Saturday, 30 May 2015

बॉलीवुड पर हमशक्ल किरदारों का हमला

कंगना रनौत की दोहरी भूमिका वाली फिल्म 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' को ८.७५ करोड़ की सुपर ओपनिंग मिली है। इस  नायिका प्रधान फिल्म ने अभिनेत्री कंगना रनौत को बॉक्स ऑफिस की क्वीन साबित कर दिया है। लेकिन, 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' ने एक बार फिर दोहरी भूमिकाओं वाली फिल्मों की बॉक्स ऑफिस पर पकड़ साबित की है।
हिंदी फिल्मों का इतिहास गवाह है कि कभी दोहरी भूमिकाएं बड़े फिल्म एक्टर्स की साम्राज्यवादी नीति मानी जाती थी।  यानि बड़े अभिनेता/अभिनेत्री यह सोचते थे कि दर्शक फिल्म के हर फ्रेम में उनकी शक्ल ही देखना चाहता है। हिंदी फिल्मों के इतिहास का कोई ऐसा अभिनेता या अभिनेत्री नहीं होगा, जिसने दोहरी भूमिका न की हो।  प्रारंभिक फिल्मों के लिहाज़ से १९१७ में रिलीज़ मूक फिल्म 'लंका दहन' में अभिनेता अन्ना सालुंके की दोहरी भूमिका थी।  सवाक फिल्मों के युग में दोहरी भूमिका करने वाले पहले अभिनेता साहू मोदक थे।  उन्होंने फिल्म 'आवारा शहज़ादा' में डबल रोल किये थे। दोहरी भूमिका वाली पहली पॉपुलर फिल्म 'किस्मत' थी, जिसमे अशोक कुमार ने अच्छे करैक्टर शेखर और बुरे आदमी मदन की भूमिका की थी।  किस्मत की अभूतपूर्व सफलता ने अशोक कुमार को सुपर स्टार बना दिया। इस फिल्म का रीमेक 'बॉय फ्रेंड' शम्मी कपूर को लेकर बनाया गया था। अशोक कुमार की दोहरी भूमिका वाली फिल्म 'अफ़साना' भी हिट हुई थी। अब यह बात दीगर है कि अफसाना की रीमेक फिल्म दिलीप कुमार के साथ 'दास्तान' फ्लॉप हो गई।
आम तौर पर दोहरी भूमिकाओं की रचना हमशक्ल जुडवा भाइयों या बहनों की मदद से तैयार की गई। राम और श्याम तथा सीता और गीता से लेकर चालबाज़, किशन कन्हैया, जुड़वाँ, कमीने और चांदनी चौक तो चाइना  से लेकर अलोन तक की दोहरी भूमिकाएं इसी ढर्रे पर थी।  एक्शन जैक्सन और तनु वेड्स मनु रिटर्न्स की दोहरी भूमिकाएं हमशक्ल जुडवा वाली नहीं थी। आइये, जानने की कोशिश करते हैं दोहरी भूमिकाओं के सम्बंधित कुछ रोचक तथ्य-
दिलीप कुमार को रास नहीं आई दोहरी भूमिका 
दिलीप कुमार ने राम और श्याम फिल्म में दोहरी भूमिका करके हिंदी फिल्मों में दोहरी भूमिकाओं को फिर जीवित कर दिया।  दिलीप कुमार ने बाद में दास्तान और किला में दोहरी भूमिकाएं की तथा बैराग में तीन भूमिकाओं में नज़र आये।  लेकिन, उनकी इन सभी फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर सफलता नहीं मिली।  केवल राम और श्याम ही बॉक्स ऑफिस पर सफल रही। फिल्म दास्तान तो अशोक कुमार की हिट फिल्म अफ़साना का रीमेक थी।
हॉलीवुड को भी प्रेरणा देने वाली 'मधुमती' 
दिलीप कुमार और वैजयंतीमाला की फिल्म 'मधुमती' अपने आप अनोखी दोहरी भूमिका वाली फिल्म है। बिमल रॉय निर्देशित इस फिल्म में पुनर्जन्म के कारण फिल्म के नायक और नायिका अपनी अपनी दोहरी भूमिकाओं में नज़र आते थे।  इस फिल्म ने बाद में, कई फिल्मों, इनमे हॉलीवुड की १९७५ में रिलीज़ फिल्म 'द इंकार्नेशन ऑफ़ पीटर प्राउड' भी शामिल है, के निर्माताओं को प्रेरित किया।  इस फिल्म के आधार पर ही हिंदी में सुभाष घई की फिल्म 'क़र्ज़' भी बनी थी। ऋषि कपूर की फिल्म 'जनम जनम' और शाहरुख़ खान की फिल्म 'ओम शांति ओम' भी इसी फिल्म से प्रेरित थी।
