Friday, 15 June 2018

'ये उन दिनों की बात है' जब आशी पहली बार गई पार्लर

कॉलेज के दिनों की आशी सिंह 

कॉलेज के दिन आम तौर पर वह समय होता है जब युवा खुद को रोक नहीं पाते हैं और फैशनेबल लुक अपना लेते हैं।

उस समय, लड़के अपने पसंदीदा बॉलीवुड हीरो के लुक्स की नकल करने लगते हैं और लड़कियों को मेकअप आजमाने, अपनी भौंहों को शेप में लाने, वैक्सिंग करवाने आदि का मौका मिल जाता है।

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के 'ये उन दिनों की बात है' में नैना की भूमिका निभाने वाली आशी सिंह को कभी भी सुंदर दिखने के लिए अपनी भौंहो को ठीक करने की जरूरत महसूस नहीं हुई। 

उन्होंने हमेशा ही ग्लैमर रहित लुक ही मैंटेन किया है और शो में एक किशोरी का किरदार निभाना भी उनके लिए उपयोगी रही है। ९० के दशक की स्कूल के दिनों की यादों से दर्शकों को सराबोर करने के बाद, निर्माता अब समीर (रणदीप राय) और नैना के कॉलेज रोमांस से उनका मनोरंजन करेंगे।

आशी सिंह जिन्होंने अभी तक अपने भौंहो को आकार नहीं दिया है, उन्हें अपने कॉलेज अवतार के लिए ऐसा करने की जरूरत थी।

कॉस्मेटिक से संबंधित मामलों में अनुभवी होने के नाते इस युवा स्टार ने इन मामलों में अपने साथियों और नजदीकी दोस्तों से सुझाव लिया।

संपर्क किए जाने पर आशी सिंह ने पुष्टि की, “नैना की इमेज एक पढ़ाकू और एक आदर्श आम लड़की की है जो अपनी सभी परीक्षाओं में हमेशा ही टॉप ग्रेड्स लेकर आती है।

अब जबकि नैना ने कॉलेज में प्रवेश कर लिया है, इसलिए निर्माताओं ने उसके व्यक्तित्व और लुक में भी बदलाव किया है।

मैंने अब तक कोई भी कॉस्मेटिक चेंजओवर नहीं किया है। जब क्रिएटिव ने मुझे सुझाव दिया कि मुझे अपनी भौंहो को शेप देने की जरूरत होगी, तो इसे लेकर मेरे मन में दो ख्याल थे।

मैं ईश्वर और अपनी मां की शुक्रगुजार हूं, कि मुझे अच्छे लुक्स मिले हैं और कभी भी मुझे ऐसी किसी प्रक्रिया से गुजरना नहीं पड़ा है।

मैंने अपनी मां और सेट पर दोस्तों से परामर्श लिया और उन्होंने मुझे ऐसा करने का सुझाव दिया। 

मैं शुरुआत में थोड़ी घबराई हुई थी लेकिन अपने दोस्तों के साथ इसकी चर्चा करने के बदा, मैं अब डरी हुई नहीं हूं और एक व्यावसासिक के तौर पर, अपनी भूमिका के साथ न्याय करना मेरी जिम्मेदारी है।


‘दिल ही तो है’ में मेहमान कीथ सिकैरा - पढ़ने के लिए क्लिक करें