Friday, 26 June 2015

लीजेंड क्यों ! लीजेंड्स क्यों नहीं !!

एल ए कॉन्फिडेंशियल के को-स्क्रीनराइटर के बतौर ऑस्कर जीतने वाले राइटर ब्रायन हेल्गेलैंड ने लंदन के कुख्यात गैंगस्टर जुड़वां क्रे बंधुओं पर लिखी किताब 'द प्रोफेशन ऑफ़ वायलेंस: द राइज एंड फॉल ऑफ़ द क्रे ट्विन्स' पर फिल्म बनाने के लिए पटकथा लिखनी शुरू की तो उनके दिमाग में जुड़वां भाइयों रोनाल्ड क्रे और रेगीनाल्ड की भूमिका के लिए अलग अलग दो एक्टर थे।  फिर वह मिले टॉम हार्डी से। भारतीय दर्शकों ने टॉम हार्डी को अभी 'मैड मैक्स : फ्यूरी रोड' फिल्म में मैक्स की भूमिका में देखा था।  हेल्गेलैंड गैंगस्टर जोड़ी के भाई रेगीनाल्ड की भूमिका टॉम हार्डी से करवाना चाहते थे।  डिनर करते करते हेल्गेलैंड  टॉम को स्क्रिप्ट सुनाते जा रहे थे।  टॉम ने डिनर के बाद नेपकिन से हाथ पोंछते हुए ऐलान किया कि वह दोनों भूमिकाये करेंगे।  उन्होंने ब्रायन से साफ़ किया कि वह रेग्गी तभी करेंगे, जब वह रॉन  यानि रोनाल्ड का किरदार भी कर रहे होंगे।  इस प्रकार से दो अलग एक्टरों वाली फिल्म 'लीजेंड' टॉम हार्डी की दोहरी भूमिका वाली फिल्म बन गई।  यह फिल्म जुडवा क्रे बंधुओं की हैं, जो खून-खराबे, लूट पाट और अपहरण के लिए कुख्यात थे। इनमे रेग्गी ज़्यादा मुखर था।  सिक्सटीज में क्रे बंधू फ्रैंक सिनात्रा और जुडी गारलैंड की टक्कर के मशहूर थे। लेकिन, फिल्म का नाम इन दोनों भाइयों को देखते हुए, लीजेंड्स के बजाय लीजेंड क्यों रखा गया ? एक इंटरव्यू में हेल्गेलैंड ने बताया, "यह फिल्म रॉन से ज़्यादा रेग्गी की फिल्म है।  यह लीजेंड के हिस्से हैं।  ठीक वैसे ही जैसे द लीजेंड ऑफ़ रॉबिनहुड और लीजेंड ऑफ़ किंग आर्थर। इस तरह से क्रे बंधुओ पर द लीजेंड फिट बैठता है।  फिर यह मेरा बखान है, लीजेंड का।" 

No comments:

Post a Comment