी में डब हो कर सिनेमाघरों में रिलीज़ हो चुकी है।
 नोट-  लेख प्रकाशित होने तक फिल्म से जीएसटी सम्बंधित संवाद डिलीट कर दिए जाने की खबर है।  यह भी खबर है कि इस फिल्म का यह संवाद वीडियो सोशल मीडिया पर सार्वजनिक हो चुका है।  

२१ अक्टूबर : शम्मी कपूर और तीसरी मंजिल की बर्थ डेट

अज़ब इत्तफ़ाक़ है।  आज बॉलीवुड के याहू स्टार...रिबेल हीरो.. शम्मी कपूर का जन्मदिन हैं।  आज ही शम्मी कपूर की  संगीत और फिल्म शैली को नई दिशा देने वाली फिल्म तीसरी मंज़िल रिलीज़ हुई थी।  तीसरी मंज़िल से पहले तक शम्मी कपूर हिट हो चुके थे।  उन्होंने तुमसा नहीं देखा, दिल देके देखो, उजाला, जंगली, दिल तेरा दीवाना, प्रोफेसर, ब्लफ मास्टर, राजकुमार, कश्मीर की कली और जानवर जैसी सुपरहिट  फिल्मों का ढेर लगा दिया था।  इसके बावजूद तीसरी मंज़िल ने शम्मी कपूर समकालीन युवाओं का पसंदीदा स्टार बना दिया था।  वह ऐसे स्टार थे, जो जाज म्यूजिक पर थिरक सकता है।  वह ट्विस्ट और चा चा चा भी कर सकता है।  वह
रिबेलियन नहीं, समर्पित और भावुक नायक भी है।  इस फिल्म के बाद भी शम्मी कपूर का करियर चलता रहा।  उन्होंने पांच साल और नायक की भूमिकाएं की।  उन्होंने चोला बदला १९७४ में, जब उन्होंने ज़मीर फिल्म में चरित्र भूमिका स्वीकार की और मनोरंजन फिल्म से निर्देशक की कुर्सी सम्हाली।  तीसरी मंज़िल शम्मी कपूर की ट्रेंड सेटर  फिल्म थी।  इस फिल्म ने आरडी र्मन के जरिये हिंदी फिल्म संगीत को पाश्चात्य संगीत से भिगो दिया।  विजय आनंद की बिना देवानंद के निर्देशित पहली हिंदी फिल्म थी।  इस फिल्म के बाद बहुत सी थ्रिलर फिल्में रिलीज़ हुई।  लेकिन, जो रोमांस तीसरी मंज़िल में था, उस मंज़िल को कोई दूसरी फिल्म नहीं छू सकी।


Friday, 20 October 2017

संजय दत्त की बोल्ड एंड ब्यूटीफुल बेटी आएगी फिल्मों में ?

यह त्रिशला दत्त हैं ।  इनके इंस्टाग्राम अकाउंट में इनके परिचय में संजय दत्त और मान्यता दत्त की बेटी लिखा मिलता है।  जी हाँ, यह संजय दत्त की बेटी त्रिशला हैं।  लेकिन, इनका जन्म मान्यता दत्त से नहीं हुआ है।  इनकी माँ पूर्व फिल्म अभिनेत्री ऋचा शर्मा थी।  संजय दत्त ने  त्रिशला के जन्म के बाद ही ऋचा शर्मा से उस समय तलाक़ ले लिया था, जब ऋचा ब्रेन ट्यूमर से ग्रस्त थी।  ऋचा की मौत अपने माँ-पिता के घर न अमेरिका में हुई।  त्रिशला भी अपने  ननिहाल ही पली बढ़ी हैं।  त्रिशला का  चित्र देखते समय अनायास ही ऋचा शर्मा की याद आ गई।  वह देव आनंद की खोज थी।  फिल्म नौजवान में बंटी बहल की जोड़ीदार। सुजीत कुमार की सेक्स कॉमेडी फिल्म अनुभव में ऋचा शर्मा ने जम कर अंग  प्रदर्शन किया था और कामुक दृश्य किये थे।  संजय दत्त के साथ शादी के बाद ऋचा शर्मा ने फिल्मों को अलविदा कह दिया था।
ऋचा शर्मा दत्त 
आज जब कि संजय दत्त के समकालीन  सैफ अली  खान की बेटी सारा फिल्म केदारनाथ कर रही हैं।  श्रीदेवी की बेटी के फिल्मों में आने  की सुगबुगाहट है।  तो क्या त्रिशला में भी अपनी माँ की तरह अभिनेत्री अंगड़ाई लेने लगी है?  ऋचा अपने समय की बोल्ड एंड ब्यूटीफुल अभिनेत्री थी।  माँ का अंश बेटी में आना स्वभाविक है।  लेकिन, बोल्ड अभिनेत्री से शादी करने वाले और बोल्ड अभिनेत्रियों के साथ ऑन स्क्रीन उत्तेजक दृश्य फिल्माने वाले संजय दत्त अपनी बेटी के फिल्मों में काम करने के सख्त खिलाफ हैं।  उन्हें यह भी पसंद नहीं कि त्रिशला सोशल साइट्स पर भी बोल्ड हो।  इसके बावजूद त्रिशला सोशल  साइट्स पर अपनी बोल्ड फ़िल्में डाल कर अपने  अरमानों का इज़हार कराती रहती हैं।  

