Saturday, 3 October 2015

आयरन मैन से भिड़ेगा कैप्टेन अमेरिका ! लेकिन क्यों ?

मार्वल सिनेमेटिक यूनिवर्स की आगामी फिल्म 'कैप्टेन अमेरिका: सिविल वॉर' में मार्वेल के दो सुपर हीरो का टकराव नज़र आएगा।  दुनिया को बचाने के लिए कैप्टेन अमेरिका की मदद के लिए आयरन मैन आएगा। लेकिन, उनका यह संयुक्त अभियान टकराव में बदल जायेगा।  दरअसल, बैटल ऑफ़ सोकोविआ के दुष्परिणामो के बाद दुनिया  की सरकारों ने महसूस किया कि सुपर हीरोज सावधानी से काम नहीं करते, नुक्सान से बेपरवाह रहते हैं।  इस पर सरकार सुपर हीरोज को नियंत्रित करने का निर्णय लेती है।  इस समझौते पर हस्ताक्षर करने को लेकर कैप्टेन अमेरिका और टोनी स्टार्क उर्फ़ आयरन मैन के बीच मतभेद पैदा होते हैं। टोनी का मानना है कि ऐसा करके सुपर हीरो अपना नियंत्रण एक व्यक्ति या कंपनी को दे देंगे।  यह किसी को रिपोर्ट करना जैसा होगा।  टोनी स्टार्क अपने हाथों में खुद को ज़्यादा सुरक्षित मानता है।  कैप्टेन अमेरिका: सिविल वॉर की कहानी ठीक उसी जगह से शुरू होगी, जहाँ अवेंजर्स एज ऑफ़ अल्ट्रान ख़त्म हुई थी।  मानवता की रक्षा के सतत प्रयास में स्टीव रोजर्स अपनी सुपर हीरो की नई टीम को लीड करेगा।  एक अंतर्राष्ट्रीय संघर्ष के दौरान सुपर हीरोज की कार्यवाही से देशों का काफी नुक्सान होता है।  इसे देखते हुए ही सरकारें सुपर हीरोज को अपने अधीन लाने वाला दस्तावेज तैयार करते हैं।  इसी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने को लेकर कैप्टेन अमेरिका और आयरन मैन के बीच टकराव पैदा होगा।  जहाँ तक रियल लाइफ में ऐसे किसी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने की बात है, क्रिस एवंस आयरन मैन के विचारों से सहमत हैं कि अपनी स्वतंत्रता दूसरों को नहीं सौंपी जा सकती।  कैप्टेन अमेरिका: सिविल वॉर १६ मई २०१६ को रिलीज़ होगी।  

No comments:

Post a Comment