Sunday, 31 July 2016

जब फिल्म अभिनेत्रियाँ बन जाती हैं माँ !

फिल्म अभिनेत्री करीना कपूर खान के माँ बनने की अटकलें काफी दिनों से लगाईं जा रही थी। अंततः करीना कपूर ने खुद के गर्भवती होने का ऐलान कर दिया। इसके साथ ही, करीना ने यह भी ऐलान किया कि वह बच्चे के जन्म से पहले तक घर में बैठी नहीं रहेंगी। इसी दौरान डायरेक्टर शशांक घोष की फिल्म वीरे दि वेडिंग का ऐलान हुआ था। इस फिल्म की नायिका करीना कपूर थी। पर करीना कपूर का दिसम्बर में माँ बनाने का ऐलान इस फिल्म के आड़े नहीं आया था। इस फिल्म की कहानी ऐसी है कि करीना कपूर का गर्भ फिल्म की कहानी को सपोर्ट करने वाला है। इस प्रकार से करीना कपूर टेलर मेड रोल के कारण फिल्मों में काम कर सकती थी। लेकिन, यहाँ सवाल यह उठता है कि क्या शादी के बाद सक्रिय रहने वाली करीना कपूर, बच्चे के जन्म के बाद भी इतनी ही सक्रिय रह सकेगी ?
याद आते हैं दो ऐलान
यहाँ याद आते हैं दो ऐलान ! करीना कपूर को नायिका बना कर फिल्म राम-लीला बनाने का ऐलान संजय लीला भंसाली ने किया था। इसी के बाद करीना कपूर के सैफ अली खान के साथ शादी करने का ऐलान भी हो गया। यह भंसाली के लिए चौंकाने वाली खबर थी। वह नहीं चाहते थे, राम-लीला की लीला का किरदार कोई विवाहित अभिनेत्री करे। उन्होंने यह कहते हुए कि लीला कोई शादीशुदा अभिनेत्री नहीं बन सकतीकरीना कपूर को फिल्म से बाहर कर दिया। करीना कपूर अपने घाव सहलाती रह गई। दूसरा ऐलान मधुर भंडारकर का है। मधुर भंडारकर ऐश्वर्या राय बच्चन को लेकर हीरोइन का निर्माण करने जा रहे थे। फिल्म का कुछ शूट हो चुका था। कांस फिल्म फेस्टिवल में इसके टुकड़े दिखाए भी गए। लेकिन, हीरोइन की पोस्टर की रिलीज़ के दिन प्रेगनेंसी बम फोड़ा अमिताभ बच्चन ने। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर ऐश्वर्या राय के गर्भवती होने की सूचना दी। यह मधुर के लिए बड़ा झटका था। उनकी फिल्म की शूटिंग अभी शुरू ही हुई थी। शूटिंग के दौरान ऐश्वर्या का उभरा पेट फिल्म की ग्लैमरस नायिका पर बुरा प्रभाव डालता। मधुर ने अपना रोष प्रकट करते हुए ऐश्वर्या को बाहर का रास्ता दिखा दिया।  उनकी जगह करीना कपूर खान आ गई। 
इससे साफ़ है कि राम-लीला के समय अभिनेत्री का शादीशुदा होना ही गज़ब था। लेकिन, हीरोइन आते आते यह गर्भ पर आकर ठहर गया। उस समय घबराये फिल्म निर्माताओं ने अपनी फिल्मों की रोमांस में  डूबी या निकट भविष्य में शादी कर रही अभिनेत्रियों के लिए अनुबंध में नो प्रेगनेंसी क्लॉज़ रखवाना शुरू कर दिया। लेकिन, अब वीरे दि वेडिंग की निर्माता रिया कपूर बेबी बंप के साथ करीना कपूर को स्वीकार कर रही है। सवाल यह है कि क्या इससे कोई ट्रेंड बदलेगा ? सबसे बड़ी बात क्या अब फिल्म निर्माता विवाहित या गर्भवती अभिनेत्री को दर्शक स्वीकार करेंगे ?
शादी तक क्यों पहुंचे रियल रोमांस
हिंदी फिल्मों की रोमांटिक नायिका बनाने वाली हिंदी फिल्म अभिनेत्रियाँ अगर रोमांस में डूबी हुई हैं तो कौन बड़ी बात ! लेकिन, उसके रोमांस की खबरे जहाँ फिल्म को पब्लिसिटी दिलाती हैं, वहीँ शादी की खबर बैड पब्लिसिटी साबित होती है। यही कारण था कि साठ-सत्तर के दशक की फिल्मों की रोमांटिक नायिकाएं जब तक फिल्मों में नायिका बनती रही, शादी की खबरों से दूर रही। जैसे ही उनका करियर ढलान पर आया उन्होंने शादी करना मंज़ूर कर लिया। यही कारण था कि शादी करने के बाद वैजयंतीमाला, जयाप्रदा, श्रीदेवी, माधुरी दीक्षित, आदि तमाम ग्लैमर गर्ल्स फिल्मों को अलविदा कह गई। उस समय मान्यता थी कि शादी की खबर से जुड़ते ही अभिनेत्री दर्शकों के बीच अपना आकर्षण और ग्लैमर खो बैठती है। फिल्मों से दूर हो जाने का भय फिल्म अभिनेत्रियों को कितना सताता होगा, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि महिमा चौधरी, श्रीदेवी, कोंकणासेन शर्मा, सारिका, सेलिना जेटली, वीणा मलिक, आदि ने अपने गर्भ की खबरों को तब तक छुपाये रखा, जब तक शादी कर फिल्मों को अलविदा न कह दी। 
शादी के बाद- अलविदा
नंदा और आशा पारेख जैसी अभिनेत्रियाँ कम हैं, जिन्होंने कभी शादी नहीं की। हालाँकि, उनके रोमांस की खबरें काफी सुर्ख हुई। लेकिन, इस दौर की दूसरी जिन अभिनेत्रियों ने विवाह किया, फिल्मों की तरह पीठ कर ली। सायरा बानो ने दिलीप कुमार के साथ निकाह पढ़ने के बाद फिल्मों का रुख नहीं किया। बबिता और नीतू सिंह कपूर खानदान की बहू बन कर फिल्मों से दूर हो गई। अमृता सिंह ने सैफ का घर बसा कर बच्चे पैदा करना ही ठीक समझा। मीनाक्षी हीरोशेषाद्री, युक्ता मुखी, नम्रता शिरोढ़कर, मन्दाकिनी, गायत्री जोशी, आदि ने तो शादी के बाद बॉलीवुड क्या देश ही छोड़ दिया। शादी के बाद फिल्मों को हमेशा के लिए अलविदा कहने वाली अभिनेत्रियों में ट्विंकल खन्ना, हनी ईरानी और इसी साल असिन के नाम शामिल हैं।   
शादी के बाद भी सक्रिय !
जहाँ, सायरा बानो, बबिता, नीतू सिंह, मीनाक्षी शेषाद्री, युक्ता मुखी, मन्दाकिनी, नम्रता शिरोढ़कर, गायत्री जोशी, ट्विंकल खन्नाअसिन, आदि ने फिल्मों को अलविदा कह दी। वहीँ  भाग्यश्री और डिंपल कपाडिया ने शादी और माँ बनने के बाद फिल्मों में वापसी की। लेकिन, भाग्यश्री बिलकुल फ्लॉप हो गई। अमृता सिंह ने शूट आउट एट लोखंडवाला में चरित्र भूमिकाओं से वापसी की। नीलिमा अज़ीम टीवी सीरियल करने लगी। सोनाली बेंद्रे, रवीना टंडन, शिल्पा शेट्टी, आदि अभिनेत्रियाँ आजकल फिल्मों के लिए हाथ पैर मार रही हैं। यह अभिनेत्रियाँ टीवी पर सक्रिय ज़रूर हैं। माधुरी दीक्षित दो फिल्मों गुलाब गैंग और डेढ़ इश्किया कर चुकी हैं। वह भी टीवी पर रियलिटी शो जज करती देखी जाती हैं। 
शादी के बाद नायिका 

