Friday, 1 April 2016

अब बॉलीवुड की तीसरी जूली

१२ अगस्त २०१६ को, रुपहले परदे पर मोहनजोदड़ो के ह्रितिक रोशन और रुस्तम के अक्षय कुमार के टकराव की सनसनी फैली होगी। इस टकराव में त्रिकोण पैदा करने की हेरा फेरी कर रही होगी हेरा फेरी सीरीज की तीसरी फिल्म फिर हेरा फेरी ३।  याद रहे कि हेरा फेरी सीरीज की फिल्मों के सुनील शेट्टी के साथ मुख्य नायक अक्षय  कुमार ही थे।  लेकिन, अब उनकी जगह अभिषेक बच्चन ने ले ली है। ऐसे में, जब दर्शक इस ज़बरदस्त त्रिकोणात्मक टकराव को महसूस कर रहे होंगे, माहौल में ज़्यादा गरमी पैदा करने आ जाएगी जूली। क्या सेक्स, रोमांस और उत्तेजना से भरपूर जूली सफल होगी? क्या बॉलीवुड में इस तीसरी जूली अभिनेत्री को सफलता मिलेगी ?
हिंदी फिल्मों की तीन जूलियो का इतिहास
बॉलीवुड की यह तीसरी जूली होगी, जो अपनी सेक्स अपील के ज़रिये हिंदी दर्शकों को अपना दीवाना बनाने आ रही है ।  इसका मतलब यह हुआ कि बॉलीवुड में अब तक जूली टाइटल वाली तीन फ़िल्में रिलीज़ हो चुकी हैं और इन फिल्मों में तीन अलग अभिनेत्रियों ने जूली का किरदार किया है ।  पहली जूली १९७५ में रिलीज़ हुई थी।  यह फिल्म मलयालम हिट चटकरी का रीमेक थी।  इस फिल्म की नायिका मलयालम फिल्मों की सुपर स्टार लक्ष्मी थी। मलयालम चटकरी की नायिका लक्ष्मी ही हिंदी जूली की नायिका थी।  दोनों ही फिल्मों के निर्देशक के एस सेतुमाधवन थे।  जूली में लक्ष्मी के नायक विक्रम थे।  राजेश रोशन के संगीत से सजी यह म्यूजिकल रोमांस फिल्म बोल्ड थीम और गर्मागर्म सेक्स दृश्यों के कारण सुपर हिट हो गई।  इस फिल्म में श्रीदेवी ने बतौर बाल कलाकार हिंदी फिल्म डेब्यू किया था।  बाद में, १९७८ में श्रीदेवी फिल्म सोलहवा सावन में अमोल पालेकर की नायिका बन कर आई।  कालांतर में वह हिंदी फिल्मों की बड़ी स्टार बनी।  लेकिन, जूली की जूली यानि लक्ष्मी पहली हिट फिल्म और फिल्मफेयर पुरस्कार जीतने के बावजूद हिंदी फिल्मों में अपना करियर ६ फिल्मों तक भी नहीं ले जा सकी।  उनकी दूसरी फिल्म जीवन मुक्त १९७७ में रिलीज़ हुई, जो सुपर फ्लॉप हुई।  १९७९ में रिलीज़ आँगन की कली ने उन्हें कमोबेश पोर्न फिल्मों की नायिका जैसा बना दिया। अपनी  आखिरी फिल्म धुंआ (१९८१) करने के २३ साल बाद लक्ष्मी निर्देशक प्रियदर्शन की कॉमेडी फिल्म हलचल (२००४) में  चरित्र भूमिका में नज़र आई।  लक्ष्मी की चरित्र भूमिका वाली फिल्म हलचल २६ नवंबर २००४ को रिलीज़ हुई थी। लेकिन, इससे चार महीना पहले यानि २३ जुलाई २००४ को हिंदी दर्शकों के सामने दूसरी जूली आ गई थी । संयोग कि पहली जूली यानि लक्ष्मी के हिंदी फिल्मों की चरित्र अभिनेत्री बनने के साल ही हिंदी फिल्मों को दूसरी जूली मिल गई।  यह दूसरी जूली नेहा धूपिया थी।  संयोग की बात है कि नेहा धूपिया के फिल्म करियर की शुरुआत भी मलयालम फिल्म मिंनरम से हुई थी।  इस फिल्म के निर्देशक लक्ष्मी को चरित्र भूमिका में लाने वाले प्रियदर्शन ही थे।  नेहा धूपिया का हिंदी फिल्म डेब्यू हैरी बवेजा की फिल्म 'क़यामत: सिटी अंडर थ्रेट' से हुआ था, जिसमे वह अजय देवगन की प्रेमिका की छोटी भूमिका में थी।  फिल्म हिट हुई।  लेकिन, नेहा धूपिया को बतौर नायिका पहली हिट फिल्म 'जूली' के रूप में मिली।  इस फिल्म में नेहा ने जम कर अंग प्रदर्शन किया था, उत्तेजक चुम्बन और आलिंगन किये थे तथा दो दो तीन तीन पुरुष किरदारों के साथ बिस्तर के दृश्य किये थे।  इस फिल्म ने नेहा को कमोबेश पोर्न फिल्मों की नायिका बना दिया, जैसा कि २५ साल पहले आँगन की कली के कारण लक्ष्मी के साथ हुआ था।  अलबत्ता, लक्ष्मी की जूली और नेहा धूपिया की जूली में फर्क था। लक्ष्मी की जूली एक ईसाई किरदार था, जो विक्रम के प्रेम में पड़ कर उत्तेजना के क्षणों में उससे शारीरिक सम्बन्ध बनाती थी।  जबकि, नेहा धूपिया की जूली  सम्बन्धों में धोखा खाने के बाद कॉल गर्ल बन जाती है और अपने शरीर के ज़रिये मर्दों को अपना शिकार बनाती हैं। साफ़ तौर पर दोनों किरदार एक दूसरे के अपोजिट थे। हालाँकि, जूली (१९७५) के मुकाबले जूली (२००४) को समीक्षकों ने सराहा नहीं।  लेकिन, बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म भी खूब सफल हुई।  इस फिल्म के बाद नेहा धूपिया ने 'बॉक्स  ऑफिस पर दो 'एस' शाहरुख़ खान और सेक्स ही बिकते हैं' जैसा मशहूर जुमला ईजाद किया।
