Sunday, 13 September 2015

क्या बॉलीवुड में वापसी करेंगे नदीम सैफी ?

पिछले दिनों, सोशल मीडिया पर उस समय हलचल मच गई, जब नदीम सैफी ने परकशन बजाते हुए अपनी एक फोटो अपलोड की। (देखें फोटो)  कभी बॉलीवुड फिल्मों की मशहूर जोड़ी नदीम-श्रवण के नदीम का एक वाद्य यन्त्र बजाना चौंकाऊ नहीं होना चाहिए।  क्योंकि, कभी नदीम ने श्रवण के साथ बॉलीवुड को कई हिट धुनें दी हैं।  इस जोड़ी ने १९९१ से १९९८ के बीच चार फिल्मफेयर अवार्ड्स और दो स्क्रीन अवार्ड्स जीते थे।  नदीम और श्रवण की पहली मुलाक़ात एक फंक्शन के दौरान १९७२ में हुई थी।  १९७९ में इन दोनों ने भोजपुरी फिल्म 'दंगल' में संगीत देकर अपने फिल्म करियर का आगाज़ किया था।  टी-सीरीज की फिल्म 'आशिक़ी' ने नदीम-श्रवण जोड़ी को हिंदी फिल्म संगीत की टॉप जोड़ी बना दिया।  इसके बाद इन दोनों ने साजन, दीवाना, हम हैं रही प्यार के, राजा हिंदुस्तान, परदेस, सिर्फ तुम, धड़कन, राज़, अंदाज़, आदि फिल्मों का सुपर हिट संगीत दिया। टी-सीरीज के मालिक गुलशन कुमार ने इस जोड़ी को भरपूर संरक्षण दिया।  इसीलिए, फिल्म इंडस्ट्री में उस समय हलचल मच गई, जब गुलशन कुमार की हत्या में नदीम सैफी का नाम आया।  हालाँकि, नदीम ने इस हत्या में अपना हाथ होने से इंकार किया, लेकिन, इसके बावजूद गिरफ्तारी से बचने के लिए वह लंदन भाग गए।  इस घटना के बाद भी नदीम ने श्रवण के साथ मिल कर यह दिल आशिक़ाना, एक रिश्ता, कसूर, हम हो गए आपके, राज़, दिल है तुम्हारा, क़यामत, हंगामा, अंदाज़, बेवफा, तुमसा नहीं देखा, बरसात, दोस्ती और दो नॉट डिस्टर्ब का संगीत दिया।  फिल्म 'दोस्ती' के संगीत के बाद इस जोड़ी की दोस्ती भी ख़त्म हो गई।  बाद में पता चला कि नदीम अब कम्पोजीशन के बजाय लंदन में परफ्यूम का बिज़नेस कर रहे हैं। खैर, सोशल मीडिया पर नदीम की तस्वीर देख कर, उनके प्रशंसकों के संदेशों की भरमार हो गई।  इन संदेशों में नदीम और श्रवण जोड़ी के संगीत को याद करते हुए, नदीम से फिर से मधुर धुनें तैयार करने की गुज़ारिश की गई थी।  इतने लम्बे समय बाद नदीम सैफी का अपनी वाद्य यन्त्र बजाते हुए फोटो पोस्ट करना संगीत जगत में वापसी की ओर  संकेत करता लगता है।  अब जबकि, इस तस्वीर की एवज में नदीम के प्रशंसकों की उनकी संगीत में वापसी की अपील की जाने लगी है, कोई संदेह नहीं अगर नदीम-श्रवण जोड़ी फिर फिल्म संगीत देती नज़र आये।  'राज़' के दौरान नदीम- श्रवण जोड़ी के पब्लिसिस्ट रहे डेल भगवागर कहते हैं, "बॉलीवुड संगीत में नदीम- श्रवण जोड़ी अभूलनीय है।  नदीम के वाद्य यन्त्र बजाती फोटो को मिला ज़बरदस्त रिस्पांस उनकी वापसी बन सकता है।"


राजेंद्र कांडपाल 

No comments:

Post a Comment