Wednesday, 15 March 2017

बर्लिन की ढहती दीवार पर चार्लीज़ थेरॉन बनी एटॉमिक ब्लोंड

दो गर्मियों बाद, एक बार फिर हॉलीवुड अभिनेत्री चार्लीज़ थेरॉन खतरनाक अंदाज़ में नज़र आएंगी।  २०१५ में रिलीज़ फिल्म मैड मैक्स फ्यूरी रोड में चार्लीज़ थेरॉन ध्वस्त राष्ट्र में फैली अराजकता के बीच एक सैनिक इम्परेटर फ्यूरिओस के किरदार में लूटपाट और हत्या करती इम्मोरटन जोए की सेना को क्रूरता से कत्ल कर रही थी ।  अब डेविड लैच की बतौर स्वतंत्र निर्देशक पहली फिल्म (जॉन वीक का चाड स्टाह्लस्की के साथ निर्देशन) है।  यह फिल्म १९८९ के बर्लिन की है, जब बर्लिन की दीवार ढहाई जा रही थी।  ऐसे समय में एमआई ६ एजेंट लोरेन ब्रोटन को अराजकता की शिकार बर्लिन में खतरनाक जासूसी संस्था को ख़त्म करने में डेविड पेरसिवल की मदद करने के लिए भेजा जाता है।  इन दोनों के संबंधों में असहजता है।  इसके बावजूद इन्हें मिलकर मिशन को पूरा करना है।  फिल्म में जेम्स मैकवॉय ने डेविड पेरसिवल का किरदार किया है।
यह फिल्म अंटोनी जोह्न्स्टन के उपन्यास द कोल्डेस्ट सिटी पर आधारित है।  थेरॉन के इस करैक्टर को केवल आटोमेटिक गन से फायरिंग नहीं करनी है।  बिना अस्त्र-शस्त्र के भी  मार्शल आर्ट्स के सहारे युद्ध करना है।  इसके लिए थेरॉन ने कड़ी मेहनत की है।  उन्होंने लैच और उनकी लड़ाकों की टीम के साथ तीन महीने तक लगातार चार से पांच घंटे तक युद्धाभ्यास किया ।  लैच कहते हैं, "उन्होंने (चार्लीज़ थेरॉन ने) कॉम्बैट सीन्स के लिए मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स सीखी। कई हमलावरों का सामना करना सीखा । इसमें उन्हें छलांग लगा कर पीठ के बल ज़मीन पर गिरते और एक आदमी को अपने सर से ऊपर फेंकते दिखाया गया है।" थेरॉन कहती हैं,"ईमानदारी से कहूँ तो मेरे नितंबों पर रोज ही चोट लगी है।  मेरे दो दांत में मुंह के अंदर घुस गए।  मुझे बड़ी डेंटल सर्जरी करानी पड़ी।" एटॉमिक ब्लोंड २८ जुलाई को रिलीज़ होगी।  

No comments:

Post a Comment