तीसरी जूली लक्ष्मी राय
अब बारह साल बाद, जूली का पुनर्जन्म हो रहा है। जूली २ के निर्देशक जूली वाले दीपक शिवदासानी ही हैं। लेकिन, इस जूली की सूरत और सीरत बदली होगी। यह जूली एक फिल्म अभिनेत्री होगी।  दिलचस्प तथ्य यह है कि १९७५ की जूली की नायिका लक्ष्मी थी तो २०१६ की जूली की नायिका भी लक्ष्मी (राय) हैं।  यह लक्ष्मी राय की पहली हिंदी फिल्म होगी। कुछ साल पहले लक्ष्मी का नाम इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से रोमांस की खबरों के साथ सुर्ख हुआ था।  जूली २ मिलने से ठीक पहले उनके ए आर मुरुगदॉस की एक्शन फिल्म 'अकीरा' में सोनाक्षी सिन्हा के साथ काम करने की ख़बरें थी।  पहली लक्ष्मी की तरह आज की लक्ष्मी (राय) भी दक्षिण की तमिल, तेलुगु और मलयालम फिल्मों की सेक्सी नायिका मानी जाती हैं।  दर्शक उन्हें ८ अप्रैल २०१६ को रिलीज़ तेलुगु फिल्म सरदार गब्बर सिंह के हिंदी संस्करण में एक आइटम 'तौबा तौबा' में इठलाते और रिझाते देख सकेंगे।  कुछ समय पहले उनकी एक डब हॉरर फिल्म 'तंत्र शक्ति' भी रिलीज़ हो चुकी होगी । जूली २ में लक्ष्मी राय एक फिल्म अभिनेत्री का किरदार कर रही होंगी, जिसे अपने स्टारडम की कीमत चुकानी पड़ती है।
साक्षी की बदल लक्ष्मी !
दक्षिण के किसी भी फिल्म स्टार का सपना बॉलीवुड में चमकना होता है।  ऐसा ही सपना लक्ष्मी राय भी देख रही हैं।  दीपक शिवदासानी की हिट जूली का यह सीक्वल उन्हें मॉडल साक्षी चोधरी के बदल के रूप में मिला है। साक्षी चौधरी शुरू से ही फिल्म के बोल्ड सीन को लेकर शंकित थी।  उन्हें फिल्म के एक सीन में बिकिनी पहन कर घुड़सवारी भी करनी थी।  अब यह तो साफ़ नहीं कि साक्षी ने फिल्म छोड़ी या दीपक ने उन्हें बदल दिया, पर साक्षी की जगह लक्ष्मी राय ने ले ली।  अब जूली के हिट किरदार में लक्ष्मी राय हैं।  इस लिहाज़ से क्या वह १९७५ की लक्ष्मी और २००४ की नेहा धूपिया की तरह हिट जूली साबित होंगी ? इसमें कोई शक नहीं कि जूली का सेक्सी किरदार हिंदी दर्शकों को रास आता है।  जूली २ अपने बोल्ड दृश्यों के कारण हिट होगी, ऐसा समझने के कारण हैं।  लेकिन, हिट जूली से लक्ष्मी राय का बॉलीवुड में सफल होने का सपना पूरा होगा, बिलकुल भी नहीं समझा जा सकता।  दो जूली यानि लक्ष्मी और नेहा धूपिया गवाह हैं कि इन दो अभिनेत्रियों को जूली के किरदार के बाद सफलता नहीं।  इन पर सेक्सी हीरोइन का टैग लगा। पर यह टैग उन की इमेज के लिहाज़ से उनके करियर पर भारी पड़ा।  नेहा धूपिया तो ख़ास तरह की भूमिकाओं की फिल्मों तक सीमित हो गई ।  ऐसा ही लक्ष्मी राय के साथ भी हो सकता है।
क्या जूली किरदार के ज़रिये लक्ष्मी राय बॉलीवुड में हिट होंगी। फिलहाल तो बड़ा सवाल यह है कि तीन बड़ी फिल्मों मोहनजोदड़ो, रुस्तम और फिर हेरा फेरी ३ के सामने जूली २ रिलीज़ भी हो पायेगी ? रिलीज़ हो भी गई तो कितनी स्क्रीन मिलेगी? फिल्म को दर्शक दिलाने का पूरा दारोमदार लक्ष्मी राय की सेक्स अपील पर होगा। अगर लक्ष्मी राय ने अपनी साउथ फिल्मों की तरह उत्तेजक अंग प्रदर्शन कर दिया तो उनकी फिल्म को दर्शक मिल जायेंगे।  लेकिन, सवाल यह है कि सनी लियॉन, मंदना करीमी, क्लौडीआ सिएस्ला, गिजेल ठकराल, आदि उन्मुक्त अभिनेत्रियों की मौजूदगी में बॉलीवुड में लक्ष्मी राय की सेक्स अपील की दाल गल पाएगी ? दाल गलने की उम्मीद तो करेंगी ही लक्ष्मी राय।



No comments:

Post a Comment