Wednesday, 30 December 2015

लाइव करैक्टर के साथ हु फ्रेम्ड रॉजर रैबिट

रॉबर्ट ज़ेमिकस निर्देशित फिल्म 'हु फ्रेम्ड रॉजर रैबिट' २२ जून १९८८ को  रिलीज़ हुई थी।  यह अमेरिकन फैंटसी कॉमेडी फिल्म इस मायने में ख़ास थी कि फिल्म में पहली बार मनुष्य चरित्रों के साथ एनीमेशन करैक्टर्स का उपयोग किया गया था।  इस फिल्म की पटकथा जेफ्री प्राइस और पीटर एस सीमैन ने गैरी के वुल्फ के १९८१ को प्रकाशित उपन्यास 'हु सेंसर्ड रॉजर रैबिट' को आधारित कर लिखा था। यह फिल्म १९४७ के काल्पनिक हॉलीवुड के एनिमेटेड डिस्ट्रिक्ट 'टूनटाउन' की कहानी थी, जहाँ कार्टून करैक्टर मनुष्यों से नियमित बाते किया करते थे। एडी एक प्राइवेट डिटेक्टिव था, जो अपने भाई के साथ टूनटाउन में रहता था।  एड़ी टून चरित्रों के साथ मिल कर जासूसी के काम करता था।  लेकिन, एक टून करैक्टर द्वारा उसके भाई की हत्या के बाद वह शराब में डूब जाता है।  १०४ मिनट लम्बी यह फिल्म ५८ मिलियन डॉलर से बनी थी। यह अपने समय की सबसे महंगी फिल्म थी तथा इसके कास्ट क्रेडिट भी  सबसे लम्बी थी। इस फिल्म ने वर्ल्डवाइड ३२९.८ मिलियन डॉलर का बिज़नेस किया था।  इस फिल्म में बॉब हॉकिन्स, क्रिस्टोफर लॉयड, जोअन्ना कसीडी और एलन टिल्वेन ने इंसानी किरदार किये थे।  जबकि, चार्ल्स फ्लैशर ने रॉजर रैबिट, कैथलीन टर्नर ने जेसिका रैबिट, लोउ हिरश  ने बेबी हरमन और डेविड लैंडर ने स्मार्ट एस के एनिमेटेड किरदारों को आवाज़े दी थी।  इस फिल्म की ख़ास बात यह थी कि निर्माता स्टूडियो डिज्नी की इस फिल्म में वार्नर ब्रदर्स के टून करैक्टर बग्स बनी और डफ़्फ़ी डक भी डिज्नी के टून करैक्टर मिक्की माउस और डोनाल्ड डक के साथ लिए गए थे।  वार्नर ब्रदर्स को डिज्नी द्वारा उनके कार्टून चरित्रों का फिल्म में उपयोग करने पर ऐतराज़ नहीं था।  लेकिन, उन्होंने शर्त लगा दी थी कि उनके करैक्टर डिज्नी के टून चरित्रों के बराबर ही दिखाए जायेंगे।  यही कारण था कि जहां जहाँ भी मिकी माउस और डोनाल्ड डक दिखाए गए थे, वहां वहां बग्स बनी और डफी डक भी साथ थे।  यह इकलौती फिल्म थी, जिसमे डिज्नी और वार्नर के कार्टून चरित्र साथ थे।










रॉबर्ट लंगडोन की थ्रीक्वेल फिल्म 'इन्फर्नो' में इरफ़ान खान

सोनी पिक्चर्स द्वारा जारी तस्वीरों में टॉम हैंक्स, फ़ेलिसिटी जोंस के साथ भागते नज़र आ रहे हैं।  डायरेक्टर रोन होवार्ड का थ्रीकुएल इन्फर्नो टॉम हैंक्स के करैक्टर रॉबर्ट लंगडोन के साथ तीसरी ब्लॉकबस्टर मिस्ट्री बताई जा रही हैं।  यह फिल्म डान ब्राउन के इसी नाम के उपन्यास पर आधारित फिल्म है।  डान ब्राउन ने प्रोफेसर रॉबर्ट लंगडोन के काल्पनिक करैक्टर के साथ चार उपन्यास 'एंजेल्स एंड डीमॉन्स' (२०००), डा विन्ची कोड (२००३), द लॉस्ट सिंबल (२००९) और इन्फर्नो (२०१३) लिखे थे।  पहले दो उपन्यासों पर इसी टाइटल के साथ बनी फिल्मों में टॉम हैंक्स ने प्रोफेसर रॉबर्ट लंगडोन के किरदार किये थे।  अब वह तीसरी बार इस तीसरी कड़ी में इस किरदार को कर रहे हैं। प्रोफेसर रॉबर्ट लंगडोन सिंबलोजिस्ट (चिन्ह विशेषज्ञ) है।  इन्फर्नो में वह जब इटली के एक हॉस्पिटल में आँख खोलता है तो सब कुछ भूल चूका है।  वह एक डॉक्टर सिएना ब्रुक्स की मदद से अपनी खोई यादें वापस पाना चाहता है।  क्योंकि, तभी वह एक सिरफिरे को दांते की अमर पुस्तिका के ज़रिये दुनिया में प्लेग फैलाने से रोक सकता है। फिल्म में डॉक्टर सिएना ब्रुक्स का किरदार द थ्योरी ऑफ़ एवरीथिंग की नायिका फ़ेलिसिटी जोंस, हैरी सिम्स का किरदार बॉलीवुड अभिनेता इरफ़ान खान, क्रिस्टोफर ब्रूडर का किरदार द इनटॉचबलस के ओमर सय और डॉक्टर एलिज़ाबेथ सिंस्की का किरदार बोरगेन की बाबेट्ट कनडसेन कर रहे हैं। फिल्म के मुख्य विलेन वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन के हेड का किरदार लोन सर्वाइवर के बेन फोस्टर कर रहे हैं।  इन्फर्नो की पटकथा डेविड कोएप ने लिखी है।  फिल्म २८ अक्टूबर २०१६ को रिलीज़ होगी।   



Monday, 28 December 2015

शिव को पूर्णता की और ले जाने वाली फिल्म 'शिवाय'

आगामी फिल्म 'शिवाय' में अजय देवगन बतौर अभिनेता और निर्देशक नज़र आएंगे। बतौर निर्देशक उनकी पहली फिल्म 'यू मी और हम' थी, जो २००८ में रिलीज़ हुई थी। पत्नी काजोल के साथ उनकी यह फिल्म फ्लॉप हुई थी। अब आठ साल बाद वह निर्देशन की कमान सम्हाल रहे हैं तो फिल्म का विषय बदला हुआ है। उनकी बतौर निर्देशक दूसरी फिल्म 'शिवाय' एक धुंआधार एक्शन से भरपूर ड्रामा फिल्म है। इस फिल्म में अजय देवगन ने सांस रोक देने वाले एक्शन किये हैं। इसका अंदाज़ा तस्वीर देख कर लगाया जा सकता है, जिसमे वह पहाड़ की ऊंचाई से लटके नज़र आ रहे हैं। इस फिल्म की एक दूसरी ख़ास बात यह है कि फिल्म में अजय देवगन की नायिका १८ साल की सयेशा सैगल हैं। छियालीस साल के अजय देवगन की १८ साल की नायिका कोई अजूबा बात नहीं। यहाँ ख़ास यह है कि सयेशा सैगल दिलीप कुमार और सायरा बानो की भांजी शाहीन और अभिनेता सुमीत सैगल की बेटी है। यहाँ एक ख़ास बात यह भी है कि दिलीप कुमार को शाहीन और सुमीत की मुस्लिम हिन्दू शादी बिलकुल नापसंद थी। उन्होंने इसे व्यक्त करने से परहेज़ भी नहीं किया। इन दोनों परिवारों का मिलना जुलना भी खबर नहीं बना। शिवाय आधुनिक शिव पर या यो कहा जाये कि भगवान शिव के मानवीय पहलू पर फिल्म है। यह फिल्म शिव के अधूरेपन और पूर्णता पाने के सफर को दर्शाने वाली फिल्म है। इस फिल्म में शिवाय के रोल में अजय देवगन है और सयेशा सति के किरदार मे हैं। फिल्म की कथा- पटकथा संदीप श्रीवास्तव ने लिखी है। इस फिल्म की तमाम शूटिंग बुल्गारिया, हैदराबाद और उत्तराखंड में होगी। २०१६ की दीपावली के वीकेंड में २८ अक्टूबर को रिलीज़ होने जा रही इस फिल्म का बजट २५० करोड़ का है। इस फिल्म को करण जौहर की फिल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' से मुक़ाबला करना पड़ सकता है।


बॉबी देओल के साथ मोनिका डोगरा की थ्रिलर 'चंगेज़'

मोनिका डोगरा अपने अंदाज़ के म्यूजिक के लिए जानी जाती हैं।  उन्होंने फिल्म ब्रेक के बाद के लिए दूरियां भी हैं ज़रूरी जैसा मशहूर गीत गया है। उनका एक इलेक्ट्रॉनिक रॉक ग्रुप शाइर है।  उन्होंने बतौर अभिनेत्री फिल्म रॉक ऑन में एक छोटी भूमिका की थी।  आमिर खान की बीवी किरण राव की फिल्म 'धोबी घाट' की वह नायिका थी। भारतीय मूल की अमेरिकन सिंगर-एक्ट्रेस मोनिका डोगरा ने अपने अपने दम पर अपना यह मुकाम बनाया है । नए साल में यह ज़बरदस्त कलाकार एक नयी शुरुआत करने जा रही है।  वह फ़िल्म चंगेज़ में बॉबी देओल के साथ नज़र आएँगी । चंगेज़ को बॉबी देओल की धमाकेदार वापसी से जोड़ कर देखा जा रहा है । यह फ़िल्म 2016 में शुरू होने जा रही है और इसका पहला शूट भी राजधानी नयी दिल्ली में होने जा रहा है ।गज़ब की सर्दी में दिल्ली की तमाम लोकेशन्स को इस फ़िल्म में दर्शाया जायेगा । विवेक सिंह चौहान के निर्देशन में बनने वाली इस डार्क एक्शन थ्रिलर में मोनिका डोगरा एक हिंदुस्तानी किरदार निभा रही हैं । इस फिल्म के बारे में बात करते हुए मोनिका कहती हैं," मैं नए साल की शुरुआत चंगेज़ की शूटिंग के साथ करने जा रही हूँ । इस फ़िल्म में मेरा रोल बेहद चैलेंजिंग है और यह अपनी तरह का एक अलग ही किरदार है । इस किरदार के बारे में अभी मैं सिर्फ इतना कह सकती हूँ कि यह थोडा सा बदमाश तरीके का है । जहाँ तक बॉबी देओल का सवाल है वह बहुत कुछ मेरे जैसे ही है। वह विनम्र हैं,  दयालु हैं,  क्रेजी हैंडसम हैं और एक ऐसे कलाकार हैं जो पूरी तरह से अपनी कला को समर्पित है ।" 

Sunday, 27 December 2015

'सरबजीत' की शूटिंग शुरू

आखिरकार पाकिस्तानी जेल में मारे गए भारतीय  कैदी सरबजीत सिंह पर फिल्म 'सरबजीत' की शूटिंग मुंबई में शुरू हो गई।  यह फिल्म सरबजीत  की बहन दलबीर कौर की सरबजीत को पाकिस्तानी जेल से छुड़ाने के लिए किये गए संघर्ष की कहानी है।  फिल्म में दलबीर की भूमिका के लिए शुरू में सोनाक्षी सिन्हा को लिया गया था।  यकायक सोनाक्षी द्वारा फिल्म छोड़ देने के बाद उनकी जगह ऐश्वर्या राय बच्चन आ गई।  ऐश्वर्या की इसी साल वापसी फिल्म 'जज़्बा' रिलीज़ हुई है।  'सरबजीत' का निर्देशन मैरी कॉम के डायरेक्टर ओमंग कुमार कर रहे हैं।  फिल्म में सरबजीत की भूमिका में रणदीप हुडा हैं।  ऋचा चड्ढा सरबजीत की पत्नी की सशक्त भूमिका में हैं।  मैरी कॉम में मैरी कॉम के पति का  किरदार करने वाले दर्शन कुमार सरबजीत के वकील की भूमिका में हैं।  मुंबई में फिल्म की शूटिंग के बाद इसका अगला शिड्यूल पंजाब में अमृतसर, मालेकोटला, भिकिपिंड और पटियाला में होगा।  'सरबजीत' २० मई २०१६ को रिलीज़ होगी।