भाई की तरह रंधावा भी आये थे फिल्मों में

सरदारा सिंह रंधावा का जन्म पंजाब में अमृतसर के धर्मूचक्क गाँव में हुआ था।  सरदारा को अपने बड़े भाई की तरह कुश्ती  लड़ने का शौक था।  उनके भाई ने इंडियन चैंपियन यानि भारत केसरी और वर्ल्ड चैंपियन का खिताब जीता था।  सरदारा भी अपने भाई की तरह मज़बूत जिस्म था। एक समय  जब बड़ा भाई वर्ल्ड चैंपियन था, उस समय सरदारा सिंह भारत केसरी था।  सरदारा ने विश्व पटल पर स्की ही ली, जॉन डा सिल्वा और जॉर्ज गॉर्दिएंको जैसे पहलवानों के साथ कुश्तियां लड़ी।  यह शख्श था विश्व विजेता पहलवान दारा सिंह का छोटा भाई।  जब दारा सिंह फिल्मों में आये तो रंधावा ने भी फ़िल्में करनी शुरू कर दी।  उनकी पहली फिल्म आवारा अब्दुल्ला थी। खास बात यह रही कि दारा सिंह और रंधावा ने ज़्यादा स्टंट फ़िल्में ही की।  लेकिन, बड़ी फ़िल्में भी खूब की।  रंधावा के खाते में आदमी और इंसान, जॉनी मेरा नाम और अंदाज़ जैसी ढेरों फिल्मों में अभिनय किया ।  रंधावा ने अपने बड़े भाई की शुरुआती फिल्मों के नायिका मुमताज़ की छोटी बहन मल्लिका के साथ ढेरों फिल्में की।   उन्होंने मल्लिका से विवाह भी किया। एक्टर  शाद रंधावा इन्ही दोनों के बेटे हैं।  २१ अक्टूबर २०१३ को रंधावा का निधन हो गया।  श्रद्धांजलि।  

बॉक्स ऑफिस पर कितनी कमाई करेगी द लास्ट जेडाई !

शो बिज़नेस में, बॉक्स ऑफिस पर ग्रॉस के अनुमान, फिल्म रिलीज़ होने से काफी पहले से लगाए जाने लगते हैं।  इन अनुमानों का उद्देश्य दर्शकों को फिल्म की ओर खींचना ही होता है।  वैसे बॉक्स ऑफिस के जानकारों के द्वारा लगाए जाने के कारण यह अनुमान ज़्यादातर सच साबित होते हैं। इस साल रिलीज़ होने वाली बड़े बजट की फिल्म स्टार वार्स ८ : द लास्ट जेडाई के बॉक्स ऑफिस पर कलेक्शन के बॉक्सऑफिसडॉटकॉम  ने जो शुरूआती अनुमान लगाए हैं, वह द लास्ट जेडाई को २१५ मिलियन डॉलर की दूसरी सबसे बड़ी ओपनिंग के हैं। अगर ऐसा होता हैं तो यह दूसरी सबसे बड़ी ग्रॉस ओपनिंग होगी। अमेरिका और कनाडा में सबसे ओपनिंग लेने वाली फिल्म भी स्टार वार्स सीरीज की द फाॅर्स अवेकनिंग है।  इस फिल्म २४७.९ मिलियन डॉलर की ओपनिंग ली थी। २०० मिलियन से ज़्यादा का ग्रॉस करने वाली दो अन्य फिल्में जुरैसिक वर्ल्ड (२०८,८ मिलियन डॉलर) और द अवेंजर्स (२०७.४ मिलियन डॉलर) हैं।  हॉलीवुड की फ़िल्में अमेरिका और कनाडा के बॉक्स ऑफिस पर ज़बरदस्त बिज़नेस करती रही हैं। द फाॅर्स आवकेंस जब सिनेमाघरों से उतरी उसे समय तक वह ९३६.६ मिलियन डॉलर का चौंकाओ आंकड़ा छू चुकी थी।  यह द फाॅर्स आवकेंस की ओपनिंग का ३.७७ गुना है।  वेब साइट ने इस फिल्म को ७४२ मिलियन डॉलर ग्रॉस देते हुए डॉमेस्टिक बॉक्स ऑफिस पर सबसे ज़्यादा ग्रॉस करने वाली पांच फिल्मों में शामिल करते हुए तीसरे नंबर पर रखा है।  इस समय पहली दो फ़िल्में द फाॅर्स आवकेंस ९३६.६ मिलियन डॉलर और अवतार ७६०.५ मिलियन डॉलर के साथ पहले दो स्थान पर हैं। बॉक्सऑफिसडॉटकॉम के यह शुरूआती अनुमान अनुमानित थिएटर संख्या और स्क्रीन संख्या पर आधारित हैं।  इनके घटने-बढ़ने से ग्रॉस के आंकड़े भी घट -बढ़ सकते हैं।  

