Friday, 2 June 2017

दुर्भाग्य से लड़ते हुए जीना है द माउंटेन बिटवीन अस

चार्ल्स मार्टिन के उपन्यास द माउंटेन बिट्वीन अस का फिल्म रूपांतरण जे मिल्स गूड्लोए और क्रिस वेत्ज़ द्वारा तैयार किया गया है । यह उपन्यास बर्फीले पहाड़ पर एक हवाई जहाज के क्रेश हो जाने के बाद एक जोड़े की खुद को जीवित रखने की जद्दोजहद पर है । बेन बास एक सर्जन है और अलेक्स मार्टिन एक फोटो जॉर्नलिस्ट । अलेक्स को तो अपनी शादी के लिए ज़ल्दी घर भी पहुँचना है । इस फिल्म का निर्देशन इसरायली डायरेक्टर हनी अबू-असद कर रहे हैं ।  असद, पैराडाइस नाउ, ओमर और द आइडल के कारण पहचाने जाते हैं । असद की फिल्म बताती है कि अगर दुर्भाग्य के दौर में भी जीवित रहना है तो आपको दुर्भाग्य से लड़ना होगा, अन्यथा आप मार दिए जाओगे । साफ़ तौर पर फिल्म के दो केंद्रीय पात्र बेन और अलेक्स दुर्भाग्य के दुष्चक्र में ही फंसे हैं । इस फिल्म में बेन का किरदार इदरिस अल्बा और अलेक्स का किरदार केट विंसलेट ने किया है । टाइटैनिक के दुर्भाग्य से जूझने वाली केट विंसलेट दूसरी बार बर्फीले पहाड़ में अपने दुर्भाग्य से जूझते हुए जीवित रह पाएंगी ! फिल्म २० अक्टूबर को रिलीज़ होगी ।

No comments:

Post a Comment