बड़े सितारों का ही होगा २०१६ भी

२०१५ के ख़त्म होते होते हॉलीवुड से एक फिल्म 'स्टार वार्स : द फ़ोर्स अवकेंस' २५ दिसंबर को रिलीज़ होगी।  यह फिल्म दुनिया के सिनेमाघरों में से केवल आईमैक्स इफेक्ट्स में रिलीज़ हो कर ही सुपर हिट साबित हो चुकी है।  इस फिल्म को देखने के बाद भारतीय दर्शक भी किसी हिंदी फिल्म को आईमैक्स इफ़ेक्ट में देखने की चाहत रखेंगे।  क्या २०१६ में कोई आईमैक्स इफेक्ट्स के साथ हिंदी फिल्म रिलीज़ हो सकती है? फिलहाल तो इसका जवाब बड़ा-सा 'न' है।  आईमैक्स तकनीक पर बनी फ़िल्में महंगी तो होती ही हैं, हिंदुस्तान में आईमैक्स थिएटर्स का अभाव भी है।  इस समय हमारे देश में केवल ८ आईमैक्स थिएटर हैं।  यहाँ तक कि दिल्ली-एनसीआर रीजन में भी कोई आईमैक्स थिएटर नहीं है।  ऐसे में बॉलीवुड या दक्षिण के फिल्म निर्माता अगले कई सालों तक आईमैक्स फ़िल्में बना भी सकेंगे, इसकी उम्मीद भी नहीं की जानी चाहिए।
वास्तविकता तो यह है कि बॉलीवुड को त्रिआयामी फिल्मों में भी ख़ास रूचि नहीं।  पिछले साल रेमो डिसूज़ा की फिल्म 'एबीसीडी २' को त्रिआयामी प्रभाव में रिलीज़ किया गया था।  इस फिल्म को ठीक ठाक सफलता मिली थी।  २०१६ में किसी दूसरी ३डी फिल्म की उम्मीद दक्षिण से ही की जा सकती है।  बाहुबली द कंक्लूजन' की रिलीज़ २०१७ कर दी गई है।  वैसे दूसरी ३डी फिल्म दक्षिण के सुपर स्टार रजनीकांत की 'एंधिरन २' (रोबोट २) हो सकती है।  रेमो की अगली फिल्म 'फ्लाइंग जट्ट' भी ३डी प्रभाव के साथ बनाई जा रही है।
बॉलीवुड फ़िल्में सौ करोड़ बजट का आंकड़ा तो ज़रूर छू पा रही हैं।  लेकिन, तकनीक उत्कृष्टता के लिहाज़ से आज भी पीछे हैं।  हॉलीवुड बड़ी संख्या में डॉल्बी अटमॉस साउंड सिस्टम पर काफी फ़िल्में बना रहा हैं।  लेकिन, हिंदुस्तान में पहली बार २०१२ में रजनीकांत की फिल्म 'शिवाजी ३डी' डॉल्बी अटमॉस इफ़ेक्ट के साथ रिलीज़ हुई थी।  इसके बाद से अब तक कोई १०० से ज़्यादा भारतीय फ़िल्में इस तकनीक से बनाई जा चुकी है।  डॉल्बी अटमॉस वाली हिंदी फिल्मों में किक, रेस २, धूम ३, आदि फिल्मों में नाम उल्लेखनीय हैं।  वैसे देश में इस तकनीक में सिनेमाघर बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है।  लेकिन २०१६ में डॉल्बी अटमॉस तकनीक पर केवल एक हिंदी फिल्म 'अज़हर' के बनाये जाने की सूचना है।
बॉलीवुड सिनेमाघरों के अभाव में महँगी तकनीक पर फ़िल्में बनाने से कतरा ज़रूर रहा है।  लेकिन, बड़े सितारों वाली महंगी फ़िल्में बनाने में उसे गुरेज़ नहीं।  २०१६ में एक बार फिर बड़े सितारों वाली, बड़े बजट की फिल्में प्रदर्शित होंगी।  इस साल तीनों खानों की फ़िल्में रिलीज़ होनी हैं।  शाहरुख़ खान की दो फ़िल्में रिलीज़ होंगी। अक्षय कुमार अपनी अलग विषय वाली फिल्मों से चर्चाओं में रहेंगे।  अजय देवगन बतौर निर्देशक नज़र आएंगे।  आइये नज़र डालते हैं ऎसी कुछ फिल्मों पर -
रोबोट २ - निर्देशक शंकर की इस फिल्म को हिंदी में 'रोबोट २' और तमिल में 'एंधिरन २' टाइटल के साथ बनाया जा  रहा है।  २०१० में रिलीज़ रजनीकांत की सफल फिल्म 'एंधिरन' की इस रीमेक फिल्म को '२.०' टाइटल से भी रिलीज़ किया जा सकता है।  इस फिल्म का हिंदी दर्शकों के लिए महत्व इसलिए नहीं कि यह तमिल के साथ हिंदी में भी बनाई जा रही है, बल्कि इस फिल्म में बॉलीवुड के सितारे अक्षय कुमार विलेन के किरदार मे होंगे।  पहले इस रोल के लिए आमिर खान, विक्रम और हॉलीवुड अभिनेता अर्नाल्ड श्वार्ज़नेगर के नामों पर भी विचार हुआ था ।
वज़ीर- बिजॉय नाम्बियार निर्देशित फिल्म 'वज़ीर' एक अपाहिज शतरंज के ग्रैंड मास्टर खिलाड़ी (अमिताभ बच्चन) और एक एटीएस अफसर (फरहान अख्तर) की दोस्ती की थ्रिल भरी कहानी है।  इस फिल्म से जुडी ख़ास बात यह है कि वज़ीर विधु विनोद चोपड़ा की पहली हॉलीवुड फिल्म बनने वाली थी। फिल्म में डस्टिन हॉफमैन को लिया जाना था।  लेकिन, इसके निर्माता की अकस्मात् मौत के बाद फिल्म में काफी बदलाव हो गए।  फिल्म की अन्य भूमिकाओं में जॉन अब्राहम, अदिति राव हैदरी, मानव कौल, आदि के नाम उल्लेखनीय है।  परन्तु, वज़ीर की भूमका नील नितिन मुकेश कर रहे हैं।
एयरलिफ्ट- यह फिल्म १९९० की उस सत्य घटना पर आधारित है जब कुवैत मे फंसे १ लाख ११ हजार भारतीयों को, एक कुवैती व्यापारी की मदद से हवाई मार्ग से बाहर निकाला गया था।  इस कुवैती व्यापारी रंजीत कत्याल की भूमिका अक्षय कुमार कर रहे हैं।  इस फिल्म के लिए अक्षय कुमार ने अरबी भाषा सीखी है।  राजा कृष्ण मेनन निर्देशित फिल्म में निम्रत कौर अक्षय की बीवी के किरदार में हैं।
फितूर- चार्ल्स डिकेन्स के उपन्यास ग्रेट एक्सपेक्टेशंस पर आधारित अभिषेक कपूर की फिल्म है फितूर। पिछले दिनों इस फिल्म की चर्चा अभिनेत्री रेखा द्वारा बीच में फिल्म छोड़ देने के कारण हुई थी। अब फिल्म में रेखा की जगह तब्बू ने ले ली है।  मुख्य भूमिका कैटरीना कैफ और आदित्य रॉय कपूर की है।  इस फिल्म की तमाम शूटिगं कश्मीर में हुई है।
तीनों खान अभिनेताओं की फ़िल्में- २०१६ में शाहरुख़ खान की दो फ़िल्में 'फैन' और 'रईस' रिलीज़ होंगी।  मनीष शर्मा निर्देशित फिल्म 'फैन' और राहुल ढोलकिया निर्देशित 'रईस' रिलीज़ होंगी।  रईस से एक पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिर खान का बॉलीवुड डेब्यू हो रहा है।  एक दूसरी पाक़ी एक्ट्रेस मावरा हुसैन की फिल्म 'सनम तेरी कसम' भी इसी साल प्रदर्शित होगी।  सलमान खान की फिल्म सुल्तान और आमिर खान की फिल्म दंगल भी २०१६ में रिलीज़ होंगी।
बायोपिक फ़िल्में- इस साल कुछ बायोपिक फ़िल्में भी रिलीज़ होनी है।  जहाँ, एयरलिफ्ट एक कुवैती भारतीय द्वारा कुवैत में फंसे भारतीयों को बाहर निकालने की साहसिक कहानी थी।  वहीँ, 'दंगल' हरियाणा के एक पहलवान महावीर फोगाट द्वारा अपनी बेटियों बबिता और गीता को कुश्ती के लिए तैयार कर विश्व स्तरीय पहलवान बनाने की कहानी है।  आमिर  खान महावीर फोगाट के  किरदार में हैं।  पाकिस्तान की जेल में मारे गए भारतीय कैदी सरबजीत सिंह की बहन दलबीर के सरबजीत को छुड़ाने के लिए किये गए प्रयासों की कहानी है ओमंग कुमार निर्देशित फिल्म 'सरबजीत' । इस फिल्म में सरबजीत की बहन का किरदार ऐश्वर्या राय बच्चन कर रही है।  एक दूसरी बायोपिक मशहूर क्रिकेटर मोहम्मद अज़हरुद्दीन पर बनाई जा रही है।  टोनी डी सूज़ा निर्देशित फिल्म 'अज़हर' में अज़हरुद्दीन का किरदार इमरान हाशमी कर रहे हैं।   भारतीय हवाई जहाज का अपहरण कर कंधार ले जाने की १९८६ की घटना पर राम माधवानी की फिल्म 'नीरजा' में अभिनेत्री सोनम कपूर जहाज की एयर होस्टेस नीरजा भनोट का किरदार कर रही हैं, जिसे यात्रियों को बचाने के कारण आतंकवादियों ने मार डाला था ।
सीक्वल फ़िल्में - घायल की रिलीज़ के २५ साल बाद सनी देओल इसके सीक्वल 'घायल वन्स अगेन' का निर्देशन कर रहे हैं।  उनके साथ मुख्य भूमिका में सोहा अली खान हैं।  एकता कपूर की क्या कूल हैं हम सीरीज की तीसरी फिल्म 'क्या सुपर कूल हैं हम ३' इस बार एडल्ट कॉमेडी नहीं पोर्न कॉमेडी फिल्म बताई जा रही है।  प्रकाश झा की २००३ की हिट फिल्म 'गंगाजल' का लेडीज सीक्वल 'जय गंगाजल' में प्रियंका चोपड़ा पुलिस  अधिकारी की भूमिका में होंगी।  मस्ती और ग्रैंड मस्ती की तीसरी एडल्ट कॉमेडी फिल्म है 'ग्रेट  ग्रैंड मस्ती' ।  साजिद खान की हाउसफुल सीरीज की तीसरी फिल्म 'हाउसफुल ३' जून में रिलीज़ होगी।
उपरोक्त फिल्मों के अलावा ह्रितिक रोशन और आशुतोष गोवारिकर की जोड़ी 'मोहन जोदड़ो' लेकर आ रही है। सिंधु सभ्यता पर यह फिल्म १२ अगस्त को रिलीज़ हो सकती है।  अजय देवगन 'शिवाय' फिल्म के एक्टर- डायरेक्टर होंगे।  इस फिल्म से दिलीप कुमार की नातिन सयेशा सैगल का फिल्म डेब्यू हो रहा है।  रणबीर कपूर और कैटरीना कैफ की फिल्म 'जग्गा जासूस' और  टाइगर श्रॉफ की रेमो डीसूजा निर्देशित फिल्म 'फ्लाइंग जट्ट' सुपर पावर रखने वाले चरित्रों की कहानियाँ हैं।

