Sunday, 20 May 2018

बॉलीवुड न्यूज़ २० मई

स्वरमाऊलीटायटिल से सम्मानित लता मंगेशकर
भारतरत्न लता मंगेशकर ने हिन्दी और ३६ क्षेत्रीय भारतीय भाषाओं और विदेशी भाषाओं में हजारों गाने रिकार्ड किए है । वह तीन नेशनल फिल्म अवार्ड्स, १२ बंगाली फिल्म जर्निलस्ट्स एसोसिएशन अवार्ड्स, चार फिल्मफेअर बेस्ट फिमेल प्लेबैक अवार्ड्स, दो फिल्मफेअर स्पेशल अवार्ड्स, फिल्मफेअर लाइफ टाइम एचिवमेंट अवार्ड और दादासाहेब फाल्के अवार्ड और द ऑफिसर ऑफ द लिजन आफ ऑनर अवार्ड (फ्रांस का उच्चतम नागरिक अवार्ड) के अलावा अन्य कई सम्मान और अवार्ड्स से सम्मानित की जा चुकी है इसके बावजूद जब करविर मठ, कोल्हापुर के जगतगुरू शंकराचार्य ने स्वर मौली टायटिल से सम्मानित करने के लिए उनका चयन किया तो लता मंगेशकर अत्यंत प्रसन्न हुईं यह अवार्ड उन्हें उनके प्रभु कुंज स्थित निवास, मुंबई में १२ मई को दिया गया । लता मंगेशकर कहती हैं, “जगतगुरू शंकराचार्य ने मुझे टाइटल स्वर मौली के लायक समझा, यह मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है मैं खुद को बहुत सौभाग्यशाली समझती हूं कि वह मुझे सम्मानित करने के लिए खुद आये उनके इस आशीर्वाद के लिए मैं उनकी आभारी हूं ।“
काबुलीवाला की याद दिलाता बॉयोस्कोपवाला
अभी, निर्देशक देब मेधेकर की फिल्म बॉयोस्कोपवाला का ट्रेलर रिलीज़ हुआ है । फिल्म में बॉयोस्कोपवाला एक अफगान है, जिसकी भूमिका डैनी डैंग्जोप्पा कर रहे हैं। बॉयोस्कोपवाला बच्चों का मनोरंजन एक बॉक्स के अन्दर छोटी छोट तस्वीरे चला कर करता है। यह फिल्म २५ मई को रिलीज़ हो रही है। फिल्म की मुख्य भूमिका में डैनी के अलावा गीतांजलि थापा, आदिल हुसैन और टिस्का चोपड़ा हैं।  बॉयोस्कोपवाला का ट्रेलर देखते समय १९६१ में रिलीज़ बलराज साहनी की मुख्य भूमिका वाली फिल्म काबुलीवाला की याद ताज़ा हो जाती है। इस और उस फिल्म में फर्क सिर्फ यह है कि इस फिल्म का अफगानी एक बॉयोस्कोपवाला है, जबकि १९६१ की काबुलीवाला का अफगान पिसते, बादाम, आदि सूखे मेवे बेचने वाला था। वह अपने खेत बचाने के लिए हिंदुस्तान आता है। दोनों ही फ़िल्में, रबीन्द्रनाथ ठाकुर की कहानी पर आधारित तथा भारत और अफगानिस्तान के पुराने संबंधों की याद दिलाने वाली हैं। एक ख़ास बात यह भी है कि दोनों ही फिल्मों के मुख्य किरदार यानि काबुलीवाला और बॉयोस्कोपवाला के नाम काफी मिलते जुलते हैं। डैनी रहमत खान बने है तो बलराज साहनी के करैक्टर का नाम अब्दुल रहमान खान था। एक दूसरी बात यह कि इन दोनों ही फिल्मों के बालिका के चरित्र का नाम मिनी ही है।  क्या बॉयोस्कोपवाला को दर्शक पसंद करेंगे ?
मामा से भांजे तक रोमांस करने वाली युविका चौधरी !
आजकल, युविका चौधरी, निर्देशक मनोज शर्मा की फिल्म टाइम नहीं है की शूटिंग में व्यस्त हैं।  इस  कॉमेडी फिल्म में वह, कृष्णा अभिषेक की नायिका हैं। कभी शाहरुख़ खान के साथ फिल्म ओम शांति ओम में छोटी भूमिका कर चुकी, युविका चौधरी का कृष्णा अभिषेक तक का सफर मामा से भांजे तक की कहानी बयान करता है। दिल्ली की मॉडल युविका चौधरी ने टैलेंट हंट शो सिने स्टार की खोज में हिस्सा लिया।  इस शो के कारण उन्हें सीरियल अस्तित्व मिला। फराह खान ने युविका से संपर्क कर, उन्हें ओम शांति ओम  में डॉली की भूमिका सौंप दी। यह काफी छोटी भूमिका थी।  दीपिका पादुकोण और शाहरुख़ खान की दोहरी भूमिकाओं के सामने कहीं दब गई। इसी दौरान, युविका को सुहैल तातारी की पहली फिल्म समर २००७ मिल गई।  