Tuesday, 23 May 2017

टाइगर श्रॉफ बने बॉलीवुड के रेम्बो

भारत से ७ हजार किलोमीटर दूर कांस इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में इस बात का ऐलान कर दिया गया है कि बॉलीवुड, हॉलीवुड की हिट रेम्बो सीरीज पर अधिकारिक फिल्म का निर्माण करेगा । फ्रांस का कांस अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल इस बात का गवाह बना कि बॉलीवुड के युवा सितारे टाइगर श्रॉफ हॉलीवुड के सिल्वेस्टर स्टैलोन को बॉलीवुड का जवाब होंगे । हॉलीवुड की मशहूर रेम्बो सीरीज की पहली फिल्म रेम्बो के ऑफिसियल बॉलीवुड रीमेक में टाइगर श्रॉफ रेम्बो का किरदार करेंगे। फिल्म का जो पहला पोस्टर जारी किया गया है, उससे साफ़ लगता है कि बॉलीवुड की रेम्बो फिल्म का टाइटल भी रेम्बो ही होगा । इस फिल्म का निर्देशन सिद्धार्थ आनंद करेंगे।  सिद्धार्थ आनंद ने २०१४ में रिलीज़ हृथिक रोशन और कैटरीना कैफ की  एक्शन फिल्म बैंग बैंग का निर्देशन किया था।  बताते चलें कि सिद्धार्थ आनंद की फिल्म बैंग बैंग टॉम क्रूज और कैमेरॉन डियाज़ अभिनीत फिल्म नाइट एंड डे का ऑफिसियल रीमेक थी ।
हॉलीवुड को मालामाल किया रेम्बो ने 
हॉलीवुड फिल्मों के हिन्दुस्तानी दर्शक जानते हैं कि सिल्वेस्टर स्टैलॉन को हॉलीवुड का एक्शन स्टार बनाने वाली फिल्म रेम्बो १९८२ में रिलीज़ हुई थी।  इस फिल्म ने सिल्वेस्टर स्टैलॉन को एक्शन स्टार तो बनाया ही, इसके निर्माताओं को भी मालामाल कर दिया।  फिल्म के निर्माण में केवल १५ मिलियन डॉलर खर्च हुए थे। लेकिन,  धुंआधार एक्शन और खून खराबे वाली फिल्म रेम्बो ने बॉक्स ऑफिस पर १२५ मिलियन डॉलर बटोर लिए ।  इतनी बड़ी सफलता के बाद, स्वाभाविक था कि रेम्बो के सीक्वल बनाये जाते।  इस फिल्म के तीन सीक्वल और बनाये गए।  सिल्वेस्टर स्टेलॉन इन सभी फिल्मों में थे।  उन्होंने इन रेम्बो फिल्मों को लिखा भी। चौथी रेम्बो फिल्म का निर्देशन भी किया। रेम्बो एक अमेरिकन सिपाही की शक्ति और जांबाज़ी का प्रतीक था । वह हैंड टू हैंड कॉम्बैट भी कर सकता था और गुरिल्ला युद्ध में भी दक्ष था। सिल्वेस्टर स्टैलॉन के मज़बूत और संतुलित शरीर ने रेम्बो को सजीव कर दिया।  
भारतीय रेम्बो नहीं बन सका !
ज़ाहिर है कि रेम्बो को पसंद करने वाले चाहेंगे कि भारत में रेम्बो का हिंदी रीमेक बनाया जाये या कोई प्रेरित किरदार के साथ फिल्म बनाई जाये।  परन्तु दिलचस्प तथ्य यह था कि बॉलीवुड ने ऐसा कोई प्रयास नहीं किया। अनिल शर्मा ने अपनी फिल्म हुकूमत में धर्मेंद्र से रेम्बो स्टाइल में खून खराबा ज़रूर करवाया।  लेकिन धर्मेंद्र को इंडियन रेम्बो बनाने की कोई कोशिश नहीं की। पिछले साल यह खबर थी कि सिद्धार्थ आनंद की फिल्म में रेम्बो का किरदार हृथिक रोशन करेंगे । हृथिक रोशन अपने शारीरिक गठन से रेम्बो का हिंदुस्तानी संस्करण बनने की पूरी योग्यता रखते थे।  लेकिन, शायद बात नहीं बन सकी। इस रोल के लिए जॉन अब्राहम, विद्युत् जम्वाल और सिद्धार्थ मल्होत्रा के नामों पर भी विचार किया गया था।  विद्युत् जामवाल ने कमांडो (२०१३) में एक कमांडो के किरदार में खुद के गठीले शरीर, हैरतंगेज़ एक्शन दृश्यों से दर्शकों को प्रभावित किया था । २०१७ में इस फिल्म का सीक्वल कमांडो २ भी रिलीज़ हुआ । विद्युत् जामवाल को भी उनके शारीरिक गठन और एक्शन में महारत के कारण रेम्बो के काबिल समझा गया । कुछ ऎसी ही खासियतों के कारण फ़ोर्स सीरीज के नायक जॉन अब्राहम भी इंडियन रेम्बो के काबिल समझे जा रहे थे । ब्रदर्स में एक बॉक्सर का किरदार करने वाले सिद्धार्थ मल्होत्रा के नाम पर भी विचार किया गया । लेकिन, आखिरी फैसला टाइगर श्रॉफ पर हुआ ।
इंडियन रेम्बो टाइगर श्रॉफ 