हॉलीवुड २०१६ : छाये रहेंगे कॉमिक्स के सुपर हीरो

पिछले कुछ सालों से हॉलीवुड की आईमैक्स तकनीक से बनी फिल्मों को मिली ज़बरदस्त सफलता का असर यह हुआ है कि हॉलीवुड में आईमैक्स तकनीक से बनाई जा रही फिल्मों की संख्या बढ़ती जा रही है।  इसके साथ ही दुनिया के तमाम देशों में आईमैक्स सिनेमाघरों की संख्या भी बढ़ रही है।  इस साल रिलीज़ होने जा रही तमाम बड़ी फ़िल्में आईमैक्स तकनीक पर बनाई गई हैं। २०१६ में रिलीज़ होने वाली आईमैक्स फिल्मों में द फाइनेस्ट ऑवरस, डेडपूल, क्राउचिंग टाइगर हिडन ड्रैगन: सोर्ड ऑफ़ डेस्टिनी, द डिवेर्जेंट सीरीज : अलेजन्ट, बैटमैन वर्सेज सुपरमैन: डान ऑफ़ जस्टिस, द जंगल बुक, कैप्टेन अमेरिका: सिविल वॉर, एलिस थ्रू द लुकिंग ग्लास, वॉरक्राफ्ट, फाइंडिंग डॉरय, इंडिपेंडेंस डे: रेसर्जेन्स, द लीजेंड ऑफ़ टार्ज़न, नाइटस ऑफ़ द राउंडटेबल: किंग आर्थर, स्टार ट्रेक बियॉन्ड,  सुसाइड स्क्वॉड, डीपवाटर होराइजन, इन्फर्नो, डॉक्टर स्ट्रेंज, फैंटास्टिक बीस्ट्स एंड व्हेर तो फाइंड देम और रोग वन: अ स्टार वार्स स्टोरी के नाम उल्लेखनीय हैं।
सुपर हीरो फ़िल्में भी  
हॉलीवुड मे सुपर हीरो फिल्मों की भरमार होने जा रही है।  बताते हैं कि मार्वल स्टूडियोज और वार्नर ब्रदर्स के पास कॉमिक्स के सुपर हीरो करैक्टरस पर कहानियों का ज़खीरा है।  यह दोनों स्टूडियोज २०२० तक सुपर हीरो फ़िल्में बनाने लायक कहानी रखते हैं।  २०१६ में रिलीज़ होने वाली सुपर हीरो फिल्मों में एक्स- मेन फिल्मों के करैक्टर डेडपूल पर फिल्म 'डेडपूल', बैटमैन और सुपरमैन के टकराव को दिखाने वाली फिल्म 'बैटमैन वर्सेज सुपरमैन : डॉन ऑफ़ जस्टिस, कैप्टेन अमेरिका पर 'कैप्टेन अमेरिका: सिविल वॉर' , 'टीनएज म्युटेंट निंजा टर्टलस: आउट ऑफ़ द शैडोज', एक्स-मेन ट्राइलॉजी की दूसरी फिल्म 'गैम्बिट' तथा मार्वल कॉमिक्स के एक अन्य करैक्टर 'गैम्बिट' पर इसी टाइटल के साथ फिल्म 'गैम्बिट' के नाम शामिल हैं।
सीक्वल फिल्मो का साल !
हॉलीवुड के लिहाज़ से २०१६ को सीक्वल फिल्मों का साल कहा जा रहा है।  इस साल सुपर हीरोज फिल्मों के सीक्वल बनेंगे ही, हॉरर फिल्मों के सीक्वल भी देखने को मिलेंगे और डकैती का रोमांच भी।  कैप्टेन अमेरिका सीरीज की तीसरी फिल्म 'सिविल वॉर' अगले साल की गर्मियों में ६ मई को रिलीज़ होगी।  इस फिल्म में कैप्टेन अमेरिका और आयरन मैन अन्य सुपर हीरोज के साथ दो फाँट नज़र आएंगे। बैटमैन वर्सेज सुपरमैन : डॉन ऑफ़ जस्टिस इस लिहाज़ से सीक्वल फिल्म है कि इसमे बैटमैन और सुपरमैन अपने किरदारों के साथ एक दूसरे का मुक़ाबला कर रहे हैं।  यह फिल्म २५ मार्च को रिलीज़ होगी।  पिक्सर की फिल्म फाइंडिंग डोरी एक ३डी कंप्यूटर-एनिमेटेड कॉमेडी एडवेंचर फिल्म है।  यह फिल्म २००३ की हिट फिल्म फाइंडिंग निमो की सीक्वल फिल्म है।  यह फिल्म १७ जून को रिलीज़ होगी।  एक्स-मेन सीरीज की नवी फिल्म 'अपोकलीप्स' २७ मई को रिलीज़ होगी।  अमेरिकी-चाइनीज एक्शन कॉमेडी एनीमेशन सीरीज की तीसरी फिल्म है कुंग फु पांडा ३' । यह फिल्म २९ जनवरी को रिलीज़ होगी।  १० जून को २०१३ की डकैती फिल्म नाउ यू सी मी की सीक्वल नाउ यू सी मी २ रिलीज़ होगी।  १९९६ की डिजास्टर फिल्म 'इंडिपेंडेंस डे' का २० साल बाद सीक्वल 'इंडिपेंडेंस डे: रेसर्जेन्स'
 २४ जून २०१६ को  रिलीज़ होगा। इसी प्रकार से डिवर्जेंट सीरीज की तीसरी फिल्म 'अलेजन्ट'  १० मार्च को,
अलेजियंट', एक्स-मेन सीरीज की 'डेडपूल' १२ फरवरी को, २०१३ की कांजरिंग सीरीज की फिल्म 'द कांजरिंग २' जून में ही १० तारीख को,  जॉन विक (२०१४) की सीक्वल फिल्म 'जॉन विक २' ,  ऐलिस इन वंडरलैंड की सीक्वल फिल्म 'एलिस थ्रू द लुकिंग ग्लास',   टीनएज म्युटेंट निंजा टर्टलस २', आदि फ़िल्में रिलीज़ होंगी।
इसमे कोई शक नहीं कि हॉलीवुड फिल्मों का शौक़ीन दर्शक २०१६ की गर्मियों का इंतज़ार कर रहा है।  लेकिन, गर्मियों से पहले ही उसके मनोरंजन के लिए 'राइड अलोंग २' , 'द फिफ्थ वेव', 'जेन गॉट अ गन', 'द फाइनेस्ट ऑवरस' , 'कुंग फु पांडा ३', 'डेडपूल', 'जूलैंडर २', 'द अदर साइड ऑफ़ द डोर', 'लंदन हेज फालेन' 'ज़ूटोपिआ', 'द ब्रदर्स ग्रिम्सबी', 'अलेजेंट', आदि फ़िल्में मनोरंजन के लिए हाजिर होंगी।  यह फ़िल्में विषय वस्तु और तकनीकी उत्कृष्टता के कारण दुनिया के दर्शकों को आकर्षित कर पाएंगी।

द फिफ्थ वेव

लगातार बड़े होते खतरना एलियन के चार तरंगी आक्रमण से पृथ्वी का काफी हिस्सा बिलकुल ख़त्म हो चुका है।  पूरी दुनिया भय और अनिष्ट की आशंका से त्रस्त हो चली है।  ऐसे भय और अविश्वास के माहौल में कसिए सुलिवान अपने छोटे भाई सैमी को किसी तरह से बचाने के लिए भाग दौड़ कर रही है।  वह एलियन की पांचवी तरंग की तयारी कर रही है  कि छोटा भाई समय अपने एक युवा साथी इवान के साथ आ जाता है , कसिए की मदद को।  इस विज्ञानं फंतासी थ्रिलर फिल्म का निर्देशन जे ब्लैक्सोन कर रहे हैं।  कसिए की भूमिका में अभिनेत्री च्लोए ग्रेस मोरेट्ज़ हैं।  सैमी का किरदार ज़ैकरी आर्थर और अलेक्स रोए ईवान का किरदार कर रहे हैं।  यह फिल्म २२ जनवरी को सोनी और कोलंबिया पिक्चर्स द्वारा रिलीज़ की जा रही है।  

जॉन फवरेअउ के शेफ चुनौती होगा सैफ के लिए

अबुंडाटिया एंटरटेनमेंट, एरोस इंटरनेशनल और अलुम्ब्रा एंटरटेनमेंट की को-प्रोडक्शन फिल्म में बॉलीवुड एक्टर सैफ अली खान एक शेफ यानि रसोइये का किरदार कर रहे हैं।  यह फिल्म २०१४ की हॉलीवुड की एडवेंचर कॉमेडी ड्रामा फिल्म 'शेफ' का रीमेक है।  इस फिल्म में शेफ का किरदार करने वाले जॉन फवरेअउ ही फिल्म के निर्माता, लेखक और निर्देशक थे।  फवरेअउ बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं।  जथुरा अ स्पेस एडवेंचर, आयरन मैन और आयरन मैन २ के निर्देशक जॉन ही थे।  शेफ में उन्होंने एक बड़े रेस्टोरेंट के शेफ कैस्पेर का किरदार किया था।  वह अपने काम से समझौता नहीं करता है।  इसलिए उसे उस प्रतिष्ठित रेस्टोरेंट की नौकरी छोड़नी पड़ती है।  तब वह अपने दोस्त और बेटे के साथ फ़ूड ट्रक खोलता है और निकल पड़ता है लोगों को अपने भोजन का स्वाद चखाने।  इस फिल्म में जॉन का सपोर्ट रोबर्ट डाउनी जूनियर, सोफ़िया वेरगारा, जॉन लेगुइज़मो, स्कारलेट जोहानसन और डस्टिन हॉफमैन जैसे बड़े सितारे कर रहे थे।  'शेफ' को सराहना भी मिली थी और बॉक्स ऑफिस पर सफलता भी।  सैफ अली खान के लिए जॉन फवरेअउ का कैस्पेर का किरदार किसी चुनौती से कम नहीं होगा।  हालाँकि, सैफ को अपना किरदार निभाने के लिए किन्ही दूसरे लेखकों और निर्देशक का साथ मिलेगा।  अब देखने वाली बात होगी कि वह अपने शेफ को जॉन फवरेअउ के शेफ के कितने नज़दीक  ले जा पाते हैं।

Saturday, 26 December 2015

एक जनवरी को रिलीज़ होगी 'किलिंग वीरप्पन'

यह है रामगोपाल वर्मा की फिल्म 'किलिंग वीरप्पन' का ट्रेलर। कुख्यात चन्दन तस्कर वीरप्पन कभी तीन राज्यों कर्णाटक, तमिलनाडु और केरल की पुलिस का सिरदर्द था।  इस डाकू का इन तीनों राज्यों के छह हजार किलोमीटर वन क्षेत्र में एकछत्र राज्य था।  इसने ९०० हाथियों को मार डाला था।  इसके हाथों ९७ पुलिसवालों सहित १८४ लोग मारे गए थे।  रामगोपाल वर्मा अपनी फिल्म के ज़रिये बताते हैं कि जहाँ अमेरिका को ओसामा बिन लादेन को मारने में १० साल लग गए, वही भारतीय पुलिस को वीरप्पन को मार गिराने में बीस साल लग गए।  फिल्म में वीरप्पन का किरदार नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा के छात्र संदीप भारद्वाज कर रहे हैं। संदीप को वीरप्पन का रोल शक्लसूरत में एकरूपता के कारण मिला।   इस फिल्म की शूटिंग कन्नड़ में की जा रही है।  लेकिन, इस फिल्म को हिंदी, तमिल और तेलुगु में डब कर रिलीज़ किया जायेगा।  फिल्म १ जनवरी २०१६ को रिलीज़ होगी।  इस फिल्म के ट्रेलर की अमिताभ बच्चन ने भी प्रशंसा की है।  

दर्शकों से कुछ कहेंगी इनकी फ़िल्में !

