Wednesday, 2 March 2016

सीता देवी और देविका रानी से करीना कपूर तक किस किस को 'किस'

आजकल आर० बाल्की की हिंदी फिल्म 'कि एंड का' में करीना कपूर खान और अर्जुन कपूर के चुम्बन की चर्चा हो रही है। अब जबकि हर हिंदी फिल्म में चुम्बन की भरमार हो गई है, कि एंड का का चुम्बन ख़ास गर्माहट वाला नहीं लगता।   क्योंकि, हिंदी फिल्मों ने देविका रानी से करीना कपूर तक का ८३ साल लम्बा सफर तय कर लिया है।  प्रेम की अभिव्यक्ति करने का यह प्रभावशाली तरीका है।  इसके बावजूद करीना कपूर का चुम्बन इस लिहाज़ से ख़ास है कि उन्होंने अपने मिया सैफअली खान के लिए नो किस जोन बना रखा है।
खामोश चुम्बन
हिंदुस्तानी फिल्मों का सबसे पहला चुम्बन खामोश फिल्म अ थ्रो ऑफ़ डाइस (परपंच पाश) में सीता देवी और चारु रॉय के बीच हुआ था।  हालाँकि, फ्रेंज़ ऑस्टिन निर्देशित इस फिल्म के नायक हिमांशु रॉय थे।   लेकिन, चुम्बन फिल्म के विलेन और नायिका के बीच हुआ था।  यह फिल्म १९२९ में रिलीज़ हुई थी।  यह फिल्म महाभारत की द्यूत सभा से प्रेरित थी।
पहला पहला 'किस'
किसी  अभिनेत्री के लिए पहला ऑन स्क्रीन किस या चुम्बन ख़ास होता है। किसी गैर मर्द को सेट पर ढेरों लोगों के सामने चूमना आसान नहीं होता।  सामाजिक बंधन और आपत्तियां भी आँखों के सामने तैर रही होती है।  देविका रानी ने १९३३ में जब फिल्म 'कर्मा' में फिल्म के नायक हिमांशु राय का प्रगाढ़ चुम्बन लिया, तब यह उनका ही नहीं, हिंदी फिल्मों का पहला किस था।  लेकिन, देविका रानी के लिए यह किस कुछ आसान था।  पहला यह कि हिमांशु राय उनके पति थे।  दूसरे वह अल्ट्रा मॉडर्न लेडी थी।  तीसरे यह इंग्लिश फिल्म थी।  बाद में इस फिल्म को नागिन की रागिनी टाइटल के साथ हिंदी में रिलीज़ किया गया।  चौथे यह फिल्म इंटरनेशनल ऑडियंस को निशाने पर रख कर बनाई गई थी।  पांचवे, अंग्रेज़ों के दौर के सेंसर के लिए फिल्मों में चुम्बन आपत्तिपूर्ण नहीं था।  वैसे यह चार मिनट का चुम्बन अब तक का सबसे लंबा ऑन स्क्रीन चुम्बन माना जाता है।
राजकपूर के सिनेमा के अनसेंसर्ड किस
आज़ादी के बाद भारतीय फिल्म सेंसर बोर्ड के मानक बदले।  हिंदी फिल्मों में चुम्बन टैबू हो गया।   लेकिन, फिल्म निर्माता और निर्देशक राजकपूर के लिए अपनी फिल्मों के चुम्बन पास करा ले जाना बाएं हाथ का खेल था।  उनकी १९६४  में रिलीज़ फिल्म  'संगम' में एक चुम्बन को सेंसर बोर्ड द्वारा पारित करना पड़ा था।  राजकपूर का तर्क था कि यह चुम्बन एफिल टावर पर विदेशी जोड़े पर फिल्माया गया था।  इसी आड़ में आई एस जौहर ने भी  अपनी फिल्म जौहर-महमूद इन गोवा का उनके द्वारा नायिका सोनिया साहनी का लिया गया चुम्बन भी पारित करवा लिया गया था कि यह चुम्बन विदेशी करैक्टर का लिया गया था।  राजकपूर की फिल्म मेरा नाम जोकर का राजकपूर और रशियन एक्ट्रेस क्सेनिया रयाबिंकिना के बीच चुम्बन दृश्य भी इसी बिना पर पारित हुआ।   लेकिन, फिल्म बॉबी (ऋषि कपूर और डिंपल कपाड़िया), सत्यम शिवम सुंदरम (शशि कपूर और ज़ीनत अमान ) और राम तेरी गंगा मैली (राजीव कपूर और मन्दाकिनी) के चुम्बन दृश्य सेंसर की कैची से बचा ले जाना राजकपूर  का ही जलवा था।  