जाह्नवी से सुलोचना तक विद्या बालन

हिंदी टेलीविज़न कार्यक्रम और दक्षिण की फिल्मों से हिंदी फिल्मों में आई विद्या बालन ने जाह्नवी से सुलोचना तक, अपने फिल्म करियर का एक चक्कर पूरा कर लिया है।  प्रदीप सरकार की फिल्म परिणीता में शरतचंद्र की लोलिता, विद्या बालन ने राजकुमार हिरानी की फिल्म लगे रहो मुन्नाभाई (२००६) में एक रेडियो जॉकी जाह्नवी का किरदार कर दर्शकों को आकर्षित किया था।  जाह्नवी के ११ साल बाद सुलोचना आ रही है।  एड फिल्म मेकर से फिल्म निर्देशक बने सुरेश त्रिवेणी की फिल्म तुम्हारी सुलु में विद्या बालन ने एक गृहणी सुलोचना का किरदार किया है, जो परिस्थितियोंवश रेडियो जॉकी बन जाती है।  विद्या बालन कहती हैं, "तुम्हारी सुलु में सुलोचना का किरदार करना एक असाधारण अनुभव था।"
असफल फ़िल्में
जाह्नवी से सुलोचना तक का विद्या बालन का सफर उतार-चढ़ाव से भरा और सम्मान दिलाने वाला रहा है। लगे रहो मुन्नाभाई के बाद विद्या बालन को मणि रत्नम की फिल्म गुरु में देखा गया। इसके बाद विद्या बालन की असफल फिल्मों का सिलसिला शुरू हो गया।  उनकी, एक के बाद एक निखिल अडवाणी की सलाम-ए- इश्क़, विधु विनोद चोपड़ा की एकलव्य: द रॉयल गार्ड, राजकुमार संतोषी की हल्ला बोल और अज़ीज़ मिर्ज़ा की   किस्मत  कनेक्शन जैसी फ़िल्में असफल होती चली गई। दिलचस्प बात यह थी कि यह सभी बड़े  बजट की सितारा  बहुल फ़िल्में थी।  सलमान खान, अनिल कपूर, जूही चावला, अक्षय खन्ना, जॉन अब्राहम, गोविंदा;   अमिताभ बच्चन, संजय दत्त, सैफ अली खान, शर्मीला टैगोर, जैकी श्रॉफ, बोमन ईरानी; अजय देवगन, पंकज कपूर; शाहिद कपूर; जैसे सितारे इन फिल्मों का आकर्षण थे।  इसके बावजूद इन फिल्मों के फ्लॉप होने  से विद्या बालन के करियर को बहुत ज़्यादा नुकसान नहीं हुआ।
श्रेष्ठ अभिनय की विद्या
विद्या बालन के करियर की ख़ास बात यह रही कि जहाँ उनकी सितारा बहुल फ़िल्में असफल हुई, वहीँ जिस  किसी फिल्म का कथानक उनके किरदार पर केंद्रित हुआ, उस फिल्म को सफलता मिलती चली गई।  प्रियदर्शन  की हॉरर कॉमेडी फिल्म भूल भुलैया विद्या बालन के किरदार अवनि पर केंद्रित थी।  यह किरदार डिसोसिएटिव आइडेंटिटी डिसऑर्डर का मरीज़ था। फिल्म को  विद्या बालन के अभिनय और कॉमेडी ने हिट बना दिया।  पा में विद्या बालन प्रोजेरिया बीमारी से ग्रस्त बेटे की माँ का किरदार किया था।  इस भूमिका के लिए विद्या बालन को उनके फिल्म करियर का पहला फिल्मफेयर अवार्ड मिला।  अभिषेक चौबे की फिल्म इश्क़िया में कृष्णा की भूमिका में विद्या बालन ने आपराधिक मनोवृत्ति वाली औरत का किरदार किया था, जो अपना  बदला पूरा करने के लिए दो अपराधियों को  सेक्सुअली आकर्षित करती है। इस भूमिका के लिये विद्या को फिल्मफेयर का क्रिटिक अवार्ड मिला।  नो वन किल्ड जेसिका (२०११) में विद्या बालन ने जेसिका की बहन की भूमिका की थी।  फिल्म के लिए विद्या बालन ने फिल्मफेयर का नॉमिनेशन पाया।  इसी साल रिलीज़ द डर्टी पिक्चर्स में विद्या ने साउथ की एक्ट्रेस सिल्क स्मिता का  किरदार किया था।  इस भूमिका के लिए विद्या को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और फिल्मफेयर अवार्ड सहित कई पुरस्कार मिले।  सुजॉय घोष की फिल्म कहानी में  बिद्या बागची की भूमिका के लिए विद्या बालन ने फिर फिल्मफेयर पुरस्कार जीता। कहा जा सकता है कि २००९ से २०१२ तक का दौर  अभिनेत्री विद्या बालन की श्रेष्ठता साबित करने वाला था।
फ्लॉप ही फ्लॉप
विद्या बालन श्रेष्ठ बहुमुखी प्रतिभा वाली अभिनेत्री हैं।  लेकिन, उन पर आधा अधूरा प्रयोग खतरनाक होता है।  इसका प्रमाण थी घनचक्कर, शादी के साइड इफेक्ट्स, बॉबी जासूस, हमारी अधूरी कहानी, तीन (Te3n) , कहानी २: दुर्गा रानी सिंह और बेगम जान जैसी फ़िल्में।  इन फिल्मों के निर्देशकों साकेत चौधरी, समर शेख, मोहित सूरी, ऋभु दासगुप्ता, सुजॉय घोष और सृजित मुख़र्जी ने कहानी और पटकथा पर ध्यान देने के बजाय केवल विद्या बालन पर भरोसा किया।  इन फिल्मों में कल्पनाशीलता का अभाव था।  हालाँकि, यह सभी निर्देशक सक्षम और कल्पनाशील थे।  इन फिल्मों ने विद्या बालन के प्रशंसक दर्शकों को बेहद निराश किया।  हालाँकि, इन सभी फिल्मों में अपनी भूमिकाओं के साथ विद्या बालन ने भरपूर न्याय किया।  शायद इसीलिए दर्शक विद्या बालन से निराश नहीं है।  वह उम्मीद करता  है कि विद्या बालन की जोरदार वापसी होगी।
शरारती सुलु
क्या तुम्हारी सुलु से विद्या बालन के करियर का पहिया फिर घूमेगा ? तुम्हारी सुलु में विद्या बालन की सुलोचना के दो रूप हैं।  एक रूप घर को सम्हाल रही साड़ी लपेटे हुए घर का कामकाज निबटाने वाली सुलोचना का है।  दूसरा रूप अकस्मात् रात को रेडियो जॉकी का काम करने वाली सुलु का है।  भिन्न शेड इसी किरदार मे हैं।  यह किरदार रेडियो पर रात को कार्यक्रम पेश करने वाली आरजे है।  वह आकर्षक बातें सेक्सी आवाज़ के साथ करती है। इससे हजारों- लाखों श्रोता उसके दीवाने बन जाते हैं।  गड़बड़ तब होती है, जब रेडियो वाली ज़िन्दगी घर जा पहुंचती है।  प्रशंसक घर में फ़ोन करने लगते हैं।  ज़ाहिर है कि फिल्म में विद्या बालन की सुलोचना उर्फ़ सुलु चपल और चंचल किरदार है।  विद्या बालन के लिए इस किरदार में अपनी प्रतिभा दिखाने के भरपूर मौके हैं। दर्शक  और प्रशंसक जानते हैं कि विद्या बालन यह कर सकती है।  विद्या बालन के लिए यही चुनौती है, जो विद्या को अवार्डी अभिनेत्री साबित कर सकती है।  क्या ऐसा होगा ?
प्रशंसा और पुरस्कार
मुंबई में जन्मी विद्या बालन, शबाना आज़मी और माधुरी दीक्षित को देख कर एक्टर बनी।  १९९५ में एकता कपूर के  सिटकॉम हम पांच की राधिका  रूप  उनकी  पहचान बनी। दक्षिण और बांगला फिल्मों में सफलता पाने के बाद विद्या बालन ने २००५ में फिल्म परिणीता से हिंदी फिल्मों  में काम करना शुरू किया।  अब तक   वह एक  राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार सहित ५३ भिन्न पुरस्कार पा चुकी हैं।  उन्होंने चार इंटरनेशनल इंडियन फिल्म अकडेमी अवार्ड्स, पांच-पांच फिल्मफेयर, स्क्रीन, प्रोडूसर्स गिल्ड और ज़ी सिने अवार्ड्स जीते हैं।  उन्हें २०११ में फिल्म द डर्टी पिक्चर्स के लिए श्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला है।  परिणीता से फिल्मफेयर से बेस्ट डेब्यू अवार्ड पाने वाली विद्या बालन ने पा, द डर्टी पिक्चर्स और कहानी के लिए श्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्मफेयर पुरस्कार जीते हैं।  फिल्मफेयर ने उन्हें इश्क़िया फिल्म के लिए एस्ट एक्ट्रेस का फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड से भी नवाज़ा है।  उन्हें २०१४ में पद्मश्री मिली।

