Wednesday, 6 January 2016

निर्देशक बन कर फिर आ रहे हैं पूर्व अभिनेता

जनवरी के दूसरे और तीसरे हफ्ते में रिलीज़ हो रही दो फ़िल्में डायरेक्टर के एक्टर बनने और एक्टर के डायरेक्टर बनने का सिलसिला शुरू करने वाले फ़िल्में कही जा सकती हैं।  निर्देशक बिजॉय नाम्बियार की ८ जनवरी को रिलीज़ होने जा रही थ्रिलर फिल्म 'वज़ीर' में अमिताभ बच्चन एक  बूढ़े और बीमार शतरंज के खिलाड़ी बने हैं।  उनके साथ शतरंज खेलने वाले एटीएस अफसर दानिश अली का किरदार  फरहान अख्तर कर रहे हैं।  फरहान अख्तर का हिंदी दर्शकों से पहला परिचय २००१ में रिलीज़ फिल्म 'दिल चाहता है' के डायरेक्टर के रूप में हुआ था ।  यह फिल्म बड़ी हिट फिल्म साबित हुई थी ।  फिर उन्होंने लक्ष्य और डॉन जैसी फिल्मों का निर्देशन भी किया ।  फरहान पहले बार परदे पर दिखाई दिए २००८ में रिलीज़ फिल्म 'रॉक ऑन' में एक रॉक बैंड के गायक की भूमिका में। फिल्म चल गई। फरहान भी बतौर एक्टर चल गए। भाग मिल्खा भाग में मिल्खा सिंह की भूमिका से वह बतौर एक्टर भी स्थापित हो गए।  अब वह बिजॉय नाम्बियार की फिल्म में बिग बी के सामने अपनी अभिनय प्रतिभा का प्रदर्शन करने जा रहे हैं।
दूसरी फिल्म है 'घायल वन्स अगेन' ।  १९९० में रिलीज़ फिल्म 'घायल' ने सनी देओल को टॉप स्टार बना दिया था।  इसी फिल्म की रीमेक फिल्म हैं 'घायल वन्स अगेन' ।  १९९० की फिल्म घायल का निर्देशन राजकुमार संतोषी ने किया था।  लेकिन, घायल वन्स अगेन का निर्देशन खुद सनी देओल कर रहे हैं।  सनी ने बतौर निर्देशक पहली फिल्म १९९९ में रिलीज़ 'दिल्लगी' थी।  छोटे भाई बॉबी देओल के साथ यह फिल्म रोमांटिक फिल्म थी।  यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सनी देओल के लिए कोई करिश्मा नहीं दिखा सकी।  अब सनी देओल एक्शन फिल्म में बतौर निर्देशक दर्शकों के सामने हैं।  एक्शन अभिनेता सनी देओल का मज़बूत पक्ष है।  क्या वह एक्शन फिल्म से बतौर निर्देशक सफल हो सकेंगे !
२०१६ में बॉलीवुड फिल्म एक्टरों के डायरेक्टर की कुर्सी पर बैठने का सिलसिला जारी रहेगा। १२ फरवरी को दो फ़िल्में रोमांस ड्रामा फिल्म फितूर और रोमांस फिल्म सनम रे रिलीज़ होंगी।  इन दोनों के डायरेक्टरों ने बतौर एक्टर बॉलीवुड में डेब्यू किया था।  फितूर के निर्देशक अभिषेक कपूर १९९६ में रिलीज़ फिल्म 'उफ़ ये मोहब्बत' से ट्विंकल के नायक के बतौर चर्चा में आये। उस समय अभिषेक कपूर को राजेश खन्ना और डिंपल कपाड़िया की बड़ी बेटी ट्विंकल खन्ना के  प्रेमी  गट्टू के नाम से पहचाना जाता था।  विपिन हांडा की यह फिल्म फ्लॉप हुई।  इसके साथ ही ट्विंकल के सर से गट्टू के रोमांस का बुखार उतर गया।  अभिषेक कपूर की बतौर निर्देशक पहली फिल्म आर्यन अनब्रेकेबल फ्लॉप हुई थी।  लेकिन, रॉक ऑन से वह रॉक कर गए।  काई पो चे ने उन्हें एक अच्छे निर्देशक रूप में स्थापित कर दिया। फितूर चार्ल्स डिकेन्स के उपन्यास ग्रेट एक्सपेक्टेशंस पर रोमांस फिल्म है।  इस फिल्म में कटरीना कैफ और आदित्य रॉय कपूर की जोड़ी बन रही है। यह फिल्म पिछले दिनों अभिनेत्री रेखा के फिल्म से निकल जाने के कारण चर्चा में आई थी।  अब यह रोल तब्बू कर रहे हैं।   फितूर के अपोजिट रिलीज़ हो रही फिल्म 'सनम रे'  की डायरेक्टर दिव्या खोसला कुमार ने बतौर दिव्या खोसला फिल्म 'अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों' मे बॉबी देओल और अक्षय कुमार की नायिका के रूप में डेब्यू किया था।   उन्होंने एक तेलुगु फिल्म 'लव टुडे' भी की।  उनकी बतौर निदेशक पहली फिल्म 'यारियां' को सफलता मिली थी।  उनका निर्देशन भी ठीक ठाक था।  अब निर्देशक के रूप में उनकी दूसरी फिल्म 'सनम रे' रिलीज़ हो रही है।  इस फिल्म में पुलकित सम्राट और यामी गौतम की रोमांटिक जोड़ी है।