इस फिल्म के पांच मेडिकल छात्रों में से एक युविका चौधरी भी थी।  फिल्म बुरी तरह मार खाई। इस फिल्म की असफलता के बाद, युविका चौधरी की फिल्म ‘तो बात पक्की’ और कृष्णा अभिषेक के मामा गोविंदा के साथ फिल्म ‘नॉटी @ फिफ्टी’ भी फ्लॉप हुई। बिग बॉस ९ में हिस्सा लेने के दौरान युविका चौधरी और प्रिंस नरूला के बीच रोमांस पैदा हो गया। खबर है कि प्रिंस नरूला ने अपनी गर्दन पर दीपिका पादुकोण की शैली में युविका का नाम लिखवा लिया है। यह भी खबर है कि दोनों जल्द शादी करने वाले हैं। युविका चौधरी की एक फिल्म वीरे की वेडिंग पिछले दिनों रिलीज़ हुई है। 
यशराज फिल्म्स के शमशेर की वाणी (कपूर)
हिंदी फिल्मों में वाणी कपूर को वाणी देने वाले यशराज फिल्म्स के आदित्य चोपड़ा एक बार फिर वाणी कपूर पर मेहरबान हैं । उन्होंने एक बार फिर, अपनी फिल्म शुद्ध देसी रोमांस की गायत्री को शमशेरा का रोमांस बना दिया है । हालाँकि, शमशेरा एक महा एक्शन फिल्म है । रणबीर कपूर के किरदार को लेकर यह दावा किया जा रहा है कि रणबीर ने पहले कभी ऎसी भूमिका नहीं की । ऐसे में, अनुमान लगाया जा सकता है कि वाणी कपूर की शमशेरा में भूमिका कैसी होगी ! लेकिन, फिल्म के निर्देशक करण मल्होत्रा दावा करते हैं कि फिल्म में वाणी कपूर की भूमिका रणबीर कपूर के शमशेरा के साथ गुंथी हुई है । वाणी का किरदार फिल्म की कहानी से इस तरह जुडा हुआ है कि वह नायक के विद्रोही मिशन को उत्प्रेरित करती है । वाणी इस भूमिका के लिए बिलकुल उपयुक्त है । हम चाहते थे ऐसा चेहरा ताज़गी भरा भी हो और खूबसूरती से किरदार में फिट भी हो जाए ।“ वाणी कपूर की पिछली फिल्म, रणवीर सिंह के साथ फुकरे बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी थी । इस फिल्म में संजय दत्त के क्रूर भाड़े के हत्यारे की भूमिका कर रहे हैं, जो रणबीर कपूर के शमशेरा का भी दुश्मन है । इस फिल्म की शूटिंग अगले साल के मध्य तक पूरी भी हो जायेगी ।
दो पत्नियों के बीच ‘फालूदा’ बना डिलीवरी बॉय  
कॉमेडी फिल्म 'फालूदा' का ट्रेलर और म्यूजिक वरिष्ठ फ़िल्मकार लॉरेंस डिसूज़ा ने लांच किया । फिल्म फालूदा की कहानी एक डिलीवरी बॉय अजय की है, जिसकी दो पत्नियाँ हैं शीतल और रिया दोनों अलग अलग जगह रहती हैं । एक घटना के कारण इंस्पेक्टर के के सिंह को शक हो जाता है कि अजय अंडरवर्ल्ड गैंग का एक सदस्य है । अजय को डर लगने लगता है कि इस वजह से उसकी दो पत्नियों का राज़ सब के सामने खुल जाएगा । अजय अपने दोस्त पप्पू की मदद से दोनों पत्नियों के घर आता जाता रहता है । और कॉमेडी क्रिएट होती है । फिल्म में अजय का रोल आरव सिंह, शीतल का रोल गूँज चंद, रिया का रोल पिहू शर्मा, के के सिंह का रोल गौरव शर्मा कर रहे हैं । फिल्म के निर्देशक धीरज सिंह हैं । फिल्म ज़ल्द ही रिलीज़ होगी ।  
परमाणु की लड़ाई में अकेले थे जॉन अब्राहम
