Friday, 1 June 2018

फिर क्यों मिस्टिक बनीं जेनिफर लॉरेंस !

पूरा शरीर नीले रंग से पुता हुआ ! कौन पसंद करेगा ऐसा पुता हुआ कुरूप ! एक्स-मेन अप्पोकैलिप्स के बाद अभिनेत्री जेनिफ्फेर लॉरेंस ने भी कुछ ऐसा ही सोचा था। वह बिलकुल नहीं चाहती थी कि फिर किसी एक्स-मेन फिल्म की मिस्टिक बनें। जेनिफर ने मिस्टिक का किरदार २०११ में पहली बार एक्स -मेन फिल्म फर्स्ट क्लास में किया था. उस समय वह मुश्किल से २० साल की थी। अब वह २७ साल की हैं। उन्हें अप्पोकैलिप्स की शूटिंग करते समय उस पेंट के कारण नाक में होने वाली सुरसुरी और सांस लेने में कठिनाई का बुरा अनुभव याद था । इसलिए, वह मिस्टिक की भूमिका फिर नहीं करना चाहती थी। लेकिन, दोस्त सिमोन किनबर्ग का कहा भी तो नहीं टाला जा सकता था ! इसलिए, जब किनबर्ग ने उन्हें बताया कि वह डार्क फ़ीनिक्स को डायरेक्ट करने जा रहे हैं तो जेनिफर उनके लिए मिस्टिक बनने से इनकार नहीं कर सकी। अब जबकि, डार्क फ़ीनिक्स रिलीज़ होने को तैयार है, लॉरेंस से ज्यादा संतुष्ट कोई नहीं। डार्क फ़ीनिक्स की शरीर का आकार बदल लेने वाली मिस्टिक के रूप में अपने अनुभव बाँटते हुए जेनिफर लॉरेंस कहती हैं, “अभिनय के लिहाज़ से यह श्रेष्ठ अनुभव रहा। किनबर्ग पिछले कई सालों से एक्स-मेन के चरित्रों को लिखते रहे हैं। इन चरित्रों को किनबर्ग से ज्यादा गहराई से कोई नहीं जानता। इसीलिए, मैंने खुद को अपने चरित्र से अब तक से ज्यादा जुड़ा हुआ महसूस किया।" 


क्या बड़े परदे पर फिर गरजेंगी बन्दूक ! - पढ़ने के लिए  क्लिक करें