Friday, 1 January 2016

पहले शुक्रवार की मनहूसियत

आज २०१६ की पहली तारिख (१ जनवरी) भी है और पहला शुक्रवार भी. इस पहले शुक्रवार को बॉलीवुड की कोई छोटी बड़ी फिल्म रिलीज़ नहीं होती. इस साल भी कोई भी हिंदी फिल्म आज रिलीज़ नहीं हुई है. बॉलीवुड किसी साल के पहले शुक्रवार को खुद के लिए बदकिस्मत मानता है. यानि पहले शुक्रवार रिलीज़ कोई भी फिल्म हिट नहीं होती। हालाँकि, २०११ में रिलीज़ निर्देशक राजकुमार गुप्ता की फिल्म 'नो वन किल्ड जेसिका' रानी मुख़र्जी और विद्या बालन की जोड़ी और बोल्ड संवादों के कारण हिट हो गई। लेकिन, उसी शुक्रवार रिलीज़ दूसरी फ़िल्म सयाली भगत की 'इम्पेशेंट विवेक' बुरी तरह से पिटी थी। इतना ही नहीं बॉलीवुड फिल्मों की बदकिस्मती में पहले शुक्रवार का बड़ा योगदान होता है। पहले शुक्रवार रिलीज़ हो कर आमिर खान की फिल्म 'मेला' बुरी पिटी थी। इसी फिल्म की असफलता के बाद बॉलीवुड पहले शुक्रवार से दहल गया था। पहले शुक्रवार असफल फिल्मों में इमरान हाश्मी की फिल्म 'जवानी दीवानी' (२००६), अर्जुन रामपाल, अमीषा पटेल और ज़ायेद खान की फिल्म 'वादा' (२००५), इश्क़ है तुमसे (२००४) और अक्षय कुमार की फिल्म तलाश (२००३) ख़ास हैं। पिछले साल तीन फ़िल्में 'इंटरनेशनल हीरो', 'टेक इट इजी' और 'मुंबई कैन डांस साला', २०१४ में जोए बी कार्वाल्हो और शोले ३डी, २०१३ में टेबल नंबर २१, मटरू की बिजली का मंडोला और देहरादून डायरी, २०१२ में निर्देशक जोड़ी अब्बास मुस्तान की अभिेषक बच्चन अभिनीत फिल्म 'प्लेयर्स' फ्लॉप हुई थी। हालाँकि, अगर इन रिलीज़ सभी फिल्मों पर एक नज़र डालें तो यह सभी फ़िल्में खराब बनी फ़िल्में थी। यह फ़िल्में चाहे किसी शुक्रवार रिलीज़ होती, असफल ही होती। अगर ऐसा न होता तो नो वन किल्ड जेसिका क्यों हिट होती?


No comments:

Post a Comment