निर्माता जॉन अब्राहम, आज खुश भी हैं और वेदना से भरे हुए भी हैं । वह खुश इसलिए हैं कि उनके दिल के सबसे ज्यादा नज़दीक उनकी बतौर निर्माता और अभिनेता फिल्म परमाणु : द स्टोरी ऑफ़ पोखरण २५ मई को रिलीज़ होने जा रही है । इस फिल्म के लिए उन्हें, एक दूसरी सह निर्माता प्रेरणा अरोड़ा के साथ कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी । इसके बाद ही उनकी फिल्म अदालती आदेश के बाद रिलीज़ हो रही है । जॉन अब्राहम को दुःख इस बात का है कि उनकी इस लड़ाई में फिल्म इंडस्ट्री का कोई भी साथ नहीं था । पूरी इंडस्ट्री मूक दर्शक बनी सब देख रही थी । यहाँ तक कि वह दूसरे निर्माता भी, जिन्हें प्रेरणा अरोड़ा के रवैये से कठिनाई हुई थी । जॉन अब्राहम कहते हैं, “मैं किसी से सपोर्ट की उम्मीद भी नहीं कर रहा था । सभी इतना ज़रूर कह रहे थे कि ईश्वर का धन्यवाद कि जॉन के बजाय हम नहीं थे । जबकि, मेरे कारण बहुत से लोगों का झंझट ख़त्म हो गया ।“ जॉन अब्राहम में सच के लिए लड़ने, खड़े होने और साबित होने का जज्बा है । सच भी उनके साथ था ।
क्या रोमांस और  कॉमेडी करेगे अजय देवगन और रणबीर कपूर
लव रंजन ने, राकेट छलांग लगाईं है। कार्तिक आर्यन, दिव्येंदु शर्मा और सनी निज्जर जैसे नए एक्टरों के साथ प्यार का पंचनामा, आकाश-वाणी, प्यार का पंचनामा २ और सोनू के टीटू की स्वीटी जैसी हिट फ़िल्में निर्देशित करने वाले लव रंजन ने जैसे बुलेट की रफ़्तार को भी पीछे छोड़ दिया है। वह एक रोमकॉम यानि रोमांटिक कॉमेडी फिल्म ले ले प्यार ले बनाने जा रहे हैं। इस फिल्म में अजय देवगन के साथ रणबीर कपूर को लिए जाने की खबर है। लव रंजन की फिल्मों की कहानी की परंपरा में यह फिल्म भी बडी यानि दो दोस्तों की कहानी वाली हास्य और रोमांस से भरपूर फिल्म होगी। अगर यह जोड़ी बनती है, तो रणबीर कपूर और अजय देवगन आठ साल बाद फिर साथ कैमरा फेस करेंगे। यह दोनों, प्रकाश झा के निर्देशन में फिल्म राजनीति  में एक  दूसरे के विपरीत खेमे में खड़े नज़र आ रहे थे। अजय देवगन, इस समय इंद्रकुमार की फिल्म टोटल धमाल, प्रदीप सरकार की फिल्म इला के अलावा आकिव अली के निर्देशन में एक अनाम फिल्म में अभिनय कर रहे हैं। उधर, रणबीर कपूर भी काफी व्यस्त हैं।  आज ही, यशराज फिल्म्स ने उन्हें अपनी फिल्म शमशेरा में लिए जाने का ऐलान किया है।  वह निर्माता करण जोहर की अयान मुख़र्जी निर्देशित फ़न्तासी फिल्म ब्रह्मास्त्र के नायक हैं। उनकी संजय दत्त की बायोपिक फिल्म संजू २९ जून को रिलीज़ होने जा रही है।
दक्षिण की वेदिका का हिंदी फिल्म डेब्यू
मलयालम फ़िल्म निर्देशक जीतू जोसफ की पहली अनाम हिंदी फिल्म में इमरान हाश्मी और ऋषि कपूर को लिए जाने की खबर दी जा चुकी है। अब खबर है कि इस फिल्म से एक साउथ एक्ट्रेस का हिंदी फिल्म डेब्यू होने जा रहा है। हालाँकि, इस फिल्म में एक अन्य एक्ट्रेस शोभिता धुलिपला को भी लिया गया है। शोभिता, रमन राघव २.० तथा सैफ अली खान के साथ दो फ़िल्में शेफ और कालकंडी जैसी हिंदी फ़िल्में कर चुकी हैं। जबकि, फिल्म से दक्षिण की जिस एक्ट्रेस का डेब्यू होने जा रहा है, उसकी ज़्यादातर फ़िल्में फ्लॉप हुई है। यह एक्ट्रेस है वेदिका। वेदिका का हिंदी फिल्म डेब्यू २०११ में हो जाता, यदि परसेप्ट पिक्चर्स द्वारा १९७५ की हिट फिल्म जय संतोषी माँ का रीमेक बनाया जाता। मगर, मंदी के दौर में परसेप्ट पिक्चरस ने इस बड़े बजट की फिल्म को बनाने का इरादा ही छोड़ दिया। वेदिका की सुन्दरता के दक्षिण में चर्चे हैं। वह शोख और चंचल अभिनेत्री मानी जाती है। उनमे सेक्स अपील देखी जाती है। जीतू जोसफ की डेब्यू फिल्म एक अपराध रहस्य थ्रिलर फिल्म है। इस फिल्म को देखते समय डर भी महसूस होगा। इस फिल्म को मई से जुलाई के बीच एक ही शिड्यूल में पूरा कर लिया जायेगा।

‘दिल ही तो है’ की लीड एक्ट्रेस योगिता बिहानी - पढ़ने के क्लिक करें 

No comments:

Post a Comment