Friday, 2 October 2015

ऐश्वर्या राय बच्चन की वापसी का 'जज़्बा' ?

लगभग पांच साल बाद, ९ अक्टूबर को ऐश्वर्या राय बच्चन हिंदी फिल्म दर्शकों के सामने होंगी।   वह संजय गुप्ता की एक्शन थ्रिलर फिल्म 'जज़्बा' में एक वकील का किरदार कर रही हैं।  यह फिल्म कोरियाई फिल्म 'सेवन डेज' की ऑफिसियल रीमेक है। क्या पांच साल बाद वापस लौटी ऐश्वर्या का जज़्बा दर्शक महसूस करेंगे ? पेंच यही हैं।  संजय गुप्ता की फिल्म 'जज़्बा' हिट होगी या नहीं, बहुत बात की  बात है।  ऐश्वर्या राय बच्चन अगले महीने १ नवंबर को ४२ साल की हो जाएंगी।  वह १९९४ में यानि कि २१ साल पहले मिस वर्ल्ड बनी।  २० अप्रैल २००७ को यह मिसेज़ बच्चन बन गई।  १६ नवंबर २०११ को वह एक बच्ची की माँ भी बन गई।  कहने का मतलब यह कि १९९४ की मिस वर्ल्ड की इमेज में काफी बदलाव आया है।  अब वह गैर शादीशुदा नहीं रही कि कोई दर्शक सलमान खान, विवेक ओबेरॉय या किसी अन्य अभिनेता के साथ उनके  रोमांस को सहज स्वीकार कर ले।  किसी अभिनेत्री का शादी शुदा होना उसके फिल्म करियर को चोटिल करता है।  वह परिपक्व भूमिकाओं के योग्य ही रह जाती हैं।  इसी लिए, अब जबकि वह वापसी कर रही हैं तो उनकी फिल्म में रोमांस नदारद है।  वह, रियल  लाइफ की तरह, फिल्म में भी एक बच्ची की माँ बनी हैं। इस फिल्म में ड्रामा है।  कोर्ट रूम ड्रामा भी।  एक्शन है ! सब कुछ है, लेकिन वह नहीं है जिसके लिए ऐश्वर्या राय बच्चन पहचानी जाती हैं।  इस फिल्म में ग्लैमर नहीं है।  पूर्व मिस वर्ल्ड ऐश्वर्या राय ने अपने करियर की शुरुआत मणि रत्नम की तमिल पोलिटिकल ड्रामा फिल्म इरुवर में दोहरी भूमिका से की थी।  इस भूमिका में वह अल्ट्रा मॉडर्न और अल्ट्रा फैशनेबुल बनी थी।  लेकिन, फिल्म नहीं चली। हिंदी में उनका डेब्यू राहुल रवैल की फिल्म 'और प्यार हो गया' में बॉबी देओल के साथ हुआ था।  यह फिल्म भी फ्लॉप गई।  इसके बाद वह तमिल और हिंदी फिल्मों में नज़र आती रही।  संजयलीला भंसाली की फिल्म 'हम दिल दे चुके सनम' में सलमान खान और अजय देवगन की नंदिनी के रूप में वह चमक उठी।  इसी दौर में सलमान खान के साथ उनका रोमांस सुर्ख हुआ।  इसके बाद वह  ताल, मोहब्बते, देवदास, धूम २, गुरु और जोधा अकबर जैसी हिट फिल्मों की नायिका बनी। लेकिन, अपनी ज़्यादातर फिल्मों में उन्होंने खुद को संवेदनशील अभिनेत्री के बतौर स्थापित करने के बजाय ग्लैमरस अभिनेत्री ही साबित किया।  आज उन्हें उनके अभिनय से ज़्यादा उनकी खूबसूरती के लिए ही याद किया जाता है।  इसके अलावा ऐश्वर्या राय के पास हिट फिल्मो से ज़्यादा फ्लॉप फिल्मों का ढेर है।
मंगलोर, कर्णाटक में १ नवंबर १९७३ को एक आर्मी बायोलॉजिस्ट पिता की संतान ऐश्वर्या राय ने मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की।  वह पढ़ाई में अच्छी थी।  उनका पसंदीदा विषय जीव विज्ञानं था।  मेडिसिन पढ़ाना चाहती थी।  असफल रही तो आर्किटेक्ट बनने  की सोची।  रहेजा कॉलेज में दाखिला भी ले लिया।  लेकिन, फिर मॉडलिंग के लिए पढाई ही छोड़ दी।  १९९१ में वोग के कवर पर दिखाई देने वाली ऐश्वर्या ने फिल्मों में आने से पहले ही आमिर खान के साथ एक ठन्डे पेय पदार्थ का विज्ञापन किया। मिस वर्ल्ड बनने के बाद उनका ग्लैमर वर्ल्ड में सिक्का जम गया।
अब ऐश्वर्या राय बच्चन की परीक्षा है कि दर्शक उनका जज़्बा स्वीकार करेंगे ! वह एक कोरियाई फिल्म के रीमेक से अपनी वापसी कर रही हैं। सेवन डेज में जिस किरदार को युनजिन किम ने किया था, उसे जज़्बा  में ऐश्वर्या राय कर रही हैं।  सेवन डेज की वकील यु जी-येऊन के किरदार के लिए अभिनेत्री किम को ग्रैंड बेल अवार्ड्स में बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवार्ड मिला था।  उन्हें ब्लू ड्रैगन अवार्ड्स और कोरियाई फिल्म अवार्ड्स भी मिले।  ध्यान रहे कि कोरियाई फिल्म के जिस रोल को सपोर्टिंग रोल माना गया, उसे हिंदी में जज़्बा की नायिका माना गया है। सपोर्टिंग रोल के सहारे नायिका बन कर वापस आने वाली ऐश्वर्या राय बच्चन क्या अपने दर्शकों को अपने बेहतरीन अभिनय से प्रभावित कर पाएंगी ? क्या ऐश्वर्या की वापसी फिल्म जज़्बा ऐश्वर्य  राय की सफल वापसी करा पाएगी ?  यह तभी तय होगा, जब 'जज़्बा' बॉक्स ऑफिस पर सुपर हिट होगी।

No comments:

Post a Comment