टाइगर श्रॉफ ने अपने फिल्म करियर की शुरुआत तीन साल पहले फिल्म हीरोपंथी से की थी । यह रोमांस की कहानी के साथ ज़बरदस्त एक्शन वाली फिल्म थी । टाइगर श्रॉफ हरफनमौला साबित होते थे । क्योंकि वह जितना अच्छा एक्शन कर लेते थे, वह उतने ही अच्छे डांसर भी साबित होते थे । वह मार्शल आर्ट्स जानते हैं। उनकी अगली दो फिल्मों बागी और अ फ्लाइंग जट से इसकी पुष्टि होती थी । टाइगर श्रॉफ अपने शारीरिक गठन से काफी रफ़टफ लगते हैं । अपनी हर फिल्म में कमीज़ उतार कर उन्होंने इसका प्रदर्शन भी किया है । उनकी इसी खासियत ने उन्हें विद्युत् जामवाल, जॉन अब्राहम और सिद्धार्थ मल्होत्रा के ऊपर कर दिया । दिलचस्प तथ्य यह है कि सिल्वेस्टर स्टैलॉन ने जब रेम्बो का किरदार किया, उस समय वह ३६ साल के थे, जबकि टाइगर श्रॉफ २७ साल के हैं ।
रेम्बो पर ऐतराज़ था  
चूंकि, सिद्धार्थ आनंद की फिल्म रेम्बो हॉलीवुड फिल्म का हिंदी रीमेक है, इसलिए वह अपनी फिल्म के टाइटल में रेम्बो का उपयोग कर सकते हैं । अन्यथा, बॉलीवुड को अपनी फिल्मों के टाइटल में रेम्बो शब्द का उपयोग करने की मनाही थी । इसीलिए, निर्देशक प्रभुदेवा को शाहिद कपूर और सोनाक्षी सिन्हा के साथ अपनी एक्शन फिल्म का टाइटल रेम्बो राजकुमार से बदल कर थोडा मिलता जुलता आर...राजकुमार रखना पडा था । हालाँकि, खुद सिल्वेस्टर स्टैलॉन एक हिंदी फिल्म कमबख्त इश्क (२००९) में अक्षय कुमार के साथ कैमिया कर चुके हैं । इतना ही नहीं, उन्हें भारतीय रेम्बो में दिलचस्पी भी थी । रोहित शेट्टी निर्देशित फिल्म सिंघम रिटर्न्स (२०१४) के हीरो सिंघम को सिल्वेस्टर स्टैलॉन ने इंडियन रेम्बो बताया था। यहाँ उल्लेखनीय है कि रेम्बो के दूसरे पार्ट ‘रेम्बो फर्स्ट ब्लड पार्ट २’ को १९८५ में इस बिना पर रिलीज़ होने से रोक दिया गया था कि फिल्म में ज़बरदस्त खून-खराबा था, फिल्म का नायक सोवियत रूस का दुश्मन था और इस फिल्म के कारण भारत और रूस के संबंधों में तनाव पैदा हो सकता था । बाद में यह फिल्म कुछ कट के साथ रिलीज़ हुई ।
तीन हिस्सों में रेम्बो
सिद्धार्थ आनंद भारतीय रेम्बो तीन फिल्मों में पेश कर सकते हैं। हालाँकि, सिद्धार्थ आनंद की फिल्म रेम्बो, हॉलीवुड फिल्म रेम्बो का ऑफिसियल रीमेक है। इसके बावजूद तीनों फिल्मों की कहानी में बहुत फर्क होगा। बॉलीवुड का रेम्बो अमेरिकी रेम्बो की तरह वियतनाम रूस अफगानिस्तान, आदि में घुस कर दुश्मनों का सफाया नहीं कर सकता।  इसलिए, बॉलीवुड रेम्बो की कहानियां आतंरिक उथलपुथल पर केंद्रित होंगी । कहानी के अनुसार भारतीय रेम्बो इंडियन आर्मी की श्रेष्ठ गुप्त इकाई का आखिरी जीवित सदस्य है । जब वह देश वापस आता है तो पाता है कि देश में आतंरिक दुश्मन सक्रिय हैं, जो हिंसक गतिविधियाँ चला रहे है । उसे इनका सफाया करना है । इससे साफ है कि इंडियन रेम्बो देश में ही सक्रिय होगा । अलबत्ता, किसी फिल्म में वह पाकिस्तान,  अफगानिस्तान या चीन में घुस कर दुश्मन आतंकियों का सफाया कर सकता है।  

कांन्स में ऐलान के साथ ही टाइगर श्रॉफ पूरी दुनिया में सिल्वेस्टर स्टैलॉन को भारतीय जवाब के तौर पर मशहूर हो गए है । दुनिया के तमाम अख़बारों में उन पर तथा उनकी फिल्म को लेकर खबरें सुर्ख हो रही है । खुद सिल्वेस्टर स्टैलॉन ने ट्वीट कर बॉलीवुड फिल्म पर कमेंट किया है। टाइगर श्रॉफ को इतनी छोटी उम्र और छोटे करियर में जैसी शोहरत मिली है, उस शोहरत के लिए बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारे तरसते हैं । फिलहाल तो तमाम दर्शकों की निगाहें फरवरी २०१८ पर लगी होंगी, जब इंडियन रेम्बो की शूटिंग शुरू होगी।  इसका क्लाइमेक्स २०१८ के आखिरी में नज़र आएगा, जब फिल्म रिलीज़ होगी। 

No comments:

Post a Comment