Wednesday, 12 July 2017

रणबीर कपूर के लिए ज़रूरी जग्गा जासूस की सफलता

रणबीर कपूर को इंतजार है जग्गा जासूस की रिलीज़ का।  रणबीर कपूर की कटरीना कैफ के साथ यह तीसरी फिल्म हैं।  यह इस जोड़ी की ऎसी फिल्म है, जो बनते बनाते रुकी और फिर शुरू हुई और रुकी और फिर बनी।  इन दोनों की पहली दो फ़िल्में अज़ब प्रेम की गज़ब कहानी और राजनीति को बॉक्स ऑफिस पर सफलता मिली थी।  इसीलिए रणबीर कपूर को इस लम्बे समय से बन रही फिल्म की रिलीज़ का इंतज़ार है।  यह एक किशोर के अपने पिता को खोजने की कहानी है।  इस कहानी में फैन्टसी है, कॉमेडी है, रोमांस और थोड़ा एक्शन भी है।  गाने हिट हो रहे हैं।  दर्शकों को बेसब्री से फिल्म का इंतज़ार भी है।
रणबीर कपूर, दर्शकों की इसी बेबसी को बॉक्स ऑफिस पर भुनाना चाहते हैं।  उन्हें पिछले चार सालों से एक हिट फिल्म का इंतज़ार है।  उनकी पिछली हिट फिल्म दीपिका पादुकोण के साथ ये जवानी है दीवानी थी, जो मई २०१३ में रिलीज़ हुई थी।  इस फिल्म ने अपनी लागत का चार गुना कमाई की थी।  इसके बाद तो जैसे रणबीर कपूर ने फ्लॉप फिल्मों की लाइन लगा दी।  गंभीर बात यह थी कि यह सभी फ़िल्में बड़े बैनरों से महँगी फ़िल्में थी।  हालाँकि इन सभी फिल्मों को रणबीर कपूर के कारण बढ़िया ओपनिंग मिली।  लेकिन, आखिरकार ज़ोर का झटका रणबीर कपूर के स्टारडम को ही लगा।
बॉक्स ऑफिस पर 'बेशर्म' असफलता
यह जवानी है दीवानी की बड़ी सफलता के पांच महीने बाद रणबीर कपूर को बॉक्स ऑफिस पर ज़ोरदार शॉक मिला।  गांधी जयंती के दुहाऊ वीकेंड पर रणबीर कपूर की पल्लवी शारदा के साथ एक्शन कॉमेडी फिल्म बेशरम रिलीज़ हुई।  इस फिल्म की रिलीज़ के साथ तीन ख़ास बाते जुडी हुई थी।  फिल्म गांधी जयंती वीकेंड पर रिलीज़ हो रही थी, जिसमे रिलीज़ हो कर ज़्यादातर फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर बढ़िया कलेक्शन कर पाती हैं।  दूसरी ख़ास बात यह कि फिल्म उस अभिनव कश्यप की फिल्म थी, जिसने तीन साल पहले ही फिल्म दबंग में सलमान खान को इंस्पेक्टर चुलबुल पांडेय बना कर हास्य और एक्शन का आकर्षक कथानक बन कर दर्शकों को सलमान खान का फैन बना दिया था।  तीसरी बड़ी बात यह कि फिल्म में रणबीर कपूर के रियल लाइफ माता पिता इंस्पेक्टर चुलबुल चौटाला और हेड कांस्टेबल बुलबुल चौटाला के किरदार करके दर्शकों को हंसाने का पराया कर रहे थे।  जहाँ दबंग की सफलता में फिल्म की पटकथा और अभिनव कश्यप की निर्देशकीय कल्पनाशीलता का बड़ा हाथ था, वहीँ बेशरम में यह सब गायब था।  बेशरम को चेन्नई एक्सप्रेस (३७०० स्क्रीन्स) के बाद सबसे ज़्यादा ३६०० स्क्रीन्स में रिलीज़ किया गया था।  बेशरम के निर्माण में ६० करोड़ खर्च हुए थे।  फिल्म को पहले दिन ९० प्रतिशत दर्शक क्षमता के साथ देखा गया।  फिल्म ने १९.५० करोड़ की ओपनिंग ली।  इसके बाद दूसरे दिन से ही फिल्म की दर्शक क्षमता में कमी होती चली गई।  फिल्म ने वीकेंड में सिर्फ ६५ करोड़ का कलेक्शन किया।  फिल्म का लाइफटाइम कलेक्शन ९५ करोड़ का हुआ।  यह तब एक बड़ी फ्लॉप में शुमार होती है, जब इसकी कॉस्ट में फिल्म के प्रचार, विज्ञापन और विपणन में खर्च हुए २५ करोड़ जोड़ लिए जाते हैं।
दर्शकों की राय - 'रॉय' को न !
बेशरम के बाद, रणबीर कपूर की २०१४ में कोई फिल्म रिलीज़ नहीं हुई।  रणबीर की अगली फिल्म रॉय अर्जुन रामपाल और जैक्विलिन फर्नांडिस के साथ थी।  फिल्म ने रिलीज़ के दिन १०.४ करोड़ की बढ़िया ओपनिंग लेकर अक्षय कुमार की फिल्म बेबी के ९.३ करोड़ के कलेक्शन को पीछे धकेल दिया था।  लेकिन, इसके बाद रॉय भी औंधे मुंह गिरी।  चालीस करोड़ के बजट में बनी रॉय ने सिर्फ ७० करोड़ का लाइफ टाइम कलेक्शन किया।  इस फिल्म को समीक्षकों ने आधे सितारे दिए।