जहाँ तक शादी के बाद फिल्मों की नायिका बनाने की बात है, बहुत सी अभिनेत्रियाँ शादी के बाद भी सफल हुई।  परिणीता, कहानी, डर्टी पिक्चर, आदि फिल्मों की नायिका विद्या बालन के करियर पर शादी के बाद भी कोई फर्क नहीं पडा। चित्रांगदा सिंह भी शादी के बाद फिल्मों की नायिका बनी। उन्हें तो शिरीष कुंदर ने जोकर में एक आइटम करवा दिया। पुराने ज़माने की तमाम नायिकाएं विवाहित थी।  नूतन का विवाह १९५९ ही हो गया था।  लेकिन, वह इसके बाद सूरत और सीरत, बसंत, मंज़िल, छलिया, बंदिनी, दिल ही तो है, तेरे घर के सामने, खानदान, मिलन, लाट साहब, यादगार, आदि हिट फिल्मों की नायिका बनी। ट्रेजेडी क्वीन मीना कुमारी का निकाह कमाल अमरोही से १९५२ में हो गया था।  लेकिन, मीना कुमारी ने १९५३ में फिल्म परिणीता का कालजयी करैक्टर लोलिता किया।  उनकी बतौर नायिका सुपर हिट फ़िल्में शादी के बाद ही आई। श्यामा ने १९५३ में फली मिस्त्री से शादी के बाद धूप छाँव, आरपार, खानदान, छूमंतर, भाई भाई, शारदा, आदि फ़िल्में बतौर नायिका की। इसी प्रकार, नलिनी जयवंत, बीना राय, माला सिन्हा, शर्मीला टैगोर, आदि अभिनेत्रियां शादी के बाद भी हिंदी फिल्मों की सफल नायिकाएं बनी रहीं। नर्गिस ने सुनील दत्त के साथ शादी के बाद फिल्मों को अलविदा कह दी थी।  लेकिन, शादी के लंबे समय बाद रात और दिन करके राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता।  
क्यों नकारते हैं दर्शक !
आजकल ग्लैमर का ज़माना है।  शादी के बाद अभिनेत्री का ग्लैमर फीका पड़ जाता है। इसलिए, यह अभिनेत्रियां खालिस रोमांस भूमिकाओं के योग्य नहीं रहती।  लेकिन, अगर परिपक्व भूमिकाएं हो और स्क्रिप्ट में दम हो तो दर्शक इन्हें स्वीकार भी करता है।  काजोल लम्बे समय बाद फना में अंधी नायिका के रूप में आई और सफल हुई। अलबता, उनकी दूसरी कमज़ोर फिल्म दिलवाले बुरी तरह पिटी। श्रीदेवी की इंग्लिश विन्ग्लिश से वापसी सफल हुई।  ऐश्वर्य राय बच्चन ने शादी के बाद जज्बा और सरबजीत जैसी नायिका प्रधान फ़िल्में की। यह फ़िल्में फ्लॉप हुई। 

No comments:

Post a Comment