नया साल शुरू होते ही बॉलीवुड फिल्म दर्शकों की निगाहें नए चेहरों पर लगी होंगी।  २०१५ में स्थापित अभिनेता अभिनेत्रियाँ दर्शकों को ख़ास प्रभावित नहीं कर सके हैं।  बासी कढी का उबाल अब बैठने को है।  ऐसे में नए चेहरों की पड़ताल करना ज़रूरी हो जाता है।  ऐसे कौन से चहरे होने जो बॉलीवुड में अपनी मौजूदगी दर्ज करा पाएंगे।  आइये जानते हैं इनके बारे में-
ओनिर की शब अर्पिता पाल
ओनिर की आगामी रोमांस ड्रामा फिल्म शब  ​में बांगला सुपरस्टार प्रसनजीत की पत्नी अर्पिता पाल फीमेल लीड होगी। इस फिल्म में अर्पिता के अलावा अभिनेत्री रवीना टंडन मुख्य भूमिका में हैं । ​दिलचस्प बात है  ओनिर प्रसनजीत को ​पटकथा सुनाने उनके घर कोलकाता गए थे , तब उनकी नजर प्रसनजीत की वाइफ अर्पिता पर गयी।  वह उनसे बहुत प्रभावित हुए। ​ओनिर ने जब फिल्म 'शब पर काम शुरू किया, तब उन्हें फिल्म में सोशलिस्ट के किरदार के लिए अर्पिता फिट लगीं। ओनिर ने अर्पिता को फिल्म की कहानी सुनाई, जो उन्हें बहुत पसंद आई। पर एक समस्या थी। किरदार के लिए उन्हें बाल कट करने थे और बॉय कट रखना था।  जबकि अर्पिता के बाल काफी लम्बे थे। ओनिर फिल्म को रियल रखना चाहते थे, इसलिए विग का इस्तेमाल नहीं करना चाहते थे। इसलिए, ओनिर ने अर्पिता  को इसके लिए मनाया और फिल्म शब में कास्ट किया।  ​ओनिर कहते है " जब मैंने अर्पिता देखा तो उनके सेंसुअस और  अच्छे लुक को देख प्रभावित हो गया। मुझे लगा कि वह इस रोल के लिए फिट है। मैं खुश हूँ कि वह फिल्म शब का हिस्सा है।"
अनिल कपूर का बेटा और उसकी मिर्ज़या 
राकेश ओमप्रकाश मेहरा इस साल दो नए चेहरों के साथ आने वाले हैं।  मेहरा की फिल्म 'मिर्ज़या' मिर्ज़ा ग़ालिब और साहिबान के इश्क़ पर आधुनिक रोमांस कहानी है।  फिल्म की पृष्ठभूमि राजस्थान की है।  इस फिल्म की रोमांटिक जोड़ी नया चेहरा नासिक की सैयमी खेर और अनिल कपूर का बेटा हर्षवर्द्धन की है।  सैयमी नासिक से हैं, लेकिन मुंबई से उनका गहरा रिश्ता है।  उन्होंने ग्रेजुएशन सेंट ज़ेवियर कॉलेज, मुंबई से किया है।  उनकी माँ उत्तरा मिस इंडिया और किंगफ़िशर कैलेंडर गर्ल रह चुकी हैं।  सैयमी पुराने ज़माने की अभिनेत्री उषा किरण की पोती हैं।  तन्वी आज़मी उनकी मौसी हैं।  तन्वी और शबाना आज़मी ने उनके करियर को संवारने में मदद की है। वह कई उत्पादों की मॉडल रही हैं।  फिल्म में उनके मिर्ज़ा अनिल कपूर के बेटे और सोनम कपूर के भाई हर्षवर्द्धन हैं।  हर्षवर्द्धन कपूर २३ साल के हैं। वह बॉम्बे वेल्वेट में अनुराग कश्यप के सहायक निर्देशक थे।  
कृष्णा और रूही का इश्क़ फॉरएवर 
निर्देशक समीर सिप्पी की फिल्म 'इश्क़ फॉरएवर' की चर्चा संगीतकार नदीम सैफी और एक्ट्रेस लिसा रे की हिंदी फिल्मों में वापसी के कारण हो रही है।  हालाँकि, इस फिल्म के लिए नदीम और लिसा का महत्व  है।  लेकिन, भूलना नहीं चाहिए कि इस रोमांटिक कॉमेडी फिल्म की कृष्णा चतुर्वेदी और रूही सिंह की रोमांटिक जोड़ी पर ही फिल्म का दारोमदार है।  रूही सिंह २०११ की मिस इंडिया प्रतियोगिता की प्रतिभागी है।  राजस्थान की रूही की पहली फिल्म मधुर भंडारकर की २०१५ में रिलीज़ 'कैलेंडर गर्ल्स' थी।  कैलेंडर गर्ल्स में रूही ने रोहतक की मयुरी चौहान का रोल दिया था। इश्क़ फॉरएवर में रूही सिंह के रोमांटिक जोड़ीदार कृष्णा चतुर्वेदी फैशन मॉडल है। वह एक फिल्म कर्नर टेबल में अभिनय भी कर चुके हैं।  
लातूर’ के गोविंदराव 
रितेश देशमुख के बाद अब एक और मराठी एक्टर गोविंदराव हिंदी फिल्मों में डेब्यू करने जा रहे हैं । गोविंदराव किसान परिवार से हैं. उनकी अभिनय में रूचि थी । इस लिहाज़ से उनका निर्देशक राजेश पटोले की हिंदी फिल्म स्लमडॉग करोडपतिका नायक चुना जाना बड़ी बात है। इस फिल्म में गोविंदराव का मुनिसिपल्टीका रोल एक्शन से भरा इंटरेस्टिंग है । गोविंदराव को एक्टिंग का पहला मौका २००८ में तेलुगु फिल्म द फोर्टकी नेगेटिव भूमिका से मिला । इसके बाद उन्होंने कुछ लघु फ़िल्में और टीवी के विज्ञापन किये । उनके दो अन्य प्रोजेक्ट पोस्ट-प्रोडक्शन की स्टेज पर हैं । स्लमडॉग करोडपति मिलने की कहानी बताते हुए गोविन्दराव कहते हैं, “जब मुझे मालूम हुआ कि निर्माता अरुण राज को एक फ्रेश चेहरे की ज़रुरत है तो मैंने ऑडिशन दिया और मैं इस सीधे सादे लडके की भूमिका के लिए चुन लिया गया, जो मुंबई के स्लम में रहता है।“ 
आनंद एल राय की फिल्म में विक्की कौशल 

निर्माता निर्देशक आनंद एल राय के होम प्रोडक्शन कलर यलो प्रोडक्सन्स के बैनर तले हाल ही में एक फिल्म का ऐलान हुआ है।  इस फिल्म के निर्देशक समीर शर्मा हैं ।  आनंद राय ने फिल्म दम लगा के हैशा की जोड़ी आयुष्मान खुराना और भूमी पेडणेकर को लीड में लिया है। सूत्रों की माने तो आनंद एल राय ने उनके इस फिल्म के लिए मसान ​फेम एक्टर विक्की कौशल को सेकंड लीड में लिया है। यह वही विक्की कौशल हैं, जिन्हें फिल्म मसान के लिए वाह-वाही मिल रही है।  उनकी "ज़ुबान" नाम की एक अन्य फिल्म भी आ रही है। 
बेचारे बीवी के मारे विक्रांत यादव 
निर्देशक सोम वत्स की फिल्म 'बेचारे बीवी के मारे' फिल्म है छः पतियों की, जो अपनी बीवियों के सताए हुए हैं। ऐसे सताए हुए छः पतियों में से एक पति विक्रांत यादव भी है। वह थिएटर आर्टिस्ट हैं।  उन्होंने पद्मिनी कोल्हापुरे के अभिनय स्कूल  ऑफ़ एक्टिंग से अभिनय का प्रशिक्षण लिया है।  बेचारे बीवी के मारे उनकी डेब्यू फिल्म है।  
लव शुदा गिरीश कुमार और नवनीत ढिल्लों
टिप्स की फिल्म 'लवशुदा' अभिनेता गिरीश कुमार की दूसरी फिल्म है। टिप्स के कुमार तौरानी के बेटे गिरीश की यह दूसरी फिल्म है।  पहली फिल्म 'रमैया वस्तावैया' में श्रुति हासन के साथ उन्होंने दर्शकों को आकर्षित क्या था।  अब दूसरी फिल्म से वह एक बार फिर बॉलीवुड में अपने पैर जमाने की कोशिश करेंगे।  लवशुदा में उनका साथ  मिस वर्ल्ड २०१३ की प्रतिभागी नवनीत ढिल्लों  दे रही हैं।  पटियाला पंजाब की नवनीत की यह पहली फिल्म है। रोमांटिक लवशुदा से इस रोमांटिक जोड़े का भविष्य जुड़ा हुआ है।


Friday, 25 December 2015

क्रिसमस वीकेंड पर चार फिल्मों से घिरी स्टार वार्स

हिन्दुस्तानी बॉक्स ऑफिस पर स्टार वार्स सीरीज का एपिसोड ७ बॉलीवुड की दो फिल्मों 'दिलवाले' और 'बाजीराव मस्तानी' को कड़ी चुनौती दे रही हैं।  वही, इस फिल्म को अपने घरेलु बाज़ार में चार फिल्मों से चुनौती मिलने जा रही है।  पूरे एक हफ्ते तक बॉक्स ऑफिस के तमाम रिकॉर्ड तोड़ने के बाद स्टार वार्स ७ को थोडा ठिठकना होगा।  द फाॅर्स अवकेंस कलेक्शन के मामले में अवतार से ही थोडा पीछे है।  लेकिन, काफी कुछ निर्भर करेगा दूसरे वीकेंड पर।  चूंकि, यह कमाई वाला क्रिसमस वीकेंड है, इसलिए हॉलीवुड की चार फ़िल्में बड़ी रिलीज़ के साथ स्टार वार्स एपिसोड ७ को पीछे धकेलने के लिए आमादा है।  यह फिल्म २८०० से अधिक प्रिंट्स में रिलीज़ हो रही हैं।  सीन एंडर्स की कॉमेडी फिल्म 'डैडीज होम' सबसे ज्यादा ३,२७१ स्क्रीन पर रिलीज़ हो रही है।  इस फिल्म में विल फरेल, मार्क वह्ल्बर्ग, लिंडा कार्देलिनी और थॉमस हडेन चर्च मुख्य भूमिका में हैं।  विल फरेल और मार्क वह्ल्बर्ग, २०१० की एक्शन कॉमेडी 'द अदर गाइस' के बाद दूसरी बार साथ आ रहे हैं।  यह फिल्म कहानी है रेडियो एग्जीक्यूटिव ब्रैड की, जो अपनी बीवी से दो सौतेले बच्चों से तालमेल बैठाने की कोशिश में है।  करेले पर नीम तब चढ़ता है, जब उसकी बीवी का पहला पति चुनौती बन कर आ खड़ा होता है।  इन तीनों भूमिकाओं को विल फरेल, लिंडा कार्देलिनी और मार्क वह्ल्बर्ग ने किया है। डैडी'ज होम ९६ मिनट लम्बी है।  दूसरी फिल्म डेविड ओ रसेल निर्देशित जॉय २८९६ प्रिंट्स में रिलीज़ हो रही है।  यह फिल्म एक बिज़नेसवुमन जॉय माँगनो की कहानी है, जो अपने बल पर अपना बिज़नेस एम्पियर मिरेकल मैप खड़ा करती है।  अभिनेत्री जेनिफर लॉरेंस जॉय की भूमिका कर रहे हैं। फिल्म मे ब्रेडले कूपर, रॉबर्ट डिनिरो, वर्जिनिया माड़सेन, एडगर रामिऱेज और इसाबेला रोसेलिनी सह भूमिकाओं में हैं।  यह फिल्म १२४ मिनट लम्बी है। तीसरी फिल्म निर्देशक पीटर लंडसमैन की 'ककशन' है।  यह बायोग्राफिकल स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म २८४१ प्रिंट्स में रिलीज़ हो रही है। नेशनल फुटबॉल लीग एक फॉरेंसिक पथालॉजिस्ट बेनेट ओमालु  की उस रिपोर्ट को दबाने की कोशिश कर रहा है, जिसका निष्कर्ष है कि पेशेवर फुटबॉल खिलाडियों के दिमाग को मैदान में लगी चोटों से नुक्सान पहुंचता है।  बेनेट अपनी रिपोर्ट को अंजाम तक पहुंचाने के लिए संघर्ष करता है।  इस १२३ मिनट लम्बी फिल्म में विल स्मिथ ने फॉरेंसिक पथालॉजिस्ट का किरदार किया है।  उनके सपोर्टिंग रोल में एलेक बाल्डविन, गुगु मबाथा-रॉ और ल्यूक विल्सन हैं।  इस फिल्म के प्रोडूसर रिडले स्कॉट हैं।  निर्देशक एरिक्सन कोर की फिल्म 'पॉइंट ब्रेक' २९१० प्रिंट्स में रिलीज़ हो रही है।  ११३ मिनट लम्बी पॉइंट ब्रेक १९९१ में इसी टाइटल के साथ रिलीज पैट्रिक स्वेज़ और कीअनु रीव्स की फिल्म का रीमेक है। एफबीआई एजेंट जॉनी उटा पेशेवर अपराधियों का पता लगाने के लिए एथलीट्स के ग्रुुप में अंडरकवर बन कर जाता है।  इस फिल्म में ल्यूक ब्रेसी (जॉनी उटा),डेलरॉय लिंडो (एफबीआई इंस्ट्रक्टर), टेरेसा पामर (संसारा), एडगर रमिरेज़ (बोधि) और रे विंस्टन (एंजेलो पप्पास) के किरदार में है।