पाकिस्तानी और हिंदुस्तानी फिल्मों में डेब्यू करने वाली नाज़ नौरोजी

नाज़ नौरोजी, शायद इकलौती ऐसी अभिनेत्री हैं, जिनका करियर दोनों देशों में लगभग एक साथ होने जा रहा है। तेहरान में ९ जुलाई १९९२ को जन्मी और जर्मनी में पली-बढ़ी नाज़ का परिवार उसके जन्मने के तुरंत बाद जर्मनी चला गया था। जर्मनी में नाज़ नौरोजी ने जर्मन, इंग्लिश, फ्रेंच और अब हिंदी में महारत हासिल की।  नाज़ को फुटबॉल पसंद है। असाधारण डांसर भी हैं। मिस नौरोजी के बारे न कहा जाता है कि वह जब १५ साल की थी, तभी से बतौर मॉडल  दुनिया की यात्रा पर हैं। वह लाकोस्ते, डिओर, आदि कई अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड्स के लिए रैंप पर चल चुकी हैं। दो साल पहले कबीर खान के निर्देशन में शाहरुख़ खान के साथ मॉडलिंग कर चुकी है। थंब्स अप, मिंत्रा, कैनन, सैमसंग, बीइंग ह्यूमन, फिएमा ड़ि विल्स, सोच और रेमंड जैसे भारतीय ब्रांड्स का वह चेहरा हैं।  वह भारत में एक पंजाबी फिल्म सरताज सिंह पन्नू निर्देशित खिदो खुंडी में अभिनय कर रही है।  यह फिल्म हॉकी पर है।  यह फिल्म अगले साल २ मार्च को रिलीज़ होगी।  अगले साल २ फरवरी को मान जाओ न रिलीज़ होगी। इस प्रकार से इन दोनों फिल्मों से नाज़ नौरोजी का दोनों देशों में फिल्म डेब्यू हो रहा है।  