टाट में १२० करोड़ का '(बॉम्बे) वेलवेट' पैबंद
रणबीर कपूर की सबसे महँगी फ्लॉप फिल्मों में शुमार की जाती है बॉम्बे वेलवेट।  इस फिल्म में अनुष्का शर्मा नायिका थी।  साठ दशक में बॉम्बे पर इस फिल्म में सब कुछ पुराना था।  इस फिल्म को करण जौहर के साथ मिल कर अनुराग कश्यप ने १२० करोड़ में बनाया था।  फिल्म की सफलता के लिए करण जौहर ने विलेन का चोला पहना था।  इसके बावजूद बॉम्बे वेलवेट बॉक्स ऑफिस पर टाट में वेलवेट यानि मखमल का पैबंद साबित हुई।  फिल्म को दर्शकों ने कितना नापसंद किया होगा, इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बॉम्बे वेलवेट को १०-१५ प्रतिशत की दर्शकता मिली।  फिल्म ने पहले दिन सिर्फ ५.२ करोड़ का कलेक्शन किया। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ४३ करोड़ कमा पाने के कारण डिजास्टर फिल्मों में शुमार की गई।  ख़ास बात यह थी कि बॉम्बे वेलवेट को ज़्यादातर समीक्षकों ने सराहा था।
रणबीर-दीपिका का फ्लॉप 'तमाशा'
रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण सबसे पहले एक साथ २००८ में रिलीज़ फिल्म बचना ऐ हसीनों में आये थे।  बचना ऐ हसीनों की सफलता के बावजूद इस जोड़ी की दूसरी फिल्म पांच साल बाद ये जवानी है दीवानी रिलीज़ हुई थी।  यह दोनों ही फ़िल्में सफल हुई थी।  इसीलिए, जब दो साल बाद २७ नवंबर २०१५ को इम्तियाज़ अली निर्देशित फिल्म तमाशा रिलीज़ हुई तो दर्शक एक बढ़िया  मनोरंजक फिल्म की उम्मीद कर रहे थे।  इस फिल्म की शूटिंग विदेश में क्रोशिका और टोक्यो में हुई थी।  फिल्म के निर्माण में ६५ करोड़ की बड़ी रकम खर्च हुई थी।  फिल्म ने पहले दिन १०.९४ करोड़ का बिज़नेस किया।  पहले सप्ताह ५३.४६ करोड़ का हुआ।  फिल्म का भारत में लाइफटाइम कलेक्शन ९४.९२ करोड़ का हुआ।  फिल्म के प्रचार में २० करोड़ खर्च किये गए।  फिल्म से वितरकों को १० करोड़ का घाटा हुआ।
ऐ दिल है मुश्किल - थोड़ी कम हुई मुश्किल
लगातार चार बड़े फ्लॉप तमाशों के बाद, रणबीर कपूर की मुश्किल थोड़ा कम की करण जौहर की फिल्म ऐ दिल है मुश्किल ने।  करण जौहर निर्देशित ऐ दिल है मुश्किल दीवाली वीकेंड पर अजय देवगन की एक्शन फिल्म शिवाय के साथ रिलीज़ हुई थी। अजय देवगन की चुनौती के बावजूद १०० करोड़ की प्रोडक्शन कॉस्ट और प्रचार प्रसार पर खर्च वाली इस फिल्म ने रणबीर कपूर, ऐश्वर्य राय बच्चन, अनुष्का शर्मा और पाकिस्तान के एक्टर फवाद खान की कास्ट के साथ १३.३० करोड़ की ओपनिंग ली।  यह फिल्म १२वे दिन १०० करोड़ क्लब में पहुँचने में कामयाब हुई। इस फिल्म का वर्ल्डवाइड लाइफटाइम कलेक्शन २३७.५६ करोड़ का हुआ।
बेशरम, रॉय, बॉम्बे वेलवेट और तमाशा के बाद ऐ दिल है मुश्किल रणबीर कपूर को थोड़ा राहत देने वाली फिल्म ज़रूर थी।  लेकिन, इस फिल्म की सफलता को ऐश्वर्या राय बच्चन और अनुष्का शर्मा के साथ पाकिस्तान के फवाद खान भी बाँट रहे थे।  रणबीर कपूर उस दर्ज़े के अभिनेता हैं, जो अपने बूते पर फ़िल्में हिट करा सकते हैं। देश विदेश में उनकी फैन फॉलोइंग बहुत ज़्यादा है।  अनुराग कश्यप की फिल्म जग्गा जासूस में जो कुछ हैं रणबीर कपूर हैं और उनका  साथ कटरीना कैफ दे रही हैं।  जग्गा जासूस की सफलता रणबीर कपूर की सफलता मानी जाएगी।  रणबीर कपूर ने अनुराग बासु के साथ बरफी जैसी हिट फिल्म दी है।  वह उम्मीद कर सकते हैं कि बॉक्स ऑफिस पर उनका 'जग्गा' सफल 'जासूस' माना जाएगा।   

No comments:

Post a Comment