नायिकाओं को भी फबी दोहरी भूमिकाएं 
हिंदी फिल्मों की हर सफल अभिनेत्री ने डबल रोल किये।  ख्वाज़ा अहमद अब्बास की फिल्म अनहोनी में नर्गिस ने एक नर्तकी और उसकी बहन का किरदार किया था। सुचित्रा सेन ने फिल्म ममता में लखनऊ की तवायफ और उसकी बेटी का किरदार किया था। मीना कुमारी की पाकीज़ा की भूमिका भी कुछ ऎसी ही थी। साधना ने वह कौन थी, मेरा साया, अनीता और गीता मेरा नाम में दोहरी भूमिकाएं की।  उनकी पहली तीन फ़िल्में ज़बरदस्त हिट हुई।  साधना 'मिस्ट्री गर्ल' से मशहूर हो गई। हेमा मालिनी की दोहरी भूमिका वाली फिल्म सीता और गीता ज़बरदस्त हिट हुई थी। श्रीदेवी ने चालबाज़, खुदा गवाह, लम्हे और बंजारन फिल्म में दोहरी भूमिकाएं की थी।  उनकी यादगार फिल्म चालबाज़ है। दीपिका ने करियर की शुरुआत ही दोहरी भूमिका वाली फिल्म 'ओम शांति ओम' से की थी।  लेकिन, उनकी दोहरी भूमिका वाली दूसरी फिल्म चांदनी चौक टु चाइना फ्लॉप हुई थी। काजोल ने दुश्मन, कुछ खट्टी कुछ मीठी और हमेशा फिल्म में दोहरी भूमिकाएं की।  राखी की दोहरी भूमिका वाली फिल्म शर्मीली सुपर हिट हुई।  शर्मीला टैगोर फिल्म मौसम, माधुरी दीक्षित संगीत और आंसू बने अंगारे, बिपाशा बासु धूम २ और अलोन, जैक्विलिन फर्नांडीज़ रॉय से प्रशंसा बटोरने में कामयाब हुई। पाकिस्तानी अभिनेत्री वीना मालिक की फिल्म दाल  में कुछ काला है फ्लॉप हुई।
पहली फिल्म में डबल रोल 
ह्रितिक रोशन ने अपनी पहली ही फिल्म कहो.…न प्यार है! में राहुल और राज की दोहरी भूमिकाये की थी। दीपिका पादुकोण ने अपनी डेब्यू फिल्म 'ओम शांति ओम' में शांति प्रिया और संध्या की दोहरी भूमिकाये की थी। नीतू सिंह ने बतौर बाल कलाकार डेब्यू फिल्म 'दो कलियाँ' में दोहरी भूमिका की थी।
शम्मी कपूर ने चाइना टाउन और छोटे सरकार में, महमूद ने दिल तेरा दीवाना तथा मैं और मेरा भाई में, अशोक कुमार ने किस्मत और कानून में, धर्मेन्द्र ने यकीन, गज़ब
डबल कॉमेडी का कमाल 
कुछ फिल्मों में कॉमेडियन की कॉमिक भूमिकाओं ने समां बाँध दिया।  दर्शक अपने हीरो या हीरोइन को भूल कर कॉमेडियन को देखने पहुंचे।  अंदाज़ अपना अपना में परेश रावल की भाइयों की दोहरी भूमिका इस मायने में ख़ास थी कि यह फिल्म आज के सुपर स्टार आमिर खान और सलमान खान की थी।  कादर खान ने उम्र ५५ की दिल बचपन का, मैं खिलाडी तू अनाड़ी, पहला पहला प्यार, हम और द डॉन में अपनी दोहरी भूमिकाओं से अपनी फिल्मों के हीरोज को पानी पिला दिया।
जब प्लांट  किया हमशकल
हिंदी फिल्मों में दोहरी भूमिका को रहस्य और रोमांच के लिए इस्तेमाल किया गया।  कई फिल्मों में दोहरी भूमिका को हमशक्ल की जगह डुप्लीकेट लाने के लिए इस्तेमाल किया गया। अमिताभ बच्चन की डॉन, शत्रुघ्न सिन्हा की काली चरण, विनोद खन्ना की हमशक्ल, शाहरुख़ खान की डॉन द चेज बेगिंस और अर्जुन कपूर की औरंगज़ेब में अपराधियों की घेरेबंदी के लिए दूसरे चहरे को प्लांट किया गया। आमिर खान की फिल्म धूम ३ में उनका दूसरा किरदार रहस्य पैदा करने के लिए सामने लाया गया। हमशक्ल में राजेश खन्ना दो औरतों के साथ रहने के लिए दोहरा जीवन जीते हैं।  गोविंदा की फिल्म सैंडविच में ऎसी ही भूमिका थी। १९६७ में रिलीज़ शर्मीला टैगोर की दोहरी भूमिका वाली फिल्म 'ऐन इवनिंग इन पेरिस' में दोनों बहने विलेन को चकमा देने के लिए अपनी जगहे बदल लेती हैं।  फिल्म राजा और रंक में महेश कोठारे राजा और रंक की दोहरी भूमिका में थे।  यह दोनों अपनी जगहे बदल लेते हैं।  शाहरुख़ खान की फिल्म 'फैन' में सुपर स्टार अपने फैन से जगह बदल लेता है।