दीवाली पर हॉरर कॉमेडी का गोलमाल ही चलता है अगेन एंड अगेन

लखनऊ में गोलमाल दर्शक 
आज, सीक्रेट सुपरस्टार की रिलीज़ के एक दिन बाद गोलमाल अगेन रिलीज़ हो गई।  एकाधिक स्क्रीन वाले सिनेमाघरों के सामने आमिर खान ने धर्मसंकट पैदा कर दिया था कि मेरी फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार को आधे स्क्रीन दो।  आखिर समय में यही तय भी हुआ।  आमिर खान बॉक्स ऑफिस पर बड़ा नाम जो है।  लेकिन, अगर गोलमाल अगेन को ज्यादा स्क्रीन मिल जाते तो शायद नज़ारा कुछ दूसरा होता।  आमिर खान जानते थे कि उनकी फिल्म क्लास है।  उनका रोल एक्सटेंडेड कैमिया है।  सीक्रेट सुपरस्टार को उतने दर्शक नहीं मिल सकते थे, जितने उनकी नायक वाली फिल्म को मिलते हैं।  लेकिन, आमिर खान किसी न किसी प्रकार से स्क्रीन छेंकना चाहते थे। 
गोपाल, लकी, माधव और लक्ष्मण  १ और लक्ष्मण २ की चौथी हास्य कथा गोलमाल अगेन में हॉरर यानि भूत का एंगल है।  एना (तब्बू) भूत देख सकती है।  भूत खुद उसके पास आते हैं।  एना उन भूतों को इन्साफ या मुक्ति दिलवाती है।  फिल्म की कहानी एना के मुंह से ही कहलाई गई है।  गोलमाल सीरीज की फिल्मों की इस सेंसेलेस कॉमेडी में हॉरर और भूत का पांचवा छठा कोण कहानी को रुचिकर बना देता है।  हालाँकि, सिचुएशन घिसी पिटी हैं।  पहले की फिल्मों की तरह यहाँ भी आमने सामने दो बंगले हैं।  खूबसूरत लड़की है।  इस फिल्म में तो तमाम सितारों की एंट्री ही बाइक मोटर बाइक और कार पर ही होती है।  फिल्म के पाँचों मुख्य चरित्र अनाथ हैं।  बचपन में ही अनाथालय से भाग निकलते हैं।  पर अपने बचपन के आश्रय स्थल को भूल नहीं पाते।  इसलिए दादागिरी कर जो कुछ कमाते हैं, उसका एक हिस्सा अनाथालय को भेज देते हैं।  अनाथालय के मुखिया के मरने की खबर सुन कर पांचो वापस आते हैं।  यहीं भूत का एंगल सामने आता है। 
फिल्म में सितारों की भरमार है।  अजय देवगन, अरशद वारसी, कुणाल खेमू, तुषार कपूर और श्रेय यस तलपडे जैसे नियमित अभिनेताओं के साथ परिणीती चोपड़ा, तब्बू और नील नितिन मुकेश की नई एंट्री है।  यह तमाम अभिनेता रोहित शेट्टी की ठेठ शैली में कॉमेडी भरा अभिनय करते हैं। पहले तीन बार देखी जा चुकी कॉमेडी को मसाला देते हैं नाना पाटेकर, प्रकाश राज, जोनी लीवर, मुकेश तिवारी, संजय मिश्र, आदि।  इन डेढ़ दर्जन एक्टर्स में प्रभावित कर पाती है तब्बू।  परिणीती चोपड़ा अपनी भूमिका में फबी हैं। नील नितिन मुकेश को बॉलीवुड की फिल्मों में ऐसी अधूरी भूमिकाएं करने से अच्छा दक्षिण की फिल्मों की शरण लेना है।  इन सब पर भारी पड़ते हैं खुद की संक्षिप्त  भूमिका में नाना पाटेकर।  फिल्म में तब्बू और परिणीति चोपड़ा के किरदारों के कारण कुछ भिगोने वाले दृश्य देखने को मिलते हैं। 
फिल्म का संगीत काम चलाऊ है।  दर्शक हलके हो सकते हैं।  धूम्रपान का मज़ा ले सकते हैं।  गोवा, ऊटी और हैदराबाद  की लोकेशन खूबसूरत हैं।  रोहित शेट्टी और अजय देवगन की जोड़ी मनोरंजक फ़िल्में बनाने में माहिर है।  रोहित शेट्टी को अजय देवगन के साथ कॉमेडी बनाने  में ख़ास मेहनत नहीं करनी पड़ती।  फिल्म के तमाम एक्शन सुनील रोड्रिगज़  बढ़िया कर ले  जाते हैं। 
नोट- फिलहाल अजय देवगन की गोलमाल अगेन की आंधी में उड़ गया लगता है सीक्रेट सुपरस्टार।  

सितारों ने ऐसे जगमगाई दिवाली




Thursday, 19 October 2017

साठ के सनी देओल पल पल दिल के पास

हिंदी फिल्मों में हीरो बन कर  आ रहे स्टार्स के बच्चों की दिक्कत यह होती है कि उन्हें अपने  पिता की छाया में  जगह बनानी होती है।  इसके लिए उन्हें अपने स्टार फादर की इमेज से हटकर अपनी इमेज बनानी होती है।  राजकपूर के तीन बेटों ऋषि कपूर, रणधीर कपूर और राजीव कपूर को भी इन्हे दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।  ऋषि कपूर ने रोमांटिक लवर बॉय इमेज बनाई।  रणधीर कपूर रिबेल रोमाटिंक नायक बने।  राजीव कपूर फंस गए।  ऋषि कपूर  लम्बी रेस का घोड़ा साबित हुए।  रणधीर कपूर ने कुछ सालों तक अपनी गाडी खींची।  राजीव कपूर राम तेरी गंगा मैली के बावजूद मैले साबित हुए।  कुछ ऐसा ही हादसा धर्मेंद्र बेटों सनी देओल और बॉबी देओल के साथ  भी हुआ ।  आज सनी देओल साठ के हो गए।  इसलिए आज इस ६० साल के एग्री यंग मैन का ज़िक्र ही।  ५ अगस्त १९८३ को, जब सनी देओल की बतौर नायक पहली फिल्म रिलीज़ हुई तो दर्शक यह जानते हुए भी कि वह हिंदी फिल्मों के ही-मैन धर्मेंद्र का बेटा है, उसके चेहरे की मासूमियत पर मुग्ध हो गए।  बेताब हिट हुई।  बेताब की सनी देओल-अमृता सिंह जोड़ी भी हिट हो गई।  सनी देओल की दिक्कत यह थी कि ताक़तवर बाज़ू होते हुए भी वह पिता की तरह ही-मैन  नहीं बन सकते थे।  ओरिजिनल ही-मैन की मौजूदगी में डुप्लीकेट को कौन पूछता! सनी के सामने पिता के वटवृक्ष की छाया में मुरझाने के खतरा मंडरा रहा था।  ऐसे समय में पहले राहुल रवैल और  बाद में राजकुमार संतोषी मदद को आगे आये।  राहुल रवैल ने फिल्म अर्जुन में सनी देओल को ऐसा किरदार दिया, जो सीधा सादा पढ़ाकू छात्र था।  लेकिन, अपने दोस्त की ह्त्या के बाद वह हथियार उठा लेता था।  सनी देओल का व्यक्तित्व, फिल्म की अर्जुन की इमेज में फिट बैठा।  अर्जुन हिट हो गई।  सनी देओल की एंग्री यंगमैन इमेज को एक्शन का जामा पहनाया  राजकुमार संतोषी ने।  फिल्म थी घायल।  मासूम अजय मेहरा के जीवन में उस समय तूफ़ान आ जाता है, जब उसके भाई की हत्या हो जाती है।  भाभी की आत्महत्या के बाद अजय के सब्र का पैमाना भर जाता है।  वह विलेन से खुद निबटने के लिए मैदान पर उतर आता है। राजकुमार संतोषी ने फिल्म में सनी देओल की शर्ट फड़वा कर उनके मर्दाना जिस्म का गज़ब   का प्रदर्शन करवा दिया था।  इस फिल्म ने सनी देओल को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार दिलवा दिया।  दामिनी में सनी देओल की छोटी भूमिका थी।  लेकिन, इस फिल्म में सनी देओल के मुक्के ने फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर ऊपर से ऊपर उठाया ही, सनी को दूसरा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी दिलवा दिया।  इसके साथ ही सनी देओल मासूम चेहरा मगर ढाई किलो के हाथ वाले एंग्री यंगमैन बन गए।  तब से आजतक सनी देओल का ढाई किलो का हाथ जब उठता है, तब आदमी उठता नहीं, उठ जाता है और फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ऊपर ही ऊपर उठ जाती है।  आज साठ साल के हो गए सनी देओल के बेटे करण भी हीरो बनने के लिए कमर कस रहे हैं।  खुद सनी देओल उन्हें तैयार कर रहे हैं।  फिल्म पल पल दिल के पास है।  इसके नायक करण देओल हैं और निर्देशक सनी देओल।  फिल्म का टाइटल पल पल दिल के पास,  पिता-दादा धर्मेंद्र की फिल्म ब्लैक मेल के एक गीत से लिया गया है। हो सकता है कल जब फिल्म रिलीज़ होगी तो एक नया देओल दर्शकों के दिल के पास होगा।   लेकिन, इतना तय है कि सनी देओल का मासूम एंग्री यंगमैन पल पल दर्शकों के दिल के पास है।  सनी देओल को शुभकामनायें। 