कुछ समकालीन अभिनेत्रियों का पहला चुम्बन
आज की टॉप बॉलीवुड एक्ट्रेस में से एक कैटरीना कैफ ने अपना पहला चुम्बन हिंदी अंग्रेजी फिल्म 'बूम' में दिया था।  भारतीय दर्शकों के लिए कैटरीना का यह पहला चुम्बन कैटरीना के लिए इस लिहाज़ से अजीबोगरीब था कि वह किसी नायक को नहीं, बल्कि खलनायक गुलशन ग्रोवर को चूम रही थी।  इस चुम्बन की गर्माहट सेंसर बोर्ड को इस कदर महसूस हुई कि इसे भारतीय दर्शकों के लिए प्रतिबंधित कर दिया।  दीपिका पादुकोण को अब दर्शक एक्सएक्सएक्स रिटर्न ऑफ़ जेंडर केज में अपने नायक विन डीजल के साथ जम कर स्मूचिंग करते देखेंगे।   लेकिन, २००७ में शाहरुख़ खान के साथ फिल्म ओम शांति ओम से अपने करियर की शुरुआत करने वाली दीपिका पादुकोण ने पहली बार फिल्म 'बचना ऐ हसीनों' में रणबीर कपूर को किस किया था।  उस समय इन दोनों का रोमांस सुर्ख़ियों में था।  इस लिहाज़ से दर्शको ने  भी दीपिका और रणबीर के चुम्बन की गर्माहट महसूस की।  अनुष्का शर्मा का करियर भी किंग खान के साथ शुरू हुआ था।  अनुष्का ने पहला चुम्बन फिल्म बदमाश कंपनी में शाहिद कपूर का लिया था।   लेकिन,यह चुम्बन काफी छोटा था।  लेकिन, तीसरी फिल्म बैंड बाजा बारात में उन्होंने रणवीर सिंह के साथ स्मूचिंग कर दर्शकों को निहाल कर दिया।  करीना कपूर को अपना पहला ऑन स्क्रीन किस देने में ३ साल और १४ फ़िल्में लग गई।  उन्होंने पहला ऑन स्क्रीन किस फिल्म 'देव' के लिए फरदीन खान का लिया।  कपूर खानदान की बिटिया का यह पहला चुम्बन दर्शकों में इतनी  उत्तेजना नहीं पैदा कर सका कि फिल्म हिट हो जाती।  कंगना रनौत आज चाहे जो शर्त रखे।   लेकिन, अपनी पहली ही फिल्म गैंगस्टर में उन्हें अपने सीरियल किसर नायक इमरान हाशमी को चुम्बन देने पड़े। इसी प्रकार परिणीति  चोपड़ा ने भी पहली फिल्म इशकज़ादे में अर्जुन कपूर का चुम्बन लिया था। सावरिया (२००७) से फिल्म करियर की शुरुआत करने वाली सोनम कपूर ने खुद की भले घर की लड़की की इमेज बनाने की कोशिश की।   लेकिन, उन्होंने जब इस इमेज को तोड़ने के लिए फिल्म बेवकूफियां' में चुम्बन दिया तो आयुष्मान खुराना का और भाग मिल्खा भाग और रांझणा की सफलता के बाद।
सनसनी फैलाने वाले चुम्बन
चुम्बन सनसनी फैलाने में भी कामयाब होते हैं।  'सागर' में ऋषि कपूर का डिंपल को किस करने के सीन को रोमांचक बताया गया था।  क्योंकि, यह पलक झपकते ही हो जाता है। फिल्म 'राजा हिंदुस्तानी' का  करिश्मा कपूर और आमिर खान के बीच चुम्बन सबसे रोमांटिक चुम्बनों में  शामिल है।  माधुरी दीक्षित के दिल में आमिर खान और दयावान में विनोद खन्ना को दिए चुम्बन कामुकता के लिहाज़ से याद किये जाते हैं।  धूम २ में ऐश्वर्या राय और ह्रितिक रोशन के बीच चुम्बन ने बच्चन परिवार को इतना बेचैन कर दिया कि उन्होंने उसे फिल्म से हटवा कर ही दम लिया। अपनी नायिका को कभी न वाले अभिनेता शाहरुख़ खान ने जब तक है जान में  कैटरीना कैफ का चुम्बन लिया तो यह फिल्म का ख़ास हिस्सा बन गया।  अनयूज़अल जोड़े के बीच होने के कारण ब्लैक में अमिताभ बच्चन और रानी मुख़र्जी का चुम्बन चौंकाने वाला था।