अब 'बाजीराव-मस्तानी' के पीछे 'दिलवाले'

निर्देशक संजय लीला भंसाली की रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा की मुख्य भूमिका वाली फिल्म 'बाजीराव मस्तानी' और निर्देशक रोहित शेट्टी की शाहरुख़ खान, काजोल, वरुण धवन और कीर्ति सेनन की मुख्य भूमिका वाली फिल्म 'दिलवाले' एक ही दिन १८ दिसंबर को रिलीज़ हुई।  पहले दिन ही खान की फिल्म ने लम्बी छलांग लगी।  फर्स्ट डे कलेक्शन के लिहाज़ से दिलवाले और बाजीराव मस्तानी के बीच ८ करोड़ का फर्क था।  लेकिन, इसके साथ ही दिलवाले का कलेक्शन गिरना शुरू हुआ।  फिल्म की रिलीज़ के सातवे दिन ७.२० करोड़ का फर्क ४ करोड़ रह गया।  देखिये तुलनात्मक चार्ट -
  दिन                         दिलवाले                                   बाजीराव मस्तानी
शुक्रवार                     २० करोड़                                        १२.८० करोड़
शनिवार                   १८ करोड़                                       १५.५० करोड़
रविवार                    २१.५० करोड़                                  १८.४५ करोड़
 सोमवार                  ०९ करोड़                                       १०.२५ करोड़
 मंगलवार                ०७.७५ करोड़                                  ०९.५० करोड़
 बुद्धवार                   ०७.५० करोड़                                  ०९.२५ करोड़
 गुरुवार                   ०६.५० करोड़                                  १०.५० करोड़  
 कुल ७ दिन              ९०.२५ करोड़                                  ८६.२५ करोड़


Thursday, 24 December 2015

रहस्यमय सौंदर्य की साधना !

यह वाक़या १९६० का है।  निर्माता शशधर मुख़र्जी की फिल्म 'लव इन शिमला' रिलीज़ हुई थी।  इस फिल्म से दो नए चेहरे  लांच हो रहे थे। फिल्म के हीरो जॉय मुख़र्जी, शशधर  मुख़र्जी के बेटे थे।  फिल्म की नायिका साधना एक छोटे एक्टर हरी शिवदासानी की भतीजी थीं।  फिल्म के निर्देशक आर के नय्यर की भी यह पहली फिल्म थी।  यह फिल्म कहानी थी एक मोटा चश्मा पहनने वाली अनाथ लड़की की।  उस बदसूरत लड़की को कोई प्यार नहीं करता था ।  तब उसकी दादी उसे खूबसूरत बनाती है।  इस फिल्म से अविभाजित  भारत के सिंध प्रान्त में २ सितम्बर १९४१ को एक सिंधी परिवार में पैदा अभिनेत्री का आगमन हुआ था।  अपनी पहली ही फिल्म से साधना ने बॉलीवुड में तहलका मचा दिया था।  आर के नय्यर ने उन्हें ऑड्रे हेपबर्न की तर्ज़ पर बालों को सेट किया था।  हिंदुस्तान में यह सेटिंग 'साधना कट' बाल के नाम से मशहूर हुए।  साधना रातों रात स्टार बन गयीं। लव इन शिमला श्वेत श्याम फिल्म थी।  १९६१ में रिलीज़ शम्मी कपूर और सायरा बानो की फिल्म जंगली ने हिंदी फिल्मों में रंग स्थाई कर दिए।  जंगली के निर्माता और निर्देशक शशधर मुख़र्जी के भाई सुबोध मुख़र्जी थे। लेकिन, साधना ने लव इन शिमला के बाद रिलीज़ श्वेत श्याम
फिल्मों हम दोनों, प्रेम पत्र, मनमौजी, एक मुसाफिर एक हसीना और असली नक़ली से अपने हुस्न का वह
जलवा बिखेरा कि  यह शोख हीरोइन दर्शकों के दिलों में समां गयी।  साधना की पहली रंगीन फिल्म एच एस रवैल की 'मेरे मेहबूब' ने तो साधना की शोखियों को गहरा कर दिया था। इसके बाद साधना ने राजकुमार, वक़्त, आरज़ू, मेरा साया, अनीता, सच्चाई, इन्तेक़ाम, एक फूल दो माली, आप आये  बहार आयी, आदि फिल्मों से जुबलियों की भरमार कर दी। साधना के सन्दर्भ में दिलचस्प तथ्य यह था कि  सुपर हिट फिल्म जंगली से अपने करियर की हिट शुरुआत करने वाली सायरा  बानो की अगली फिल्म शादी श्वेत श्याम थी।  शादी बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से असफल हुई।  अपनी इस असफलता से सायरा बानो कुछ इतना हड़बड़ाई कि  उन्होंने फिर कभी कोई श्वेत श्याम फिल्म न करने की कसम खा ली।   लेकिन, दूसरी ओर, जब साधना एक के बाद एक रंगीन हिट फ़िल्में दे रही थीं, उनकी एक बाद एक तीन फ़िल्में वह कौन थी, पिकनिक और दूल्हा दुल्हन श्वेत श्याम में रिलीज़ हुई।  वह कौन थी एक बड़ी सफल फिल्म थी।
साधना, जितनी सुन्दर थीं, उनका चेहरा उतना ही रहस्यमय भी था। इसीलिए, साधना वह कौन थी, अनीता, मेरा साया, आदि रहस्य फिल्मों को सफल बनाने में कामयाब हो पायीं। साधना के सफलता के दौर में आशा पारेख और सायरा बानो की फ़िल्में भी हिट हो रही थीं।  लेकिन, साधना ने जो मुक़ाम बनाया, उससे उन्हें कोई अभिनेत्री हटा नहीं पायीं।  उनकी दर्शकों पर पकड़ का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि उन्होंने १९६६ में अपनी पहली फिल्म के डायरेक्टर आर के नय्यर से शादी कर ली थी, इसके बावजूद उनकी शादी के बाद रिलीज़ अनीता, एक फूल दो माली, इन्तेक़ाम और आप आये बहार आई जैसी फ़िल्में सुपर हिट हुई।  उन्हें १९६३ से १९६७ के दौरान सबसे ज़्यादा पारिश्रमिक पाने वाली टॉप की अभिनेत्री वैजयंतीमाला के बराबर पारिश्रमिक मिला करता था। १९६१-६२ में उन्हें नंदा के बराबर दूसरा सबसे ज़्यादा पारिश्रमिक मिलता था। १९६९ से १९७३ तक वह पारिश्रमिक के  लिहाज़ से तीसरे नंबर की अभिनेत्री थीं। साधना को फैशन आइकॉन कहना ठीक होगा।  वह एक ऐसी अभिनेत्री थी, जिसने साधना कट बालों का फैशन चलाने के बाद फिल्म वक़्त में चूड़ीदार और कुरता पहन कर युवा लड़कियों में इसका क्रेज पैदा कर दिया।
साधना ने १९७४ में फिल्मों में अभिनय बंद कर दिया था। उनकी एक रुकी हुई फिल्म 'उल्फत की नयी मंज़िलें' २० साल बाद १९९४ में रिलीज़ हुई थी।   चूंकि,इस फिल्म में साधना का काम पूरा नहीं हुआ था, इसलिए एक बॉडी डबल की मदद से फिल्म पूरी करवाई गयी।  साधना की एक अन्य फिल्म गुरु दत्त के साथ पिकनिक गुरु दत्त की मृत्यु की वजह से अधूरी रह गयी। राज खोसला के निर्देशन में देव आनंद के साथ साधना की फिल्म 'साजन की गलियां' भी अधूरी रह गयी।
साधना ने अपने समय के सभी बड़े अभिनेताओं के साथ फ़िल्में की।  सभी कपूर भाइयों की नायिका बनी।  शशि कपूर के साथ प्रेम पत्र करने के बाद साधना ने शम्मी कपूर के साथ राजकुमार और राजकपूर के साथ दूल्हा दुल्हन में काम किया था। वह एक फूल दो माली और इन्तेक़ाम में संजय खान की नायिका बनी तो गीता मेरा नाम में संजय खान के भाई फ़िरोज़ खान उनके हीरो थे।
साधना ने हिंदी फिल्म 'लव इन शिमला' से पहले एक सिंधी फिल्म 'अबाना' में सेकंड लीड की थी।  इस फिल्म में वह शीला रामानी की बहन की भूमिका में थीं। शीला रामानी उस समय की बड़ी एक्ट्रेस में शुमार की जाती थीं।  इसलिए  साधना ने उनसे ऑटोग्राफ की मांग की।  तब, साधना के लिए ऑटोग्राफ साइन करते समय शीला रामानी ने कहा, "एक दिन मैं तुमसे तुम्हारा ऑटोग्राफ मांगूंगी।" इसमे कोई शक नहीं कि  शीला रामानी ने भविष्य की स्टार को पहचान लिया था।
कोई दो दशक तक हिंदी फिल्म दर्शकों के दिलों में एकछत्र राज करने वाली शोख हसीना साधना का लम्बे समय से कैंसर की बीमारी से जूझने के बाद आज (२५ दिसंबर को) निधन हो गया।  उन्हें श्रद्धांजलि।

Wednesday, 23 December 2015

दीपिका पादुकोण नहीं होंगी २०१६ में लेकिन_____!