दीपोत्सव मनाती गायिका तुलसी कुमार


'गोलमाल' की आंधी में उड़ने जा रहा है आमिर का 'सुपरस्टार' 'अगेन' !

आमिर खान की एक्सटेंडेड कैमिया वाली फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार आज रिलीज़ हो गई।  दीवाली के दिन फिल्म को रिलीज़ करने का आमिर खान का फैसला शायद इस कारण से रहा होगा कि वह अजय देवगन की फिल्म से एक दिन पहले अपनी फिल्म रिलीज़ कर, अकेले ही दर्शक लूट लेंगे और माउथ पब्लिसिटी के ज़रिये बॉक्स ऑफिस की जंग भी जीत लेंगे।  इसी सोच के तहत आज ज़ायरा वसीम की टाइटल किरदार वाली फिल्म सीक्रेट सुपरस्टार रिलीज़ हो गई।  फर्स्ट हाफ तक काफी टाइट और इमोशनल चलने वाली फिल्म हाफ टाइम के बाद बिखर सी जाती है।  या यों कहिये कि कथानक को अनुकूल मोड़ देने के लिए तोड़ मरोड़ दी जाती है।  इस फिल्म को देखने के बाद किसी भी छोटे बड़े शहर के गायक-गायिका को लगेगा कि वह आसानी से बॉलीवुड में चांस पा सकता/सकती है।  वड़ोदरा की इन्सिया मलिक (ज़ायरा वसीम) संगीत के प्रति रुझान रखती।  फिल्म देखते समय ऐसा लगता है कि वह सिंगर, म्यूजिक कंपोजर और गीतकार तीनों ही है।  जबकि, वास्तव में वह गायिका दिखाई गई है।  उसका पिता फ़ारूक़ मलिक (राज अर्जुन) उसके संगीत के खिलाफ है।  इसलिए वह अपनी माँ नजमा (मेहर विज) के सुझाव पर बुर्का पहन कर अपना विडियो तैयार करती है और यूट्यूब पर अपलोड कर देती है।  इस विडियो को लोग पसंद करते हैं।  उसे करोड़ों हिट मिल जाते हैं।  इनमे से एक मुंबई के चुके हुए बददिमाग संगीतकार शक्ति कुमार का भी है।  ज़ायरा का दोस्त चिंतन (तीर्थ शर्मा) उसे शक्ति कुमार से संपर्क करने का सुझाव देता है। यह सब इंटरवल तक चलता है। नए निर्देशक अद्वैत चिंतन की पकड़ साफ़ नज़र आती है।  लेकिन, इंटरवल के बाद अद्वैत कथानक और निर्देशन में बिखर जाते हैं।  सब कुछ जाना पहचाना होता है।  यानि इन्सिया को मुंबई का सेलेब्रिटी सिंगर बनना ही है।   अद्वैत उसे बना भी देते हैं।  कोई संघर्ष नहीं।  गायन की कोई गंभीरता और गहराई नहीं। अलबत्ता, सीक्रेट सुपरस्टार को अभिनय के लिहाज़ से देखा जा सकता है।  ज़ायरा वासिम अपने इन्सिया के किरदार को सजीव कर देती हैं।  उनमे अभिनय प्रतिभा है। वह सुंदर भी हैं। पर उनका वजन काफी लगता है।  अगर वजन कम करेंगी तो शायद अपनी युवा दंगल गर्ल फातिमा सना शैख़ की तरह मेनस्ट्रीम सिनेमा में जगह बना सकती हैं।  इन्सिया की माँ नजमा के किरदार में मेहर विज भी प्रभावित करती हैं।  इन्सिया के पिता फ़ारूक़ की भूमिका में राज अर्जुन का अभिनय भी बढ़िया है।  इन तीन मुख्य किरदारों के बीच चमकता है गुजराती चिंतन का किरदार।  चिंतन को तीर्थ शर्मा सहज ढंग से करते हैं।  आमिर खान बेहद अच्छे अभिनेता हैं।  उनका शक्ति कुमार की भूमिका करना, शायद अपनी फिल्म और अपने मुलाजिम अद्वैत को सफल बनाने की मज़बूरी थी। वह कपिल शर्मा की तरह दर्शकों को हंसा भी ले जाते हैं।
ऐसे में, जबकि कल गोलमाल अगेन रिलीज़ होने जा रही है, अजय देवगन का एक्शन अपनी कॉमेडियन मंडली के साथ सीक्रेट सुपरस्टार को बॉक्स ऑफिस पर उड़ा सकता है ।  इस फिल्म का भविष्य माउथ पब्लिसिटी और समीक्षकों की  राय पर ही निर्भर है।  