'नो किस' एक्टर
कुछ एक्टर्स को स्क्रिप्ट की डिमांड के बावजूद ऑन स्क्रीन किस करने पर ऐतराज होता है।  सलमान खान इन एक्टरों में सबसे आगे हैं।  वह कभी अपनी फिल्म की नायिका को नहीं चूमते। द डर्टी पिक्चर में तुषार कपूर ने विद्या बालन को किस करने से साफ़ मना कर दिया था।  पाकी एक्टर अली ज़फ़र भी नो किसिंग प्लीज एक्टर हैं।  उन्होंने लंदन पेरिस न्यूयॉर्क फिल्म में अदिति राव हैदरी को चूमने से इंकार कर दिया।  बताते हैं कि इस चुम्बन को हैदरी के पूर्व पति के साथ फिल्माया गया। फव्वाद खान को भी  लगता है कि पाकिस्तानी होने के नाते उन्हें अपनी एक्ट्रेस का किस नहीं लेना चाहिए। रितेश देशमुख किस को निजी और इंटिमेट मामले मानते हैं और ऑन स्क्रीन किस करते मुतमईन नहीं होते।  साउथ एक्ट्रेस तमन्ना भाटिया भी चुम्बन देने और बिकिनी पहनने में कतराती हैं।  असिन ने तो अपनी पहली हिंदी फिल्म गजिनी में आमिर खान के साथ चुम्बन सीन करने से मना कर दिया। बॉलीवुड की शिल्पा शेट्टी और सोनाक्षी सिन्हा भी ऑन स्क्रीन किस के खिलाफ हैं।
चुम्बन के लिए पहल की
बॉलीवुड की कई एक्ट्रेस ऑन स्क्रीन किस में पहल करती दिखाई देती हैं।  फिल्म जब वी मेट में करीना कपूर ही शाहिद कपूर का  किस करने में पहल करती हैं। ख्वाहिश में हिमांशु मलिक को चूमने में मल्लिका शेरावत बिंदास अंदाज़ दिखाती हैं।  अनुष्का शर्मा फिल्म बैंड बाजा बरात में रणवीर सिंह के साथ स्मूचिंग के लिए आगे बढती हैं। विद्या बालन फिल्म इश्क़िया में अरशद वारसी के करैक्टर को उकसाने के लिए उस पर ताबड़तोड़ चुम्बनों की बारिश कर देती है ।   लेकिन,इश्क़िया से काफी पहले फिल्म जिस्म में  जॉन अब्राहम के करैक्टर को अपने जाल में फंसाने के लिए चुम्बन का इस्तेमाल करती थी।
चुम्बन की आंच घर तक
अमेरिकी टीवी शो क्वांटिको के पहले एपिसोड में ही अपने को-स्टार जेक मैकलाफलिन के स्मूचिंग और कार में सेक्स करती प्रियंका चोपड़ा ने फिल्म ऐतराज़ में पहली बार अक्षय कुमार को चूमना शुरू किया था ताकि वह उत्तेजित हो कर उसका हमबिस्तर होने को तैयार हो जाए।  प्रियंका चोपड़ा का यह चुम्बन काफी उत्तेजक और फिल्म का आकर्षण बन पड़ा था।  प्रियंका के इस चुम्बन की आंच ट्विंकल खन्ना तक भी पहुंची थी और उसने अक्षय कुमार को फिर कभी प्रियंका के साथ कोई फिल्म न करने की हिदायत दे दी थी।
पोस्टर पर चुम्बन
करीना कपूर और अर्जुन कपूर का फिल्म 'कि एंड का' का डाइनिंग टेबल पर चुम्बन  इस फिल्म के पोस्टर में जगह पाया है।  इसे पोस्टर में पहला चुम्बन बताया जा रहा है।   लेकिन, वास्तविकता यह है कि कृष्णा शाह की धर्मेन्द्र और ज़ीनत अमान की मुख्य भूमिका वाली फिल्म 'शालीमार' के पोस्टरों में पहली बार धर्मेन्द्र-ज़ीनत किस ने जगह पाई थी।

No comments:

Post a Comment