२०१५ में दीपिका पादुकोण तीन फिल्मों 'पीकू', 'तमाशा' और 'बाजीराव मस्तानी' में नज़र आई थी।  तमाशा औसत गई। बाकि दोनों  फिल्मों को सफलता मिली।  कैसा इत्तेफ़ाक़ है कि पहली हिंदी फिल्म 'ओम शांति ओम' के बाद से लगातार हर साल कम से कम एक हिट फिल्म देती आ रही  दीपिका पादुकोण की २०१६  में एक भी फिल्म रिलीज़ नहीं होगी।  लेकिन, 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' की कंगना रनौत होगी और लंच बॉक्स की निमृत कौर भी।  कुछ नई और वरिष्ठ अभिनेत्रियां भी अपने अभिनय के जौहर दिखा रही होंगी। 
निर्देशक जयंत गिल्टार की फिल्म चॉक एन डस्टर आज की शिक्षा व्यवस्था में छात्र-अध्यापक संबंधों को लेकर है।  यह कहानी है दो शिक्षिकाओं विद्या और ज्योति की, जो मुंबई के एक हाई स्कूल में पढ़ाती है। शिक्षा के प्रति उनका समर्पण उन्हें छात्रों में ख़ास बना देता है।  लेकिन उनके जीवन में मोड़  आता है स्कूल में एक दुष्ट टीचर कामिनी गुप्ता के बाद।  फिल्म में यह भूमिकाएं शबाना आज़मी, जूही चावला और दिव्या दत्ता ने की हैं। इनके आलावा ऋचा चड्ढा और ज़रीना वहाब की भी सशक्त भूमिकाये हैं। यह महिला प्रधान फिल्म जनवरी में रिलीज़ होगी।  इसके साथ ही दर्शकों को कम बजट की नायिका प्रधान या महिलाओ की समस्या पर फिल्मों का सिलसिला शुरू हो जायेगा। 
इस साल रिलीज़ होने वाली रियल लाइफ फ़िल्में बॉलीवुड अभिनेत्रियों को अभिनय के मौके देंगी।  मसलन, राम माधवानी की फिल्म 'नीरजा' में  सोनम कपूर को १९८६ के भारत के विमान अपहरण के दौरान यात्रियों को बचाने के प्रयास में आतंकवादियों की गोलियों से मारी गई एयर होस्टेस नीरजा भनोट की भूमिका में अभिनय के कई रंग दिखाने के मौके मिलेंगे।  ओमंग कुमार की फिल्म 'सरबजीत' पाकिस्तान की जेल में मारे गए भारतीय कैदी सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर के अपने भाई को छुड़ाने के लिए किये गए संघर्ष की कहानी है।  दलबीर कौर की  भूमिका में ऐश्वर्या राय बच्चन को 'जज़्बा' के बाद एक बार फिर सशक्त भूमिका मिली है।  चार्ल्स डिकेन्स के उपन्यास ग्रेट एक्सपेक्टेशन पर अभिषेक कपूर की फिल्म 'फितूर' एक उम्रदराज़ अमीर और चिड़चिड़ी औरत बेगम के किरदार के चारों और घूमने वाली रोमांटिक कहानी है।  बेगम की भूमिका तब्बू कर रही हैं। प्रकाश झा के निर्देशन में अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा फिल्म 'जय गंगाजल' में एक महिला पुलिस अधिकारी आभा माथुर के किरदार में एक्शन भी करेंगी और बढ़िया अभिनय भी।  यह पूरी फिल्म उनके किरदार पर ही केंद्रित है।  
बॉलीवुड की कुछ अभिनेत्रियां अपनी सेक्स अपील से दर्शकों को इरोटिक या एडल्ट कॉमेडी फिल्मों के ज़रिये आकर्षित करने की कोशिश करेंगी।  इन फिल्मों में पुरुष किरदार होंगे, लेकिन सभी इन अभिनेत्रियों की इरोटिका से प्रभावित होंगे।  एकता कपूर की क्या कूल हैं हम सीरीज की तीसरी फिल्म क्या कूल हैं हम ३ की मंदना करीमी का किरदार तुषार और आफताब शिवदासानी के साथ कमोबेश पोर्न किरदार कर रही होंगी। मस्तीज़ादे की सनी लियॉन परंपरागत रूप से तुषार और वीर दास के साथ एडल्ट कॉमेडी कर  रही होंगी। इंद्र कुमार की एडल्ट कॉमेडी फिल्म 'मस्ती' और 'ग्रैंड मस्ती' के आगे की कड़ी है ग्रेट ग्रैंड मस्ती।  इस फिल्म की कहानी पिछली फिल्मों से आगे की कहानी नहीं, बल्कि बिलकुल नई कहानी है।   लेकिन,इन्द्र कुमार की स्टाइल में फिट अभिनेताओं विवेक ओबेरॉय, आफताब शिवदासानी और रितेश देशमुख के साथ ग्रेट ग्रैंड मस्ती करती नज़र आएंगी उर्वशी रौतेला और इन अभिनेताओं की पत्नियों के किरदार में मिष्टी, सोनल चौहान और पूजा चोपड़ा हैं।  श्रद्धा दास और पूजा बनर्जी भी अपना ग्लैमर बिखेर रही होंगी। केन घोष की इरोटिक ड्रामा फिल्म एक्सएक्सएक्स में कीरा दत्ता के कई न्यूड और उत्तेजक सेक्स सीन होंगे।  इस फिल्म के लिए निर्माता एकता कपूर ने अपनी अभिनेत्री कीरा दत्ता से न्यूड क्लॉज़ साइन करवाया है।  इस फिल्म में पांच कहानियाँ हैं, जो भिन्न सेक्सुअल लाइफ का चित्रण करती हैं।  हिंदी फिल्मों का इतिहास गवाह है कि यहाँ सेक्स बिकता है।  चाहे यह इरोटिका या सेक्स अपील मंदना करीमी की हो या उर्वशी रौतेला की या फिर कीरा दत्ता की।  
कम बजट की फिल्मों में भी महिला चरित्र मज़बूत दिखाई देंगे।  शेफाली भूषण की फिल्म 'जुगनी' एक फिल्म संगीतकार की कहानी है, जो अपने संगीत के लिए उपयुक्त आवाज़ ढूढने में रिश्तों की गहरी  उलझन में फंस जाती है।  सुगंधा गर्ग ने इस भूमिका को किया है।  राकेश ओमप्रकाश मेहरा की फिल्म 'मिर्ज़या' शायर मिर्ज़ा ग़ालिब और साहिबां के इश्क़ की दास्ताँ है।  इस फिल्म में साहिबां का किरदार नवोदित अभिनेत्री सैयमी खेर कर रहे हैं।
कुछ ऎसी फ़िल्में भी होंगी, जो होंगी तो नायक की ताक़त पर केंद्रित होंगी। लेकिन, इन फिल्मों में भी नायिका अपने नायक को पूरा सहयोग करती नज़र आयेगी।  अक्षय कुमार फिल्म 'एयरलिफ्ट' में एक लाख से  ज़्यादा भारतीयों को कुवैत से बाहर निकालने में भारत सरकार की मदद करने  वाले कुवैती बिजनेसमैन बने हैं।  फिल्म में अक्षय की पत्नी बनी अभिनेत्री निमृत ' लंच बॉक्स' कौर उनसे कंधे से कंधा मिलती दिखाई देंगी ।  आर माधवन फिल्म 'साला खडूस' में एक हताश बॉक्सिंग ट्रेनर की भूमिका कर रहे हैं, जो खुद को साबित करने के लिए एक अलमस्त लड़की को बॉक्सिंग सिखाता है। इस भूमिका को नवोदित रीतिका सिंह कर रही हैं। टोनी डिसूज़ा की क्रिकेट कैप्टेन मोहम्मद अज़हरुद्दीन की कथा पर फिल्म 'अज़हर' में भारतीय कप्तान का किरदार इमरान हाशमी कर रहे हैं।  लेकिनफिल्म में अज़हर की पहली पत्नी नौरीन के किरदार में प्राची देसाई और दूसरी पत्नी संगीता बिजलानी के किरदार में नर्गिस फाखरी के बेहतरीन इमोशनल सीन हैं।  पंजाब की पृष्ठभूमि पर अभिषेक चौबे की फिल्म 'उड़ता पंजाब' के केंद्र में नशा है।  इस फिल्म में करीना कपूर और अलिया भट्ट के किरदार इन दोनों अभिनेत्रियों की अभिनय  की रेंज की परीक्षा लेंगे।  कंगना रनौत इस साल भी विशाल भारद्वाज की फिल्म 'रंगून' में अपने अभिनय के जलवे बिखेरती नज़र आएंगी।  इस देसी कासाब्लांका फिल्म में शाहिद कपूर और सैफ अली खान के साथ कंगना रनौत का किरदार हंटरवाली टाइप का बताया जा रहा है। करण जौहर की फिल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' में रणबीर कपूर के साथ दो पाकिस्तानी अभिनेता इमरान अब्बास और फवाद खान को लिया गया है।  लेकिन, इस रोमांटिक ड्रामा फिल्म में ऐश्वर्या राय  बच्चन और अनुष्का शर्मा के किरदार काफी अहम है। यों कहा जाये कि कहानी इन्हीं दोनों किरदारों से शुरू और ख़त्म होती है। 

ज़ाहिर है कि २०१६ की हिंदी फिल्मों में कुछ सशक्त महिला किरदार देखने को मिलेंगे।  इन किरदारों को करने वाली अभिनेत्रियों के लिए प्रतिभा प्रदर्शन के भरपूर अवसर हैं।  इनसे अलग एक पूर्व फिल्म अभिनेत्री दिव्या खोसला कुमार निर्देशक की कुर्सी पर दूसरी बार बैठी नज़र आएंगी।  दिव्या खोसला इस साल बतौर निर्देशक अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन फिल्म 'सनम रेसे करेंगी।  दिव्या की बतौर निर्देशक पहली फिल्म 'यारियां हिट हुई थी।  