फव्वाद खान, सिद्धार्थ मल्होत्रा, अलिया भट्ट और ऋषि कपूर की फिल्म 'कपूर एंड संस' के निर्देशक शकुन बत्रा ने भी एक फिल्म 'जाने तू.....या जाने न' में अभिनय किया था।  वह इस फिल्म के सह निर्देशक भी थे।  इमरान खान के साथ काम करने के नतीजे के तौर पर उन्हें इमरान खान और करीना कपूर की मुख्य भूमिका वाली फिल्म 'एक मैं और एक तू' मिल गई।  लेकिन, यह फिल्म फ्लॉप हुई। इसके बावजूद निर्माता करण जौहर का शकुन पर भरोसा बना हुआ है।  इसी के नतीजे में फिल्म 'कपूर एंड संस' है। कम लोग सफल मस्ती सीरीज के डायरेक्टर इंद्र कुमार ने मनमोहन देसाई की फिल्म 'किस्मत' से एक्टिंग डेब्यू किया था।  उन्होंने एक अन्य हिंदी फिल्म बीवी किराये की के अलावा कई गुजराती फिल्मों में कॉमेडियन के रोल किये हैं।  वह बतौर निर्देशक बेटा, दिल, राजा, आदि हिट पारिवारिक फ़िल्में भी बनाई हैं।  उनकी बतौर निर्देशक १५ वी फिल्म 'ग्रेट ग्रैंड मस्ती' २५ मार्च को रिलीज़ हो रही है।
नीरज वोरा हरफन मौला हैं।  वह लेखक होने के अलावा डायरेक्टर भी हैं। उन्होंने बाज़ी, रंगीला, बादशाह, मेला, आदि फिल्मों की स्क्रिप्ट या संवाद लिखे हैं।  लेकिन, डायरेक्टर से पहले वह एक्टर है।  उन्हें कोई ३१ फिल्मों में अभिनय किया है।  बतौर हास्य अभिनेता उनकी पहचान बनी।  उन्होंने खिलाडी ४२० से बतौर निर्देशक डेब्यू किया।  वह फिर हेरा फेरी का निर्देशन कर चुके हैं।  रन भोला रन ८ अप्रैल को रिलीज़ होने जा रही है।  शाहरुख़ खान को फिल्म 'फैन' में निर्देशित कर रहे मनीष शर्मा २००४ में ट्रोना फिल्म में एक्टर थे।  उन्होंने वेडिंग प्लानर, लेडीज वर्सेज रिक्की बहल और शुद्ध देसी रोमांस जैसी सफल फ़िल्में निर्देशित की हैं।   अली अब्बास ज़फर २०११ में मेरे ब्रदर की दुल्हन से डायरेक्टर बने।  लेकिन, चार साल पहले वह फिल्म डेल्ही बूम में बतौर एक्टर डेब्यू कर चुके थे। इस फिल्म के वह नायक थे।  अली अब्बास ज़फर अब सलमान खान को लेकर सुलतान बना रहे हैं।  यह फिल्म रईस के अपोजिट रिलीज़ हो सकती है।  होली, नाम, वेस्ट इज़ वेस्ट, गूँज, आदि फिल्मों के अभिनेता आशुतोष गोवारिकर को सफला मिली आमिर खान के लिए 'लगान' जैसी हिट फिल्म निर्देशित कर।  वह जोधा अकबर, स्वदेश, बाज़ी, आदि फिल्मों का निर्देशन कर चुके हैं।  उनकी ह्रितिक रोशन के साथ दूसरी फिल्म 'मोहनजोदड़ो'  १२ अगस्त को रिलीज़ होगी।  विशाल भरद्वाज ने जब २००२ में फिल्म मकड़ी का निर्देशन किया, उस  समय तक वह बतौर कंपोजर १९ फिल्मों का संगीत दे चुके थे।  उनकी  द्वितीय विश्व युद्ध की पृष्ठभूमि पर फिल्म 'रंगून'  १४ अक्टूबर को रिलीज़ होगी।  नुपुर अस्थाना ने रघु रोमियो (२२०३) और  मिक्स्ड डबल्स (२००६) में अभिनय किया था।  मुझसे फ्रेंडशिप करोगे से वह डायरेक्टर की कुर्सी पर बैठी। आज का नया खिलाड़ी उनकी ड्रामा थ्रिलर फिल्म है।
अजय देवगन ने एक बार फिर निर्देशन की कमान सम्हाल ली है।  वह एक एक्शन ड्रामा फिल्म 'शिवाय' में भगवान  शिव के मानवीय पहलुओं का चित्रण कर रहे हैं।  इस फिल्म में वह खुद को निर्देशित करेंगे।  अजय देवगन इससे पहले 'यु मी और हम' का निर्देशन कर चुके हैं। शिवाय २८ अक्टूबर को रिलीज़ होगी।
बॉलीवुड में पेशे बदलते  रहते हैं।  विशाल भरद्वाज संगीत देने के साथ निर्देशन के क्षेत्र में भी उतर आते हैं।  टीवी सीरियल करने के बाद करण मल्होत्रा फिल्म निर्देशन की कमान सम्हाल लेते हैं।  पूर्व अभिनेता तो फिल्मों में परदे के सामने जितने सफल या असफल होते हैं, कैमरे के पीछे उतने ही सफल हो जाते हैं।  इस लिहाज़ से फिल्मों की अभिनेत्रियां कहाँ पीछे हैं !



















No comments:

Post a Comment