शिमला की अलीशा कलर्स की आरोही

शिमला की अलीशा पंवर आजकल कलर्स के शो इश्क़ में मरजावा में आरोही कश्यप का किरदार कर रही हैं।  आरोही २०१२ की शिमला  क्वीन हैं।  वह अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो में बाल कलाकार थी।  ज़ीटीवी के शो जमाई राजा पार्ट २ में एक आमिर लड़की अनन्या का किरदार कर चुकी, अलीशा बीकॉम हैं।  ५ फुट ४ इंच लम्बी और सिर्फ ५४ किलो वजन रखने वाली अलीशा ने बेगूसराय और थपकी प्यार की जैसे शो भी किये हैं।  

शाहिद की बत्ती गुल पर श्रीनारायण का मीटर चालू !

क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट और टी-सीरीज की फिल्म का निर्देशन श्रीनारायण सिंह करेंगे।  श्रीनारायण सिंह की बतौर निर्देशक पहली फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा थी।  इस फिल्म में अक्षय कुमार और भूमि पेढनेकर की मुख्य भूमिका थी।  फिल्म ने १०० करोड़ क्लब में प्रवेश पाया था।  श्रीनारायण सिंह की दूसरी फिल्म में अक्षय कुमार नहीं, बल्कि शाहिद कपूर हीरो होंगे।  आज  दीपावली के मौके पर इस फिल्म का टाइटल मोशन पोस्टर के ज़रिये जारी किया गया।  फिल्म का टाइटल बत्ती गुल मीटर चालू रखा गया है।  पिछले दिनों अफवाह फैली थी कि इस फिल्म का नाम रोशनी है।  क्योंकि, शाहिद कपूर ने एक बातचीत के दौरान रोशनी शब्द का इस्तेमाल किया था।  अब जबकि टाइटल जारी हो गया है,    इस टाइटल का सम्बन्ध रोशनी से ही लगता है।  श्रीनारायण सिंह की पिछली फिल्म टॉयलेट के प्रेम कथा टाइटल के अनुरूप गाँव-देहात में संडास यानि टॉयलेट के समस्या पर थी।  इसलिए, उम्मीद की जा सकती है कि बत्ती गुल मीटर चालू गाँव-देश में बिजली की समस्या पर हो सकती है।  फिल्म के मोशन पोस्टर से भी इसकी झलक मिलती है।  श्रीनारायण सिंह की फ़िल्में मनोरंजन के साथ साथ सन्देश देने वाली भी होती हैं।  इसलिए, फिल्म में बत्ती की समस्या को एक रोमांटिक कथा के साथ रोपा गया होगा।  शाहिद कपूर, रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की जोड़ी के साथ ऐतिहासिक ड्रामा फिल्म पद्मावती में महारावल रतन सिंह के किरदार में नज़र आएंगे।  पद्मावती १ दिसंबर को रिलीज़ होगी।  

गर्जनै का मोशन पोस्टर रिलीज़

तृषा कृष्णन की तमिल फिल्म गर्जनी का मोशन पोस्टर आज रिलीज़ हुआ।  यह फिल्म २०१५ में रिलीज़ हिंदी फिल्म अभिनेत्री अनुष्का शर्मा अभिनीत फिल्म एनएच १० का तमिल रीमेक है।  फिल्म में तृषा कृष्णन ने अनुष्का शर्मा वाली भूमिका की है। फिल्म का निर्देशन सुन्दर बालू ने किया है। अन्य भूमिकाओं में वामसी कृष्णा और अमित भार्गव के नाम उल्लेखनीय हैं। 

Wednesday, 18 October 2017

सयेशा ने कहा-


तमिल दर्शकों के बीच ज़बरदस्त लोकप्रिय है हंसिका मोटवानी

हिट फिल्म आपका सुरूर के बावजूद हंसिका मोटवानी  बॉलीवुड में  हिट नहीं हो सकी। मनी है तो हनी है उनकी आखिरी हिंदी फिल्म साबित हुई।  दक्षिण की फिल्म इंडस्ट्री, ख़ास तौर पर, तमिल फिल्मों में उन्हें सफलता मिली।  तमिल फिल्मों में उनके कर्व्स दर्शकों को आकर्षित कर पाने में सफल हुए।  २६ साल की हंसिका के पास  फिल्मों की भरमार है।  इस साल, अब तक उनकी तीन फ़िल्में  रिलीज़ हो चुकी हैं।  मोहनलाल के साथ एक क्राइम थ्रिलर फिल्म विलेन २७ अक्टूबर को रिलीज़ होगी। इस फिल्म का हिंदी संस्करण ज़बरदस्त प्राइस में खरीदा गया है। इस फिल्म में हंसिका की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है। सिंधी परिवार की हंसिका मोटवानी को तमिल प्रशंसकों के बीच ज़बरदस्त लोकप्रियता प्राप्त है।  वह जब कहीं निकल जाती हैं, उनके प्रशंसकों को भीड़ लग जाती है।   