फिर स्टार वार्स का स्पेस ओपेरा

इस शुक्रवार (२५ दिसम्बर को) रिलीज़ होने जा रही फिल्म ‘स्टार वार्स: द फ़ोर्स अवकेंस’ अमेरिकन स्पेस ओपेरा स्टार वार्स सीरीज की सातवी फिल्म है। इस सीरीज की पहले फिल्म स्टार वार्स १९७७ में रिलीज़ हुई थी। लेखक डायरेक्टर जॉर्ज लुकास ने इस फिल्म को कई बार कुछ कुछ बदलाव के साथ रिलीज़ किया। इस फिल्म को मिली भारी सफलता को देखते हुए फिल्म के दो सीक्वल १९८० और १९८३ में बनाये गए।  इन दोनों फिल्मों को समीक्षकों ने भी सराहा और बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छी सफलता मिली।  इसके बाद १९९९ से २००५ के बीच स्टार वार्स सीरीज की तीन प्रीक्वेल फ़िल्में बनाई गई।  इन तीनों फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर अच्छी सफलता मिली।  लेकिन, समीक्षकों द्वारा ज़्यादा नहीं सराही गई।  अब २५ दिसंबर को स्टार वार्स सीरीज की छहों फिल्मों की स्टार कास्ट के साथ सातवी फिल्म रिलीज़ होने जा रही है।  आइये जानते हैं स्टार वार्स सीरीज की सातों फिल्मों के बारे में - 
स्टार वार्स १९७७ (स्टार वार्स, एपिसोड ४ अ न्यू होप)- ल्यूक स्काईवॉकर को ब्रह्माण्ड को एम्पायर के हमले से बचाने के लिए योद्धा जेडाई, बददिमाग पायलट, एक वूकी और दो ड्रॉइडस को साथ लेकर युद्ध में शामिल होना पड़ता है।  एम्पायर दुनिया को बर्बाद करने के लिए बनाया गया युद्ध स्टेशन है।  ल्यूक को राजकुमारी लिया को डार्थ वाडर से भी बचाना है। इस फिल्म का निर्देशन और लेखन जॉर्ज लुकास ने किया था। इस एपिसोड में मार्क हैमिल, हैरिसन फोर्ड, कर्री फिशर, पीटर कशिंग, एलेक गिनेस, आदि ने अभिनय किया था।  २५ मई १९७७ को रिलीज़ स्टार वार्स सीरीज की पहली फिल्म के निर्माण में ११ मिलियन डॉलर खर्च हुए थे और फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर ७७५ मिलियन डॉलर से अधिक का बिज़नेस किया था। इस एपिसोड को कई बार पुनः सम्पादित कर, संवादों को बदल कर, साउंड ट्रैक रीमिक्स कर और कंप्यूटर ग्राफ़िक बदलाव करके रिलीज़ किया गया था।  
स्टार वार्स एपिसोड ५: द एम्पायर स्ट्राइक्स बैक- इस दूसरी फिल्म में जॉर्ज लुकास कहानी लेखक और कार्यकारी निर्माता के बतौर थे। २१ मई १९८० को रिलीज़ इस फिल्म का निर्देशन इरविन कर्श्नर ने किया था। इस फिल्म में मार्क हैमिल, हैरिसन फोर्ड और कर्री फिशर के बील्ली डी विलियम्स, अन्थोनी दनिएल्स, डेविड प्रोसे, केनी बेकर, पीटर मेहू और फ्रैंक ओज ने अभिनय किया था। यह फिल्म डेथ स्टार के खात्मे के तीन साल बाद की कहानी थी। एम्पायर ने अपने नए अड्डे में अपने विरोधियो को बुरी तरह से कुचल कर अपना साम्राज्य स्थापित कर लिया है।  अब वह फिर दुनिया के लिए खतरा बन कर उभर रहा है।  ल्यूक मास्टर योड़ा के साथ जेडाई से एडवांस ट्रेनिंग लेता है।  उधर डार्थ वाडर ल्यूक के दोस्तों को उसे गिरफ्तार करने के लिया मनाता है। पांचवे एपिसोड को १८ मिलियन डॉलर के बजट पर बनाया गया था और फिल्म ने ५३४ मिलियन डॉलर का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किया था।  
स्टार वार्स एपिसोड ६ : रिटर्न ऑफ़ जेडाई- यह स्टार वॉर सीरीज का छटा एपिसोड था, जो २५ मई १९८३ को रिलीज़ हुआ।  फिल्म का निर्माण ३२ मिलियन डॉलर से अधिक के बजट से हुआ था। फिल्म ने वर्ल्डवाइड ५७२ मिलियन डॉलर से ज़्यादा का बिज़नेस किया। इस एपिसोड का निर्देशन रिचर्ड मार्क्वान्ड ने किया था। जब्बा द हट के महल से हान सोलो को छुड़ाने के बाद विद्रोही दूसरे स्टार को ख़त्म करने की कोशिश करते हैं।  जबकि ल्यूक वाडर को फ़ोर्स की बुराइयों से बचाना चाहता है।  
स्टार वार्स एपिसोड १ : द फैंटम मेनेस- स्टार वार्स सीरीज की प्रीक्वेल ट्राइलॉजी का यह पहला एपिसोड था, जो १९ मई १९९९ को रिलीज़ हुआ । इस फिल्म के निर्देशन की कमान एक बार फिर जॉर्ज लुकास के हाथों में थी। इस प्रीक्वेल फिल्म की कास्ट में भारी बदलाव स्वाभाविक था।  लियम नीसन, एवन मैकग्रेगर, नताली पोर्टमैन, जेक लॉयड, जेक लॉयड, अन्थोनी डेनियल्स, आदि मुख्य भूमिकाओं में थे।  दो जेडाई योद्धा शत्रुओं की नाकाबंदी से बच निकलते हैं।  उन्हें एक लड़का मिलता है जो फ़ोर्स में संतुलन ला सकता है।  उधर सिथ अपनी पुरानी प्रतिष्ठा पाने की कोशिश कर रहा है। स्टार वार्स के इस पहले प्रीक्वेल को ज़बरदस्त सफलता हासिल हुई। फिल्म के निर्माण में ११५ मिलियन डॉलर खर्च हुए थे और फिल्म ने १.०२७ बिलियन डॉलर का बिज़नेस किया था।  
स्टार वार्स एपिसोड २: अटैक ऑफ़ द क्लोन्स १६ मई २००२ को रिलीज़ हुई। फिल्म का निर्माण ११५ मिलियन डॉलर से हुआ था।  फिल्म ने ६४९ मिलियन डॉलर का बिज़नेस किया। निर्देशक जॉर्ज लुकास ही थे। अनाकिन स्काईवॉकर का पद्मे से रोमांस चल रहा है।  जबकि, ओबी-वान को जांच में पता चलता है कि सीनेटर पर हमला होने वाला है। 
स्टार वार्स एपिसोड ३: रिवेंज ऑफ़ द सिथ- इस तीसरे प्रीक्वेल के निर्देशक जॉर्ज लुकास ही थे। फिल्म के निर्माण में ११३ मिलियन डॉलर खर्च हुए थे। जबकि, बॉक्स ऑफिस पर ८४८.८ मिलियन डॉलर का कलेक्शन हुआ था। १५ मई २००५ को रिलीज़ फिल्म की कहानी क्लोन वार्स के तीन साल बाद की थी। जेडाई योद्धा सेपरेटिस्ट्स के विरुद्ध सेना के गठन के लिए पूरी गैलेक्सी में फ़ैल जाते हैं।
स्टार वार्स सीरीज की फिल्मों की खासियत यह थी कि इनमे समय के साथ परिवर्तन किये गए और नई चीज़े शामिल की गई।  स्टार वार्स ट्राइलॉजी के बाद जब इस के प्रीक्वेल बनाने की शुरुआत की गई तब इन फिल्मों एपिसोड में दर्शाया गया।  चूंकि, प्रीक्वेल फिल्मों में पहले की घटनाओं का चित्रण होता है, इसलिए बाद में बनी तीन प्रीक्वेल फिल्मों को एपिसोड १, २ और ३ कहा गया और पहले की फिल्मों को चार से छह एपिसोड कहा गया।  
अब स्टार वार्स सीरीज की नई सीक्वल ट्राइलॉजी सीक्वल और प्रीक्वेल फिल्मों की कास्ट को शामिल कर बनाई जा रही है। फिल्म 'स्टार वार्स एपिसोड ७ : द फ़ोर्स अवकेंस' का निर्देशन जे जे अब्राम्स कर रहे हैं। इस फिल्म का निर्माण लुकास फिल्म्स और जे जे अब्राम्स के बैड रोबोट प्रोडक्शंस द्वारा किया जा रहा है। फिल्म की कहानी दूसरे डेथ स्टार के खात्मे के तीस साल बाद शुरू होगी। अब  ल्यूक स्काईवॉकर और जेडाई अदृश्य हो गए है। गैलेक्टिक एम्पायर के अवशेषों से फर्स्ट आर्डर का जन्म होता है, जो ल्यूक और रिपब्लिक के खात्मे का संकल्प लेते हैं । फिल्म के तमाम सितारे अपनी पुरानी भूमिकाओं में हैं।  मसलन, हैरिसन फोर्ड (हान सोलो), मार्क हैमिल  (ल्यूक स्काईवॉकर), कर्री फिशर (जनरल लिया  ओर्गाना), आदम ड्राइवर (कीलो रेन), डेज़ी रिडले (रे), जॉन बोयेगा (फिन), ऑस्कर इसाक (पोए डमेरोन), लुपिता न्योंग (मेज़ कनॉट), एंडी सर्किस (सुप्रीम लीडर स्नोके), डोमहनल ग्लीसन (जनरल हुक्स), अन्थोनी डेनियल्स (सी-३पीओ), पीटर मेहू (चिउबैका) और मैक्स वॉन सीडो (लॉर सान टेक्का) के किरदार में हैं। भारत और पाकिस्तान में स्टार वार्स एपिसोड ७ इस हफ्ते रिलीज़ हो रही है।  लेकिन, दुनिया के अन्य देशों में यह १८ दिसंबर को रिलीज़ हो चुकी है।  कुल २०० मिलियन डॉलर के बजट में बनाई गई द फ़ोर्स अवकेंस अब तक ५१७ मिलियन डॉलर से ज़्यादा का बिज़नेस कर चुकी है। फिल्म  की लम्बाई १३६ मिनट की है। 

Tuesday, 22 December 2015

स्पेस पर युद्ध करते किरदारों की बॉलीवुड सितारों को चुनौती !

इंडियन बॉक्स ऑफिस पर इस साल की आखिरी रिलीज़ फिल्म कोई हिंदी फिल्म नहीं होगी।  इस साल क्रिसमस वीकेंड पर २५ दिसंबर को, स्टार वॉर्स सीरीज की सातवी फिल्म 'स्टार वॉर्स एपिसोड ७ : द फ़ोर्स अवकेंस' रिलीज़ हो रही है।  यह हॉलीवुड की एक बड़ी और महंगी फिल्म है।  इस फिल्म ने १८ दिसंबर को रिलीज़ हो कर घरेलु बॉक्स ऑफिस पर पहले शुक्रवार १२० मिलियन डॉलर का बिज़नेस किया था।  हॉलीवुड की किसी फिल्म का पहले दिन का यह सबसे बड़ा बिज़नेस है।  इससे पहले यह रिकॉर्ड 'हैरी पॉटर एंड द डेथली हॉलोज पार्ट २' के नाम था, जिसने ९१ मिलियन डॉलर का बिज़नेस किया था।  द फ़ोर्स अवकेंस का वर्ल्ड वाइड वीकेंड कलेक्शन ५१७ मिलियन डॉलर का हो चूका है।  आम तौर पर पूरी दुनिया में सफल और रिकॉर्ड कायम करने वाली हॉलीवुड की फ़िल्में हिंदुस्तान में भी अच्छा बिज़नेस करती है।  इसलिए, ऐसा समझा जा सकता है कि स्टार वार्स एपिसोड ७ : द फ़ोर्स अवकेंस इंडियन बॉक्स ऑफिस पर बढ़िया बिज़नेस करेगी और १८ दिसंबर को रिलीज़ दो बॉलीवुड फिल्मों 'दिलवाले' और 'बाजीराव मस्तानी' के दूसरे वीकेंड के बिज़नेस में सेंध लगाएगी। 
वास्तविकता तो यह है कि हॉलीवुड की फिल्मों का भारत में प्रदर्शन दिनोंदिन अच्छा होता जा रहा है। कभी हॉलीवुड की फ़िल्में मल्टीप्लेक्स दर्शकों की फ़िल्में ही मानी जाती थी। अब चूंकि, यह फ़िल्में अंग्रेजी के अलावा भारत की तीन भाषाओँ हिंदी, तमिल और तेलुगु में भी  रिलीज़ की जाती हैं, इसलिए उन्हें ज़्यादा दर्शक मिलते हैं और ज़्यादा बिज़नेस होता है। अब तो हॉलीवुड की डब फ़िल्में 'बी' और 'सी' सेंटरों में भी दर्शक पाने लगी हैं।  इस साल, इंडियन बॉक्स ऑफिस पर हॉलीवुड की पांच फिल्मों ने ५०० करोड़ से ज़्यादा का बिज़नेस कर लिया है। हॉलीवुड की दो फिल्मों 'फ्यूरियस ७' और 'जुरैसिक वर्ल्ड' ने १०० करोड़ के क्लब में भी अपना नाम दर्ज़ करवा लिया है।  फ्यूरियस ७ ने १५५ करोड़ और जुरैसिक वर्ल्ड ने १०३ करोड़ का बिज़नेस किया था।  इन दोनों फिल्मों को भारत में एक हजार से ज़्यादा प्रिंटों में रिलीज़ किया गया था।  देसी बॉक्स ऑफिस पर अच्छा बिज़नेस करने वाली अन्य हॉलीवुड फिल्मों में अवेंजर्स एज ऑफ़ उल्ट्रॉन ने ७८ करोड़ और मिशन इम्पॉसिबल रोग नेशन ने ६९ करोड़ का बिज़नेस किया है ।  इस साल हॉलीवुड की 'स्पेक्ट्ऱ' और 'द मार्शियन' जैसी फिल्मों को भी अच्छे दर्शक मिले हैं। 
स्टार वार्स सीरीज की फिल्म को लेकर यह कहना समझदारी नहीं होगी कि यह फिल्म 'दिलवाले' और 'बाजीराव मस्तानी' के सामने आने से घबरा रही थी, इसलिए १८ दिसंबर के बजाय एक हफ्ते बाद रिलीज़ हो रही है।  क्योंकि, कई बार फिल्म के लिए पर्याप्त प्रिंट के लिहाज़ से भी रिलीज़ की तारीखे बदलनी पड़ती है।  इसी साल अवेंजर्स एज ऑफ़ उल्ट्रॉन एक हफ्ता पहले यानि २४ अप्रैल को हिंदुस्तान में रिलीज़ हुई थी, क्योंकि १ मई को अक्षय कुमार की रिटर्न ऑफ़ गब्बर रिलीज़ हो रही थी। दिलवाले ने दर्शकों और समीक्षकों को निराश किया है।  इसलिए, यह फिल्म दूसरे हफ्ते में बहुत अच्छे बिज़नेस की उम्मीद नहीं कर सकती।  बाजीराव मस्तानी में भी इतना ज़्यादा दम नहीं कि यह स्टार वार्स जैसी प्रतिष्ठित सीरीज की फिल्म को पीछे ढकेल सके। इसलिए, उम्मीद की जा सकती है कि भारतीय दर्शक स्पेस ओपेरा 'स्टार वॉर्स एपिसोड ७ : द फ़ोर्स अवकेंस' को देख कर क्रिसमस मनाएगा।   

Monday, 21 December 2015

वजन कम कर रही हैं परिणीती चोपड़ा !

