Monday, 21 May 2018

१९९४ में, मिस यूनिवर्स बनी सुष्मिता सेन के साथ ४ फिलीपीनी लड़कियों का नामकरण भी हुआ था

सुष्मिता सेन ने, २४ साल पहले,  २१ मई १९९४ को भारत के लिए पहला मिस यूनिवर्स टाइटल जुटाया था।  उस समय वह मात्र १८ साल की थी। इस पहले टाइटल के साथ ऐश्वर्या राय ने विश्व सुंदरी का खिताब भी जीता था।  इसके बाद से लारा दत्ता और प्रियंका चोपड़ा भी क्रमशः मिस यूनिवर्स और मिस वर्ल्ड के खिताब जीत चुकी है।  लेकिन, वह उत्तेजना  दूसरे मिस यूनिवर्स के लिए नहीं थी,  जितनी २४ साल पहले के मिस यूनिवर्स को लेकर थी।  आज सुष्मिता सेन ४२  साल की है। लेकिन, वह कहती हैं, "आई एम् फोर्टी टू, स्टिल अ 'मिस' विथ अ 'यूनिवर्स' इनसाइड ऑफ़ मी!!!!"
बकौल सुष्मिता सेन कुछ भी नहीं बदला है सिर्फ साल के। सचमुच कुछ भी नहीं बदला है।  सुष्मिता सेन जैसी २४ साल पहले १८ बरस में थी, बिलकुल वैसी ही २४ साल बाद आज है ४२ साल की उम्र में।  वैसी ही तरोताज़ा फिट और दूसरों के चेहरों पर खुशियां बिखेरने वाली। 
सुष्मिता सेन को बधाइयां का सिलसिला रात से चल रहा है।  बधाई कार्ड मिल रहे हैं और मिलते जा रहे हैं।  गिफ्ट भेजे जा रहे हैं।  वह इनके लिए धन्यवाद देते हुए कहती है, "धन्यवाद...ज़्यादा यूनिवर्स याद करने के लिए  जो प्यारी प्रचुर है। जितना हम देते हैं, उससे ज़्यादा वापस पाते हैं।
सुष्मिता सेन ने मिस यूनिवर्स का खिताब फिलीपींस में जीता था।  वह इसे अपना दूसरा घर मानती है।  इसिलए, इस मौके पर, भारत के साथ फिलीपींस को याद करना नहीं भूलीं। 
बताते हैं कि जब सुष्मिता सेन ने मिस यूनिवर्स का खिताब जीता , उस साल जन्मी चार फिलीपीनी लड़कियों का नाम सुष्मिता रखा गया।  पिछले साल, सुष्मिता सेन इन चार फिलीपीनी सुषमिताओं से मिल भी चुकी थी।
सुष्मिता सेन को उनके सिर्फ फोर्टी प्लस की होने के लिए बधाई। 


दो हिस्सों में बनेगी  राकेश रोशन की विज्ञान फंतासी कृष - पढ़ने के लिए क्लिक करें 

No comments:

Post a Comment