सीक्रेट सुपरस्टार की स्क्रीनिंग पर मिले आमिर खान से रणबीर कपूर


वेडिंग टाइम्स तपसी पन्नू


गर्जनै का मोशन पोस्टर रिलीज़

तृषा कृष्णन की तमिल फिल्म गर्जनी का मोशन पोस्टर आज रिलीज़ हुआ। यह फिल्म २०१५ में रिलीज़ हिंदी फिल्म अभिनेत्री अनुष्का शर्मा अभिनीत और निर्मित फिल्म एनएच १० का तमिल रीमेक है। फिल्म में तृषा कृष्णन ने अनुष्का शर्मा वाली भूमिका की है।  फिल्म का निर्देशन सुन्दर बालू ने किया है। अन्य भूमिकाओं में वामसी कृष्णा और अमित भार्गव के नाम उल्लेखनीय हैं। 

टाइगर जिंदा है


Tuesday, 17 October 2017

एमिली ब्लंट के सैंडल में जैक्विलिन फर्नांडिस

करण जौहर ने २०१५ में हॉलीवुड की हिट फिल्म वारियर का हिंदी रीमेक फिल्म ब्रदर्स बनाई थी।  इसके बाद कुछ दूसरे निर्माताओं ने भी हॉलीवुड फिल्मों के आधिकारिक रीमेक बनाने का सिलसिला शुरू कर दिया।  इसी साल रिलीज़ सैफ अली खान की फिल्म शेफ भी हॉलीवुड की इसी टाइटल से फिल्म का हिंदी रीमेक है। अब, २०१६ में रिलीज़ रहस्य रोमांच से भरपूर ड्रामा फिल्म द गर्ल ऑन  द ट्रेन का हिंदी रीमेक बनाये जाने की तैयारी है।  रेचल तलाक़ के बाद अकेले ही ट्रेन से यात्रा कर रही है।  वह ट्रेन में एक युवा जोड़े स्कॉट और मेगन को देखती है।  उन्हें देख कर उसे लगता है कि वह आदर्श जोड़ा है।  मेगन गायब हो  जाती है।  रेचल को भी मेगन के गायब होने की जांच में फंसना पड़ता है।  द गर्ल ऑन द ट्रेन का निर्देशन अमिताभ बच्चन, विद्या बालन और नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के साथ तीन (Te3n) का निर्माण करने वाले ऋभु दासगुप्ता करेंगे।  इस अनाम फिल्म में रेचल का हिंदुस्तानी किरदार  निभाने के लिए श्रीलंका सुंदरी जैक्विलिन फर्नांडिस को लिया गया है।  हॉलीवुड फिल्म में रेचल की भूमिका एमिली ब्लंट ने की थी।  इस प्रकार से जैक्विलिन फर्नांडिस को स्क्रीन एक्टर्स गिल्ड अवार्ड्स और बाफ्टा अवार्ड्स  के लिए नामित हुई अभिनेत्री एमिली ब्लंट के जोड़ की अभिनय  प्रतिभा प्रदर्शित करनी होगी।   

सलमान खान के साथ रानी मुख़र्जी

क्रिसमस वीकेंड पर, जब टाइगर ज़िंदा है रिलीज़ होगी, उस समय दर्शक सलमान खान के साथ रानी मुख़र्जी को भी देख सकेंगे । लेकिन, इसका मतलब यह नहीं कि टाइगर ज़िंदा है में रानी मुख़र्जी की कोई भूमिका है।  टाइगर ज़िंदा है में सलमान खान की नायिका कैटरीना कैफ ही हैं।  इस फिल्म में रानी मुख़र्जी का कैमिया भी नहीं है।  तब सलमान खान के साथ क्रिसमस वीकेंड पर रानी मुख़र्जी कैसे ? दरअसल, सलमान खान की फिल्म टाइगर ज़िंदा है के साथ फिल्म हिचकी का ट्रेलर रिलीज़ किया जा रहा है।  टाइगर ज़िंदा है और हिचकी, दोनों ही फ़िल्में एक ही प्रोडक्शन हाउस यानि यशराज फिल्म्स की हैं।  इसलिए, एक फिल्म के साथ दूसरी फिल्म का ट्रेलर रिलीज़ किया जाना सामान्य बात है।  एक औरत के अपनी कमज़ोरी को ताक़त बनाने की कहानी वाली फिल्म हिचकी की नायिका रानी मुख़र्जी हैं।  इस फिल्म का निर्देशन सिद्धार्थ मल्होत्रा कर रहे हैं।  सिद्धार्थ मल्होत्रा ने सात साल पहले, रानी मुख़र्जी की कजिन काजोल के साथ फिल्म वी आर फॅमिली का निर्देशन किया था।  टाइगर ज़िंदा है क्रिसमस वीकेंड पर रिलीज़ होने के कारण भारी संख्या में दर्शक बटोरेगी।  ऐसे में अगर रानी मुख़र्जी की फिल्म हिचकी का ट्रेलर सलमान खान की फिल्म के साथ रिलीज़ होता है तो उसे उतनी ही संख्या  में दर्शक मिल जायेंगे।  माँ बनने के बाद रानी मुख़र्जी की वापसी फिल्म हिचकी २८ फरवरी को  रिलीज़ हो रही  है। 

प्रभाष का लेटेस्ट फोटो शूट