आजकल बॉलीवुड एक्ट्रेस परिणीति चोपड़ा की वर्ज़िश करती रंगीन तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।  परिणीति के फिटनेस फंडा पर सचित्र लेख लिखे जा रहे हैं।  यह वही परिणीति चोपड़ा हैं, जो एक्ट्रेस बनने से पहले यशराज फिल्म्स में काम करती थी तथा उनका कुल वजन ८६ किलो हुआ करता था।  आदित्य चोपड़ा  ने जब उन्हें २०११ में रणवीर सिंह के साथ फिल्म 'लेडीज वर्सेज रिक्की बहल' में सह नायिका बनाया,  तब तक उन्होंने खुद को ५८ किलो कर लिया था। इसके बाद, परिणीति ने इशकज़ादे, शुद्ध देसी रोमांस और हँसी तो फसी जैसी हिट फ़िल्में दी।  लेकिन, किल दिल की असफलता के साथ परिणीति बिलकुल नदारद हो गई।
परिणीति की तरह भूमि पेडणेकर भी यशराज फिल्म्स में काम करती थी।  वह उन दिनों, फिल्म दम लगा के हईशा के लिए कास्टिंग सेलेक्ट कर रही थी।  उन्होंने आयुष्मान खुराना की नायिका के लिए १०० लड़कियों का ऑडिशन भी कर लिया था।  तभी आदित्य चोपड़ा ने उनका ऑडिशन लिया और उन्हें आयुष्मान खुराना की नायिका चुन लिया।  परिणीति से भिन्न भूमि को इस रोल के लिए अपना वजन करीब १०-१५ किलो तक बढ़ाना पड़ा था ।  अब चूँकि, वह यशराज फिल्म्स के साथ तीन फिल्मों के  अनुबंध से हैं,  इसलिए वह फिर अब अपना वजन घटा रही हैं।  बताते हैं कि उन्होंने अपना वजन २५ किलो तक घटा लिया है।
कम वजन का माधुरी फंडा
रूपहले परदे पर माधुरी दीक्षित से पहले तक साउथ की एक्ट्रेस का बोलबाला था।  यह एक्ट्रेस भारी बदन की, हिरनी जैसी आँखों वाली, नृत्य में पारंगत हुआ करती थी।  गहन अभिनय क्षमता इनकी खासियत थी।  बॉलीवुड के अच्छी कद काठी के पंजाबी अभिनेताओं के साथ इनकी जोड़ी फिट बैठती थी।  इसलिए, बॉलीवुड में मीना कुमारी तक भारी शरीर के बावजूद टॉप की नायिकाओं में शुमार थी।  हालाँकि मिस इंडिया नूतन जैसे अपवाद भी थे।  माधुरी दीक्षित के बाद हिंदी फिल्म अभिनेत्रियाँ सेहत पर ध्यान देने लगी।  बॉलीवुड सर्किल में जिम, वर्जिश और डाइटिंग जैसे शब्द उछलने लगे।  इसके बाद अभिनेत्रियों का शरीर की फिटनेस और कटावदार बदन की इम्पोर्टेंस बढ़ गई।  ऐश्वर्या राय, सुष्मिता सेन, प्रियंका चोपड़ा, लारा दत्ता, आदि पूर्व विश्व सुंदरियों ने इसे क्रेज बना दिया।
कम वजन कर फिल्मों में आई स्टार पुत्रियाँ
पिछले कुछ सालों से हिंदी फिल्मों में स्टार पुत्रियों की आमद होने लगी है।  सितारों के यह बच्चे आराम तलब, खाने पीने के शौक़ीन होते हैं।  इसलिए, इनके शरीर का इकहरा होना असंभव ही होता है।  काफी पहले यह सुनाई  दिया था कि  एक्टर अशोक कुमार की बेटी प्रीती गांगुली ने अपने प्यार को पाने के लिए अपना वजन ५० किलो घटाया था।  लेकिन, बॉलीवुड की तमाम स्टार  पुत्रियों ने फिल्मों के लिए जिम में खूब पसीना बहाया।  डाइटिंग की। अनिल कपूर की बेटी सोनम कपूर फिल्म करने  से पहले ८६ किलो की हुआ करती थी।  उन्हें अपना वजन ३० किलो घटाना पड़ा।  अपने एक्सपर्ट डायटीशियन की मदद से सोनम कपूर जब संजयलीला भंसाली की फिल्म 'सावरिया' में  रणबीर कपूर के अपोजिट नज़र आई तो वह ५६ किलो की हो गई थी।  शत्रुघ्न सिन्हा की बेटी सोनाक्षी सिन्हा की कहानी भी सोनम वाली है।  उन्हें सलमान खान के साथ दबंग फिल्म की नायिका का रोल दिया गया था।  उस समय सोनाक्षी सिन्हा ९४ किलो की हुआ करती थी।  सोनाक्षी डाइटिंग और ज़बरदस्त एक्सरसाइज करने के बावजूद  ३० किलों वजन ही घटा सकी।  लेकिन, दर्शकों को उनका ६४ किलो वजनी शरीर लुभावना लगा।  करीना कपूर ने २००१ में अभिषेक बच्चन के साथ जे पी दत्ता की फिल्म 'रिफ्यूजी' के लिए अपना वजन ७७ किलो से २० किलो घटा कर ५७ किलो कर लिया।  एकबारगीयशराज फिल्म्स की फिल्म 'टशन' के लिए करीना कपूर जीरो साइज बन गई।  लेकिन, इस फिल्म के बाद उन्हें अपना वजन बढ़ाना पड़ा, क्योंकि फिल्म निर्माताओं को लगता था कि वह बढे वजन के साथ ही सेक्सी और  हॉट लगती हैं।  महेश भट्ट की बेटी अलिया भट्ट खाने पीने की शौक़ीन हैं।  लेकिन, फिल्म के रोग ने उन्हें डाइटिंग करने और जिम में ज़्यादा समय गुजारने को मज़बूर कर दिया।  करण जौहर की फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर' की शनाया के रोल में अलिया भट्ट १६ किलो कम हो कर ५४ किलो की हो गई थी। सलमान खान के साथ फिल्म की मज़बूरी ने लंदन की ज़रीन खान को अपना वजन ४५ किलो तक घटाना पड़ा। वीर से पहले वह  १०० किलो वजनी हुआ करती थी।  लेकिन वीर में भी उन्हें मोटी हीरोइन बताया गया। 
बढ़ा वजन ! तो क्या हुआ !!
एक तरफ जहाँ, फिल्म सितारों की बेटियां अपना वजन घटाने की ज़द्दो जहद में थी, वही कुछ अभिनेत्रियों को अपने वजन को लेकर कोई ऐतराज नहीं था।  फिल्म निर्माताओं ने उन्हें इसी वजन के साथ फ़िल्में दी।  ऐसी अभिनेत्रियों को विद्या बालन लीड करती हैं। उन्होंने फिल्म 'डर्टी पिक्चर' के लिए अपना वजन १२ किलो तक घटाया था।  इस फिल्म के बाद उन्होंने अपना वजन कुछ कम किया ही था कि घनचक्कर के लिए उन्होंने फिर वेट गेन करना पड़ा।  फिलहाल, विद्या बालन वजनी एक्ट्रेस में शुमार की जा रही हैं। गैंग्स ऑफ़ वासेपुर की अभिनेत्री  हुमा कुरैशी का वजन ६१ किलो है।  वह अपने इतने वजन से खुश हैं।  वजनी एक्ट्रेस में सोनाक्षी सिन्हा, रानी मुख़र्जी, आदि मोटी अभिनेत्रयों में शामिल हों।  माधुरी दीक्षित, काजोल, मनीषा कोइराला, आदि अभिनेत्रियां शादी के बाद मोटी हो गई।  अब ऎसी मोटी अभिनेत्रियों में भूमि पेडणेकर का नाम भी शामिल हो गया है।  
कभी कम कभी वजन  
अपने रोल के लिहाज़ से फिल्म एक्ट्रेस का वजन घटाना और बढ़ाना अब आम बात है।  मणि रत्नम ने 'गुरु' फिल्म के लिए ऐश्वर्या से अपना वजन बढ़ाने के लिए कहा था।  क्योंकि, फिल्म में ऐश्वर्या के करैक्टर को धीरे धीरे उम्रदराज़ होना था।  कटरीना कैफ ने 'तीस मार खान फिल्म के लिये अपना वजन घटाया था, लेकिन, फिल्म मेरे  ब्रदर की दुल्हन के लिए उन्हें अपना वजन बढ़ाना पड़ा। हालाँकि,विद्या बालन वजनी एक्ट्रेस के शामिल हैं।  लेकिन इसके बावजूद उन्हें फिल्म डर्टी पिक्चर्स के लिए अपना वजन १५ किलो तक बढ़ाना पड़ा था। श्रीदेवी ने फिल्म इंग्लिश विंग्लिश से बॉलीवुड में वापसी की थी। दो बेटियों की माँ के बावजूद वह कितनी फिट रही होंगी, इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि निर्देशक गौरी शिंदे ने उनसे अपना वजन पांच किलो तक बढ़ाने की ताकीद की थी।  करीना कपूर रानी मुखर्जी ने दिल बोले हडिप्पा के लिए अपना अजान घटाया था। ऐश्वर्या राय बच्चन ने माँ बनने के कारण बढ़ा अपना वजन कम कर संजय गुप्ता की फिल्म 'जज़्बा' की थी।  इससे पहले जब वह कांन्स फिल्म फेस्टिवल में रेड कारपेट पर चली तो उनके प्रशंसक उनके भारी शरीर को देख कर सन्न रह गए थे। 
जिम में पसीना बहा बहा कर और डायटीशियन की देख रेख में परिणीति चोपड़ा अपना वजन कम कर रही हैं । वह सोचती हैं कि उनका वजन कम हुआ और वह आकर्षक बनी तो उन्हें फ़िल्में मिलने लगेंगी ।  क्या सचमुच परिणीती चोपड़ा स्लिम-एन-ट्रिम बन कर फिल्मों की नायिका बन जायेंगी ? लेकिन, ऊपर तमाम भारी वजन की अभिनेत्रियों के उदाहरण साबित करते हैं कि फिल्म न मिलने के लिए वजन बहुत ज़िम्मेदार नहीं ।  ज़रुरत है प्रतिभा की ।  परिणीती ने अभी तक सीमित प्रतिभा का ही प्रदर्शन किया है । उनके लिए जितना ज़रूरी अपना वजन कम करना है, उतना ही ज़रूरी अभिनय की बारीकियां सीखने का भी है । इसलिए, वजन कम करना परिणीती की कोशिश ज़रूर है । फ़िल्में मिलेंगी ! गारंटी नहीं ।