Thursday, 7 June 2018

चीन में टॉयलेट हीरो बने अक्षय कुमार

ख़ास तौर पर गांव में टॉयलेट या संडास की कमी को इंगित करने वाली और  महिलाओं के लिए ज़रुरत दिखाने वाली अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की श्रीनारायण सिंह निर्देशित टॉयलेट  एक प्रेम कथा (२०१७) अब चीन में रिलीज़ होने जा रही है।

भारत में १८ करोड़ के बजट में बनी फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा ने बॉक्स ऑफिस पर २१६.५८ करोड़ का कारोबार किया था।

अब यह फिल्म लगभग १० महीने बाद ८ जून को चीन के थिएटरों में रिलीज़ हो रही है।  इस फिल्म को चीन में कुल ४३०० स्क्रीन मिले हैं।

फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा को चीन में टॉयलेट मैन के टाइटल के साथ रिलीज़ किया जा रहा है। 

क्या चीन में अक्षय कुमार की इस प्रेम कथा को सफलता मिलेगी ?

चीन में सफल हिंदी फिल्मों पर नज़र डाले तो आमिर खान की लगान और सीक्रेट सुपर स्टार तथा इरफ़ान खान की हिंदी मीडियम  फिल्मों के नाम उभर कर आते हैं।

यह सभी फ़िल्में हिंदुस्तान के आम आदमी की आशाएं, अपेक्षाएं और संघर्ष की  कहानियां  हैं। चीनी दर्शक इस प्रकार की कहानियों को पसंद करता है।  वह भारत के युवाओं और उनकी कठिनाइयों से रूबरू होना चाहता है।

इसलिए, पूरी उम्मीद की जानी चाहिए कि स्वच्छ भारत अभियान के समर्थन में गाँव, आदि में टॉयलेट निर्माण का आंदोलन को बढ़ावा देने वाली यह फिल्म चीन में भी सफल होगी। 


बस देखने  की बात होगी कि टॉयलेट एक  प्रेम कथा का कारोबार कोई कीर्तिमान बना पायेगा या  अपनी पूर्ववर्ती फिल्मों के कीर्तिमान से दबा रहेगा !



तेलुगु का 'टेम्पर' हिंदी में सिम्बा बन कर शुरू  - पढ़ने के लिए क्लिक करें