दोहरी भूमिकाओं के शहंशाह अमिताभ बच्चन
अमिताभ बच्चन दोहरी भूमिकाओं के भी शहंशाह हैं।  उन्होंने १३ हिंदी फिल्मों में डबल रोल किये।  अमिताभ बच्चन की दोहरी भूमिकाओं वाली फिल्म में बंधे हाथ, अदालत, डॉन द चेज बेगिंस, कस्मे वादे, द ग्रेट गैम्बलर, देश प्रेमी, सत्ते पे सत्ता, महान, आख़री रास्ता, तूफ़ान, बड़े मिया छोटे मिया, लाल बादशाह और सूर्यवंशम के नाम उल्लेखनीय हैं।
अक्षय भी 
इस लिहाज़ से अक्षय कुमार बहुत पीछे नहीं।  उन्होंने पहली बार फिल्म जय किशन में दोहरी भूमिका की थी। वह अब तक अफ़लातून, खिलाडी ४२०, ८X १० तस्वीर, राउडी राठोर और खिलाडी ७८६ में दोहरी भूमिकाये कर चुके हैं।
कॉमेडी के लिए कुछ भी करेगा 
हास्य अभिनेता महमूद का फिल्म हमजोली में बाप बेटा और दादाजी का रोल राजकपूर की फिल्म कल आज और कल में पृथ्वीराज कपूर, राज कपूर और रणधीर कपूर की नक़ल पर था। जीनियस आईएस जौहर ने फिल्म जॉनी मेरा नाम में तीन रोल किये थे। इस फिल्म के पहले राम, दूजे राम और तीजे राम के लिए उन्हें फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला था। कादर खान ने हम फिल्म में एक सख्त आर्मी अफसर पिता और उसके नाटक में काम करने वाले भाई का किरदार किया था। अली फज़ल और अमृता रायचंद की फिल्म बात बन गई में गुलशन ग्रोवर ने दोहरी भूमिका की थी।
शेक्सपियर की गलती
शेक्सपियर के नाटक 'कॉमेडी  ऑफ़ एरर' पर भी बॉलीवुड ने फ़िल्में बनाई।  अंगूर और दो दूनी चार ऐसी ही दो फ़िल्में थी। इन फिल्मों में संजीव कुमार और देवेन वर्मा ने तथा किशोर कुमार और असित सेन ने दो दो भूमिकाये की थी।
एक फिल्म दो कलाकार डबल रोल
करण-अर्जुन सलमान खान और शाहरुख़ खान, ओम शांति ओम शाहरुख़ खान और दीपिका पादुकोण, अंगूर संजीव कुमार और देवेन वर्मा, दो दूनी चार में किशोर कुमार और असित सेन, बड़े मिया छोटे मिया अमिताभ बच्चन और गोविंदा,  हमशकल्स सैफ रितेश और रामकपूर ने दोहरी भूमिकाये की थी। डायरेक्टर संजय गुप्ता की फिल्म 'हमेशा' में सैफ अली खान और काजोल दोनों की ही दोहरी भूमिकाये थी।
आने वाली हैं 
बॉलीवुड में एक बार फिर दोहरी भूमिकाये वापसी कर रही हैं। आमिर खान धूम ३, अभिषेक बच्चन हैप्पी न्यू ईयर, सैफ अली खान हमशकल्स और हैप्पी एंडिंग, अजय देवगन एक्शन जैक्सन' जैक्विलिन फर्नांडीज़ रॉय में और कंगना रनौत तनु वेड्स मनु रिटर्न्स में दोहरी भूमिकाओं में नज़र आई।  आने वाली कुछ फिल्मों में भी डबल रोल वाले किरदार देखने को मिलेंगे।  प्रेम रतन धन पायो सलमान खान ( एक राज्य के राजा विजय और आम आदमी प्रेम) दोहरी भूमिका कर रहे हैं।  सुना है कि अनीस बज़्मी की 'नो एंट्री में एंट्री' फिल्म में भी सलमान खान की दोहरी भूमिका है। मस्तीज़ादे सनी लीओन (लैला और लिल्ली) फैन में शाहरुख़ खान सुपर स्टार और उसके फैन की भूमिका कर रहे हैं। शाहिद कपूर कमीने २ में दोहरी भूमिका में ही हैं।


अल्पना कांडपाल

No comments:

Post a Comment